Posted on Leave a comment

टीवीएस की नई Apache RTR 200 रेस एडिशन हुई लॉन्च, जानिए कीमत

TVS मोटर ने अपनी पीमियम और पॉपुलर बाइक Apache RTR 200 4V को लॉन्च कर दिया है यह अपाचे 200 का रेसिंग मॉडल है। इस बाइक में ऐंटी रिवर्स टॉर्क स्लिपर क्लचर और नए ग्राफिक्स शामिल किये हैं। जिसकी वजह से राइडर को इसे चलाते हुए नयापन महसूस होगा।

Apache RTR 200 4V अपने सेगमेंट की पहली ऐसी बाइक है जिसमें एडवांस्ड ‘A-RT स्लिपर कल्च’ दिया गया है इसे ऐंटी रिवर्स टॉर्क यूनिट कहा जाता है इसकी मदद से क्लच ऑपरेट करने में 22 फिसद तक कम ताकत लगती है। इससे कल्च हैंडलिंग आसानी से और तेजी से होती है।

कीमत की बात करें तो स्लिपर कल्च टेक्नोलॉजी वाले कार्ब्युरेटर वेरिएंट की कीमत 95,185 रुपये रखी है जबकि EFI इंजन के साथ स्लिपर कल्च वाले वेरिएंट की कीमत 1, 07,885 रुपये है तो वही स्लिपर कल्च के साथ कार्ब्युरेटर और ABS वाले वेरिएंट की कीमत 1, 08,985 रुपये रखी गई है।

बाइक के इंजन में कोई मैकेनिकल बदलाव नहीं किया है। इसमें मौजूदा 197.5cc का इंजन लगा है जो 20.21bhp कार्ब्युरेटर वेरिएंट में और 20.71bhp EFI वेरिएंट में जेनरेट करता है। हालांकि दोनों में पिक टॉर्क 18.1Nm ही रहेगा।

बजाज की पल्सर से है मुकाबला

TVS अपाचे 200 का मुकाबला बजाज की पल्सर NS200 से होगा। पल्सर NS200 में एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम की सुविधा है और कीमत 1.09 लाख रुपये है। पल्सर NS 200 में 200cc का सिंगल सिलेंडर, लिक्विड कूल्ड, इंजन लगा है। जो 23.5bhp की पॉवर और और 18.3Nm का टॉर्क देता है जनरेट करता है यह इंजन BS-IV मानकों पर खरा उतरता है।

Posted on Leave a comment

भारत में बनेगी अमेरिकी सेना के अपाचे हेलीकॉप्टर की बॉडी

अमेरिकी सेना सहित दुनियाभर में कहीं भी उपयोग में आने वाले एएच-64 अपाचे हेलीकॉप्टर की बॉडी भारत में हैदराबाद स्थित संयंत्र में बनेगी। इनका निर्माण टाटा बोइंग एयरोस्पेस लिमिटेड (टीबीएएल) करेगी, जिसकी उत्पादन इकाई का शुभारंभ गुरुवार को हैदराबाद में किया गया। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन, तेलंगाना के उद्योग व आइटी मंत्री के. टी. राव तथा बोइंग और संबंधित कंपनियों के कई शीर्ष अधिकारी इस मौके पर मौजूद थे।

टीबीएएल अमेरिकी कंपनी बोइंग और भारत की टाटा संस नियंत्रित टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स लिमिटेड (टीएएसएल) का संयुक्त उपक्रम है। बोइंग की एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि टीबीएएल संयंत्र से निकले एएच-64 अपाचे हेलीकॉप्टर के बॉडीज बोइंग के सभी ग्राहकों को डिलिवर किए जाएंगे, जिनमें अमेरिकी सेना समेत दुनियाभर के 15 अन्य देश शामिल है। कंपनी का हैदराबाद स्थित संयंत्र करीब 14,000 वर्गमीटर में फैला है, जिनमें 350 बेहद कुशल पेशेवर काम करेंगे। भविष्य में दुनियाभर में जहां कहीं से भी एएच-64 अपाचे हेलीकॉप्टर की मांग आएगी, उसकी बॉडी का निर्माण हैदराबाद स्थित इसी संयंत्र में होगा। कंपनी के मुताबिक इस संयंत्र से पहली बॉडी का निर्माण इसी वर्ष अनुमानित है।

सीतारमन ने टीबीएएल को भारत के रक्षा क्षेत्र में इस तरह के बड़े निवेश के लिए बधाई दी। इस संयंत्र के लिए दोनों कंपनियों ने वर्ष 2015 में करार किया था और संयंत्र का निर्माण वर्ष 2016 में शुरू हुआ।

बोइंग डिफेंस, स्पेस एंड सेक्योरिटी की प्रेसीडेंट व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) लिएन कैरेट ने कहा कि पिछले दो वर्षो में भारत से बोइंग की सोर्सिग 100 करोड़ डॉलर (करीब 6,500 करोड़ रुपये) को पार कर गई है। उन्होंने कहा, ‘कंपनी योग्य पेशेवरों, कौशल प्रशिक्षण और एडवांस्ड एयरोस्पेस मैन्यूफैक्चरिंग के लिए काम करने वाले योग्य कर्मचारियों की आपूर्ति बनाए रखने के लिए बड़ा निवेश कर रही है। हम इस संयंत्र से सिर्फ बॉडी ही नहीं, बल्कि बहुत जल्द वर्टिकल स्पार बॉक्स जैसे उपकरणों का भी उत्पादन करेगी।