Posted on

Box Office Report: आलिया की राज़ी ने चार दिन में इतना पैसा कमाया

राज़ी ने बॉक्स ऑफ़िस पर चौथे दिन भी कमाल का प्रदर्शन किया है। हरिंदर सिक्का ने उस दौरान हुई एक सच्ची घटना को किताब के पन्नों में कैद किया था। सहमत का वो किरदार आलिया भट्ट ने निभाया और फिल्म में विक्की कौशल, रजित कपूर, सोनी राजदान, अमृता खानविलकर, शिशिर शर्मा और जयदीप अहलावत ने काम किया है। करीब दो घंटे 18 मिनट की इस फिल्म को प्रचार के खर्च के साथ 30 करोड़ रूपये में बनाया गया और देश में 1200 व वर्ल्ड वाइड 450 स्क्रीन्स में रिलीज़ किया गया।

पाकिस्तानी हरकतों की जासूसी कर भारत को ख़ुफ़िया जानकारी देने की बहादुरी करने वाली सहमत का रोल निभा कर आलिया भट्ट इन दिनों देश-दुनिया में अपने नाम की तालियां बजवा रही हैं और यही कारण हैं कि उनकी फिल्म राज़ी ने सोमवार को भी कलेक्शन का कमाल दिखाया है। मेघना गुलज़ार के निर्देशन में बनी फिल्म राज़ी ने घरेलू बॉक्स ऑफ़िस पर रिलीज़ के चौथे दिन छह करोड़ 30 लाख रूपये का कलेक्शन किया है। राज़ी ने सात करोड़ 53 लाख से ओपनिंग ली थी यानि हफ़्ते के पहले सामान्य दिन पर सिर्फ साढ़े 16 प्रतिशत की गिरावट आई है जो बेहतरीन मानी जा रही है। सबसे बड़ी बात कि फिल्म को देश के सभी इलाकों में सराहा गया है और तगड़ी माउथ पब्लिसिटी भी मिल रही है। राज़ी को चार दिनों में अब 39 करोड़ 24 लाख रूपये का कलेक्शन हासिल हो चुका है।

राज़ी के पास अब ये पूरा हफ़्ता है, शुक्रवार के पहले तक जब वो अपना कलेक्शन और बेहतर साबित कर सकती है। शुक्रवार को हॉलीवुड की फिल्म डेडपूल रिलीज़ हो रही है और माना जा रहा है कि एवेंजर्स इनफिनिटी वॉर की तरह इस फिल्म को भी जबरदस्त सफलता मिल सकती है। राज़ी का 75 करोड़ लाइफ़ टाइम कलेक्शन होने का अनुमान लगाया गया है। फिल्म राज़ी पहले ही इस साल की पांचवी सबसे अधिक वीकेंड कमाई करने वाली फिल्म बन चुकी है। राज़ी, साल 2008 में आई हरिंदर सिक्का की किताब ‘कॉलिंग सहमत’ की कहानी पर आधारित है। राज़ी कहानी है साल 1971 की जब भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा पर तनाव चरम पर था। तभी आये एक ‘सीक्रेट कोड’ ने भारतीय सेना के हौसलों को बुलंद कर दिया था। कश्मीर की कॉलेज जाने वाली एक लड़की सहमत ने ऐसा कर दिखाया था। पिता की अंतिम इच्छा को पूरा करने निकली वो लड़की अपनी देशभक्ति के लिए जासूस बन जाती है। पाकिस्तान के आर्मी जनरल के लड़के से शादी कर लेती है और उसका मिशन होता है कि वो हर रोज़ भारतीय ख़ुफ़िया तंत्र को पाकिस्तान गतिविधियों की जानकारी पहुंचाये।

 

Posted on

गगनशक्ति 2018: वायुसेना का बड़ा शक्ति प्रदर्शन, एयरचीफ मार्शल बोले- आसमान को हिलाने का है माद्दा

पिछले तीन दशक में भारतीय वायुसेना के सबसे बड़े अभ्यास ‘गगन शक्ति-2018’ में पिछले तीन दिनों के अंदर करीब 1100 विमानों ने हिस्सा लिया। जिनमें करीब आधा लड़ाकू विमान थे। वायुसेनाध्यक्ष बी.एस. धनोवा ने सोमवार को कहा कि पाकिस्तान बेहद करीब से इस ऑपरेशन पर नज़र रख रहा था जो “आसमान को हिला रहा है और धरती को चीर रहा है।”

