Posted on

दुनिया के कई देशों को आधी कीमत पर पेट्रोल डीजल बेच रहा है भारत, जानिए कारण!

पंजाब के रोहित सभ्रवाल की आरटीआई से पता चला है कि मैंग्लोर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स लिमि. से 1 जनवरी 2018 से 30 जून 2018 के बीच पांच देशों – हांगकांग, मलेशिया, मॉरिशस, सिंगापुर और यूएई को 32 से 34 रुपए प्रति लीटर में रिफाइंड पेट्रोल और 34 से 36 रुपए में रिफाइंड डीजल बेचा गया। इस दैरान भारत में पेट्रोल की कीमत 69.97 रुपए से 75.55 रुपए प्रति लीटर और डीजल की कीमत 59.70 रुपए से 67.38 रुपए प्रति लीटर रही।

– इन पांच देशों के अलावा अमेरिका, इंग्लैंड, ईराक, इजराइल, जॉर्डन, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका में भारत से रिफाइन्ड पेट्रोल-डीजल निर्यात किया जाता है।

देशवासियों पर 150 फीसद तक टैक्स

रोहित सभ्रवाल कहते हैं, बाकी देशों को भारत से भले ही बेहद सस्ता रिफाइंड पेट्रोल-डीजल मिल रहा हो, लेकिन यहां के लोगों पर 125 से 150 फीसद तक टैक्स लगाया जा रहा है। यही कारण है कि भारत के अधिकांश राज्यों में पेट्रोल 75 से 82 रुपए लीटर और डीजल 66 से 74 रुपए लीटर तक बेचा जा रहा है। ताजा खबर तो यह भी है कि सरकार ने पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लेने से इन्कार कर दिया है। यानी दाम कम होने की यह उम्मीद भी खत्म हो गई है।

यही 35.90 रुपए प्रति लीटर वाला कच्चा पेट्रोल रिफाइन करने के बाद भारत में 77 से 82 रुपए लीटर हो जाता है, क्योंकि इसमें करीब 19.48 रुपए की एक्साइज ड्यूटी, 16.47 रुपए प्रति लीटर का VAT, अन्य टैक्स और डीलर कमीशन शामिल हो जाता है। डीजल पर भी ये सभी टैक्स लगते हैं।

Posted on

फेसबुक और गूगल जैसी कंपनियों को पहुंचाएगा फायदा प्राइवेसी लॉ!

यूरोप में अगले माह एक नया नियम का प्रस्ताव आने वाला है, जिसके तहत प्राइवेट लोगों के हाथ में लोगों के निजी डाटा को जाने से सुरक्षित रखा जा सकेगा।

इस नए नियम के तहत कंपनी डाटा शेयर करने से पहले उपभोक्ता से इसके लिए इजाजत लेगी। सरकार के इस कदम से जहां इंटरनेट पर बड़ी कंपनियों का वर्चस्व खत्म होगा। वहीं छोटी कंपनियों को भी फायदा होगा। हाल के वर्षों में कुछ छोटी कंपनियों ने निजता के नियमो का सम्मान किया है, जबकि बड़ी कंपनियों की ओर से हमेशा इन नियमों की अनदेखी की गई है।

टोरंटो विश्वविद्याल के मार्केटिंग प्रोफेसर एवी गोल्डफार्ब ने प्रतिस्पर्धा पर गोपनीयता नियमों के प्रभावों का अध्ययन किया। गोल्डफार्ब वर्ष 2013 की एक रिपोर्ट के सह-लेखक भी थे, जिसमें कहा गया था कि गोपनियाता से बाजार की प्रतिस्पर्धा पर नकारात्मक असर होगा क्योंकि उपभोक्ता से किसी चीज की इजाजत लेना एक छोटी कंपनी की लागत बढ़ा सकता है। ऐसे में ये स्टार्टअप के लिए नुकसानदायक होगा।

फेसुबक के मुताबिक एक राजनीतिक रिसर्च करने वाली कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका ने फेसबुक के करीब 87 मिलियन यूजर्स की गोपनीय जानकारी हासिल करके उसका उपयोग किया। इसी को मुद्दा बनाकर कांग्रेस की ओर से मार्क जुकरबर्ग को निशाना बनाया गया। गूगल की वीडियो सर्विस यूट्यूब को लेकर भी कुछ इसी तरह के सवाल उठ रहे हैं।

मॉडल की जांच कर सकेंगे दूसरे देश

यूरोप और अमेरिका की तरह ब्राजील और अर्जेंटीना जैसे देश प्राइवेसी को लेकर फेसबुक औऱ गूगल जैसी कंपनियों के विज्ञापन आधारित मॉडल की जांच कर सकती है। अमेरिका के कानून निर्माताओं ने इस माह जुकरबर्गक की संसद में गवाही के दौरान सिलिकॉन वैली को गोपनियता के मुद्दे पर ज्यादा विनियमित बनाने पर जोर दिया। यूरोप में ऐसा ही एक प्रयोग सफल रहा है, जब वर्ष 2014 में वहां की उच्चतम न्यायालय ने फैसला सुनाया कि लोगों की इच्छा के मुताबिक उनके कंटेट को ऑनलाइट होने से हटाया जा सकेगा।

