Site Loading

कृषि में टेक्नोलॉजी द्वारा उत्पादन बढ़ाने वाला स्टार्टअप ग्रामोफोन बन गया 100 करोड़ की कंपनी

Read Time: 2 minutes
Read Time9Seconds

मध्यप्रदेश के इंदौर से शुरू हुए ग्रामोफोन स्टार्टअप के संस्थापकों में IIT और IIM से शिक्षित निशांत वत्स, हर्षित गुप्ता, आशीष सिंह और तौसीफ खान हैं जिन्होने 2016 में इंदौर में ऑफिस स्थापित कर किसानों से जुड़ना शुरू किया।

Gramophone team behind

ईन्होने शुरुआत में किसानों को जोड़ने के लिए 50 लोगों की टीम बनाई जो प्रयोग बेहद सफल रहा। कृषि भूमि पर शोध द्वारा इनकी टीम टेक्नोलॉजी द्वारा यह बताती है कि आपकी पैदावार को 20 से 50 प्रतिशत तक कैसे बढ़ाया जा सकता है। किसान भाई इनकी एप्प द्वारा तथा टोल फ्री नम्बर की सहायता से इस AI युक्त यूजर फ़्रेंडली प्लेटफार्म का उपयोग कर सकते हैं।

Gramophone app

ग्रामोफोन को शुरुआत में अघोषित रकम की फंडिंग रवि गरीकीपति, CTO Flipkart, अजीत पाई, Director Green Earth, संजय रामकृष्णन, Head Product Marketing Flipkart, प्रदीप कुमार मिश्रा, Director Engineering Tribun Digital Ventures, नितिन अग्रवाल, VP Wave Crest Group और आशुतोष सक्सेना, Principal Software Engineer Deem से मिली जिसके बाद इस कंपनी ने और ऊंची उड़ान शुरू करी।

2018 की शुरुआत में इनको 1 मिलियन डॉलर(6.4 करोड़ ₹) की प्री सीरीज A फंडिंग इन्फो एज से मिली। इन्फो एज जोमाटो, शॉपकिराना, पॉलिसी बाजार और उस्तरा जैसी बड़ी कंपनियों की शुरुआती इन्वेस्टर है। हाल ही में इन्फो एज ने B2B Shoe Marketplace ShoeConnect को 6 करोड़ की शुरुआती फंडिंग प्रदान की है।

Gramophone india ग्रामोफोन इंडिया

मध्य भारत में फैले ग्रामोफोन से 2.5 लाख किसान जुड़ चुके हैं और 6 लाख किसान पिछले 3 सालों में इससे फायदा उठा चुके हैं। रोजाना 3000 से ज्यादा किसानों की समस्याओं को सुलझाने वाले इस स्टार्टअप को सीरीज A फंडिंग इन्फो एज, रवीन शास्त्री(Myntra), आशा इम्पैक्ट और बैटर कैपिटल से मिली जो कि 24% कंपनी शेयर के लिए 3.5 मिलियन डॉलर(24 करोड़ ₹) की रही। 100 करोड़ मार्केट वैल्यू हासिल करने वाली यह कंपनी अपना दायरा बड़ा कर भारत के अन्य क्षेत्रों से भी किसानों को जोड़ना शुरू कर रही है।

स्टार्टअप फंडिंग और इसकी बारीकियों को समझने के लिए स्टार्टअप फंडिंग सॉल्यूशन जरूर पढ़ें। यदि आपके पास कोई आईडिया है तो हमारे स्टार्टअप डेस्टिनेशन से आज ही जुड़ें और अपने आईडिया को वास्तविक प्रोडक्ट बनाएं।

34 0
Happy
Happy
23.53 %
Sad
Sad
0.00 %
Excited
Excited
73.53 %
Sleppy
Sleppy
0.00 %
Angry
Angry
0.00 %
Surprise
Surprise
2.94 %

Leave a Reply

Close

has been added to your cart

View Cart
X
%d bloggers like this: