Posted on

हर अंग के लिए उसी आकार के फल-सब्जी और अनाज, एक बार जानकर बच सकते हैं सैकड़ों बीमारियों से

यह कुदरत का करिश्मा है कि हमारे आसपास ऐसे फल, अनाज और सब्जियां हैं, जिनका आकार हमारे शरीर के किसी न किसी अंग से मिलता है और उन्हें खाने से शरीर विशेष की बीमारी होने का जोखिम कम किया जा सकता है। यही नहीं, अगर बीमारी हो जाए तो उसके ठीक होने की संभावना भी होती है।

हम जैसा खाते हैं वैसा ही होते हैं

यह प्राचीन मान्यता है कि हम जैसा खाते हैं, वैसा ही होते हैं। इसलिए सदियों से सात्विक भोजन पर जोर दिया जाता रहा है। अब आधुनिक शोधों से पता चल रहा है कि ये मान्यताएं बिल्कुल सही हैं। इसी क्रम में हम आपका उन अनाज, फल और सब्जियों से परिचय करा रहे हैं, जो शरीर के खास हिस्से के लिए फायदेमंद होते हैं और आपको सेहतमंद रखते हैं।

गाजर और रोशनी का रिश्ता

अखरोट के बारे में हम बता चुके हैं। इस क्रम में अगला नंबर गाजर का है। इसे काटकर देखिए तो यह बिल्कुल आंखों के बीच के गोल हिस्से की तरह दिखता है। तभी तो इसे खाने से आंखों की रोशनी ठीक रहती है। इसमें विटामिन और बीटा केरोटीन जैसे एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो आंखों की रोशनी को खराब होने से बचाते हैं।

स्तन कैंसर से क्यों बचाता है संतरा

संतरे को बीच के काटने पर जो आकृति उभरती है वह स्तन के मैमोग्राम से मिलती जुलती है। संतरे एवं साइट्रिक एसिड वाले इसी आकार के अन्य फलों में पाया जाने वाला लिमोनॉयड्स का प्रयोगशाला में जानवरों पर प्रयोग सफल रहा है और इससे कैंसर का असर करने में मदद मिली है।

दिल का दोस्त है टमाटर

टमाटर को काटने पर उसके अंदर से भी दिल की तरह चैंबर निकलते हैं। वैज्ञानिक शोधों से साबित हुआ है कि इसमें पाए जाने वाले लाइकोपिन नामक पदार्थ के कारण टमाटर खाने वालों से दिल की बीमारियां दूर रहती हैं। टमाटर में थोड़ा मक्खन, घी या कोई भी फैट मिलाकर खाने से लाइकोपिन का असर दस गुना तक बढ़ जाता है।

अदरक को ध्यान से देखिए

अदरक के फायदे के कायल लोग से इसके मुरीद है लेकिन कई लोग इसके स्वाद के कारण इससे कोसों दूर रहना पसंद करते हैं। खैर, कभी ध्यान से इसे देखिए। यह बिल्कुल आमाशय (स्टमक) की तरह दिखता है। अपने देश में तो इसके गुणों से हम सदियों से परिचित हैं, लेकिन यूएस ड्रग एडिमिनिस्ट्रेशन (यूएसएफडीए) तक ने इसका लोहा मान लिया है। इसकी सूची में अदरक के तेल को अजीर्ण और उल्टी में इस्तेमाल के लिए रामबाण बताया गया है।

एक बींस का नाम किडनी बींस क्यों है

कभी आपने सोचा है कि राजमा और फ्रेंच बींस या इस परिवार के अन्य बींस का आकार किडनी की तरह क्यों होता है। क्योंकि इनके सेवन से किडनी सेहमंद रहती है। यहां तक कि एक बींस का नाम ही किडनी बींस है। इसमें फाइबर, मैग्नीशियम और पोटैशियम पाया है। फाइबर पाचन क्रिया को दुरुस्त रखता है, जबकि मैग्नीशियम और पोटैशियम किडनी स्टोन की समस्या से बचाता है।

आपके चेहरे पर मुस्कान लाता है केला

केला शायद दुनिया में सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला फल है और इसे कंप्लीट फूड भी कहा जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसके अंदर ट्रिप्टोफैन नामक एक प्रोटीन पाया जाता है जो केले के पचने के बाद सेरोटोनिन में बदल जाता है। यही सेरोटोनिन हमारे मूड को बुस्ट करता है। इसलिए, अगली बार जब भी आपका मूड डाउन हो तो उसे अप करने के लिए केला जरूर खाइएगा। शर्तिया फायदा होगा।

मशरूम भले न खाते हों लेकिन फायदा जान लीजिए

मशरूम को बीच के काटने पर यह बिल्कुल हमारे कान की तरह दिखता है। कान से ऊंचा सुनने वालों में मशरूम के सेवन से सुधार देखने को मिला है। कान के अलावा यह हड्डियों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें काफी मात्रा में विटामिन डी भी पाया जाता है।

जानिए, शकरकंद और पैंक्रियाज का रिश्ता

पैंक्रियाज का हमारे शरीर में काफी अहम रोल होता है। इस अंग का आकार शकरकंद से काफी मिलता-जुलता है। शोध से पता चला है कि शकरकंद में पाया जाने वाले तत्व पैंक्रियाज के ग्लाइसेमिक इंडेक्स को ठीक रखते हैं जिससे यह अंग सामान्य रूप से काम करता है।

अस्थमा से क्यों बचाता है अंगूर

हमारे फेफड़े के अंदर अंगूर के आकार की कई थैलीनुमा ग्रंथियां होती हैं जो कॉर्बन डाइ ऑक्साइड और ऑक्सीजन के प्रवाह को नियंत्रित करती हैं। इन्हें एल्वियोली कहा जाता है। अंगूर के सेवन से फेफड़े के संक्रमण और एलर्जी से होने वाली अस्थमा जैसी बीमारियों से लड़ने में फायदा मिलता है।

प्याज के फायदे जान हो जाएंगे हैरान

प्याज को काटकर सलाद के रूप में खूब खाया जाता है। लोग इसे अलग-अलग आकार में काटते हैं, लेकिन गभी गोलाकार काटकर देखिए। यह आकार बिल्कुल इनसान की कोशिकाओं से मिलता है। शोधों से पता चला है कि प्याज में पाए जाने वाले फाइटोकेमिकल कोशिकाओं के अपशिष्ट पदार्थों की सफाई करते हैं और उन्हें स्वस्थ रखते हैं। हम सभी जानते हैं कि ये कोशिकाएं ही जीवन का आधार हैं। कोशिकाओं से ही मिलकर ऊतक (टिश्यू) बनते हैं और कई टिश्यू मिलकर ऑरगन यानी अंग का निर्माण करते हैं।

Posted on

भाग्यशाली लोगों को मिलती हैं इन चार गुणों वाली पत्नियां

बहुत भाग्यशाली लोगों को मिलती हैं इन चार गुणों वाली पत्नियां
घर अगर रथ है तो पति, पत्नी उसके दोनों पहिए. अगर एक पहिया ठीक से ना चले तो घर नहीं चल पाता है. हिंदू घर्म में स्त्रियों को देवी माना जाता है. शास्त्रों के अनुसार

पत्नी

को विशेष महत्व दिया जाना चाहिए.

पत्नी

को अर्धांगिनी यूं ही नहीं कहा जाता है. इसका अर्थ होता है आधा अंग. अर्थात पुरुष

पत्नी

के बिना अधूरा है. पति का आधा अंग पत्नी है.

बहुत भाग्यशाली लोगों को मिलती हैं इन चार गुणों वाली पत्नियां

गरुण पुराण में पत्नी के गुणों को भलीभांति एक श्लोक के माध्यम से बताया गया है. इसमें कहा गया है कि जिस पुरुष के पास इन गुणों वाली स्त्री है उसे खुद को भाग्यशाली समझना चाहिए

आइए जानते हैं क्या है वह श्लोक.

बहुत भाग्यशाली लोगों को मिलती हैं इन चार गुणों वाली पत्नियां

गरुण पुराण में लिखा गया है कि- ‘सा भार्या या गृहे दक्षा सा भार्या या प्रियंवदा। सा भार्या या पतिप्राणा सा भार्या या पतिव्रता।।’ आइए जानते हैं इसका अर्थ-

गृहे दक्षा- गृह कार्य में दक्ष वे स्त्री जो घर के सभी काम जैसे- भोजन बनाना, साफ-सफाई करना, घर को सजाना, कपड़े-बर्तन आदि साफ करना, बच्चों की जिम्मेदारी ठीक से निभाना, घर आए अतिथियों का मान-सम्मान करना, कम संसाधनों में ही गृहस्थी चलाना आदि कार्यों में दक्ष होती है. उसे पति का भरपूर प्रेम मिलता है और घर भी तरक्की करता है.

प्रियंवदा- प्रियंवदा अर्थात वह स्त्री जो बहुत मधुर बोलती है सदैव और बड़ों से संयमित भाषा में ही बात करती है सबकी प्रिय होती है.

पतिप्राणा- अर्थात पतिपरायणा स्त्री. जो स्त्री अपने पति की बातों को सुनती है और उसका पालन करती है. इसके अवाला पति के मन को चोट पहुंचाने वाली कोई बात नहीं करती है ऐसी स्त्री के लिए पति कुछ भी करने को तैयार रहते हैं.

पतिव्रता- वह स्त्री जो अपने पति के अलावा किसी अन्य पुरुष के बारे में नहीं सोचती. धर्मग्रंथों में ऐसी ही पत्नी को पतिव्रता कहा गया है. गरुड़ पुराण के अनुसार, ऐसी पत्नियां पति को बल देती हैं और अंत में चलकर सुख भोगती हैं.

ऊपर बताए गए इन चार गुणों से परिपूर्ण स्त्री जिसके पास हो उसे स्वयं को इंद्र से कम नहीं समझना चाहिए. ऐसे पुरुष बहुत भाग्यशाली होते हैं.

Posted on

पीएम मोदी बोले, कर्तव्य के बिना अधिकार की मांग संविधान की भावना के खिलाफ

अपने कर्तव्य का निर्वाह किये बिना सिर्फ अधिकार की मांग करना संविधान की मूल भावना के खिलाफ है। लोगों को सूचना के अधिकार के साथ-साथ ‘एक्ट राइटली’ के बारे में जागरूक करना भी जरूरी है। केंद्रीय सूचना आयोग के नए भवन का उद्घाटन करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सशक्त और जागरूक नागरिक लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आरटीआइ कानून की तरह ही ‘एक्ट राइटली’ यानी लोगों को उनके कर्तव्यों के बारे में जागरूक करने की जरूरत है। बिना कर्तव्य के अहसास के सिर्फ अधिकार की बात करना संविधान की मूल भावना के खिलाफ है। उनके अनुसार संविधान ने नागरिकों को मौलिक अधिकार के साथ-साथ उनके कर्तव्य भी तय कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि सीआइसी जैसी संस्थाएं, जहां आम जनता के साथ संपर्क बहुत ज्यादा होता हो, उनके कर्तव्यों के प्रति जागरूक करने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने कहा कि अधिकार और कर्तव्य के बीच संतुलन बनाना जरूरी है। उन्होंने आयोग को आरटीआइ का व्यक्तिगत लाभ के लिए इस्तेमाल होने के प्रति भी आगाह किया। उन्होंने कहा कि इसे रोकने की जिम्मेदारी आयोग की है।

प्रधानमंत्री ने सशक्त और जागरूक नागरिक को लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत बताते हुए सरकार की ओर इस दिशा में उठाए गए कदमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकार इंफोर्मेशन हाईवे की दिशा में काम कर रही है। जिसमें जनता और सरकार दोनों ओर से संवाद होता है। उन्होंन इस इंफोर्मेशन हाईवे के पांच स्तंभों के बारे में विस्तार से बताया। जो सवाल, सुझाव, संवाद, काम और सूचना पर आधारित हैं।

उन्होंने बताया कि माइ गोव दुनिया का सबसे बड़ा सिटिजन इंगेजमेंट प्लेटफार्म है, जहां लोग सीधे सरकार से सवाल पूछते हैं और हमारी सरकार उनकी बात सुनने के लिए लालायित रहती है। आम लोगों के इन सुझाव पर कई बार नीतियों में बदलाव भी किये गए हैं। जनता के संवाद और उसके अनुसार काम करने के बारे में बताते हुए उन्होंने जीएसटी लागू करने के अनुभवों को साझा किया। उनके अनुसार जीएसटी के बारे में सुबह कोई शिकायत मिलती, तो शाम को ठीक करने की कोशिश की गई। हमारी सरकार के मंत्री और मंत्रालय सिर्फ एक ट्वीट पर कई समस्याओं का निपटारा कर रहा है।

Posted on

BOX OFFICE पर थम ही नहीं पा रही टाईगर की दहाड़, 41 दिन और पीके को पछाड़ा !

