Posted on

कई देशों केेेे बाद अब भारत में भी मासूमों से दुष्कर्म की सजा मौत

नाबालिग बच्चियों से दुष्‍कर्म के मामलों पर कठोर निर्णय लेते हुए पॉकसो एक्‍ट में बदलाव पर मोदी सरकार ने मुहर लगा दी है। इसके लिए पीएम आवास पर चली ढाई घंटे की बैठक के बाद यह फैसला लिया गया कि दुष्‍कर्म के दोषियों को फांसी देने के लिए अध्यादेश लाया जाएगा।

इस बैठक में 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से दुष्‍कर्म के मामलों में दोषियों को मौत की सजा दिए जाने का रास्ता साफ हो गया। इसके अलावा इस बैठक में यह निर्णय भी लिया गया है कि ऐसे मामलों में जांच तेजी से पूरी की जाएगी। आपको बता दें कि दुष्‍कर्म की हालिया घटना के बाद देश में काफी गुस्‍सा व्‍याप्‍त है। देश की जनता बार-बार इस तरह के मामलों में कठोर से कठोर सजा दिए जाने की मांग भी लगातार करती रही है। इसी जनभावना का सम्‍मान करते हुए केंद्र ने यह फैसला लिया है।

पॉक्सो के मौजूदा प्रावधान

पॉक्सो के मौजूदा प्रावधानों के अनुसार, दुष्कर्म के दोषियों के लिए अधिकतम सजा उम्रकैद है और न्यूनतम सात साल की जेल है। 18 साल से कम उम्र के बच्चों से किसी भी तरह का यौन व्यवहार इस कानून के दायरे में आता है। इसके तहत अलग-अलग अपराध के लिए अलग-अलग सजा तय की गई है। यह कानून लड़के और लड़की को समान रूप से सुरक्षा प्रदान करता है। गौरतलब है कि देश के कुछ राज्‍य जिनमें राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश, हरियाणा और उत्‍तर प्रदेश शामिल हैं, में केबिनेट ने 12 वर्ष से कम उम्र की बच्‍ची के साथ दुष्‍कर्म के मामलों में फांसी की सजा पर मुहर लगा दी है। हालांकि इन्‍हें अभी राष्‍ट्रपति से मंजूरी मिलना बाकी है, लेकिन इससे यह बात साफ हो गई है कि राज्‍य इसको लेकर काफी सख्‍त रुख अपना चुके हैं।

Posted on

IND VS SA: भारतीय महिलाओं की दूसरे टी-20 में नौ विकेट से जीत

मिताली राज (नाबाद 76) और स्मृति मंधाना (57) की बल्लेबाजी के दम पर भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने अपना शानदार फॉर्म जारी रखते हुए शुक्रवार को बफेलो पार्क में खेले गए दूसरे टी-20 मैच में दक्षिण अफ्रीका की महिला टीम को नौ विकेट से हरा दिया. पहले बल्लेबाजी करते हुए दक्षिण अफ्रीकी टीम 20 ओवरों में सात विकेट खोकर 142 रन ही बना सकी थी. इस आसान से लक्ष्य को भारतीय महिलाओं ने एक विकेट खोकर 19.1 ओवर में हासिल कर लिया. भारतीय कप्तान मिताली राज लगातार दूसरे मैच में वीमैन ऑफ द मैच रहीं. अब भारतीय टीम पांच मैचों की सीरीज में 2-0 से आगे हो गई है.

View image on TwitterView image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter
मैच की बात करें, तो आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत ने मंधाना के रूप में एकमात्र विकेट गंवाया. मंधाना ने मिताली के साथ पहले विकेट के लिए 106 रन जोड़े. उनका विकेट मोसेलिने डेनियल्स ने लिया. मंधाना ने 42 गेंदों की अपनी पारी में चार चौके और तीन छक्के लगाए. इसके बाद मिताली ने कप्तान हरमनप्रीत कौर (नाबाद 7) के साथ मिलकर भारत को जीत दिलाई. मिताली ने अपनी पारी में 61 गेंदों का सामना किया और आठ चौके जड़े.

 

View image on Twitter
इससे पहले, भारतीय कप्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी और उनकी गेंदबाजों ने कप्तान के फैसले को सही साबित किया. 29 के कुल स्कोर पर लिजेली ली (15) को शिखा पांडे ने अपना शिकार बनाया. कप्तान डेन वान निएकेर्क भी सिर्फ 15 रन ही बना सकीं और पूजा वस्त्राकर का शिकार बनीं. यहां से भारतीय गेंदबाज लगातार विकेट लेती रहीं और मेजबान टीम बड़ा स्कोर बनाने से चूक गई. उसके लिए सबसे ज्यादा 26 रन नेडलिने डी केर्क ने बनाए. भारत के लिए अनुजा पाटिल और पूनम यादव ने दो-दो विकेट लिए। वस्त्राकर और शिखा को एक-एक विकेट मिला