Views 890
105 0
Read Time3 Minute, 26 Second
पिछले 2 माह में भारतीय स्टार्टअप इकोसिस्टम में बेहद सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिला है जहां 3 नई कम्पनियों की मार्केट वैल्यूएशन 1 अरब डॉलर से ज्यादा आंकी गई और इनको मिलाकर 2019 में अब तक कुल 7 कम्पनियों को यूनिकॉर्न स्टार्टअप का तमगा मिल चुका है। जेरोधा, देल्हिवरी, डेली हंट और पेटीएम मनी के साथ साथ 3 कम्पनियों ने पूरे इकोसिस्टम को हतप्रभ कर दिया है। Startup ecosystem adto पिछले साल भारतीय स्टार्टअप इकोसिस्टम ने सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए थे और विश्व में बिज़नेस एस्टेब्लिशमेंट में प्रथम स्थान हासिल कर 10 नए स्टार्टअप्स को यूनिकॉर्न स्टार्टअप में शामिल किया गया था। इससे पहले यह रिकॉर्ड वर्ष 2014 में 4 नए यूनिकॉर्न स्टार्टअप्स का था। Indian startup ecosystem adto अभी तक 2019 में यूनिकॉर्न लिस्ट में शामिल हुए स्टार्टअप्स में कुछ तो बेहद अनापेक्षित रहे जो अन्य स्टार्टअप्स से आगे निकल गए। सिएटल और पुणे स्थित इकेर्टिस 2009 में शुरू हुई ऐसी ही कम्पनी है जो बिज़नेस सॉल्यूशन सॉफ्टवेयर प्रोवाइड कराती है। अमेरिका की ग्रेक्राफ्ट और प्रेमजी इन्वेस्ट कम्पनियों से मिली 115 मिलियन डॉलर की सीरीज E फंडिंग में इसकी वैल्युएशन 1 बिलियन डॉलर से ज्यादा आंकी गई। अन्य सरप्राइज यूनिकॉर्न स्टार्टअप्स में पुणे स्थित 2008 में बनी ध्रुवा एक क्लाउड डेटा प्रोटेक्शन और इन्फॉर्मेशन मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर सॉल्यूशन प्रदान करती है। ध्रुवा को वाइकिंग ग्लोबल इन्वेस्टर्स से मिली 130 मिलियन डॉलर की फंडिंग के समय इसकी वैल्युएशन 1 बिलियन डॉलर से ज्यादा आंकी गई और यह यूनिकॉर्न स्टार्टअप्स की लिस्ट में शामिल हो गई। New startup funding adto मार्च 2019 में रजिस्टर्ड हुई कम्पनी ओला इलेक्ट्रिक को सीड इन्वेस्टमेंट में रतन टाटा, टाइगर ग्लोबल और मैट्रिक्स पार्टनर से 56 मिलियन डॉलर अर्थात 400 करोड़ रुपए मिले थे और कम्पनी अभी रोलआउट स्टेज में है। कम्पनी को हाल ही में सॉफ्टबैंक से मिली 250 मिलियन डॉलर की सीरीज A फंडिंग में कम्पनी का मार्केट मूल्य 1 बिलियन डॉलर लगाई गई। इन तीनों स्टार्टअप्स के अलावा 30 से ज्यादा सूनिकोर्न्स स्टार्टअप्स भी यूनिकॉर्न की लिस्ट में आने के लिए तैयार है जिनके बारे में हम आपको अपडेट करते रहेंगें।
Happy
Happy
18 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
74 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
8 %