अब वायुसेना अपना अभ्यास वेस्टर्न सेक्टर से ईस्टर्न सेक्टर में करने जा रही है। धनोवा ने कहा कि सभी तरह के प्रशिक्षण को 22 अप्रैल तक दो चरणों में चलनेवाले अभ्यास के चलते सस्पेंड किया जा रहा है। अमूमन यह युद्ध के समय में ऐसा होता है जब सेना की तरफ से सभी गतिविधियों को रोक दिया जाता है।

वायुसेना ने आकाश से दुश्मन के खात्मे का दम दिखाया
भारतीय वायुसेना का युद्धाभ्यास ‘गगन शक्ति 2018’ पिछले एक सप्ताह से पश्चिमी क्षेत्र में जारी है। पैराशुट ब्रिगेड की बटालियन के साथ वायुसेना ने आकाश से दुश्मन की धरती पर निशाना साधने का अभ्यास किया। वहीं पश्चिम बंगाल के खड़गपुर स्थित कलाईकुंडा एयरबेस से उड़े सुखाई 30 लड़ाकू विमानों ने भी दुश्मन को नेस्तेनाबूत करने का दम दिखाया। इस दौरान लक्षद्वीप तक की उड़ान के दौरान दो बार आकाश में ही सुखोई से सुखोई में ईंधन भरा गया।

वायुसेना ने तैयारी और दमखम को दो हिस्सों में परखा है। पहला पश्चिमी सीमा में और दूसरा उत्तरी सीमा पर। पश्चिमी सीमा के लिए पाकिस्तान सरकार को पूर्व सूचना दी गई। इस चरण में भारतीय सेना पाकिस्तान की हरकतों का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए दम दिखाया। दूसरे चरण में तिब्बत की ओर से चीन की सेना के खिलाफ मोर्चा खोलने के लिए अभ्यास किया।

जैसलमेर, जोधपुर, खड़गपुर में सैन्य विमानों ने हिस्सा लिया
लड़ाकू विमान तेजस वायुसेना में शामिल होने के बाद पहली बार गगन शक्ति युद्धाभ्यास में हिस्सा ले रहा है। सुखोई-30 एमकेआई, मिग-21, मिग-29, मिग 27, जगुआर व मिराज जैसे 600 लड़ाकू विमान शामिल हैं। बड़े परिवहन विमान सी-17 ग्लोब मास्टर, सी-130 जे सुपर हरक्यूलिस और अटैक हेलिकॉप्टर एमआई 35, एमआई 17 वी 5, एमआई 17, एएलएच ध्रुव, एएलएच भी शामिल हैं।

अड्डों पर धुआंधार गोलीबारी की गई
जैसलमेर में वायुसेना के विमानों ने विभिन्न ठिकानों को निशाना बनाकर युद्धाभ्यास किया।
‘गगन शक्ति 2018’ युद्धाभ्यास में पहली बार महिला फाईटर पायलट हिस्सा ले रही हैं। युद्धाभ्यास के दौरान स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस की पूरी स्कवाड्रन ताकत दिखा रही है।

Posted on

काबुल के शिया कल्चरल सेंटर पर आत्मघाती हमला; 40 की मौत, 30 से ज्यादा जख्मी

यहां के पश्चिमी इलाके में स्थित शिया कल्चरल एंड रिलीजियस ऑर्गनाइजेशन पर एक आत्मघाती हमले की खबर है। इसमें कम से कम 40 लोग मारे गए और 30 जख्मी हो गए। इस हमले की जिम्मेदारी अभी तक किसी भी आतंकी गुट ने नहीं ली है। मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि इस हमले में मरने वालों की तादाद बढ़ सकती है। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, हमला उस वक्त किया गया जब ऑर्गनाइजेशन के ऑफिस में मीडिया ग्रुप के मेंबर्स चर्चा कर रहे थे।

– स्थानीय तोलो न्यूज ने विदेश मंत्रालय के हवाले से 40 लोगों की मौत और 30 लोगों के जख्मी होने की पुष्टि की है।

– अफगानिस्तान के अफसरों के मुताबिक, मारे गए लोगों में ज्यादातर महिलाएं, बच्चे और जर्नलिस्ट शामिल हैं।

एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत

– तोला न्यूज के मुताबिक, इस हमले में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई है। परिवार वाले शवों के बीच में अपनों की तलाश करते रहे।

– प्रेसिडेंट अशरफ गनी ने इस हमले की निंदा की है और इसे इंसानियत के खिलाफ किया गया गुनाह बताया है।

मई में हुए अटैक में मारे गए थे 90 लोग

– बता दें कि इसी साल मई में काबुल स्थित इंडियन एंबेसी के पास भी ऐसा ही अटैक किया गया था, जिसमें कम से कम 90 लोगों की मौत हो गई थी। 300 से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे।

जुलाई में कार ब्लास्ट में मारे गए थे 24 लोग

– गुलाई दावा खाना इलाके में 24 जुलाई को फिदायीन अटैक किया था। इसमें 24 लोगाें की मौत हो गई थी। 42 लोग जख्मी हुए थे।

हमलों में सबसे ज्यादा पिछले साल हताहत हुए
– यूनाइटेड नेशंस असिस्टेंस मिशन इन अफगानिस्तान (UNAMA) की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल अफगानिस्तान में हमलों में 3498 आम लोगों की मौत हुई थी। 7920 लोग घायल हुए। यानी 11418 लोग हताहत हुए। पिछले आठ सालों में यह आंकड़ा सबसे ज्यादा था। 2015 की तुलना में इसमें 2% का इजाफा हुआ था।
– UNAMA की रिपोर्ट के मुताबिक इस साल मार्च तक अफगानिस्तान में एयर स्ट्राइक और आतंकी हमलों में 715 लोगों की मौत हुई थी। 1466 लोग घायल हुए थे।

अमेरिकी फौज आने के बाद बढ़ रहीं मुश्किलें

– आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अमेरिकी और विदेशी सेनाएं अफगानिस्तानी फोर्स की मदद करती रही हैं।

– फिलहाल यहां 8400 अमेरिकी सैनिक और 5000 नाटो सैनिक हैं। इनका मुख्य काम सलाहकार के रूप में काम करना है।

– छह साल पहले तक यहां एक लाख से ज्यादा अमेरिकी सैनिक थे। 2011 से 2013 के बीच अमेरिकी फौज की वापसी के बाद यहां आतंकी हमलों में तेजी आई है।

Posted on

युवराज सिंह को मिली डॉक्टरेट की मानद उपाधि

स्टार क्रिकेटर युवराज सिंह को खेल में दिये योगदान के लिये ग्वालियर के आईएमटी विश्वविद्यालय ने आज दर्शनशास्त्र में डाक्टरेट की मानद् उपाधि से नवाजा। युवराज को यह सम्मान मैदान में असाधारण खेल कौशल दिखाने के अलावा कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से निजात पाने के बाद दूसरों को हौसला देने के लिये दिया गया।

यहा जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक युवराज के अलावा यह सम्मान डा. ए.एस किरण कुमार (अंतरिक्ष विज्ञान), गोविंद निहलानी (फिल्म), डा. अशोक वाजपेयी (कवि), रजत शर्मा ( मीडिया), डा. आर.ए माशेलकर (विज्ञान एवं तकनीक) और अरुणा राय (सामाजिक कार्य) को भी दिया गया।

युवराज ने कहा, ‘‘ डाक्टरेट की उपाधि पाकर मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं। इससे मुझे अतिरिक्त जिम्मेदारी का अहसास होता है और मैं अपने कार्यों से दूसरों के लिये उदाहरण बनना चाहता हूं।’’ युवराज ने देश के लिये 400 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैचों में 10,000 से ज्यादा रन बनाये हैं। उन्होंने भारत के टी20 विश्व कप 2007 और एकदिवसीय क्रिकेट विश्व कप 2011 जीतने में अहम भूमिका निभाई थी।

Posted on

अहमद पटेल के ‘करीबियों’ पर ईडी के छापे, 5500 करोड़ के घोटाले का आरोप

दिल्ली में संदेसारा ग्रुप के ठिकानों पर 5500 करोड़ के घोटाले के आरोप में प्रवर्तन निदेशालय ने छापा मारा है. इस मामले में बड़ी बात ये है कि छापेमारी कुछ ऐसे लोगों के ठिकानों पर भी की गई है जो काम तो अहमद पटेल के यहां करते थे लेकिन उन्हें वेतन संदेसारा ग्रुप की ओर से दिया जाता था, अब प्रवर्तन निदेशालय इसी की जांच कर रहा है.

इस पूरे मामले पर अहमद पटेल ने कहा, ”जिन तीन लोगों के यहां छापे मारे गए (घनश्यान पांडे, संजीव महाजन और लक्ष्मीचंद शर्मा) उनमें संजीव महाजन उनके घर आते हैं.” अहमद पटेल ने इसके अलावा किसी भी प्रतिक्रिया ये इनकार कर दिया.

इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय गगन धवन नाम के शख्स को गिरफ्तार भी कर चुका है. प्रवर्तन निदेशालय पीएमएलए के तहत मामला दर्ज है. बैंक से 5500 करोड़ रूपये का लोन दिलाने और इस पैसे को ठिकाने लगाने में अहमद पटेल की भूमिका की जांच हो रही है. दिल्ली में कुल सात ठिकानों पर छापेमारी चल रही है, सूत्रों के मुताबिक छापेमारी में प्रवर्तन निदेशालय के हाथ बेहद अहम दस्तावेज लगे हैं.

कौन हैं अहमद पटेल?
अहमद पटेल गुजरात से राज्यसभा सदस्य हैं और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव हैं. कांग्रेस पार्टी में अहमद पटेल की अहम भूमिका है. गुजरात के भरूच के रहने वाले हैं. कहा जाता है सोनिया गांधी के हर निर्णय के पीछे अहमद पटेल का ही दिमाग होता है.

Posted on

किम जोंग के तेवर, कहा- पूरा अमेरिका हमारे परमाणु हथियारों की जद में

चेतावनियों के बावजूद छह परमाणु परीक्षण कर चुके उत्तर कोरिया ने फिर दुस्साहस दिखाया है। उसने अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल ह्वासोंग-15 का परीक्षण करके अमेरिका को फिर आंख दिखाई। उत्तर कोरिया का दावा है कि ह्वासोग-15 की जद में पूरा अमेरिका है। यह मिसाइल अधिक विस्फोटक के साथ 13 हजार किमी की दूरी तय सकती है। इस परीक्षण के साथ ही उत्तर कोरिया कई देशों के लिए खतरा बन गया है।

परमाणु परीक्षण करने की वजह से अंतरराष्ट्रीय पाबंदी झेल रहे उत्तर कोरिया ने दुनिया को धता बताते हुए अंतर-महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल का एक और परीक्षण कर डाला। भारतीय समयानुसार मंगलवार देर रात मिसाइल परीक्षण करने के बाद उत्तर कोरिया ने ऐलान किया कि ह्वासोंग-15 नामक उसकी मिसाइल का ताजा परीक्षण सफल रहा है। अब पूरा अमेरिका उसके परमाणु हथियारों के हमले की जद में गया है। भारी वजन के परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम ह्वासोंग-15 की क्षमता 13,000 किलोमीटर से अधिक है जबकि अमेरिका की दूरी दस हजार किलोमीटर है।

उत्तर कोरिया मसले को केंद्र में रखकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एशिया दौरे के दो हफ्ते बाद ही अमेरिका के सामने नई चुनौती पेश की गई है। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ताजा परीक्षण पर दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति और जापान के प्रधानमंत्री से बात की है। उत्तर कोरिया के सबसे बड़े सहयोगी चीन ने परीक्षण पर गंभीर चिंता जताई हैं। जबकि रूस ने तल्ख अंदाज में इसे भड़कावे की कार्रवाई कहा है। ज्ञात हो, तीन सितंबर को छठा परमाणु परीक्षण करने के बाद दुनिया के तमाम देशों ने उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगा दिया था।

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने आइसीबीएम की सफलता के लिए देश के परमाणु बल (न्यूक्लियर फोर्स) को बधाई दी है। कहा है कि इस सफल परीक्षण से उत्तर कोरिया ने गौरवशाली मुकाम हासिल कर लिया और वह पूर्ण परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र बन गया है। नई मिसाइल को ह्वासोंग-15 का नाम दिया गया है। उत्तर कोरिया ने कहा है कि वह जिम्मेदार परमाणु शक्ति के रूप में कार्य करेगा। उसकी शक्ति पूंजीवादी अमेरिका की परमाणु हमले की धमकी और ब्लैकमेल करने की नीति का जवाब है।

परमाणु परीक्षण पहला 

नौ अक्टूबर, 2006 में पहला परीक्षण। एक किलोटन से कम विस्फोटक ऊर्जा उत्पन्न। 4.3 तीव्रता का भूकंप आया।

दूसरा : 25 मई, 2009 को दूसरे परीक्षण में 2.35 किलोटन की विस्फोटक ऊर्जा निकली और 4.7 तीव्रता का भूकंप आया।

तीसरा : 12 फरवरी, 2013 को तीसरे परीक्षण में 16 किलोटन विस्फोटक ऊर्जा निकली। 5.1 तीव्रता का भूकंप आया।

चौथा : छह जनवरी, 2016 को चौथे परीक्षण से 15.5 किलोटन विस्फोटक ऊर्जा निकली। इसे हाइड्रोजन बम बताया। 5.1 तीव्रता का भूकंप आया।

पांचवां : नौ सितंबर, 2016 को पांचवें परीक्षण में 30 किलोटन तक विस्फोटक ऊर्जा निकली। 5.3 तीव्रता का भूकंप आया।

छठा : तीन सितंबर, 2017 को हाइड्रोजन बम का परीक्षण। 50 किलोटन ऊर्जा निकली। 6.3 तीव्रता का भूकंप आया।

मिसाइल कार्यक्रम के अहम पड़ाव 1987-92  

स्कड-सी (मारक क्षमता पांच सौ किमी) जैसी मिसाइल, रोडोंग-1 1,300, ताइपोडोंग-1 (2,500 किमी), मुसुदन-1 (3,000 किमी) और ताइपोडोंग-2 (6,700 किमी) का निर्माण शुरू।

1998 : जापान के ऊपर से ताइपोडोंग-1 का परीक्षण किया।

9 मार्च, 2016 : थर्मो न्यूक्लियर वारहेड को लघु रूप में निर्मित किए जाने की घोषणा।

23 अप्रैल, 2016 : पनडुब्बी से बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण।

8 जुलाई, 2016 : अमेरिका ने दक्षिण कोरिया में एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम थाड लगाने की घोषणा की।

तीन अगस्त, 2016 : जापान के समुद्री क्षेत्र में पहली बार सीधी बैलिस्टिक मिसाइल दागी।

आखिर नहीं माना उत्तर कोरिया

2017 में बनाई अमेरिका तक पहुंच 14 मई : जापान सागर में ह्वासोंग-12 मिसाइल गिराई। सात सौ किमी दूरी तय की।

4 जुलाई : ह्वासोंग-14 दागी। अमेरिका के अलास्का तक पहुंच का दावा।

28 जुलाई : दस हजार किमी की दूरी तक मार करने वाली केएन-14 का परीक्षण।

29 अगस्त : जापान के ऊपर से छह हजार किमी तक वार करने वाली ह्वासोंग-12 बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया।

15 सितंबर : ह्वासोंग-12 का परीक्षण किया।

सुरक्षा परिषद करेगी हालात पर चर्चा 

अमेरिका, जापान और दक्षिण कोरिया के अधिकारियों ने माना है कि जापान के नजदीक गिरी मिसाइल लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल थी। अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने इसे पूरी दुनिया के लिए खतरा बताया है। विशेषज्ञों के अनुसार आइसीबीएम में अधिक वजन का परमाणु हथियार फिट करने की उत्तर कोरिया की क्षमता को लेकर संदेह है। लेकिन जिस रफ्तार से वह हथियार विकसित कर रहा है, उससे लगता है कि वह क्षमता प्राप्त करने में उसे ज्यादा समय नहीं लगेगा। ट्रंप प्रशासन ने फिर कहा है कि उत्तर कोरिया को लेकर उनके पास सभी विकल्प हैं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद बुधवार को उत्तर कोरिया के ताजा परीक्षण पर चर्चा करेगी।

