Posted on

कुली का कमाल: स्‍टेशन के फ्री वाई फाई की मदद से पास की UPSC की परीक्षा

सपने पूरे करने के लिए हौंसला चाहिए सुविधा नहीं इस सच को सुनाती है इस कुली कीकहानी जो स्‍टेशन के फ्री वाईफाई की मदद से सिविल सेवा परीक्षा में पास हुआ।

केरल में एर्नाकुलम स्टेशन पर कुली का काम करने वाले श्रीनाथ के. की कहानी कुछ अनोखी है, जिन्होंने रेलवे स्टेशन पर उपलब्ध मुफ्त वाईफाई सुविधा के सहारे इंटरनेट के जरिये पढ़ाई की और केरल पब्लिक सर्विस कमीशन, केपीएससी की लिखित परीक्षा पास की। सबसे बड़ी बात ये है कि तैयारी के दौरान वह किताबों में नहीं डूबे रहे बल्‍कि अपना काम करते हुए स्मार्ट फोन और ईयरफोन के सहारे पढ़ाई करते रहे। अब अगर श्रीनाथ साक्षात्‍कार में सफल हो जाते हैं तो वह भूमि राजस्व विभाग के तहत विलेज फील्ड असिस्टेंट के पद पर नियुक्‍त्‍त हो जायेंगे।

तीसरे प्रयास में मिली सफलता

श्रीनाथ पिछले पांच वर्ष से कुली के रूप में काम कर रहे हैं और उनका सिविल परीक्षा के इम्‍तिहान में बैठने का ये तीसरा प्रयास था। उनका कहना है कि यह पहला मौका था, जब उन्‍होंने स्टेशन पर उपलब्ध वाईफाई सुविधा का इस्तेमाल किया। उन्‍होंने ये भी बताया कि कुली का काम करने के दौरान वे हमेशा ईयरफोन कान में लगाए रखते थे और इंटरनेट पर अपने संबंधित विषयों पर लेक्चर सुना करते थे। उसे मन ही मन दोहराते भी रहते थे और रात को मौका मिलते ही फिर रिवाइज कर लेते थे। इसी वाईफाई की मदद से उन्‍होंने ऑनलाइन अपना परीक्षा फार्म भरा और देश दुनिया की ताजा जानकारियों से खुद को अपडेट किया साथ ही अपने विषयों की जम कर तैयारी की।

Posted on

धौनी की दमदार पारी भी चेन्नई को नहीं दिला पाई जीत, पंजाब ने 4 रन से मैच जीता

आइपीएल 2018 के 12वें मैच में चेन्नई सुपर किंग्स का मुकाबला किंग्स इलेवन पंजाब के साथ था और इसमें धौनी की टीम को 4 रन से हार मिली।

इस मैच में चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब ने 20 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 197 रन बनाए। चेन्नई को जीत के लिए 198 रन का लक्ष्य मिला। टीम के कप्तान धौनी ने 79 रन की नाबाद पारी खेलकर टीम को जीत दिलाने की कोशिश की लेकिन वो सफल नहीं हो पाए। चेन्नई ने 20 ओवर में 5 विकेट पर 193 रन बनाए।

धौनी ने खेली शानदार पारी

चेन्नई का पहला विकेट मोहित शर्मा ने लिया। उन्होंने ओपनर बल्लेबाज शेन वॉटसन को बरिंदर के हाथों कैच करवा दिया। शेन ने 9 गेंदों पर 11 रन बनाए। रैना की जगह टीम में शामिल किए गए मुरली विजय 12 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। एंड्रयू टे की गेंद पर उनका कैच बरिंदर ने पकड़ा। सैम बिलिंग्स 9 रन बनाकर अश्विन की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हुए। अंबाती रायडू सिर्फ एक रन से अपने अर्धशतक से चूक गए। रायडू ने 35 गेंदों पर 49 रन बनाए और रन आउट हो गए। रवींद्र जडेजा 19 रन बनाकर एंड्रयू टे की गेंद पर अश्विन के हाथों कैच आउट हुए। कप्तान धौनी ने 44 गेंदों पर नाबाद 79 रन की पारी खेली पर टीम को जीत नहीं दिला पाए। ब्रावो एक रन बनाकर नाबाद रहे।

पंजाब की तरफ से एंड्रयू टे ने दो जबकि मोहित शर्मा और अश्विन ने एक-एक विकेट लिए।

गेल ने खेली तूफानी पारी

पंजाब का पहला विकेट लोकेश राहुल के तौर पर गिरा। राहुल ने 22 गेंदों पर 37 रन बनाए। उन्होंने पहले विकेट ले लिए गेल के साथ 96 रन की साझेदारी की। राहुल को हरभजन सिंह ने क्लीन बोल्ड कर दिया। क्रिस गेल ने अपने पहले ही मैच में 33 गेंदों पर 63 रन की पारी खेली। उन्हें शेन वॉटसन ने इमरान ताहिर के हाथों कैच आउट करवा दिया। मयंक अग्रवाल 30 रन बनाकर इमरान ताहिर की गेंद पर बोल्ड हो गए जबकि एरोन फिंच इमरान ताहिर की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। वो अपना खाता भी नहीं खोल पाए थे। युवराज सिंह इस मैच में भी नहीं चल पाए। वो 20 रन बनाकर शर्दुल ठाकुर की गेंद पर विकेट के पीछे धौनी के हाथों लपके गए। कप्तान अश्विन ने 14 रन पर अपना विकेट गवां दिया। वो शर्दुल की गेंद पर अपना कैच धौनी को थमा बैठे। करुण नायर 29 रन बनाकर ब्रावो की गेंद पर रवींद्र जडेजा के हाथों लपके गए।

चेन्नई की तरफ से शर्दुल और इमरान ताहिर ने दो-दो जबकि हरभजन सिंह और ब्रावो ने एक-एक विकेट लिए।

Posted on

बैंगलोर को अपने घर में नहीं मिली जीत, राजस्थान रॉयल्स ने 19 रन से हराया

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और राजस्थान रॉयल्स के बीच आइपीएल का 11वां मुकाबला आरसीबी के घरेलू मैदान एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला गया और इस मैच में विराट की टीम को 19 रन से हार का सामना करना पड़ा।

इस मुकाबले में टॉस जीतकर बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली ने पहले गेंदबाज़ी करने का फैसला किया। राजस्थान की टीम ने 20 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर 217 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। राजस्थान की तरफ से संजू सैमसन ने नाबाद 92 रन की तूफानी पारी खेली। बैंगलोर को जीत के लिए 218 रन का लक्ष्य मिला था लेकिन बैंगलोर की टीम 20 ओवर में 6 विकेट पर 198 रन ही बना पाई।

विराट ने लगाया अर्धशतक

बैंगलोर को पहला झटका पारी की शुरुआती में ही लग गया जब ब्रैंडन मैकुलम महज 4 रन के स्कोर पर गौथम की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए। डार्सी शॉर्ट ने डी कॉक को आउट कर बैंगलोर को दूसरा झटका दिया। डी कॉक 26 रन बनाकर जयदेव उनादकट के हाथों कैच आउट हो गए। कप्तान कोहली ने 30 गेंदों पर तेज 57 रन की पारी खेली मगर वो श्रेयस गोपाल की गेंद पर अपना कैच डार्सी शॉर्ट को थमा बैठे। टीम के तूफानी बल्लेबाज एबी को श्रेयस गोपाल ने जयदेव उनादकट के हाथों कैच आउट करवा दिया। उन्होंने 18 गेंदों पर 20 रन बनाए। पवन नेगी तीन रन बनाकर कैच आउट हो गए। वाशिंगटन सुंदर ने 19 गेंदों पर 35 रन की तेज पारी खेली। उन्हें बेन स्टोक्स ने क्लीन बोल्ड कर दिया। मंदीप सिंह ने 25 गेंदों पर नाबाद 47 रन बनाए लेकिन टीम को जीत दिलाने में कामयाब नहीं हो पाए।

राजस्थान के लिए श्रेयस गोपाल ने दो, गौथम, बेन स्टोक्स, डार्सी शॉर्ट और बेन लॉघलिन ने एक-एक विकेट लिए।

संजू ने बनाए 45 गेंदों पर नाबाद 92 रन

क्रिस वोक्स ने राजस्थान के कप्तान अजिंक्य रहाणे को आउट कर दिया। रहाणे 20 गेंदों में 36 रन बनाकर उमेश यादव को कैच थमा बैठ और बैंगलोर को मिली पहली सफलता। इसके अगले ही ओवर में चहल ने डार्सी शॉर्ट (11) को विकेटकीपर डि कॉक के हाथों कैच आउट करवाकर राजस्थान को दूसरा झटका दे दिया। इसके बाद चहल ने खतरनाक होते बेन स्टोक्स को 27 रन पर बोल्ड कर बैंगलोर को तीसरी सफलता दिला दी। जोस बटलर ने 23 रन की पारी खेली। उन्हें क्रिस वोक्स की गेंद पर कोहली ने कैच आउट किया। संजू सैमसन ने 45 गेंद पर नाबाद 92 रन की पारी खेली। वहीं राहुल त्रिपाठी ने नाबाद 14 रन बनाए। बैंगलोर की तरफ से क्रिस वोक्स और युजवेंद्र चहल ने दो-दो विकेट लिए।

Posted on

हैदराबाद की लगातार तीसरी जीत, कोलकाता को 5 विकेट से हराया

आइपीएल 2018 के 10वें मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स को सनराइजर्स हैदराबाद ने 5 विकेट से हरा दिया। इस मैच में सनराइजर्स हैदराबाद ने टॉस जीतकर कोलकाता को पहले बल्लेबाजी का न्यौता दिया। कोलकाता ने 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 138 रन बनाए। हैदराबाद को जीत के लिए 139 रन का लक्ष्य मिला था जिसे इस टीम ने 19 ओवर में 5 विकेट खोकर हासिल कर लिया। ये हैदराबाद की लगातार तीसरी जीत थी।

केन विलियमसन का अर्धशतक

साहा अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे लेकिन नरेन की एक गेंद को खेलने की कोशिश में वो अपना कैच दिनेश कार्तिक को थमा बैठे। साहा ने 15 गेंदों पर 24 रन बनाए। शिखर धवन को भी नरेन ने सस्ते में चलता कर दिया और सिर्फ 7 रन के स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर दिया। मनीष पांडे को कुलदीप ने अपना पहला शिकार बनाया और 4 रन पर एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। शाकिब अल हसन को पीयूष चावला ने 27 रन पर क्लीन बोल्ड कर दिया। कप्तान विलियमसन ने 44 गेंदों पर 50 रन बनाए। उन्हें मिचेल जॉनसन ने रसेल के हाथों कैच आउट करवाया। यूसुफ पठान 17 रन जबकि दीपक हुडा 5 रन बनाकर नाबाद रहे।

कोलकाता की तरफ से सुनील नरेन ने दो जबकि मिचेल जॉनसन, पीयूष चावला और कुलदीप यादव ने एक-एक विकेट लिए।

क्रिस लीन ने खेली 49 रन की पारी

कोलकाता की शुरुआत अच्छी नहीं रही और टीम के ओपनर बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा 8 गेंदों पर 3 रन बनाकर आउट हो गए। नितिश राणा को स्टेनलाक ने अपना शिकार बनाया और 18 रन पर उनका कैच मनीष पांडे ने पकड़ा। सुनील नरेन सिर्फ 9 रन बनाकर शाकिब अल हसन का शिकार बने। नरेन का कैच केन विलियमसन ने पकड़ा। शाकिब ने अपनी ही गेंद पर क्रिस लीन का बेहतरीन कैच लपका। लीन ने 34 गेंदों पर शानदार 49 रन बनाए। आंद्रे रसेल 9 रन बनाकर कैच आउट हो गए। कप्तान कार्तिक को भुवनेश्वर ने अपना शिकार बनाया। उन्होंने 27 गेंदों पर 29 रन बनाए और अपा कैच विकेट के पीछे साहा को थमा बैठे। शिवम मावी 7 रन बनाकर सिद्धार्थ कौल का शिकार बने। मिचेल जॉनसन 4 रन बनाकर नाबाद रहे।

हैदराबाद की तरफ से भुवनेश्वर कुमार ने तीन, बिली स्टेनलाक और शाकिब ने दो-दो जबकि सिद्धार्थ कौल ने एक विकेट चटकाया।