सलमान खान स्टारर टाईगर ज़िंदा है बॉक्स ऑफिस पर थमने का नाम ही नहीं ले रही है। फिल्म की रिलीज़ को 41 दिन हो चुके हैं और आखिरकार पीके की कमाई खा चुके हैं।

दरअसल, 40 दिन में ही सलमान इस आंकड़े से केवल 2.5 करोड़ की दूरी पर थे और अब आधिकारिक रूप से सलमान ने पीके के 338 करो़ड को पीछे छोड़ दिया है।

अब सलमान खान का अगला टार्गेट होगा दंगल के 380 करोड़ जिसे छूना फिलहाल तो मुश्किल लग रहा है क्योंकि टाईगर ज़िंदा अब केवल 600 स्क्रीन पर लगी है। अगले शुक्रवार दो बड़ी फिल्में रिलीज़ हो रही हैं।

ऐसे में सलमान का दंगल का रिकॉर्ड तोड़ना मुश्किल ही लग रहा है। लेकिन टाईगर ज़िंदा है के साथ बॉलीवुड को मिल गई है उसकी पांचवीं 300 करोड़ी फिल्म।

tiger-zinda-hai-box-office-update-salman-khan-beats-aamir-khan-s-pk-lifetime-collections

जी हां, अभी तक बॉलीवुड का 300 करोड़ क्लब इसी तरह सूखा पड़ा हुआ है। वहीं दूसरी तरफ, ये तय है कि सलमान खान ने 300 करोड़ क्लब में एंट्री लेने के बाद भी आमिर को मात नहीं दी।

टाईगर ज़िंदा है ने रिलीज़ के 17 दिन बाद जाकर 300 करोड़ क्लब में एंट्री ले पाई। जबकि आमिर की हालिया फिल्मों ने ये काम काफी फटाक से किया है।

जानिए बॉलीवुड के 300 करोड़ क्लब का रिपोर्ट कार्ड

दंगल

दंगल

आमिर खान स्टारर दंगल, इस समय 300 करोड़ क्लब की टॉप फिल्म है। नितेश तिवारी की इस फिल्म ने ग्लोबल बॉक्स ऑफिस में झंडा गाड़ते हुए कुल 2100 करोड़ की कमाई कर डाली है।

13 दिन में 300

दंगल की शुरआत धीमी थी लेकिन फिल्म का वर्ड ऑफ माउथ काफी तगड़ा था। और इसलिए हर दिन फिल्म की कमाई ने शानदार इज़ाफा किया था। फिल्म 23 दिसंबर 2016 को रिलीज़ हुई और 13 दिन में 300 करोड़ कमा चुकी थी।

पीके

पीके

पीके जब से खबरों में आई तब से ही पीके ने धमाका करना शुरू कर दिया था। फिल्म ने ग्लोबल बॉक्स ऑफिस पर 790 करोड़ की कमाई की। और आमिर खान ने साबित किया था कि उनसे बेहतर इस बिज़नेस को कोई नहीं जानता।

17 दिन में 300

17 दिन में 300

पीके को 300 करोड़ कमाने में केवल 17 दिन लगे थे। हालांकि फिल्म की शुरूआत, हर आमिर खान फिल्म की तरह धीमी थी। लेकिन धीरे धीरे इसने कंट्रोवर्सी के दम पर तेज़ी पकड़ी।

बजरंगी भाईजान

बजरंगी भाईजान

सलमान खान स्टारर बजरंगी भाईजान, कबीर खान का बेस्ट कही जाती है। फिल्म ने सलमान खान का इमोशनल रूप सबके सामने लाया था। और इसी बदौलत फिल्म ने वर्ल्डवाइड 626 करोड़ की कमाई की।