नहीं पड़ा व्‍यापार पर असर

इसके अलावा वर्ष 2011 के यूरोपियन कानून बेबसाइटों की ओर से लोगों को कूकीज के बारे में जानकारी देने को कहा गया, जिससे कि वो ब्राउजिंग हिस्ट्री को सुरक्षित रखा जा सके और कोई इसका दुरुपयोग न कर सके। इसके बाद पॉपअप वार्निंग को लेकर काम किया गया। इसी के साथ आज के दौर में डेटा की गोपनियता के बीच फेसबुक और गूगल के उपयोग को कम किया जा रहा है। फेसबुक की ओर से कहा गया कि कैंब्रिज एनालिटिका घोटाले से उनके व्यापार पर कोई असर नहीं पड़ा है, जबकि गूगल की मूल कंपनी अल्फाबेट ने कहा इस तिमाही में उनके कर संग्रह में 26 फीसद की बढ़ोत्तरी हुई है।

नजरअंदाज नहीं कर सकेंगी कंपनियां

यूरोप में डेटा रेग्यूलेशन को लेकर लाए जा रहे कानून को ‘द जनरल डेटा प्रोटेक्शन रेग्यूलेशन’ का नाम दिया गया है। इस कानून के तहत टेक कंपनियों की ओर से यूजर्स के डेटा कलेक्शन, स्टोर और उनके प्रयोग पर कंट्रोल रखा जा सकेगा। यह नया नियम 25 मई से प्रभाव में आएगा। इसके बाद टेक कंपनियों को बताना होगा कि उन्होंने लोगों का डेटा किस तरह से प्राप्त किया है, कहां प्रयोग किया है, और कहां सुरक्षित किया है। ऐसे में कंपनियां उपभोक्ताओं के समझौते को नजरअंदाज नहीं कर सकेंगी।

कंपनियां होंगी मजबूत

कुछ लोगों का मानना है कि प्राइवेसी के नियन बड़ी कंपनियों को फायदा पहुंचाने वाले होंगे। लेकिन छोटी कंपनियों को ये प्रतियोगिता से बाहर कर देंगे। लेकिन पेरिस की एक स्टार्टअप कंपनी के सीईओ की मानें तो डेटा प्रोटेक्शन के नए नियम से कंपनी मजबूत होगी क्योंकि उनका मूल संपत्ति ग्राहक का विश्वास है। गोपनियता कानून के बाद टारगेटेड विज्ञापनों को कंट्रोल किया जा सकता है। लेकिन इसके बावजूद भी फेसबूक और गूगल जैसी बड़ी कंपनियां फायदे में रहेगी, क्योंकि विज्ञापन देने वाले ज्यादा ऑडियंस उसकी ओर रुख करेंगे। ऐसे में फेसबुक और गूगल की यूट्यूब जैसी कंपनियों को ज्यादा विज्ञापन मिलेगा, जिनके पास क्रमश: 2.2 मिलियन और 1.5 बिलियन मासिक उपभोक्ता हैं।

यूजर्स देंगे सहमति

यूरोपीय डेटा संरक्षण पर्यवेक्षक जोवोवानी बुट्टारेली के मुताबिक गूगल और फेसबुक की निगरानी आयरिश डेटा अथॉरिटी की ओर से की जाएगी, उनके यूरोपीय मुख्यालय आयरलैंड में हैं। उन्होंने छोटे और मध्यम आकार के व्यवसाय को अलग तरह से ट्रीट करने की बात कही। गूगल प्राइवेसी इंजीनियर योनातन जुंगर के मुताबिक बड़ी कंपनियां डेटा को उपयोग करने के लिए शर्त जोड़ सकती हैं, जबकि छोटी कंपनियां ऐसी शर्त नहीं जोड़ पाएंगी। जैसा कि पिछले दिनों फेसबुक ने वैश्विक स्तर पर उपयोगकर्ताओं से नया सहमति फार्म भरवाना शुरु किया है, जिसके तहत थर्ड पार्टी को उपभोक्ता की जानकारी हासिल करने के लिए फेसबुक से इसकी इजाजत लेनी होगी।

नई चुनौती

गोपनियता के आलोचकों ने फेसबुक के नए सहमति फार्म की चुनौती दी है, उनके मुताबिक वे उपयोगकर्ताओं की सूचनाओं को व्यापक रुप में साझा करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहते हैं। न्यू अमेरिका के ओपन टेक्नोलॉजी इंसटीट्यूट के एक वरिष्ठ सलाहकार बेन स्कॉट के मुताबिक नए कानून जनरल डेटा प्रोटेक्शन रेग्यूलेशन (जीडीपीआर) को लेकर मेरी चिताएं हैं। मैं उन लोगों को लेकर चिंतित हूं, जो जीडीपीआर में काफी कुछ निवेश करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि गोपनियता कानून कितना सफल होगा, यह इस बात पर निर्भर करेगा कि इसे किस तरह से लागू किया गया है।

Posted on

अमेरिका के प्रतिबंध पर करारा जवाब देगा रूस, दूसरे शीत युद्ध का हो सकता है आगाज

रूस ने अमेरिका के लगाए नए प्रतिबंधों पर हाथ पर हाथ रख बैठने की जगह मुंहतोड़ जवाब देने की बात कही है। दरअसल, पूर्व जासूस सरगेई स्क्रीपाल को जहर देने के बाद से दोनों के बीच राजनयिक संकट पैदा हो गया। इसके बाद अमेरिका ने रूस के सात सबसे प्रभावशाली कुलीनों, 12 कंपनियों, 17 वरिष्ठ अधिकारियों और हथियार निर्यातक सरकारी कंपनी पर प्रतिबंध लगा दिया है।

2016 में राष्ट्रपति चुनाव, साइबर युद्ध और यूक्रेन व सीरिया में दखल के लिए अमेरिका ने रूस को सजा देने के लिए कानून बनाया था। इसी आधार पर शुक्रवार को प्रतिबंध लगाया गया।

इसपर सख्त रुख अपनाते हुए रूस ने कहा, हम रूस के खिलाफ लिए गए हर कदम का करारा जवाब देंगे। रूस के रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया, ‘अमेरिका पहले भी 50 चरणों में प्रतिबंध लगाकर भी कुछ हासिल नहीं कर पाया। इसलिए वह वीजा जारी न करने और रूसी औद्योगिक कंपनियों की संपत्ति जब्त करने की धमकी दे रहा है। शायद वह भूल गया है कि निजी संपत्ति जब्त करना चोरी है। प्रतिबंध लगाने से अमेरिका खुद ही बाजार अर्थव्यवस्था और स्वतंत्र प्रतिस्पर्धा का दुश्मन बन रहा है।’

दूसरे शीत युद्ध का हो सकता है आगाज
अमेरिका ने अल्यूमीनियम कारोबारी ओलेग डेरीपास्का और सरकारी उर्जा कंपनी गजप्रौम के निदेशक एलेक्सी मिलर पर प्रतिबंध लगाया है। ओलेग पर रूसी सरकार के लिए काम करने का आरोप है। ये दोनों राष्ट्रपति पुतिन के करीबी माने जाते हैं। अमेरिका के इस कदम से एक बार फिर शीत युद्ध हो सकता है। रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि किसी तरह का दबाव हमें अपने मकसद से नहीं भटका सकता है।
Posted on

AUTOMOBILE कंपनी रिजल्ट्सः जानिए दिग्गज कंपनियों को हुआ कितना मुनाफा?

देश की सबसे बड़ी कार विनिर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया की फरवरी में कुल बिक्री 15 फीसदी बढ़कर 1,49,824 इकाई रही। पिछले साल इसी माह में यह बिक्री 1,30,280 इकाई थी। कंपनी ने एक बयान में बताया कि समीक्षावधि में उसकी घरेलू बिक्री 14.2 फीसदी बढ़कर 1,37,900 वाहन रही। पिछले साल इसी अवधि में यह आंकड़ा 1,20,735 वाहन था। कंपनी का निर्यात इस दौरान 24.9 फीसदी बढ़कर 11,924 वाहन रहा जो इससे पिछले साल समान अवधि में 9,545 इकाई था।
PunjabKesari
बजाज ऑटो 
दोपहिया वाहन बनाने वाली प्रमुख कंपनी बजाज ऑटो की फरवरी माह में कुल बिक्री 31 फीसदी बढ़कर 3,57,883 वाहन रही है। पिछले साल इसी माह में यह आंकड़ा 2,73,513 इकाई था। कंपनी ने एक बयान में बताया कि उसकी कुल घरेलू बिक्री इस दौरान 35 फीसदी बढ़कर 2,14,023 वाहन रही है जो फरवरी 2017 में 1,59,109 वाहन थी। समीक्षावधि में कंपनी की मोटरसाइकिलों की घरेलू बिक्री 23 फीसदी बढ़कर 1,75,489 वाहन रही जो इससे पिछले साल इसी माह में 1,42,287 वाहन थी। कंपनी का कुल निर्यात फरवरी 2018 में 26 फीसदी बढ़कर 1,43,860 वाहन रहा है जो पिछले साल इस दौरान 1,14,404 वाहन था।

PunjabKesari

अशोक लीलैंड
वाणिज्यिक वाहन बनाने वाली हिंदुजा समूह की कंपनी अशोक लीलैंड की कुल बिक्री फरवरी में 29 फीसदी बढ़कर 18,181 वाहन रही है। फरवरी 2017 में कंपनी की बिक्री 14,067 वाहन थी। कंपनी ने एक बयान में कहा कि उसके मध्यम एवं भारी वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री इस दौरान 21 फीसदी बढ़कर 13,726 इकाई रही और हल्के वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 63 फीसदी सुधरकर 4,455 वाहन रही।

PunjabKesari

एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर
ट्रैक्टर बनाने वाली कंपनी एस्कॉर्ट्स ने फरवरी 2018 में कुल 6,462 ट्रैक्टर बेचे जो गत साल के समान माह में बिके 4,247 वाहनों की तुलना में 52.2 फीसदी अधिक है। कंपनी ने कहा घरेलू बाजार में उसने गत माह 6,295 ट्रैक्टर बेचे जो फरवरी 2017 में बिके 4,104 वाहनों से 53.4 प्रतिशत अधिक है। कंपनी के निर्यात में भी तेजी रही और यह 16.8 फीसदी बढ़कर 143 से 167 ट्रैक्टर हो गया।

Posted on

ऑटो एक्सपो 2018: एक नजर, पहले दिन लॉन्च हुए वीइकल्स पर

ऑटो एक्सपो 2018: एक नजर, पहले दिन लॉन्च हुए वीइकल्स पर

आॅटो एक्सपो 2018: एक नजर, पहले दिन लॉन्च हुए वीइकल्स पर

ऑटो एक्सपो 2018 ग्रेटर नोएडा में 7 फरवरी से शुरू हो गया। पहले दिन कई वाहन लॉन्च किए गए। एक नजर में जानें पहले दिन के महत्वपूर्ण लॉन्चेज के बारे में…

मारुति ने दिखाया ऐसी होगी नई मिनी एसयूवी

मारुति ने दिखाया ऐसी होगी नई मिनी एसयूवी

मारुति सुजुकी ने अपनी ‘कॉन्सेप्ट फ्यूचर S’ का वर्ल्ड प्रीमियर किया। बेहद बोल्ड डिजाइन के साथ पेश की गई इस कार के इंटीरियर्स भी काफी फ्यूचरिस्टिक हैं। कंपनी ने कार के डिजाइन पर काफी काम किया है। कंपनी के सीईओ केनिचि अयुकावा ने कहा कि कॉम्पैक्ट स्पोर्ट्स यूटिलिटी वीकल भारतीय कार कस्टमर की नेचुरल चॉइस हैं। कंपनी ने कार को एसयूवी लुक देने की कोशिश की है।

टोयोटा ने उतारी यारिस सिडैन

टोयोटा ने उतारी यारिस सिडैन

टोयोटा ने इंडिया में अपनी नई मिड लेवल सिडैन कार ‘यारिस’ को पेश किया है। इस कार की कीमत का अभी खुलासा नहीं किया गया है लेकिन यह माना जा रहा है कि यह होंडा सिटी और मारुति सुजुकी सियाज के सेगमेंट में आ रही है। यानी इसकी अलग-अलग वैरियंट्स की कीमत 8 से 12 लाख रुपये के बीच में रहेगी। कंपनी का दावा है कि इस कार में 12 ऐसे फीचर्स हैं जो इस सेगमेंट की दूसरी कारों में नहीं हैं। सेफ्टी के लिए इसमें 7 एयरबैग्स दिए हैं। रेगुलर सेफ्टी और कंफर्ट फीचर्स के अलावा इसमें टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम, रूफ माउंटेड रियर एयर वेंट्स, फ्रंट पार्किंग सेंसर्स, इलेक्ट्रिक ड्राइवर सीट, ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन विद पैडल शिफ्ट सिस्टम जैसे ढेरों फीचर्स दिए गए हैं। यह गाड़ी दुनिया के 120 देशों में टोयोटा बेच रही है।

‘किआ’ की 16 गाड़ियां

'किआ' की 16 गाड़ियां

ह्यूंदै की सिस्टर कंपनी किआ मोटर कॉरपोरेशन ने अपने 16 मॉडल्स को सामने रखा। 2019 में इनमें से कुछ मॉडल्स इंडियन मार्केट में लॉन्च किए जाएंगे। खासतौर पर इंडियन मार्केट के लिए डिजाइन किया गया SP कॉन्सेप्ट भी शोकेस किया गया।
  

यामाहा की नई बाइक

यामाहा की नई बाइक

प्राइस : 1.25 लाख रुपए

Yamaha ने YZF-R15 वर्जन 3.0 को भारत में लॉन्च किया। लैटेस्ट वर्जन की कीमत 1.25 लाख रुपये (एक्स-शोरूम, दिल्ली) रखी गई है। नई YZF-R15 की सबसे बड़ी खूबी इसका इंजन है। इसमें नया फ्यूल इंजेक्शन के साथ 155.1cc सिंगल-सिलिंडर लिक्विड-कूल्ड फोर-स्ट्रोक SOHC इंजन दिया गया है।

होंडा की नई अमेज, जल्द आएगी इंडिया में

होंडा की नई अमेज, जल्द आएगी इंडिया में

होंडा कार्स इंडिया ने अपनी कॉम्पैक्ट सिडैन नेक्स्ट जेनरेशन होंडा अमेज का वर्ल्ड प्रीमियर किया। यह कार अगले फाइनैंशियल ईयर में लॉन्च होगी। सेकंड जेनरेशन होंडा अमेज का एक्सटीरियर काफी स्टाइलिश है। इसके अलावा कंपनी ने 5वीं जेनरेशन की होंडा सीआर-वी और टेंथ जेनरेशन की होंडा सिविक को भी अन्वेल किया। दोनों ही मॉडल 2018-19 में लॉन्च होंगे। नई सीआरवी की खास बात यह है कि इसमें इस बार 7 सीटों का ऑप्शन मिलेगा और पेट्रोल के अलावा इस बार इसमें डीजल इंजन भी मिलेगा।

मर्सेडीज का इलेक्ट्रिक मॉडल कॉन्सेप्ट

मर्सेडीज का इलेक्ट्रिक मॉडल कॉन्सेप्ट

मर्सेडीज के सुपरलग्जरी ब्रैंड मेबैक की कारों की कीमतें भी 4 से 5 करोड़ रुपये से शुरू होती हैं लेकिन अब कंपनी ने कुछ कम कीमत में मेबैक ब्रैंड की कारें लॉन्च की हैं। बुधवार को एक्सपो में मर्सेडीज ने 2.73 करोड़ रुपये की कीमत में मेबैक एस 650 और 1.94 करोड़ रुपये की कीमत में मेबैक एस 560 को लॉन्च किया। इसके अलावा कंपनी ने ई-क्लास का ऑल टैरेन मॉडल पेश किया। कॉन्सेप्ट EQ के माध्यम से कंपनी ने यह दिखाने की कोशिश की कि इलेक्ट्रिक कारें न सिर्फ स्पोर्ट कारों की तरह तेज हो सकती हैं बल्कि एसयूवी की तरह दमदार भी हो सकती हैं।

