Posted on Leave a comment

एबी डिविलियर्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास, इनके नाम दर्ज़ है ये विश्व रिकॉर्ड

डिविलियर्स ने द. अफ्रीका के लिए 114 टेस्ट 228 वनडे और 78 टी 20 मैच खेले हैं। 114 टेस्ट मैचों में 8765 रन बनाए हैं जिसमें 22 शतक और 46 अर्धशतक बनाए हैं। वे एक बेहतरीन बल्लेबाज के साथ ही एक शानदार विकेट कीपर भी रह चुके हैं।

एक वीडियो संदेश में कहा कि वे दक्षिण अफ्रीका और दुनियाभर में अपने फैंस के शुक्रगुजार हैं। एबी ने कहा अब समय आ गया है जब दूसरे युवा खिलाड़ियों को मौका दिया जाए। ईमानदारी से कहूं तो मैं अब थक गया हूं। ये एक मुश्किल निर्णय है और मैने ये फैसला काफी सोच समझकर लिया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि  मैं अपने संन्यास का एलान बेहतरीन क्रिकेट खेलते हुए करना चाहता था। हालांकि वे घरेलू क्रिकेट के लिए उपलब्ध रहेंगे।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज़ शतक लगाने का रिकॉर्ड भी ए बी डिविलियर्स के नाम ही है। ये कमाल उन्होंने 18 जनवरी 2015 को वेस्टइंडीज के खिलाफ महज 31 गेंदों में शतक लगाकर किया था। डीविलियर्स ने कोरी एंडरसन के 36 गेंदों में शतक के रिकॉर्ड को ध्वस्त कर ये रिकॉर्ड बनाया था। उन्होंने 16 छक्कों और 9 चौके की मदद से वनडे का यह कीर्तिमान बनाया। उन्होंने इस मैच में कुल 149 रन बनाए थे।

एबी डीविलियर्स के नाम 31 गेंदों में सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड तो है ही इसके अलावा सबसे तेज 150 रनों का रिकॉर्ड भी डीविलियर्स के ही नाम पर है। साल 2015 विश्व कप में डीविलियर्स ने सिडनी के मैदान पर 64 गेंदों में 150 रन ठोककर विश्व रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था। उन्होंने इस दौरान नाबाद 66 गेंदों में 162 रन बनाए थे जिसमें 17 चौके और 8 छक्के शामिल थे।

Posted on Leave a comment

चैंपियन ब्रावो ने चेन्नई को दिलाई शानदार जीत, मुंबई को एक विकेट से हराया

आइपीएल के 11वें सीजन के पहले मुकाबले में तीन बार की चैंपियन मुंबई इंडियंस दो बार खिताब जीत चुकी चेन्नई सुुपर किंग्स के सामने थी। इस रोमांचक मुकाबले में चैंपियन ब्रावो की शानदार पारी के दम पर चेन्नई सुपर किंग्स ने मुंबई इंडियंस को एक विकेट से हराकर सनसनीखेज शुरुआत की। इस मैच में धौनी ने टॉस जीता और पहले गेंदबाजी का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई इंडियंस ने निर्धारित 20 ओवर में 4 विकेट पर 165 रन बनाए। चेन्नई को मैच जीतने के लिए 166 रन का लक्ष्य मिला था। एक वक्त ऐसा लग रहा था कि मुंबई ये मुकाबला जीत जाएगा लेकिन ब्रावो ने मुंबई के इरादों पर पानी फेर दिया और कमाल का खेल दिखाते हुए टीम को जीत तक पहुंचा दिया। इसके बाद केदार जाधव ने शानदार चौका लगाकर चेन्नई को जीत दिला दी।

ब्रावो की तूफानी पारी

मुंबई ने चेन्नई को पहला झटका शेन वॉटसन के तौर पर दिया। हार्दिक पांड्या की गेंद पर लेविस ने 16 रन पर शेन का कैच लपका। सुरेश रैना सिर्फ 4 रन बनाकर हार्दिक पांड्या की गेंद पर कृणाल पांड्या के हाथों कैच आउट हो गए। अंबाती रायडू को मयंक ने एलबीडब्ल्यू आउट किया। रायडू ने 19 गेंदों पर 22 रन बनाए। टीम के कप्तान धौनी ने अपनी टीम को निराश किया और सिर्फ पांच रन बनाकर मयंक की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। रवींद्र जडेजा 12 रन बनाकर मुस्ताफिजुर रहमान का शिकार बने। जडेजा का कैच सुर्यकुमार यादव ने लपका। दीपक चाहर बिना खाता खोले मयंक की गेंद पर स्टंप आउट हुए। ईशान किशन ने चाहर को स्टंप किया। हरभजन सिंह 8 रन बनाकर मैक्लेघन की गेंद पर बुमराह के हाथों कैच आउट हुए। मार्क वुड हार्दिक पांड्या की गेंद पर एक रन बनाकर आउट हो गए। वुड का कैच मुस्ताफिजुर ने लपका। ब्रावो ने 30 गेंदों पर तूफानी 68 रन की पारी खेली। उन्होंने अपनी पारी में 3 चौके और 7 छक्के लगाए। बुमराह की गेंद पर ब्रावो का कैच रोहित शर्मा ने पकड़ा। केदार जाधव ने 22 गेंदों पर नाबाद 24 रन की पारी खेली। जाधव एक बार इंजर्ड होकर मैदान से बाहर चले गए थे लेकिन आखिरी वक्त पर वो फिर से बल्लेबाजी के लिए उतरे और टीम को बेहतरीन जीत दिलाई।

Posted on Leave a comment

रिद्धिमान साहा ने सिर्फ 20 बॉल में 102 रन मार दिए, वो भी नॉट आउट

लगता है धोनी की रिटायरमेंट के बाद उनकी जगह अपना दावा मज़बूत करने के इकलौते मकसद से खेल रहे हैं. पहले दिनेश कार्तिक ने निदाहस ट्रॉफी फाइनल में ग़दर काटा था. अब रिद्धिमान साहा ने तांडव मचा दिया है. उन्होंने 20 – हां सही पढ़ा आपने – सिर्फ 20 बॉल में 102 रन ठोक डाले हैं. 14 छक्के और 4 चौकों के साथ. सिर्फ दो रन भागकर लिए. ये अद्भुत बैटिंग है. होश उड़ा देने वाली.

साहा ने ये कमाल जेसी मुखर्जी ट्रॉफी में कर दिखाया है. बी.एन.आर क्लब और मोहन बागान क्लब के बीच ट्वेंटी-ट्वेंटी मैच हुआ. बी.एन.आर वालों ने 20 ओवर में 151 रन बनाए. साहा ओपनिंग करने उतरे और सिर्फ 7 ओवर में मैच जिता डाला. साहा के साथ उतरे सुभोमोय दास ने भी 22 गेंदों में 43 रन मार दिए. कुल मिलाकर जाबड़ बल्लेबाज़ी हुई.

आईपीएल सर पर है. ऐसे में साहा का सही गियर में आना सनराईज़र्स हैदराबाद के लिए अच्छी ख़बर है. उन्होंने साहा को 5 करोड़ में खरीदा था.