4,475 किमी की ऊंचाई तक गई 

ताजे परीक्षण में उत्तर कोरियाई मिसाइल सबसे ज्यादा ऊंचाई और सबसे ज्यादा दूरी तक जाकर जापान के नजदीक समुद्र में गिरी। उत्तर कोरिया ने बयान जारी कर कहा है कि यह मिसाइल आकाश में 4,475 किलोमीटर की ऊंचाई तक गई और उसने 950 किलोमीटर लंबा सफर तय किया। पूरा सफर तय करने में मिसाइल को कुल 53 मिनट लगे। अंतरिक्ष में जितनी ऊंचाई पर इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन मौजूद है, उत्तर कोरिया की मिसाइल उससे दस गुना ज्यादा ऊंचाई तक गई। इसके चलते उत्तर कोरियाई मिसाइलों के खतरे से अब अंतरिक्ष भी सुरक्षित नहीं रह गया है।

गुआम तक दो बार पहुंच चुकी है मिसाइल

उत्तर कोरिया वैसे तो बैलिस्टिक मिसाइलों के दर्जनों परीक्षण कर चुका है लेकिन अमेरिका के शहरों तक पहुंच होने का दावा उसने पहली बार किया है। बीते अगस्त में अमेरिकी द्वीप गुआम के नजदीक दो बार बैलिस्टिक मिसाइल पहुंचा चुके उत्तर कोरिया को लेकर विशेषज्ञ मान रहे थे कि कुछ ही महीनों में उसकी मिसाइलें अमेरिका तक पहुंचने में सक्षम हो जाएंगी। गुआम प्रशांत महासागर में स्थित है और उत्तर कोरिया से उसकी दूरी करीब 3,500 किलोमीटर है।

Posted on

ब्लैकबेरी ने बदली फ़ोन के इस्तेमाल की हर वजह। पेश है डॉक्टर फोन

Based on the idea of a mood ring, this futuristic cellphone integrates a keypad that changes color according to the emotional state, sensed from messages and phone calls, as the biometric ring transmits the body signals of wearer and sends data to the main device for interpretation. The goal  is to create empathy for one another and strengthen relationships.

Designer Daniel Yoon

As Daniel describes the interface:

It is of course touch based and all the user’s connections are shown graphically so you can see who is connected to whom. Each contact has an avatar that is encompassed by two colored rings. The inner colored ring shows the contact’s previous emotional state, and the outer ring represents the contact’s current emotional state. It is important to show the shift in emotions in order to see how an event has affected that contact.

Another important feature that we felt was important was the “Emotional Health Chart”. This chart would monitor the user’s emotional health through an indefinite period of time. One would be able to see how a certain event, or phone call/ message has affected the user. Obviously, if the chart shows someone is always upset, there would be a problem… If permitted, a user would be able to view other user’s charts as well.


Posted on

फिटकरी के फायदे जानकर आप दंग रह जायेंगे

हम बात करने वाले है कि फिटकरी हमारे जीवन में कैसे उपयोगी साबित हो सकती है.दोस्तों हर घर में फिटकरी जरूर रखना चाहिए. आपको बता दें फिटकरी केवल पानी ही साफ करने के काम ही नहीं आती बल्कि इसके कई हेल्थ बेनिफिट्स भी हैं. यह न केवल चोट, कटने-छिलने से हुई ब्लीडिंग रोकने में सहायक होती है बल्कि स्किन डिजीज, झुर्रियां दूर करने, खांसी, पाइल्स जैसी कई प्रॉब्लम्स में फायदेमंद होती है. फिटकरी में मैग्नीशियम सल्फेट होता है जो हमारे शरीर को हेल्दी बनता है.तो आइये जान लेते है इसके 5 बेस्ट फायदों के बारे में.

 

फिटकरी के 5 बेस्ट फायदे-

  1. फिटकरी के पाउडर को एक चम्मच ले और एक गिलास पानी में घोल लें.इसे पीने से यूरिन की जलन ठीक होती है.
  2. फिटकरी के पानी से बाल धोने से बालों की गंदगी और डैंड्रफ साफ हो जाते हैं. जुओं से भी छुटकारा मिलता है.
  3. आग में भूनी हुई फिटकरी को मिश्री के साथ लेने से अस्थमा के मरीजों को फायदा होता है.
  4. अगर हल्का बुखार है तो एक चम्मच भुनी हुई फिटकरी में दो चुटकी शक्कर मिलाकर देने से बुखार में आराम मिलता है.
  5. सांस की बदबू और दांतों में दर्द होने पर फिटकरी के पानी से गरारा करने से फायदा होता है.

नोट : दोस्तों हमारी पोस्ट पसंद आई हो तो पोस्ट को लाइक करें और अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे.