Posted on Leave a comment

भारत-वियतनाम के बीच परमाणु समेत 3 समझौते हुए, मोदी बोले- इंडो-पैसिफिक के लिए मिलकर काम करेंगे

पीएम नरेन्द्र माेदी और वियतनाम के प्रेसिडेंट त्रान दाई क्‍वांग के बीच बात-चीत के बाद शनिवार को दोनों देशों ने परमाणु सहयोग समेत तीन समझौतों पर दस्तखत किए। इस दौरान नरेन्द्र मोदी ने कहा कि हमने फैसला किया है कि डिफेंस प्रोडक्शन में आपसी सहयोग बढ़ाने के साथ टेक्नोलॉजी के आदान-प्रदान की संभावनाआें की तलाश करेंगे। भारत के आसियान देशों से संबंध और एक्ट ईस्ट पॉलिसी के फ्रेमवर्क में वियतनाम महत्वपूर्ण स्थान रखता है। बता दें कि क्‍वांग तीन दिन के भारत दौरे पर आए हैं। शनिवार को दिल्ली पहुंचने पर राष्ट्रपति भवन में उनको गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

किन क्षेत्रों में हुए समझौते?
– एटॉमिक एनर्जी के क्षेत्र में सहयोग
– इकोनाॅमिक एंड ट्रेड क्षेत्र में सहयोग
– टेक्नोलॉजी के आदान-प्रदान और एग्रीकल्चर से जुड़े फील्ड में टेक्नीकल एक्सपर्ट्स की विजिट में सहयोग

मोदी ने और क्या कहा?
– नरेन्द्र मोदी ने कहा, “हम मिलकर ऐसे खुले, आजाद और समृद्ध इंडो-पैसिफिक एरिया के लिए काम करेंगे, जहां संप्रभुता और अंतर्राष्ट्रीय कानून का पूरा सम्मान किया जाएगा।”
– मोदी ने कहा, “भारत और वियतनाम रिन्यूएवल एनर्जी (हाइड्रो एनर्जी, सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, जल-विद्युत ऊर्जा, बायोमास, जैव ईंधन) एग्रीकल्चर, टेक्सटाइल, तेल और गैस समेत अन्य क्षेत्रों में अपने रिश्ते और मजबूत करेंगे।”
– मोदी ने कहा, “हम न केवल गैस और तेल के सेक्टर में द्विपक्षीय संबंधों को बेहतर बनाएंगे, बल्कि अन्य देशों के साथ मिलकर त्रिपक्षीय संबंधों को भी आगे बढ़ाने का काम करेंगे।

बिजनेस 15 अरब डॉलर तक बढ़ाने पर बनी सहमति
-विदेश मंत्रालय के स्पोक्सपर्सन रवीश कुमार ने ट्वीट किया है कि भारत और वियतनाम का 2016-17 में बिजनेस 6.24 अरब डॉलर रहा। दोनों देशों के बीच बिजनेस को 2020 तक 15 अरब डॉलर तक बढ़ाने पर सहमति बनी है।

शुक्रवार को भारत पहुंचे थे क्वांग
– प्रेसिडेंट त्रान दाई क्‍वांग शुक्रवार को भारत पहुंचे। इसके बाद वे बौद्धों के पवित्र तीर्थस्थल बिहार के बोधगया गए।
– शनिवार सुबह क्वांग का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया गया। इस दौरान प्रेसिडेंट रामनाथ कोविंद और नरेंद्र मोदी भी मौजूद रहे। क्वांग ने राजघाट पहुंचकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि भी दी।

– वहीं, समझौतों से पहले क्‍वांग ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी मुलाकात की।

– प्रेसिडेंट क्‍वांग के साथ अाए प्रतिनिधिमंडल में वियतनाम के वाइस प्रेसिडेंट और विदेश मंत्री फाम बिन मिन्ह के अलावा कई मंत्री शामिल हैं। इनके साथ एक कारोबारी शिष्टमंडल भी है।