आ गई नई एलीट आई20

आ गई नई एलीट आई20

ह्यूंदै की नई एलीट आई20 भी फेस की गई। इसकी खूबी 17.77 सेमी. का टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम और ऑडियो —विडियो नैविगेशन है। कार ड्यूल टोर एक्सटीरियर कलर ऑप्शन के साथ आती है। इसमें 6 एयरबैग्स दिए गए हैं। यह डीजल—पेट्रोल, दोनों वर्जनों में आएगी। कार का लुक स्पॉर्टी है। कार में सिंगल क्लिक के जरिए उसकी हेल्थ मिनिस्ट्री, ड्राइविंग हिस्ट्री पता कर सकते हैं। कंपनी ने इलेक्ट्रिक वीकल ‘इवोनिक’ ने भी अट्रैक्ट किया। कंपनी ने इसे शोकेस किया है। यह दुनिया की पहली कार है, जो कि 3 इलेक्ट्रिकफाइड वर्जन के साथ तैयार की गई है। ये हैं- हाइब्रिड, प्लग—इन हाइब्रिड और ऑल इलेक्ट्रिक।

बीएमडब्ल्यू की 6 सीरीज जीटी कार

बीएमडब्ल्यू की 6 सीरीज जीटी कार

जर्मन कार लग्जरी कार कंपनी ने भी ऑटो एक्सपो में 6 सीरीज जीटी को लॉन्च किया। इस कार की शुरुआती कीमत 58.9 लाख रुपए है। यह एक्स शोरूम कीमत है। यह बीएमडब्ल्यू की पहली कार है जिसमें बीएस6 नॉर्म्स वाला इंजन लगा है। बता दें कि बीएस6 नॉर्म्स इंडिया में 2020 में लागू होने हैं। इस गाड़ी में 2 लीटर का टर्बो पेट्रोल इंजन लगा है जो कि 258 बीएचपी का पावर और 400 न्यूटन मीटर टॉर्क जेनरेट करता है। इसके अलावा बीएमडब्ल्यू की दो बाइक्स भी लॉन्च की गईं। एफ750 जीएस की कीमत 12.2 लाख रुपए और एफ 850 जीएस की कीमत 13.7 लाख रुपए रखी गई।

टीवीएस मोटर्स का नया कॉन्सेप्ट स्कूटर

टीवीएस मोटर्स का नया कॉन्सेप्ट स्कूटर

TVS मोटर्स ने नया कॉन्सेप्ट स्कूटर शोकेस किया है। यह स्कूटर एक परफॉर्मेंस-ओरिएंटेड इलेक्ट्रिक कॉन्सेप्ट स्कूटर होगा और इसका नाम TVS क्रेऑन रखा गया है। कंपनी की मानें तो क्रेऑन एक इलेक्ट्रिक स्कूटर है, बल्कि पर्यावरण के लिए बिल्कुल नुकसानदायक नहीं है। क्रेऑन को नेक्स्ट जनरेशन का इलेक्ट्रिक स्कूटर बनाया है। स्पीड के मुकाबले में क्रेऑन महज 5.1 सेकंड में 0-60 किमी/घंटा की स्पीड पकड़ लेता है। इसे एक बार फुल चार्ज करने के बाद 80 किमी तक चलाया जा सकता है और सिर्फ 60 मिनट में ही यह फुल चार्ज हो जाता है। कंपनी ने इस स्कूटर को बेहतर डिजाइन और स्पोर्टी स्टाइल में शोकेस किया है जो ऑटो एक्सपो 2018 के पहले दिन का शो स्टॉपर रहा।

कंपनी जल्द ही बाजार में अपना एक इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च करेगी जो TVS क्रेऑन पर आधारित होगा। जैसा TVS के इस स्कूटर का कॉन्सेप्ट मॉडल दिख रहा है, ऐसे में माना जा सकता है कि कंपनी इस ई-स्कूटर का प्रोडक्शन मॉडल भी काफी बेहतर बनाएगी।

ऑटो एक्सपो 2018: Hyundai आई-20 एलीट का फेसलिफ्ट मॉडल लॉन्च

ऑटो एक्सपो 2018: Hyundai आई-20 एलीट का फेसलिफ्ट मॉडल लॉन्च

ह्यूंदै मोटर कंपनी ने बुधवार को ऑटो एक्सपो 2018 के पहले दिन अपनी पॉप्युलर प्रीमियम हैचबैक, आई20 का फेसलिफ्ट मॉडल लॉन्च कर दिया है। इसकी कीमत, फीचर्स आदि की जानकारी:

पेट्रोल वेरियंट की कीमत

पेट्रोल वेरियंट की कीमत

ह्यूंदै ने आई20 के नए पेट्रोल वेरियंट की शुरुआती एक्स शोरूम कीमत 5.35 लाख रुपए और टॉप मॉडल की कीमत 7.91 लाख रुपए रखी है।

डीजल वेरियंट की कीमत

डीजल वेरियंट की कीमत

डीजल वेरियंट की बात करें तो शुरुआती कीमत 6.73 लाख रुपए से है और यह 9.16 लाख रुपए तक जाती है।
  

हेडलैम्प्स को पतला किया गया है

हेडलैम्प्स को पतला किया गया है

आई20 के फेसलिफ्ट मॉडल में ह्यूंदै ने फ्रंट ग्रिल में बदलाव किया है। काले रंग के नए ग्रिल से इसका आकर्षण बढ़ गया है। हेडलैम्प्स को पतला किया गया है जो कि इसके लुक को अट्रैक्टिव बनाते हैं।

इंटीग्रेटेड एलईडी डेटाइम रनिंग लाइट्स

इंटीग्रेटेड एलईडी डेटाइम रनिंग लाइट्स

कंपनी ने इसमें प्रॉजेक्टर हेडलैम्प्स देने के साथ ही इंटीग्रेटेड एलईडी डेटाइम रनिंग लाइट्स और नई डिजाइन वाले फॉग लैम्प्स दिए हैं।

इसके दरवाजों का डिजाइन नया है

इसके दरवाजों का डिजाइन नया है

इसके दरवाजों का डिजाइन नया है और इसके नए अलॉय वील्ज इसे मस्क्युलर लुक देते हैं। रियर लुक की बात करें तो नए आई20 मॉडल में फ्रेश टेल लैम्प क्लस्टर दिया गया है।

ह्यूंदै ने लग्जरी को बढ़ाया है। कार

ह्यूंदै ने लग्जरी को बढ़ाया है। कार

नए मॉडल में ह्यूंदै ने लग्जरी को बढ़ाया है। कार के इंटीरियर में नया टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम है जो कि पहले वाले मॉडल के मुकाबले अधिक बड़ा है। यह सिस्टम ऐंड्रॉयड ऑटो और ऐपल कारप्ले को सपॉर्ट करता है।

इंजन

इंजन

नई Hyundai i20 एलीट में इंजन सेम है। इसमें अब भी 1.2 लीटर पेट्रोल इंजन है जो कि 5 स्पीड मैन्युअल ट्रांसमिशन से लैस है। इसके अलावा 1.4 लीटर डीजल इंजन का भी ऑप्शन है जो कि 6 स्पीड मैन्युअल ट्रांसमिशन सिस्टम से लैस है। सेफ्टी के लिए इसमें 6 एयर बैग्स दिए गए हैं।

नए मॉडल की बुकिंग्स शुरू

नए मॉडल की बुकिंग्स शुरू

इस नए मॉडल की बुकिंग्स शुरू हो चुकी हैं। भारतीय बाजार में इसका मुकाबला मारुति की बलेनो से होगा। बलेनो मारुति की हाई डिमांडिंग कार है। इसके लिए 18 से 19 महीनों का वेटिंग पीरियड चल रहा है।
  

ऑटो एक्सपो: होंडा अमेज का नया मॉडल पेश, मारुति डिजायर से मुकाबला!

आॅटो एक्सपो: होंडा अमेज का नया मॉडल पेश, मारुति डिजायर से मुकाबला!

ऑटो एक्सपो 2018 शुरू हो चुका है। इसमें होंडा कार्स इंडिया ने अपनी लो​कप्रिय कॉम्पैक्ट सिडैन अमेज का सेकेंड जेनरेशन मॉडल अनवील कर दिया है। भारत में इसका मुकाबला मारुति डिजायर और ह्यूंदै एक्सेंट से होगा। इसे अगले कुछ महीनों के भीतर लॉन्च कर दिया जाएगा। आइए, जानते हैं क्या कुछ खास है इस कार में…

नई होंडा अमेज की कीमत

नई होंडा अमेज की कीमत

नई होंडा अमेज की कीमत मौजूदा होंडा अमेज मॉडल जितनी ही रहने की उम्मीद है। यह 5.5 लाख रुपए की शुरुआती कीमत पर लॉन्च की जा सकती है।

सेकेंड जेनरेशन मॉडल नए प्लैटफॉर्म पर तैयार

सेकेंड जेनरेशन मॉडल नए प्लैटफॉर्म पर तैयार

होंडा अमेज का सेकेंड जेनरेशन मॉडल नए प्लैटफॉर्म पर तैयार है जो कि होंडा थाइलैंड ने तैयार किया है। इसके स्टाइल, लुक्स और ड्राइविंग परफॉर्मेंस पर होंडा ने मुख्य रूप से काम किया है।

होंडा सिविक से इंस्पिरेशन ली गई है

होंडा सिविक से इंस्पिरेशन ली गई है

स्टाइलिंग फ्रंट पर देखें तो नई होंडा अमेज बड़ी है। इसमें काफी हद तक होंडा सिविक से इंस्पिरेशन ली गई है। नई Amaze का प्रोफाइल कूपे लुक वाली रूफलाइन से लैस है। कार देखने में भी मौजूदा मॉडल के मुकाबल अधिक लंबी लगती है।

फ्रंट में क्रोम का इस्तेमाल और रियर में क्लासी लुक

फ्रंट में क्रोम का इस्तेमाल और रियर में क्लासी लुक

भारत में कॉम्पैक्ट सिडैन के डिजाइन्स की बात करें तो उस लिहाज से नई अमेज शानदार लगती है। फ्रंट में क्रोम का इस्तेमाल और रियर में क्लासी लुक इसको प्रीमियम फील देता है। भारत में बिकने वाली कॉम्पैक्ट सिडैन कारों के मुकाबले यह एकदम यूनीक और अलग दिखने वाली कार है।
  

होंडा अमेज सेकेंड जेनरेशन मॉडल का इंजन

होंडा अमेज सेकेंड जेनरेशन मॉडल का इंजन

होंडा अमेज के नए मॉडल में 1.2 लीटर i-VTEC यूनिट इंजन है जो कि 87 Bhp-110 Nm का आउटपुट देता है। यह इंजन 5 स्पीड मैन्युअल और सीवीट ऑटोमैटिक गियरबॉक्सेज से लैस है। डीजल इंजन का भी विकल्प दिया जा सकता है। इसमें 1.5 लीटर i-DTEC ऐल्युमिनियम डीजल इंजन होगा जो कि 98.6 Bhp-200 Nm का आउटपुट देगा। इसको भी 6 स्पीड मैन्युअल गियरबॉक्स से लैस किया जाएगगा। डीजल में ऑटोमैटिक का ऑप्शन नहीं होगा। ऑफिशल लॉन्च के बाद ही गाड़ी से जुड़े अन्य डीटेल्स सार्वजनिक होंगे।

होंडा ने इन कारों को भी किया पेश

होंडा ने इन कारों को भी किया पेश

होंडा ने ऑटो एक्सपो में इस बार नई अमेज के अलावा 5वीं जेनरेशन सीआर-वी और 10 जेनरेशन होंडा सिविक को भी पेश किया है। सीआर-वी का डीजल मॉडल पेश हुआ है। होंडा इन दोनों कारों को भी मौजूदा साल में ही लॉन्च करेगी। होंडा सिविक का नया मॉडल स्पॉर्टी है। इसमें स्टाइलस एलईडी हेडलैम्प्स, स्पॉर्टी अलॉय वील्ज, एलईडी टेललैम्प्स हैं। इसका पहला मॉडल 2006 में लॉन्च किया गया था। 2013 में इसको बंद कर दिया गया था। अब फिर से होंडा ने इसका नया मॉडल पेश किया है।
Posted on

ऑटो एक्सपो 2018 LIVE: शुरू हुआ कारों का मेला, यहां है रफ्तार, शान और भविष्य का संगम

ऑटो एक्सपो में 28 दुपहिया, 14 चौपहिया और 9 वाणिज्यिक वाहन विनिर्माता कंपनियां हिस्सा ले रही हैं. इस प्रदर्शनी के दौरान कुल 100 वाहन पेश किये जायेंगे.

14वें ऑटो एक्सपो 2018 की शुरुआत आज से हो चुकी है. ऑटो एक्सपो ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो मार्ट में 14 फरवरी तक चलेगा. एक्स्पो के पहले दो दिन यानि 7 और 8 फरवरी मीडिया के लिए होंगे, इन दो दिनों में मोटर कंपनियां अपने नए उत्पादों को मीडिया के सामने पेश करेंगी. वहीं 9 से 14 फरवरी तक एक्स्पो आम पब्लिक के लिए होगा.

Auto Expo 2018 LIVE Updates

    • सुजुकी ने अपनी कई एक्सक्लूसिव बाइक्स को इस एक्सपो में शोकेस किया है. कंपनी ने 125 सीसी का नया बर्गमैन स्ट्रीट स्कूटर लॉन्च किया है जो एलईडी हैडलैंप, बॉडी माउंट विंडस्क्रीन के जरिए भारत में स्कूटर्स के क्षेत्र में नया उदाहरण बनेगा.

 

    • ग्लोबल ब्रांड ‘किआ’ की भारत में एंट्री. किआ मोटर्स कोरिया की कंपनी है. ये एक्सपो में 16 गाड़ियां दिखा चुकी हैं जो 2019 में लॉन्च होंगी.

 

    • कार निर्माता कंपनी होंडा ने नई गाड़ियां पेश कीं, ये गाड़ियां आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लैस हैं

 

    • इस ऑटो एक्सपो में 28 टू व्हीलर, 14 फोर व्हीलर और 9 कमर्शियिल व्हीकल कंपनियां हिस्सा ले रही हैं. इस प्रदर्शनी के दौरान कुल 100 वाहन पेश किये जायेंगे.

 

    • इस बार में एक्स्पो में 100 एग्ज़िबिटर्ज़ होंगे जो पिछली बार के मुक़ाबले ज़्यादा हैं, पिछली बार के एक्स्पो में 80 एग्ज़िबिटर्ज़ ने हिस्सा लिया था.

 

    • इस बार के एक्स्पो में हालांकि गाड़ियों के एग्ज़िबिटर्ज़ की संख्या पिछले बार के मुक़ाबले कम हुई है. पिछली बार 59 थे इस बार 51 हैं.

 

    • इस शो की टिकट्स 750 रुपये और 350 रुपये के बीच है. वीकडेज में बिजनेस आवर के दौरान टिकट की कीमत 750 रुपये होगी और पब्लिक आवर के दौरान टिकट की कीमत 350 रुपये होगी.

 

  • ऑटो एक्स्पो में भाग लेने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन टिकट बुक करा सकते हैं. इसके साथ ही कुछ चुनिंदा मेट्रो स्टेशनों पर भी टिकट उपलब्ध होंगी.
Posted on

ऑटो एक्सपो 2018 : एक साथ लॉन्च होंगे 50 इलैक्ट्रिक व हाइब्रिड व्हीकल्स

9 से 14 फरवरी तक ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो मार्ट में आयोजित हो रहे ऑटो एक्सपो 2018 के दौरान इस बार 50 इलैक्ट्रिक व हाइब्रिड वाहनों को पेश किया जाएगा। इस शो में इस बार मारुति, हुंडई, टोयोटा, महिंद्रा और अन्य विदेशी कम्पनियां भी अपने वाहनों की प्रदर्शनी लगाएंगी।

ये कम्पनियां उटाठाएंगी इलैक्ट्रिक टैक्नोलॉजी से पर्दा
ऑटो एक्सपो 2018 में मारुति सुजुकी, हुंडई मोटर, महिंद्रा एंड महिंद्रा, टाटा मोटर्स, टोयोटा मोटर्स, रेनो, बीएमडब्ल्यू और मर्सिडीज की इलैक्ट्रिक टैक्नोलॉजी को शोकेस किया जाएगा। इसके अलावा होंडा अपनी नई मोटरसाइकिल्स को भी पेश करेगी जो संभावित इलेक्ट्रॉनिक होगी।

एक दर्जन स्टार्टअप पेश करेंगे वाहन
इस शो में करीब एक दर्जन नए स्टार्टअप्स भाग लेंगे जो अपने बेहतरीन वाहनों को पेश करेंगे। आपको बता दें कि ऑटो एक्सपो 2016 में सिर्फ 12 स्टार्टअप्स को शामिल किया गया था।

प्रदर्शनी में बढ़ रही कम्पनियां
आपको बता दें कि वर्ष 2016 में 65 कम्पनियों की 108 गाड़ियों का प्रदर्शन किया गया था जबकि 2018 में 52 कम्पनियों की 100 कारों को दिखाया जाएगा। वर्ष 2016 में कुल 88 कम्पनियां शामिल थी वहीं 2018 में 101 कम्पनियां शामिल हो रही है।

ये कम्पनियां नहीं बन रही शो का हिस्सा
ऑटो एक्सपो में इस बार कुछ कम्पनियां हिस्सा नहीं ले रही है। इनमें बजाज ऑटो, आयशर मोटर्स, वॉक्सवैगन ग्रुप, हार्ले डेविडसन व फोर्ड आदि शामिल है।

Posted on

भारतीय कंपनियों ने अमेरिका में 1.13 लाख नौकरियों का सृजन किया: भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई)

भारतीय कंपनियों ने अमेरिका में 1,13,000 रोजगार के अवसरों का सृजन किया है और वहां करीब 18 अरब डॉलर का निवेश किया है। भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) की एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। इंडियन रुट्स, अमेरिकन सॉयल शीर्षक वाली यह रिपोर्ट सीआईआई ने मंगलवार को जारी की।

इसमें बताया गया कि भारतीय कंपनियों ने अमेरिका में कॉर्पोरेट सामाजिक दायित्व में 14.7 करोड़ डॉलर का योगदान दिया। इसके अलावा भारतीय कंपनियों ने यहां शोध और विकास गतिविधियों पर 58.8 करोड़ डॉलर खर्च किए। इस वार्षिक रिपोर्ट में अमेरिका और प्यूर्टो रिको में कारोबार कर रही 100 भारतीय कंपनियों के निवेश और रोजगार सृजन का ब्योरा दिया गया है।

करीब 50 राज्यों में इन कंपनियों ने 1,13,423 लोगों को रोजगार दिया है। भारतीय कंपनियों ने सबसे ज्यादा 8,572 नौकरियां न्यूजर्सी में दी हैं। टेक्सास में भारतीय कंपनियों ने 7,271, कैलिफोर्निया में 6,749, न्यू यॉर्क में 5,135 और जॉर्जिया में 4,554 नौकरियां दी हैं। जहां तक भारतीय कंपनियों द्वारा किए गए निवेश का सवाल है तो सबसे ज्यादा निवेश न्यू यॉर्क में 1.57 अरब डॉलर का किया गया है।

न्यू जर्सी में 1.56 अरब डॉलर, मैसाचुसेट्स में 93.1 करोड डॉलर, कैलिफोर्निया में 54.2 करोड़ डॉलर और व्योमिंग में 43.5 करोड़ डॉलर का निवेश भारतीय कंपनियों द्वारा किया गया है। सीआईआई के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी ने कहा कि अमेरिका में भारतीय कंपनियों के निवेश की कहानी से दोनों देशों द्वारा एक दूसरे की सफलता में दिए गए योगदान का पता चलता है।

Posted on

टोक्यो मोटर शो: गाड़ी जो स्पीड में शेप बदल ले!

जापान में टोक्यो मोटर शो का आयोजन चल रहा है। 45वें एडिशन में कई कॉन्सेप्ट कारें पेश की गई हैं।

जापान की ऑटो पार्ट मेकर टोयोडा गोसेई की ये पेशकश ‘फ्लेश्बी’ केवल एक सीट वाली है। कंपनी का दावा है कि ‘फ्लेश्बी’ ई-रबर की खूबियां लिए हुए है और हाई स्पीड में ड्राइविंग करते वक्त इसकी बॉडी ज़रूरत के मुताबिक़ अपनी शेप बदल सकती है।

तस्वीर में टोयोटा की कॉन्सेप्ट-आई जिसे 25 अक्टूबर को पेश किया गया।

tokyo motor show,tokyo motor show 2017,yamaha motobot,tokyo motor show 2017 pictures,concept cars,concept bikes,weird concept cars,international news

टोक्यो मोटर शो 5 नवंबर तक चलेगा। ऑटोमोबाइल सेक्टर कंपनियां की दुनिया की बड़ी कंपनियों अपने नए प्रोडक्टश इस इवेंट में पेश करती हैं। तस्वीर में सुज़ुकी मोटर्स की ई-सर्वाइवर।

tokyo motor show,tokyo motor show 2017,yamaha motobot,tokyo motor show 2017 pictures,concept cars,concept bikes,weird concept cars,international news

 

यामाहा की ये हाई टेक बाइक ‘मोटरआईडी’ भी टोक्यो मोटर शो का एक ख़ास आकर्षण रहा।

tokyo motor show,tokyo motor show 2017,yamaha motobot,tokyo motor show 2017 pictures,concept cars,concept bikes,weird concept cars,international news

दिखने में बाइक जैसी लगती है लेकिन इसमें ज्यादा पहिए हैं। टोक्यो मोटर शो में यामाहा की एमडब्लूसी-4।

tokyo motor show,tokyo motor show 2017,yamaha motobot,tokyo motor show 2017 pictures,concept cars,concept bikes,weird concept cars,international news

 

टोयोटा मोटर्स ने अपनी इस कॉन्सेप्ट कार को वंडर-कैप्सूल का नाम दिया है।

tokyo motor show,tokyo motor show 2017,yamaha motobot,tokyo motor show 2017 pictures,concept cars,concept bikes,weird concept cars,international news