Posted on Leave a comment

प्रथम शैलपुत्री गौरी की आराधना के उपरांत आज करें देवी ब्रह्मचारिणी का ध्यान