Posted on Leave a comment

महामानव की महाफिल्म #NarendraModi का सूक्ष्म विश्लेषण!

हमारे प्रिय प्रधानमंत्री मोदी जी पर बनी विवेक ओबरॉय द्वारा अभिनीत फ़िल्म #NarendraModi 11 अप्रैल को रिलीज़ होनी थी जो कि चुनाव को देखते हुए आगे बढ़ाकर 24 मई को रिलीज रो रही है।

इस अनुपम व्यक्ति की महाकथा देखने को सभी देशभक्त उत्साहित हैं।
एक चाय वाले का बेटा, हिमालय में सिद्धि प्राप्त करने वाला योगी, माँ भारती का अनन्य सेवक, वर्ल्ड बैंक के कर्ज के नीचे दबे राज्य को एशिया का सबसे सफल राज्य बनाने वाला मुख्यमंत्री, पहली बार पूर्ण बहुमत से प्रधानमंत्री बनने वाला गैर-कांग्रेसी नायक और न जाने कितने ही रूप इस महामानव के व्यक्तित्व में आत्मसात हैं। इनको और जानने के लिए हर व्यक्ति इस फ़िल्म का इंतजार कर रहा है।

कांग्रेसी पंडितों ने फ़िल्म की रिलीज़ रोकने को एड़ी चोटी का जोड़ लगाया परन्तु वो इस फ़िल्म के पीछे की सद्भावना को नहीं जान सके। आप कांग्रेसी पंडित एक व्यक्ति की कथा से इतने भयभीत हैं कि आप अपनी हार पहले ही स्वीकार कर चुके हैं। सिर्फ मौका ढूंढ रहें हैं कि होने वाली हार का बहाना क्या बनाया जाए।

अब भाजपा ने अपने दम पर जो चमत्कार किया है वो इतिहास के पन्नों में हमेशा दर्ज रहेगा। पहली बार देश भर के 22 दलों से सिर्फ एक व्यक्ति मोदी जी ने चुनाव लड़ा और जीत कर दिखा दिया कि अब भारतवर्ष की जनता को और मुर्ख बना पाना सम्भव नहीं है।

फिर हुआ चमत्कार

अपने बुते 300 पार

बन गई मोदी सरकार

यदि फ़िल्म ही किसी चुनाव को प्रभावित कर सकती है तो ये रैली और प्रचार छोड़ कर सभी दलों को अपने नायकों पर फ़िल्म बना देनी चाहिए लेकिन यह तभी संभव है जब उनके नायकों में वह प्रतिभा हो और उन्होंने वह संघर्ष किया हो जिससे जनमानस प्रभावित हो।

सभी जानते हैं कि अन्य दलों के नायक या तो वंशवाद से बड़े बने हैं या फिर दुसरो का इस्तेमाल करके। कुछ तो ऐसे हैं जिन्होंने अपने वंश को ही धोका देकर सत्ता हतिया ली। फिर भी सब एक साथ इसलिए हैं क्योंकि इस महामानव को किसी भी तरह से हराना संभव नहीं है। यह फिजूल कोशिश सिर्फ इसलिए है की अपने दल की इज्जत बचाई जा सके।

जो पिछली बार 2014 में लहर थी अब वो सुनामी है और विश्व भर में मोदी जी की साख के आगे किसी का भी टिक पाना मुमकिन नहीं है।

इन सब बातों से दूर यह फ़िल्म आपके भीतर एक प्रेरणा को प्रज्वलित करेगी और आप भी अपनी वर्तमान परिस्थितियों पर पछताने को छोड़कर माँ भारती की सेवा करने को अग्रसर होंगे। फ़िल्म का आनंद उठाएं तथा औरों को भी माँ भारती की सेवा हेतु प्रेरित करें।

नोट: यह लेख AdTO.in के चीफ एडिटर के विचारों और शोध पर आधारित है। इसका किसी भी मीडिया समूह से कोई लेना-देना नहीं है और न ही किसी राजनीतिक दल के प्रभाव से शब्दों का चयन किया गया है।

Posted on Leave a comment

पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी जी का निधन, लंबे समय से थे बीमार

Atal bihari bajpeyi ji

पूर्व प्रधानमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का निधन गुरुवार शाम 5.05 मिनट पर हो गया। वह 93 साल के थे। अटल जी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। हमारे देश के उन चुनिंदा लोगों में अटल जी का नाम लिया जाता है जिन्होंने भारतीय राजनीती में आमूलचूल परिवर्तन किये और इसको एक नई दिशा दी। प्रधानमंत्री पद के लिए परिवारवाद की जीत को दरकिनार करने के लिए अगर किसी एक शख्स को जिम्मेदार माना जायेगा तो वो अटल जी ही हैं।

वाजपेयी जी को सांस लेने में परेशानी, यूरीन व किडनी में संक्रमण होने के कारण 11 जून को एम्स में भर्ती किया गया था। 15 अगस्‍त को उनकी तबीयत काफी बिगड़ गई थी, जिसके बाद उन्‍हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया। थोड़ी देर में उनका पार्थिव शरीर उनके निवास पर लाया जाएगा, जहां उसे लोगों के दर्शनार्थ रखा जाएगा। इस संबंध में 6.30 बजे केंद्रीय कैबिनेट होगी।
एम्स के मुताबिक, बुधवार सुबह वाजपेयी जी को सांस लेने में तकलीफ हुई थी। इसके बाद उन्हें जरूरी दवाइयां दी गई थीं, लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया। भाजपा के संस्थापकों में शामिल वाजपेयी 3 बार देश के प्रधानमंत्री रहे। वह पहले ऐसे गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री रहे, जिन्होंने अपना कार्यकाल पूरा किया। उन्हें देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

वाजपेयी जी काफी दिनों से बीमार थे और वह करीब 15 साल पहले राजनीति से संन्यास ले चुके थे। अटल बिहारी वाजपेयी जी ने लाल कृष्ण आडवाणी के साथ मिलकर भाजपा की स्थापना की थी और उसे सत्ता के शिखर पहुंचाया। भारतीय राजनीति में अटल-आडवाणी की जोड़ी सुपरहिट साबित हुई। अटल बिहारी जी देश के उन चुनिन्दा राजनेताओं में से एक थे, जिन्हें दूरदर्शी माना जाता था। उन्होंने अपने राजनीतिक करियर में ऐसे कई फैसले लिए जिसने देश और उनके खुद के राजनीतिक छवि को काफी मजबूती दी। अटल जी एक उच्च कोटि के चिंतक एवं विचारक होने के साथ-साथ एक श्रेष्ठ कवि, लेखक, रणनीतिकार और राजनीतिज्ञ थे।

उनका जन्म 25 दिसंबर, 1924 को ब्रह्ममूहुर्त में शिन्दे की छावनी वाले घर में हुआ था। वैसे उनके स्कूल के सर्टिफिकेट में जन्म की तिथि 25 दिसंबर 1926 लिखी है। यह दो वर्षों का अंतर उनके पिताजी ने इसलिए कराया था कि कम आयु लिखी जाएगी तो लड़का ज्यादा दिनों तक नौकरी कर सकेगा।

इस संदर्भ का जिक्र स्वयं अटल बिहारी वाजपेयी जी ने ग्वालियर के श्री नारायण तरटे को 7 जनवरी, 1986 को लिखे एक पत्र में किया था। उन्होंने लिखा था ‘आपका पत्र मिला। बड़ी प्रसन्नता हुई। इतने संगी-साथियों में यदि किसी के स्नेह-आशीर्वाद की अभिलाषा रहती है तो वह आप ही हैं। मेरा जन्म 1924 में हुआ था। पिताजी ने स्कूल में नाम लिखाते समय 1926 लिखा दिया कि उम्र कम होगी तो नौकरी ज्यादा कर सकेगा, देर में रिटायर होगा। उन्हें क्या पता था कि मेरी वर्षगांठ मनेगी और मनाने वाले मुझे छोटा बनाकर पेश करेंगे।’

Posted on Leave a comment

ऑस्ट्रेलिया की संसद में पहली बार किया गया योग, भारत से आया योग अब पूरी दुनिया में मचा रहा धूम

केनबरा स्थित संसद के कम्युनिटी हाल में इस सत्र में पूर्व प्रधानमंत्री टोनी एबॉट समेत कई मंत्रियों व सांसदों ने हिस्सा लिया और विभिन्न आसनों का अभ्यास किया। दो घंटे तक चले इस सत्र का आयोजन मेलबर्न स्थित वासुदेव क्रिया योग समूह ने किया था।

हर साल 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है। एबॉट ने कहा, ‘यह बहुत अच्छा है कि हम संसद में योग दिवस मना रहे हैं। चिंता और तनाव से घिरे नेताओं के लिए योग फायदेमंद है। कई भारतवंशी ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों को योग अभ्यास करते देखना बेहद सुखद है। ऑस्ट्रेलियाई भी योग में काफी रुचि दिखाते हैं।’

योग को प्रसारित करने में भारत की सफलता का जिक्र करते हुए एबॉट ने कहा, ‘भारत उभरती विश्व शक्ति है और योग उससे जुड़ा हुआ है। मुझे खुशी है भारत से आया योग पूरी दुनिया में फैल रहा है।’

हर साल 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है। एबॉट ने कहा, ‘यह बहुत अच्छा है कि हम संसद में योग दिवस मना रहे हैं। चिंता और तनाव से घिरे नेताओं के लिए योग फायदेमंद है। कई भारतवंशी ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों को योग अभ्यास करते देखना बेहद सुखद है। ऑस्ट्रेलियाई भी योग में काफी रुचि दिखाते हैं।’

वासुदेव क्रिया योग के राजेंद्र येंकानमुले ने कहा, ‘पहली बार किसी देश की संसद में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया है। यह कार्यक्रम बहुत सफल रहा। हमें उम्मीद है कि आने वाले सालों में यह और भी सफल होगा।’

Posted on Leave a comment

Photos: जब मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आदिवासी महिला को पहनाई चप्पल, पढ़ें, पूरा मामला

अंबेडकर जयंती के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को छत्तीसगढ़ के बीजापुर पहुंचे। जहां उन्होंने ‘आयुष्मान भारत’ योजना के तहत देश के पहले वेलनेस सेंटर के लॉन्च कार्यक्रम में शिरकत की। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने एक आदिवासी महिला को मंच पर चप्पल भेंट की। चरण-पादुका (फुटवियर) योजना के तहत प्रधानमंत्री मोदी ने इस आदिवासी महिला को चप्पल पहनाईं। इस योजना का लक्ष्य तेंदूपत्ता जमा करने वालों को चप्पलें उपलब्ध कराना है।

पीएम मोदी ने भेंट की चप्पल शनिवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अंबेडकर जयंती के मौके पर छत्तीसगढ़ के बीजापुर पहुंचे। उन्होंने बीजापुर में कई केन्द्रीय और राज्य सरकार की विभिन्न परियोजनाओं की नींव रखी। बीजापुर में पीएम मोदी ने ‘आयुष्मान भारत’ योजना के पहले वेलनेस सेंटर का उद्घाटन किया। स्वास्थ्य केंद्र के उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री ने एक आदिवासी महिला को चप्पल का एक जोड़ा भेंट किया। प्रधानमंत्री ने मंच पर ही महिला को चप्पल पहनाई। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा, अनंत कुमार के साथ-साथ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह भी मौजूद थे। चरण-पादुका योजना के तहत दिया गया चप्पलों का जोड़ा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चरण-पादुका योजना के तहत आदिवासी महिला को चप्पलों का जोड़ा दिया।

जानकारी के मुताबिक चरण-पादुका (फुटवियर) योजना का लक्ष्य तेंदूपत्ता जमा करने वालों को चप्पलें उपलब्ध कराना होता है। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि विकास की दौड़ में पीछे छूट गए और पीछे छोड़ दिए गए समुदायों में आज जो चेतना जागी है, वो चेतना बाबा साहब की ही देन है।

योजना के तहत तेंदूपत्ता जमा करने वालों को चप्पलें उपलब्ध कराना है पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि एक गरीब मां का बेटा, पिछड़े समाज से आने वाला आपका ये भाई अगर आज देश का प्रधानमंत्री है, तो ये भी बाबा साहेब की ही देन है। उन्होंने कहा कि आज बाबा साहेब की प्रेरणा से, मैं बीजापुर के लोगों में, यहां के प्रशासन में, यही भरोसा जगाने आया हूं। ये कहने आया हूं कि केंद्र की आपकी सरकार, आपकी आशाओं-आकांक्षाओं, आपकी ‘aspirations’ के साथ खड़ी है।

Posted on Leave a comment

भारत बंद के दौरान बिहार में हिंसा, आरा में फायरिंग और गया में लाठीचार्ज

SC/ST एक्ट में हुए बदलावों के विरोध में 2 अप्रैल को दलित संगठनों ने भारत बंद बुलाया था. अब आरक्षण के विरोध में आज भारत बंद बुलाया गया है. इस बंद को लेकर देश के सभी राज्यों की पुलिस हाईअलर्ट पर है, गृहमंत्रालय ने भी सभी राज्यों को सख्ती बरतने के लिए कहा है. कई राज्यों में भारत बंद के चलते धारा 144 लागू की गई है. ये भारत बंद आरक्षण के विरोध में बुलाया गया है.

बिहार – आरा नगर थाने में आनंदनगर इलाके में बंद समर्थकों और विरोधियों के बीच हिंसक झड़प हुई है. दोनों तरफ से फायरिंग की जा रही है. इसके अलावा आरा में ही सैकड़ों युवाओं ने पटना पैसेंजर ट्रेन को रोक दिया. आक्रोशित युवाओं ने रेल पटरी पर उतरकर आरक्षण के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. आरा में पत्थरबाजी के दौरान सात लोग घायल हुए हैं. घायल में एसडीओ भी शामिल हैं. गया में भारत बंद के दौरान उपद्रवियों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया है. कई उपद्रवियों को गिरफ्तार भी किया गया है. आरा में धारा 144 लागू की गई है.

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

ANI

@ANI

 बिहार के वैशाली में भी आरक्षण के विरोध में बंद के दौरान कई जगह से प्रदर्शन और जाम की तस्वीर सामने आई हैं. आरक्षण विरोधियों ने कई जगह रेल ट्रैक पर आगजनी कर परिचालन को भी बाधित किया है.

इसके अलावा पटना-कोलकाता रेलखंड का परिचालन ठप हो गया है. प्रदर्शनकारियों ने बरौनी पैसेंजर ट्रेन को रोक दिया है. कई लोग रेल पटरी पर बैठकर ही प्रदर्शन कर रहे हैं. दरभंगा की ललित नारायण मिश्रा यूनिवर्सिटी ने अपने बीए के पेपर को टाल दिया है. इसके अलावा कई प्राइवेट स्कूलों को भी बंद किया गया है.

आरक्षण के खिलाफ भारत बंद के दौरान भोजपुर में आक्रोशित युवाओं ने सड़क पर आगजनी कर आवागमन बाधित कर दिया. नवादा थाना क्षेत्र के चंदवा मोड़ के समीप आरक्षण के खिलाफ नारे लगा रहे युवाओं ने 84 आरा बक्सर मुख्य मार्ग को सुबह से ही जाम लगाना शुरू कर दिया.

बिहार के मुजफ्फरपुर में हिंसा के दौरान लोगों ने तीन राउंड फायरिंग की है. समर्थकों ने पुलिस और मीडियाकर्मियों के साथ बदसलूकी भी की.

केंद्रीय मंत्री से बदसलूकी

भारत बंद का सबसे ज्यादा असर बिहार में दिख रहा है. इस दौरान हाजीपुर में केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा जाम में फंस गए. बंद समर्थकों ने केंद्रीय मंत्री से बदसलूकी भी की गई. ये घटना हाजीपुर के शुभाई की है.

जो युवा नारेबाजी कर रहे थे उनका कहना था कि आरक्षण जाति के हिसाब से नहीं बल्कि आर्थिक रुप से कमजोर लोगों को मिलना चाहिए ताकि हर वर्ग के लोग समाज की मुख्यधारा में आ सके. इसके अलावा बिहार में NH 219 के पास रतवार गांव में लोगों ने सड़क को जाम कर दिया है और नारेबाजी कर रहे हैं. मुजफ्फरपुर में मंगलवार सुबह पटना रोड के पास टायर जलाकर प्रदर्शन किया गया. इसके अलावा भगवानपुर में मुख्य सड़क पर जाम लगा दिया गया है.

बिहार में भी भारत बंद के चलते सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ाया गया है. हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी आज बिहार में ही हैं, इसलिए सुरक्षा वैसे ही बढ़ाई गई है. केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने कहा है कि केंद्र सरकार की एंटी-दलित छवि बनती जा रही है. उन्होंने कहा कि एक साल में सबकुछ ठीक हो जाएगा, सरकार दलितों के लिए बहुत कुछ कर रही है.

उत्तर प्रदेश –

भारत बंद का सबसे ज्यादा असर उत्तर प्रदेश में दिख रहा है. मेरठ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर में रविवार से ही सुरक्षा बढ़ा दी गई है. सहारनपुर में अग्रिम आदेशों तक इंटरनेट की सुविधा को बंद कर दिया गया है. इसके अलावा हापुड़ और मुजफ्फरनगर में भी इंटरनेट की सेवा बंद है. वहीं फिरोजाबाद और मुजफ्फरनगर में स्कूलों को भी बंद रखा गया है. रविवार रात से ही कई इलाकों में पुलिस ने मार्च किया. अभी शुरुआत में मेरठ में भारत बंद का कोई असर नहीं दिख रहा है.

View image on TwitterView image on Twitter

ANI UP

@ANINewsUP

 No impact of #BharatBandh call seen as yet in Meerut. MHA had issued an advisory that some groups would be protesting against caste-based reservations in jobs and education.

पंजाब

 पंजाब के फिरोजपुर में भारत बंद के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प हो गई. दुकान बंद करवाने के दौरान लोगों ने मोटरसाइकिल पर पथराव किया. इस दौरान लोगों ने तलवारों से हमला किया, जिसमें दो घायल हुए हैं.

मध्य प्रदेश –

2 अप्रैल को बुलाए गए भारत बंद के दौरान सबसे ज्यादा हिंसा मध्यप्रदेश में ही हुई थी. इस बार भारत बंद को देखते हुए राज्य के कई शहरों में धारा 144 लागू की गई है. भिंड, ग्वालियर, मुरैना, श्योपुर, शिवपुरी, श्योपुर, शिवपुरी में इंटरनेट की सुविधा पर रोक लगा दी गई है. भिंड और मुरैना में कर्फ्यू लगा दिया हया है. पैरामिलिट्री फोर्स की 6 कंपनियों को तैनात किया गया है.

ग्वालियर में उपद्रवियों से निपटने के लिए 2 हज़ार से ज्यादा पुलिस बलों को तैनात किया गया है. इसके अलावा सीआरपीएफ को भी तैनात किया गया है. भोपाल, रायसेन, टीकमगढ़ में धारा 144 को लागू किया गया है. वहीं सागर में किसी भी तरह के धरने, रैली और जुलूस पर प्रतिबंध लगाया गया है.

मध्य प्रदेश के ग्वालियर, मुरैना और भिंड में हुई हिंसा के बाद, उच्च जातियों के संगठनों द्वारा 10 अप्रैल को प्रस्तावित भारत बंद और 14 अप्रैल को संविधान निर्माता डॉ. बीआर अंबेडकर की जयंती के मद्देनजर प्रशासन पूरी तरह सतर्कता बरत रहा है.

राजस्थान –

राजस्थान में इस बार सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता किया गया है. जयपुर में मोबाइल इंटरनेट सुविधा पर रोक लगा दी गई है और शहर में धारा 144 लागू की गई है.

केरल – 

केरल में आज CPIM भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ प्रदर्शन करेगी. CPIM राज्य के हर जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन करेगी. CPIM का आरोप है कि बीजेपी के राज में दलितों पर अत्याचार बढ़ा है.

गृह मंत्रालय ने मुहैया कराई सुरक्षा

आपको बता दें कि भारत बंद को देखते हुए देशभर में गृहमंत्रालय ने 30 अर्धसैनिक बलों की कंपनियों को तैनात किया है. इसमें 14 कंपनी अर्धसैनिक बल की उत्तर प्रदेश में, 4 कंपनी सीआरपीएफ की मध्यप्रदेश में, 8 कंपनी CRPF की राजस्थान में और बिहार में CRPF की 4 कंपनियां तैनात की गई हैं.

गृह मंत्रालय ने सोमवार को ही सभी राज्यों को एडवाइज़री जारी की थी. इसमें राज्यों के डीएम और एसपी को अलर्ट जारी किया गया था और बंद के दौरान सतर्क रहने को कहा गया था. आपको बता दें कि ये बंद किसी संगठन के द्वारा नहीं बुलाया गया है. बल्कि 2 अप्रैल के बाद लगातार सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे संदेशों के जरिए ही बुलाया गया है.

आपको बता दें कि बीते 2 अप्रैल को एससी/एसटी एक्ट में बदलावों के खिलाफ दलित संगठनों ने भारत बंद बुलाया था. इस भारत बंद में काफी हिंसा हुई थी, जिसमें करीब 10 से अधिक लोगों की मौत हुई थी. इस दौरान उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान, बिहार समेत कई राज्यों में काफी हिंसा और तोड़फोड़ हुई थी.

Posted on Leave a comment

SC/ST एक्ट में बदलाव को लेकर विरोध में हिंसक प्रदर्शन, 8 की मौत; कई शहरों में कर्फ्यू

अनुसूचित जाति, जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम (एसएसी/एसटी एक्ट) को लेकर आए सुप्रीम कोर्ट के हालिया फैसले के विरोध में दलित और आदिवासी संगठनों ने देशभर में विरोध- प्रदर्शन कर रहे हैं। देश के कई हिस्सों में हिंसक प्रदर्शन हुअा। कई जगह तोड़फोड़ व अगजनी की घटनाएं सामने अाई है। वहीं मध्‍यप्रदेश के ग्‍वालियर और मुरैना में विरोध प्रदर्शन के दौरान 5 लोगों की मौत हो गई है।

कई जगह ट्रेनें रोकी गई हैं। इसके अलावा कुछ शहरों में झड़प की घटनाएं भी सामने आई हैं। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर एससी/एसटी एक्ट में कई बदलाव हुए थे। हालांकि, सरकार ने अब इस मामले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल कर दी है।

पुनर्विचार याचिका लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंची सरकार
केन्द्र सरकार ने एससी एसटी एक्ट में तत्काल एफआइआर और तुरंत गिरफ़्तारी पर रोक के फ़ैसले के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल कर दी है। सरकार ने कोर्ट से याचिका पर खुली अदालत में बहस और सुनवाई की मांग की है। याचिका में सरकार ने तर्क दिया कि फ़ैसले से कानून का उद्देश्य कमज़ोर होगा। पुनर्विचार याचिका मे सरकार ने अभियुक्त के लिए अग्रिम जमानत के रास्ते खोलने का विरोध किया और कहा कि इसका अभियुक्त दुरुपयोग करेगा और पीड़ित को धमका सकता है, साथ ही जांच भी प्रभावित कर सकता है। सरकार ने कहा कि इस कानून मे अभियुक्त को अग्रिम जमानत का हक न देने से अनुच्छेद 21 में उसे मिले जीवन और स्वतंत्रता के मौलिक अधिकार का हनन नही होता। एससीएसटी कानून में ये 1973 मे नये अधिकार के तौर पर जोड़ा गया था।उधर एससी एसटी पर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के ख़िलाफ़ आल इंडिया फ़ेडरेशन आफ एससी एसटी आर्गनाइजेशन की ओर से आज सुप्रीम कोर्ट मे अलग से नई याचिका दाखिल की गई, जिसमें कोर्ट से फ़ैसले पर रोक लगाने और मामले पर विचार कर फ़ैसले मे बदलाव की मांग की गई है। याचिका पर वकील मनोज गोरकेला ने मुख्य न्यायाधीश की पीठ से जल्द सुनवाई की मांग की। लेकिन कोर्ट ने जल्द सुनवाई की मांग ठुकराते हुए कहा कि मामले पर नियमित क्रम मे ही सुनवाई की जाएगी।

मध्य प्रदेश के मुरैना में एक की मौत, लगाया गया कर्फ्यू

मुरैना में विरोध प्रदर्शन में एक व्यक्ति की मौत हो गई है। हिंसा के उग्र होने के बाद यहां कर्फ्यू लगा दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ भारत बंद के दौरान मध्यप्रदेश के मुरैना शहर में जमकर हिंसा हुई। यहां विरोध प्रदर्शन के दौरान हवाई फायरिंग कर दहशत फैलाने की वजह से हालात बेकाबू हो गए। मुरैना में बंद समर्थकों ने बस स्टैंड, बैरियर चौराहे पर पथराव किया। इस दौरान कई वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई।प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए पुलिस को बल प्रयोग के साथ आंसू गैस के गोले भी छोड़ने पड़े। पुलिस ने किसी तरह प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा तो मुरैना रेलवे स्टेशन पर उपद्रव शुरू हो गया। बंद समर्थकों ने यहां पटरियों पर डेरा जमा लिया, जिसके बाद ट्रेनों की आवाजाही थम गई है। मीडिया खबरों के मुताबिक, ग्‍वालियर में भारत बंद के दौरान हुई हिंसक झड़पों में 19 लोग घायल हो गए हैं, जिनमें से 2 की मौत हो गई है। आईजी कानून एवं व्यवस्था मकरंद देउस्कर ने बताया कि मध्‍यप्रदेश के ग्‍वालियर और मुरैना में विरोध प्रदर्शन के दौरान अभी तक 5 लोगों की मौत हो गई है।

दिल्ली में पुलिस बल पर पथराव, ठप हुए राजमार्ग

एसटी-एसी एक्ट 1989 में संशोधन के खिलाफ दिल्‍ली एनसीआर में भारत बंद ने हिंसा का रूप अख्तियार कर लिया। कई जगहों पर प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ झड़पें हुई। इससे निपटने के लिए पुलिस ने हल्‍के बल का प्रयोग किया। प्रदर्शनकारियों ने एनएच 24 और दिल्ली-देहरादून हाइवे समेत कई प्रमुख मार्गों पर जाम लगा दिया। इससे कई राजमार्ग पर यातायात व्‍यवस्‍था पूरी तरह से ठप हो गई। गाजियाबाद में रेलवे फटकी पर जाम के कारण ट्रेनों का संचालन भी प्रभावित हुआ है।

बिहार में दिन चढ़ने के साथ बढ़ता जा रहा भारत बंद का असर
बिहार में यह बंद असरदार दिख रहा है। बिहार में पंजाब जाने वाली ट्रेन को रोक दिया गया है। बंद के कारण जगह-जगह रेल व सड़क यातायात प्रभावित हैं। बंद समर्थकों ने पटना व हाजीपुर के बीच उत्तर व दक्षिण बिहार की लाइफलाइन ‘महात्मा गांधी सेतु’ को जाम कर दिया है। इस बंद को राजद, सपा, कांग्रेस और शरद यादव का समर्थन मिला है। बंद के दौरान वैशाली में एक कोचिंग संस्‍थान को बंद कराने के दौरान छात्रों से बंद समर्थकों की भिड़त हो गई। इसमें दर्जनों छात्र घायल बताए जा रहे हैं। बंद समर्थक पटना सहित राज्‍य के विभिन्‍न जगहों पर एंबुलेंस सहित आवश्‍यक सेवाओं की गाडि़यों को भी रोक रहे हैं।

राजस्थान में विरोध प्रदर्शन ने लिया हिंसक रूप

राजस्थान में विरोध प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया है। राजस्‍थान के डीजीपी ने बताया कि विरोध प्रदर्शन के दौरान अलवर में फायरिंग हुई, जिसमें एक शख्‍स की मौत हो गई है। कुछ क्षेत्रों में पत्‍थरबाजी की घटनाएं भी सामने आईं। हिंसक प्रदर्शन कर रहे काफी लोगों को हिरासत में लिया गया है। कुछ क्षेत्रों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई और धारा 144 लगा दी गई है, ताकि हालात ज्‍यादा न बिगड़ें। बाड़मेर में दलित और पुलिस में झड़प हो गई है। इस झड़प में 25 लोग घायल हो गए हैं। पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू के गोले दागे। दूसरी तरफ करणी सेना भी दलितों के प्रदर्शन के विरोध में सड़कों पर उतर आई है। जिसकी वजह से दोनों गुटों के बीच भिड़ंत हो गई। सड़क पर दोनों गुट भिड़ गए। बाड़मेर में वाहनों को आग लगा दी गई।

उत्तर प्रदेश में जोरदार विरोध प्रदर्शन

उत्तर प्रदेश में हालात बिगड़ते हुए नजर आ रहे हैं। मुजफ्फरनगर में हिंसक प्रदर्शन के दौरान एक व्यक्ति के मरने की सूचना है। मृतक का नाम अमरीश निवासी गादला, थाना भोपा है। इसकी बॉडी जिला अस्पताल लाई गई है। रेलवे के कर्मचारी प्रताप की कमर में भी गोली लगी है, उसकी हालत भी गंभीर बनी हुई है। उत्‍तर प्रदेश के डीआइजी ने बताया कि प्रदेश के सिर्फ 10 प्रतिशत हिस्‍से में ही हिंसक प्रदर्शन हुए, जिसमें 2 शख्‍स की मौत हो गई है और 3 लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। इसके अलावा प्रदेश के 90 प्रतिशत हिस्‍से में शांति का माहौल है। प्रदर्शनकारियों से सख्‍ती से निपटा जा रहा है। पुलिस ने हिंसक प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज किया। हम विश्‍वास दिलाते हैं कि किसी भी आरोपी को छोड़ा नहीं जाएगा। आजमगढ़ में एक बस पर हमला कर दिया और उसमें आग लगा दी गई। मेरठ तथा आगरा व मैनपुरी में दलित संगठन से जुड़े लोग सड़क पर उतर आए हैं। कई जगह पर प्रदर्शनकारी ट्रेन के सामने खड़े हो गए हैं। एससी-एसटी एक्ट पर फैसले का आगरा में भी कई संगठनों ने काफी विरोध किया है। बसपा के कार्यकर्ता यहां शहर के सभी बाजारों में भीड़ जबरन बाजार बंद करा रही है। यह लोग विरोध में लाठी-डंडे के साथ सड़क पर उतरे और दुकानों में काफी लूटपाट करने के साथ ही महिलाओं से भी छेड़छाड़ की। एंबुलेंस में फंसे मरीजों के साथ अभद्रता की गई। शाहगंज क्षेत्र के बारह खंभा के पास लोग रेलवे ट्रैक पर बैठ गए। इसके साथ ही यहां एत्माद्दौला के टेढ़ी बगिया में चक्का जाम किया गया है। करीब एक घण्टे से जाम के चलते रामबाग तक बड़ी संख्या में वाहनों की कतार लग गई है। जगह-जगह पर इसको लेकर प्रदर्शन हो रहा है। इस प्रदर्शन को देखते हुए प्रदेश सरकार ने सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी कर दी है।

एससी/एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के ताजा फैसले के बाद दलित संगठनों के दो अप्रैल को भारत बंद के मद्देनजर पंजाब, बिहार, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़ व मध्य प्रदेश सहित अन्य राज्यों की सरकारों ने चौकसी कड़ी कर दी है। पंजाब मे सभी स्कूल-कॉलेज, विश्वविद्यालय व बैंक सोमवार को बंद करने के आदेश जारी कर दिए हैं। सरकारी व प्राइवेट बस सेवा के साथ ही रात 11 बजे तक मोबाइल व डोंगल इंटरनेट सेवाएं तथा एसएमएस सेवाएं भी बंद करने के आदेश हैं।

पंजाब में दलितों के बंद का मिलाजुला असर
एससी-एसटी एक्‍ट संबंधी सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद दलित संगठनों द्वारा किए गए बंद के आह्वान का पंजाब के अधिकांश इलाकों में मिलाजुला असर दिख रहा है। जालंधर, अमृतसर, लुधियाना, बरनाला, पटियाला सहित अन्य जिलों में दलित संगठनों के लोग सक्रिय हैं। संगठनों के कार्यकर्ता तड़के से ही सड़कों पर उतर आए। अमृतसर में वाल्मीकि समुदाय के लोगों ने सचखंड एक्सप्रेस रोक दी, जिससे यात्री परेशान रहे। किसी भी आशंका से निपटने के लिए पुलिस ने सुरक्षा के क़ड़े इंतजाम किए हैं।

सुरक्षा के मद्देनजर सरकार ने कल ही प्रदेश में सभी स्कूल-कॉलेज, विश्वविद्यालयों को सोमवार को बंद करने के आदेश जारी कर दिए थे। सरकारी व प्राइवेट बस सेवा के साथ ही कल रात 11 बजे तक मोबाइल व डोंगल इंटरनेट सेवाएं तथा एसएमएस सेवाएं भी बंद कर दी गई थी। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुरक्षा बलों के 12 हजार अतिरिक्त जवानों को फील्ड में उतारा गया है।

झारखंड में पुलिस ने किया लाठी चार्ज
रांची में बंद समर्थक सड़क पर उतर चुके हैं। दुकानों को बंद करवाने की कोशिश की जा रही है। इस बीच, रांची के आदिवासी हॉस्टल के बंद समर्थकों ने जमकर उपद्रव किया। उन्होंने पुलिस पर पथराव किया। इसके जवाब में पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और उन पर लाठी चार्ज किया।

क्या है सुप्रीम कोर्ट का फैसला

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने एससी/एसटी एक्ट 1989 में सीधे गिरफ्तारी पर रोक लगाने का फैसला किया था। कोर्ट ने कहा था कि एससी/एसटी एक्ट के तहत दर्ज मामलों में तुरंत गिरफ्तारी की जगह शुरुआती जांच हो। कोर्ट ने कहा था कि केस दर्ज करने से पहले डीएसपी स्तर का अधिकारी पूरे मामले की प्रारंभिक जांच करेगा और साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा था कि कुछ मामलों में आरोपी को अग्रिम ज़मानत भी मिल सकती है।

राजद, सपा, कांग्रेस और शरद का समर्थन

सोमवार को बुलाए गए भारत बंद को बिहार में राजद, सपा, कांग्रेस और शरद यादव का समर्थन मिला है। दलित संगठनों ने भी अनुसूचित जाति-जनजाति संघर्ष मोर्चा के तत्वावधान में सोमवार को आहूत भारत बंद का समर्थन किया है।

Posted on Leave a comment

इलाज के लिए लंदन पहुंचे इरफान खान ने पोस्ट की इमोशनल तस्वीर और कविता

न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर से पीड़ित बॉलिवुड ऐक्टर इरफान खान ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक तस्वीर पोस्ट की है, जो उन्हीं की परछाई है। इस तस्वीर के साथ इरफान ने फेमस पोएट रेनर मरिया रिल्का की दिल छू जानेवाली एक कविता भी पोस्ट की है।

‘हिन्दी मीडियम’ ऐक्टर इरफान ने यह पोस्ट लंदन के किसी होटेल से किया है। बता दें कि इरफान खान अपने इलाज के लिए ब्रिटेन गए हैं, जहां एक भारतीय डॉक्टर उनका इलाज करेंगे। उन्होंने इरफान की बीमारी के बारे में काफी रिसर्च किया है और वह ऐसे मामलों के विशेषज्ञ हैं।

बीते शुक्रवार को इरफान ने सोशल मीडिया पर एक स्टेटमेंट जारी करते हुए जानकारी दी है कि उन्हें न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर है। दरअसल, हाल ही में बॉलिवुड को तब जोरदार झटका लगा जब श्रीदेवी के निधन के तुरंत बाद इरफान खान ने किसी दुर्लभ बीमारी से घिरने का संकेत दिया। हालांकि, तब उन्होंने अपनी इस बीमारी का कोई जिक्र नहीं किया था और कहा था कि मेडिकल रिपोर्ट्स आ जाने के बाद वह खुद अपनी बीमारी के बारे में फैन्स से शेयर करेंगे।

irrfan-khan

इरफान खान के बारे में ये बातें नहीं जानते होंगे आप…

बीमारी के बारे में इरफान के ट्विटर हैंडल से लिखा गया था, ‘जिसकी उम्मीद न हो वह आपको आगे बढ़ने में मदद करता है, बीते कुछ दिन ऐसे ही गुजरे हैं। मुझे न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर का पता चला है और यह काफी मुश्किल रहा है लेकिन मेरे आसपास के लोगों के प्यार और ताकत ने मुझमें उम्मीद जगाई है। इस जर्नी में मुझे विदेश भी जाना पड़ेगा और मैं आप सबसे प्रार्थना करता हूं कि अपनी शुभकामनाएं भेजते रहें। जैसी कि अफवाहें उड़ रही हैं न्यूरो का मतलब हमेशा दिमाग से नहीं होता, पता लगाने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप गूगल पर थोड़ी रीसर्च कर लें। जो लोग मेरी तरफ से यह खबर पढ़ने का इंतजार कर रहे थे, उम्मीद है कि इसके बाद और ज्यादा स्टोरीज के साथ वापस आऊंगा।’

Posted on Leave a comment

दिल्ली में बुधवार से चलेगी पिंक मेट्रो, जानिए ख़ास बातें

नॉर्थ दिल्ली को सीधे साउथ दिल्ली से जोड़ने वाली दिल्ली मेट्रो की पिंक लाइन बुधवार से शुरू हो जाएगी। इससे नॉर्थ दिल्ली से साउथ दिल्ली महज 35 मिनट में पहुंचा जा सकेगा। मेट्रो फेज-3 में मजलिस पार्क से शिव विहार के बीच 59 किमी लंबी पिंक लाइन बन रही है। इसका एक हिस्सा बुधवार से पब्लिक के लिए खुलने जा रहा है। अभी साउथ कैंपस से मजलिस पार्क के बीच मेट्रो चलेगी। बुधवार शाम 6 बजे से आम लोग इस रूट पर सफर कर सकेंगे। इस लाइन पर मेट्रो ने कई अनूठे कीर्तिमान भी स्थापित किए हैं। यहां कारीगरी के इतने सारे नमूने एक साथ देखने को मिलेंगे कि आप देखते रह जाएंगे। पिंक लाइन पर कुल 19 ट्रेनें दौड़ेंगी जिनकी फ्रिक्वेंसी 2 मिनट 28 सेकंड से लेकर 5 मिनट 12 सेकंड होगी। आइए नजर डालते हैं दिल्ली मेट्रो की इस नई लाइन की खासियतों पर;

12 स्टेशनों पर चलेगी मेट्रो
एलिवेटेड स्टेशन: 8 (साउथ कैंपस, दिल्ली कैंट, मायापुरी, राजौरी गार्डन, ईएसआई हॉस्पिटल, पंजाबी बाग वेस्ट, शकूरपुर, मजलिस पार्क)
अंडरग्राउंड स्टेशन : 4 (नारायणा विहार, नेताजी सुभाष प्लेस, शालीमार बाग, आजादपुर)
इंटरचेंज स्टेशन: 4 आजादपुर (यलो लाइन), नेताजी सुभाष प्लेस (रेड लाइन), राजौरी गार्डन (ब्लू लाइन), धौला कुआं (एयरपोर्ट लाइन)

सचमुच का ‘जबरा फैन’
आजादपुर स्टेशन के कोनकोर्स लेवल पर मेट्रो ने खास तरह के 5 पंखे लगाए हैं। ये पंखे साइज में इतने बड़े हैं कि आपने शायद ही पहले कभी इतने बड़े पंखे नहीं देखे होंगे। इनका आकार 5 डायमीटर जितना बड़ा है। ये एचवीएलएस (हाई वॉल्यूम लो स्पीड) फैन चलेंगे स्लो स्पीड में, लेकिन इनसे हवा खूब आएगी। स्टेशन के अनपेड एरिया में एयर कंडिशनिंग सिस्टम के बजाय डीएमआरसी ने पहली बार इस तरह के विशालकाय पंखे लगाए हैं। सामान सिंगापुर से मंगाकर उन्हें यहीं असेंबल किया गया है।

(पिंक लाइन के सबसे ऊंचे पॉइंट से ऐसी दिखती है दिल्ली)

7 मंजिला ऊंचाई पर मेट्रो
धौला कुआं पर मेट्रो 23.6 मीटर की ऊंचाई से गुजरेगी, जो किसी 7 मंजिला इमारत के बराबर है। नीचे से एयरपोर्ट मेट्रो और उसके नीचे एनएच-8 से गुजरती गाड़ियां दिखेंगी। दूसरी तरफ हरा-भरा रिज एरिया सरदार पटेल मार्ग नजर आएंगे। डीएमआरसी ने ट्रैफिक या एयरपोर्ट मेट्रो को डिस्टर्ब किए बिना पिंक लाइन का रास्ता निकाला है। कुछ ही दूर नारायणा के पास मेट्रो का सबसे गहरा पॉइंट भी है। यहां बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन के ऑफिस के नीचे मेट्रो 26 मीटर की गहराई पर गुजरेगी।

कॉरिडोर में आर्ट गैलरी
नेताजी सुभाष प्लेस स्टेशन के कोनकोर्स एरिया में इतनी खूबसूरत पेंटिंग लगाई गई हैं कि देखकर आपको ऐसा लगेगा कि आप किसी मेट्रो स्टेशन में नहीं, बल्कि किसी आर्ट गैलरी में खड़े हैं। यहां दर्जन भर से ज्यादा आर्ट वर्क इंस्टॉल किए गए हैं। कई नामचीन आर्टिस्टों की पेंटिंग्स को ग्लास पर उकेरने के बाद उन्हें यहां लगाया गया है। यह एक सेमी अंडरग्राउंड स्टेशन है, जिसके कोनकोर्स और ग्राउंड लेवल के बीच सिर्फ ढाई मीटर का गैप है।

पिंक लाइन मेट्रो से जुड़े अहम फैक्ट्स

मजलिस पार्क से साउथ कैंपस के बीच शुरू होगी लाइन

19 मेट्रो ट्रेनें चलेंगी इस पूरे सेक्शन पर, हर मेट्रो में होंगे 6 कोच

2.4 मीटर है घरों से मेट्रो लाइन की सबसे कम दूरी राजौरी गार्डन में

23.6 मीटर का बना है सबसे ऊंचा पॉइंट धौला कुआं के पास

26 मीटर है सबसे गहरा पॉइंट पूरे सेक्शन पर नारायणा के पास

एक ही स्टेशन पर 4 प्लैटफॉर्म
इंटरचेंज स्टेशनों पर ही दो से ज्यादा प्लेटफॉर्म देखने को मिलते हैं, लेकिन इस लाइन के 2 स्टेशनों पर इंटरचेंज की सुविधा न होने के बावजूद 4-4 प्लैटफार्म बनाए गए हैं। शकूरपुर और मजलिस पार्क पर इस तरह का स्ट्रक्चर है। भविष्य में जब यह 59 किमी लंबी लाइन पूरी खुल जाएगी, तो कभी किसी ट्रेन को बीच में रोकने या टर्मिनेट करने की जरूरत भी पड़ सकती है। इसे देखते हुए इन दोनों स्टेशनों पर 4-4 प्लैटफार्म बनाए गए हैं। आमतौर पर इंटरचेंज स्टेशनों पर लाइन चेंज करने के लिए कोनकोर्स लेवल या ग्राउंड पर जाना पड़ता है, मगर राजौरी गार्डन स्टेशन पर आपको प्लैटफॉर्म से एक लेवल और ऊपर जाना पड़ेगा और उसके बाद आप ब्लूलाइन पर पहुंचेंगे। ट्रैक के ऊपर 16.5 मीटर लंबा एक रैंप बनाया है। यहां से 134 मीटर लंबे ट्रैवलेटर से होते हुए ब्लूलाइन वाले राजौरी गार्डन स्टेशन में एंट्री करेंगे। स्टेशन के बगल में राजौरी गार्डन फ्लाइओवर है, ऐसे में मेट्रो ने पहली बार इस तरह का प्रयोग किया।

Posted on Leave a comment

टेरर से जंग किसी धर्म के खिलाफ नहीं: मोदी

कट्टरपंथ और आतंक के खिलाफ कड़ा संदेश देते हुए पीएम मोदी ने गुरुवार को कहा कि आतंकवाद और कट्टरपंथ के खिलाफ लड़ाई किसी पंथ के खिलाफ नहीं बल्कि युवाओं को गुमराह करने वाली मानसिकता के खिलाफ है।

पूरी खुशहाली, समग्र विकास तभी संभव है, जब मुस्लिम युवाओं के एक हाथ में कुरान शरीफ हो और दूसरे हाथ में कंप्यूटर। मोदी ने यह बात एक सम्मेलन में कही, जिसमें जॉर्डन के शाह अब्दुल्ला द्वितीय भी मौजूद थे।

शाह ने कहा कि कट्टरपंथ चिंता का विषय है। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई किसी धर्म विशेष के खिलाफ नहीं है।

Posted on Leave a comment

ऑटो एक्सपो 2018: एक नजर, पहले दिन लॉन्च हुए वीइकल्स पर

ऑटो एक्सपो 2018: एक नजर, पहले दिन लॉन्च हुए वीइकल्स पर

आॅटो एक्सपो 2018: एक नजर, पहले दिन लॉन्च हुए वीइकल्स पर

ऑटो एक्सपो 2018 ग्रेटर नोएडा में 7 फरवरी से शुरू हो गया। पहले दिन कई वाहन लॉन्च किए गए। एक नजर में जानें पहले दिन के महत्वपूर्ण लॉन्चेज के बारे में…

मारुति ने दिखाया ऐसी होगी नई मिनी एसयूवी

मारुति ने दिखाया ऐसी होगी नई मिनी एसयूवी

मारुति सुजुकी ने अपनी ‘कॉन्सेप्ट फ्यूचर S’ का वर्ल्ड प्रीमियर किया। बेहद बोल्ड डिजाइन के साथ पेश की गई इस कार के इंटीरियर्स भी काफी फ्यूचरिस्टिक हैं। कंपनी ने कार के डिजाइन पर काफी काम किया है। कंपनी के सीईओ केनिचि अयुकावा ने कहा कि कॉम्पैक्ट स्पोर्ट्स यूटिलिटी वीकल भारतीय कार कस्टमर की नेचुरल चॉइस हैं। कंपनी ने कार को एसयूवी लुक देने की कोशिश की है।

टोयोटा ने उतारी यारिस सिडैन

टोयोटा ने उतारी यारिस सिडैन

टोयोटा ने इंडिया में अपनी नई मिड लेवल सिडैन कार ‘यारिस’ को पेश किया है। इस कार की कीमत का अभी खुलासा नहीं किया गया है लेकिन यह माना जा रहा है कि यह होंडा सिटी और मारुति सुजुकी सियाज के सेगमेंट में आ रही है। यानी इसकी अलग-अलग वैरियंट्स की कीमत 8 से 12 लाख रुपये के बीच में रहेगी। कंपनी का दावा है कि इस कार में 12 ऐसे फीचर्स हैं जो इस सेगमेंट की दूसरी कारों में नहीं हैं। सेफ्टी के लिए इसमें 7 एयरबैग्स दिए हैं। रेगुलर सेफ्टी और कंफर्ट फीचर्स के अलावा इसमें टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम, रूफ माउंटेड रियर एयर वेंट्स, फ्रंट पार्किंग सेंसर्स, इलेक्ट्रिक ड्राइवर सीट, ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन विद पैडल शिफ्ट सिस्टम जैसे ढेरों फीचर्स दिए गए हैं। यह गाड़ी दुनिया के 120 देशों में टोयोटा बेच रही है।