25 दिन में 300

25 दिन में 300

बजरंगी भाईजान ने शुरूआत ताबड़तोड़ की थी लेकिन धीरे धीरे फिल्म ने अपनी गति छोड़ दी थी। फिल्म को 300 करोड़ कमाने में 25 दिन लगे और फिल्म ने कुल 320 करोड़ की कमाई की थी।

सुलतान

सुलतान

सलमान खान का सुलतान अवतार किसी ने पहले नहीं देखा था। और इसलिए उन्हें ऐसे देख सब चौंक गए। फिल्म ने वर्ल्डवाइड 589 करोड़ की कमाई की।

पूरे 35 दिन

पूरे 35 दिन

सुलतान को 300 करोड़ की कमाई तक पहुंचने के लिए पूरे 35 दिन लगे। दिलचस्प ये है कि फिल्म 300 करोड़ कमाई कर के वहीं रूक भी गई।

टाईगर नहीं तोड़ पाया रिकॉर्ड

टाईगर नहीं तोड़ पाया रिकॉर्ड

अब ये तो तय है कि टाईगर ज़िंदा है आमिर खान से पीछे ही है। लेकिन ये तय है कि सलमान खान पीके का रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं। अब देखना है कि दंगल उनके हाथ आती है या नहीं।

अपना रिकॉर्ड तोड़ेंगे सलमान

अपना रिकॉर्ड तोड़ेंगे सलमान

सलमान खान अपनी दोनों फिल्मों का रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं औऱ टाईगर ज़िंदा है, सबसे तेज़ 300 करोड़ कमाने वाली सलमान की पहली फिल्म है।

Posted on

धनतेरस के दिन राशि के हिसाब से कौन सी चीज खरीदना आपके लिए फायदेमंद होगा

दिवाली से पहले लोग सुख समृद्धि के लिए धनतेरस के दिन कई चीजें खरीदते है और दिवाली के दिन पूजा करते है। आज हम आपको बताएंगे कि राशि के हिसाब से कौन सी चीज खरीदना आपके लिए फायदेमंद होगा। आइए जानते है धनतेरस के दिन किन राशि के लोगों को क्या खरीदना चाहिए।
1. मेष राशि
मेष राशि के लोगों को धनतेरस पर लोहें, चांदी, सोना और बर्तन खरीदना चाहिए। इस दिन केमिकल वाली चीजें खरादने से आपको नुकसान हो सकता है।

2. वृषभ राशि
इस राशि के लोगों को इस दिन सोना, चांदी, पीतल और कांसे से बनी चीजें खरीदना चाहिए।

3. मिथुन राशि
इस राशि के लोगों को इस दिन प्लाट, जमीन और घर खरीदा चाहिए। इसके अलावा आप पुखराज सोना भी निश्चित होकर खरीद सकते है।

4. कर्क राशि
इस दिन कर्क राशि के लिए सफेद वस्तु, चांदी, इलेक्ट्रॉनिक और नए वाहन खरादना अच्छा रहेंगा।

5. सिंह राशि
इस राशि के लोग जो भी खरीदे उसे अपने नाम पर ना लें। इससे आपकी बस्तु ज्यादा देर तक नहीं टिकेगी।

6. कन्या राशि
नए वस्त्रों को छोड़ कर चांदी, इलेक्ट्रॉनिक सामान, वाहन और फर्नीचर खरीदना आपके लिए लाभदायक होगा।

7. तुला राशि
इस राशि के लोग चांदी, सोने और कांसे से बनी चीजें खराद सकते है।

8. वृश्चिक राशि
इस राशि पर बुरा प्रभाव होने के कारण सिर्फ चांदी, बर्तन और पीतल की वस्तुएं ही खरीद सकते है।

9. धनु राशि
इस दिन आप पीले कपड़े, दवाई, सोना, गेहूं आदि खरीद सकते हैं।

10. मकर राशि
इस राशि के लोगों को इस दिन वस्त्र दान करने से फायदा होगा। इसके अलावा आप इस दिन प्राप्टी खरीद सकते है।

11. कुंभ राशि
इस दिन आपको किसी भी चीज में निवेश करने से धन का फायदा होगा। इस दिन आप सोना व किमती पत्थर न खरीदें।

12. मीन राशि
इस दिन निजी प्राप्टी और सोना खरीदना आपके लिए अच्छा होगा। इस दिन भूलकर भी आप किसी को पैसे उधार न दें।