‘किआ’ की 16 गाड़ियां

'किआ' की 16 गाड़ियां

ह्यूंदै की सिस्टर कंपनी किआ मोटर कॉरपोरेशन ने अपने 16 मॉडल्स को सामने रखा। 2019 में इनमें से कुछ मॉडल्स इंडियन मार्केट में लॉन्च किए जाएंगे। खासतौर पर इंडियन मार्केट के लिए डिजाइन किया गया SP कॉन्सेप्ट भी शोकेस किया गया।
  

यामाहा की नई बाइक

यामाहा की नई बाइक

प्राइस : 1.25 लाख रुपए

Yamaha ने YZF-R15 वर्जन 3.0 को भारत में लॉन्च किया। लैटेस्ट वर्जन की कीमत 1.25 लाख रुपये (एक्स-शोरूम, दिल्ली) रखी गई है। नई YZF-R15 की सबसे बड़ी खूबी इसका इंजन है। इसमें नया फ्यूल इंजेक्शन के साथ 155.1cc सिंगल-सिलिंडर लिक्विड-कूल्ड फोर-स्ट्रोक SOHC इंजन दिया गया है।

होंडा की नई अमेज, जल्द आएगी इंडिया में

होंडा की नई अमेज, जल्द आएगी इंडिया में

होंडा कार्स इंडिया ने अपनी कॉम्पैक्ट सिडैन नेक्स्ट जेनरेशन होंडा अमेज का वर्ल्ड प्रीमियर किया। यह कार अगले फाइनैंशियल ईयर में लॉन्च होगी। सेकंड जेनरेशन होंडा अमेज का एक्सटीरियर काफी स्टाइलिश है। इसके अलावा कंपनी ने 5वीं जेनरेशन की होंडा सीआर-वी और टेंथ जेनरेशन की होंडा सिविक को भी अन्वेल किया। दोनों ही मॉडल 2018-19 में लॉन्च होंगे। नई सीआरवी की खास बात यह है कि इसमें इस बार 7 सीटों का ऑप्शन मिलेगा और पेट्रोल के अलावा इस बार इसमें डीजल इंजन भी मिलेगा।

मर्सेडीज का इलेक्ट्रिक मॉडल कॉन्सेप्ट

मर्सेडीज का इलेक्ट्रिक मॉडल कॉन्सेप्ट

मर्सेडीज के सुपरलग्जरी ब्रैंड मेबैक की कारों की कीमतें भी 4 से 5 करोड़ रुपये से शुरू होती हैं लेकिन अब कंपनी ने कुछ कम कीमत में मेबैक ब्रैंड की कारें लॉन्च की हैं। बुधवार को एक्सपो में मर्सेडीज ने 2.73 करोड़ रुपये की कीमत में मेबैक एस 650 और 1.94 करोड़ रुपये की कीमत में मेबैक एस 560 को लॉन्च किया। इसके अलावा कंपनी ने ई-क्लास का ऑल टैरेन मॉडल पेश किया। कॉन्सेप्ट EQ के माध्यम से कंपनी ने यह दिखाने की कोशिश की कि इलेक्ट्रिक कारें न सिर्फ स्पोर्ट कारों की तरह तेज हो सकती हैं बल्कि एसयूवी की तरह दमदार भी हो सकती हैं।

आ गई नई एलीट आई20

आ गई नई एलीट आई20

ह्यूंदै की नई एलीट आई20 भी फेस की गई। इसकी खूबी 17.77 सेमी. का टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम और ऑडियो —विडियो नैविगेशन है। कार ड्यूल टोर एक्सटीरियर कलर ऑप्शन के साथ आती है। इसमें 6 एयरबैग्स दिए गए हैं। यह डीजल—पेट्रोल, दोनों वर्जनों में आएगी। कार का लुक स्पॉर्टी है। कार में सिंगल क्लिक के जरिए उसकी हेल्थ मिनिस्ट्री, ड्राइविंग हिस्ट्री पता कर सकते हैं। कंपनी ने इलेक्ट्रिक वीकल ‘इवोनिक’ ने भी अट्रैक्ट किया। कंपनी ने इसे शोकेस किया है। यह दुनिया की पहली कार है, जो कि 3 इलेक्ट्रिकफाइड वर्जन के साथ तैयार की गई है। ये हैं- हाइब्रिड, प्लग—इन हाइब्रिड और ऑल इलेक्ट्रिक।

बीएमडब्ल्यू की 6 सीरीज जीटी कार

बीएमडब्ल्यू की 6 सीरीज जीटी कार

जर्मन कार लग्जरी कार कंपनी ने भी ऑटो एक्सपो में 6 सीरीज जीटी को लॉन्च किया। इस कार की शुरुआती कीमत 58.9 लाख रुपए है। यह एक्स शोरूम कीमत है। यह बीएमडब्ल्यू की पहली कार है जिसमें बीएस6 नॉर्म्स वाला इंजन लगा है। बता दें कि बीएस6 नॉर्म्स इंडिया में 2020 में लागू होने हैं। इस गाड़ी में 2 लीटर का टर्बो पेट्रोल इंजन लगा है जो कि 258 बीएचपी का पावर और 400 न्यूटन मीटर टॉर्क जेनरेट करता है। इसके अलावा बीएमडब्ल्यू की दो बाइक्स भी लॉन्च की गईं। एफ750 जीएस की कीमत 12.2 लाख रुपए और एफ 850 जीएस की कीमत 13.7 लाख रुपए रखी गई।

टीवीएस मोटर्स का नया कॉन्सेप्ट स्कूटर

टीवीएस मोटर्स का नया कॉन्सेप्ट स्कूटर

TVS मोटर्स ने नया कॉन्सेप्ट स्कूटर शोकेस किया है। यह स्कूटर एक परफॉर्मेंस-ओरिएंटेड इलेक्ट्रिक कॉन्सेप्ट स्कूटर होगा और इसका नाम TVS क्रेऑन रखा गया है। कंपनी की मानें तो क्रेऑन एक इलेक्ट्रिक स्कूटर है, बल्कि पर्यावरण के लिए बिल्कुल नुकसानदायक नहीं है। क्रेऑन को नेक्स्ट जनरेशन का इलेक्ट्रिक स्कूटर बनाया है। स्पीड के मुकाबले में क्रेऑन महज 5.1 सेकंड में 0-60 किमी/घंटा की स्पीड पकड़ लेता है। इसे एक बार फुल चार्ज करने के बाद 80 किमी तक चलाया जा सकता है और सिर्फ 60 मिनट में ही यह फुल चार्ज हो जाता है। कंपनी ने इस स्कूटर को बेहतर डिजाइन और स्पोर्टी स्टाइल में शोकेस किया है जो ऑटो एक्सपो 2018 के पहले दिन का शो स्टॉपर रहा।

कंपनी जल्द ही बाजार में अपना एक इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च करेगी जो TVS क्रेऑन पर आधारित होगा। जैसा TVS के इस स्कूटर का कॉन्सेप्ट मॉडल दिख रहा है, ऐसे में माना जा सकता है कि कंपनी इस ई-स्कूटर का प्रोडक्शन मॉडल भी काफी बेहतर बनाएगी।

ऑटो एक्सपो 2018: Hyundai आई-20 एलीट का फेसलिफ्ट मॉडल लॉन्च

ऑटो एक्सपो 2018: Hyundai आई-20 एलीट का फेसलिफ्ट मॉडल लॉन्च

ह्यूंदै मोटर कंपनी ने बुधवार को ऑटो एक्सपो 2018 के पहले दिन अपनी पॉप्युलर प्रीमियम हैचबैक, आई20 का फेसलिफ्ट मॉडल लॉन्च कर दिया है। इसकी कीमत, फीचर्स आदि की जानकारी:

पेट्रोल वेरियंट की कीमत

पेट्रोल वेरियंट की कीमत

ह्यूंदै ने आई20 के नए पेट्रोल वेरियंट की शुरुआती एक्स शोरूम कीमत 5.35 लाख रुपए और टॉप मॉडल की कीमत 7.91 लाख रुपए रखी है।

डीजल वेरियंट की कीमत

डीजल वेरियंट की कीमत

डीजल वेरियंट की बात करें तो शुरुआती कीमत 6.73 लाख रुपए से है और यह 9.16 लाख रुपए तक जाती है।
  

हेडलैम्प्स को पतला किया गया है

हेडलैम्प्स को पतला किया गया है

आई20 के फेसलिफ्ट मॉडल में ह्यूंदै ने फ्रंट ग्रिल में बदलाव किया है। काले रंग के नए ग्रिल से इसका आकर्षण बढ़ गया है। हेडलैम्प्स को पतला किया गया है जो कि इसके लुक को अट्रैक्टिव बनाते हैं।

इंटीग्रेटेड एलईडी डेटाइम रनिंग लाइट्स

इंटीग्रेटेड एलईडी डेटाइम रनिंग लाइट्स

कंपनी ने इसमें प्रॉजेक्टर हेडलैम्प्स देने के साथ ही इंटीग्रेटेड एलईडी डेटाइम रनिंग लाइट्स और नई डिजाइन वाले फॉग लैम्प्स दिए हैं।

इसके दरवाजों का डिजाइन नया है

इसके दरवाजों का डिजाइन नया है

इसके दरवाजों का डिजाइन नया है और इसके नए अलॉय वील्ज इसे मस्क्युलर लुक देते हैं। रियर लुक की बात करें तो नए आई20 मॉडल में फ्रेश टेल लैम्प क्लस्टर दिया गया है।

ह्यूंदै ने लग्जरी को बढ़ाया है। कार

ह्यूंदै ने लग्जरी को बढ़ाया है। कार

नए मॉडल में ह्यूंदै ने लग्जरी को बढ़ाया है। कार के इंटीरियर में नया टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम है जो कि पहले वाले मॉडल के मुकाबले अधिक बड़ा है। यह सिस्टम ऐंड्रॉयड ऑटो और ऐपल कारप्ले को सपॉर्ट करता है।

इंजन

इंजन

नई Hyundai i20 एलीट में इंजन सेम है। इसमें अब भी 1.2 लीटर पेट्रोल इंजन है जो कि 5 स्पीड मैन्युअल ट्रांसमिशन से लैस है। इसके अलावा 1.4 लीटर डीजल इंजन का भी ऑप्शन है जो कि 6 स्पीड मैन्युअल ट्रांसमिशन सिस्टम से लैस है। सेफ्टी के लिए इसमें 6 एयर बैग्स दिए गए हैं।

नए मॉडल की बुकिंग्स शुरू

नए मॉडल की बुकिंग्स शुरू

इस नए मॉडल की बुकिंग्स शुरू हो चुकी हैं। भारतीय बाजार में इसका मुकाबला मारुति की बलेनो से होगा। बलेनो मारुति की हाई डिमांडिंग कार है। इसके लिए 18 से 19 महीनों का वेटिंग पीरियड चल रहा है।
  

ऑटो एक्सपो: होंडा अमेज का नया मॉडल पेश, मारुति डिजायर से मुकाबला!

आॅटो एक्सपो: होंडा अमेज का नया मॉडल पेश, मारुति डिजायर से मुकाबला!

ऑटो एक्सपो 2018 शुरू हो चुका है। इसमें होंडा कार्स इंडिया ने अपनी लो​कप्रिय कॉम्पैक्ट सिडैन अमेज का सेकेंड जेनरेशन मॉडल अनवील कर दिया है। भारत में इसका मुकाबला मारुति डिजायर और ह्यूंदै एक्सेंट से होगा। इसे अगले कुछ महीनों के भीतर लॉन्च कर दिया जाएगा। आइए, जानते हैं क्या कुछ खास है इस कार में…

नई होंडा अमेज की कीमत

नई होंडा अमेज की कीमत

नई होंडा अमेज की कीमत मौजूदा होंडा अमेज मॉडल जितनी ही रहने की उम्मीद है। यह 5.5 लाख रुपए की शुरुआती कीमत पर लॉन्च की जा सकती है।

सेकेंड जेनरेशन मॉडल नए प्लैटफॉर्म पर तैयार

सेकेंड जेनरेशन मॉडल नए प्लैटफॉर्म पर तैयार

होंडा अमेज का सेकेंड जेनरेशन मॉडल नए प्लैटफॉर्म पर तैयार है जो कि होंडा थाइलैंड ने तैयार किया है। इसके स्टाइल, लुक्स और ड्राइविंग परफॉर्मेंस पर होंडा ने मुख्य रूप से काम किया है।

होंडा सिविक से इंस्पिरेशन ली गई है

होंडा सिविक से इंस्पिरेशन ली गई है

स्टाइलिंग फ्रंट पर देखें तो नई होंडा अमेज बड़ी है। इसमें काफी हद तक होंडा सिविक से इंस्पिरेशन ली गई है। नई Amaze का प्रोफाइल कूपे लुक वाली रूफलाइन से लैस है। कार देखने में भी मौजूदा मॉडल के मुकाबल अधिक लंबी लगती है।

फ्रंट में क्रोम का इस्तेमाल और रियर में क्लासी लुक

फ्रंट में क्रोम का इस्तेमाल और रियर में क्लासी लुक

भारत में कॉम्पैक्ट सिडैन के डिजाइन्स की बात करें तो उस लिहाज से नई अमेज शानदार लगती है। फ्रंट में क्रोम का इस्तेमाल और रियर में क्लासी लुक इसको प्रीमियम फील देता है। भारत में बिकने वाली कॉम्पैक्ट सिडैन कारों के मुकाबले यह एकदम यूनीक और अलग दिखने वाली कार है।
  

होंडा अमेज सेकेंड जेनरेशन मॉडल का इंजन

होंडा अमेज सेकेंड जेनरेशन मॉडल का इंजन

होंडा अमेज के नए मॉडल में 1.2 लीटर i-VTEC यूनिट इंजन है जो कि 87 Bhp-110 Nm का आउटपुट देता है। यह इंजन 5 स्पीड मैन्युअल और सीवीट ऑटोमैटिक गियरबॉक्सेज से लैस है। डीजल इंजन का भी विकल्प दिया जा सकता है। इसमें 1.5 लीटर i-DTEC ऐल्युमिनियम डीजल इंजन होगा जो कि 98.6 Bhp-200 Nm का आउटपुट देगा। इसको भी 6 स्पीड मैन्युअल गियरबॉक्स से लैस किया जाएगगा। डीजल में ऑटोमैटिक का ऑप्शन नहीं होगा। ऑफिशल लॉन्च के बाद ही गाड़ी से जुड़े अन्य डीटेल्स सार्वजनिक होंगे।

होंडा ने इन कारों को भी किया पेश

होंडा ने इन कारों को भी किया पेश

होंडा ने ऑटो एक्सपो में इस बार नई अमेज के अलावा 5वीं जेनरेशन सीआर-वी और 10 जेनरेशन होंडा सिविक को भी पेश किया है। सीआर-वी का डीजल मॉडल पेश हुआ है। होंडा इन दोनों कारों को भी मौजूदा साल में ही लॉन्च करेगी। होंडा सिविक का नया मॉडल स्पॉर्टी है। इसमें स्टाइलस एलईडी हेडलैम्प्स, स्पॉर्टी अलॉय वील्ज, एलईडी टेललैम्प्स हैं। इसका पहला मॉडल 2006 में लॉन्च किया गया था। 2013 में इसको बंद कर दिया गया था। अब फिर से होंडा ने इसका नया मॉडल पेश किया है।