Posted on

दिल्ली ने मुंबई को जबकि हैदराबाद ने कोलकाता को हराया, देखिए तस्वीरें

आइपीएल के इस सीजन का दसवां मुकाबला कोलकाता और हैदराबाद के बीच खेला गया और इस मैच में हैदराबाद ने कोलकाता को पांच विकेट से हरा दिया। इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए कोलकाता ने 20 ओवर में 8 विकेट पर 138 रन बनाए। जीत के लिए मिले लक्ष्य को हैदराबाद ने 19 ओवर में पांच विकेट शेष रहते हासिल कर लिया।

केन विलियमन ने अर्धशतक लगाकर अपनी टीम की जीत तय कर दी।

दूसरी पारी में साहा ने 15 गेंदों पर 24 रन बनाकर

हैदराबाद को अच्छी शुरुआत देने की कोशिश की।

कोलकाता के खिलाफ धवन सफल नहीं रहे और 7 रन बनाकर आउट हो गए। कोलकाता के लिए ओपनर बल्लेबाज क्रिस लीन ने सबसे ज्यादा 34 गेंदों पर 49 रन बनाए।

कप्तान दिनेश कार्तिक ने 27 गेंदों पर 29 रन की पारी खेली।

रॉबन उथप्पा फिर से फेल रहे और सिर्फ तीन रन बनाकर कैच आउट हो गए। आइपीएल में शिवम मावी का ये पहला मैच था। उन्होंने 7 रन बनाए और अपना विकेट गवां दिया।

आइपीएल सीजन 11 के नौवें मुकाबले में दिल्ली डेयर डेविल्स का सामना मुंबई इंडियंस से हुआ। इस मुकाबले में मुंबई को दिल्ली के हाथों 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। मुंबई ने इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 195 रन बनाए थे। इसके बाद जीत के लिए मिले लक्ष्य को दिल्ली ने तीन विकेट पर हासिल कर लिया।

दिल्ली के ओपनर बल्लेबाज जेसन रॉय ने अपनी टीम के लिए तूफानी पारी खेली। उन्होंने 53 गेंदों पर 91 रन बनाए। जेसन की पारी से दिल्ली को जीत मिली।

दिल्ली के कप्तान गौतम गंभीर कुछ खास नहीं कर पाए और 16 गेंदों पर 15 रन बनाकर आउट हो गए।

रिषभ पंत अपने अर्धशतक से चूक गए लेकिन उन्होंने 25 गेंदों पर 47 रन की अच्छी पारी खेली और टीम की जीत में अच्छी भूमिका निभाई।

श्रेयस अय्यर ने 20 गेंदों पर 27 रन की नाबाद पारी खेली।

मुंबई की ताबड़तोड़ शुरुआत

मुंबई की टीम ने सूर्य कुमार यादव को ओपनिंग के लिए भेजकर दिल्ली की टीम को हैरान कर दिया। सूर्य कुमार यादव ने पहले ही ओवर में दिल्ली के ट्रेंट बोल्ट की खबर लेते हुए 15 रन ठोक दिए।

यादव के साथ-साथ इविन लुइस ने भी मुंबई को तेज़-तर्रार शुरुआत दी। लुइस ने 28 गेंदों पर 48 रन की ताबड़तोड़ पारी खेलकर दिल्ली की दिलेरों की हालत खराब कर दी।

तेवतिया ने दिया दोहरा झटका

मुंबई इंडियंस को पहला झटका दिल्ली के स्पिन गेंदबाज़ राहुल तेवतिया ने दिया। तेवतिया ने इविन लुईस को 48 रन के स्कोर पर जेसन रॉय के हाथों कैच आउट करवाया। इसके अगले ही ओवर में तेवतिया ने सूर्य कुमार यादव को 53 रन पर एलबीडब्लयू आउट कर मुंबई को दूसरा झटका दे दिया।

इशान किशन की तेज़-तर्रार पारी

इशान किशन ने दिल्ली के गेंदबाज़ों पर प्रहार करना जारी रखा। किशन 23 गेंदों में 44 रन की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने 5 चौके और 2 छक्के भी लगाए।

क्रिस्चियन ने दो गेंदों पर झटके दो विकेट

इसके बाद डेन क्रिस्चियन ने दो गेंदों पर दो विकेट झटककर, दिल्ली की मैच में वापसी करा दी। क्रिस्चियन ने पहले इशान किशन को बोल्ड किया और फिर अगली ही गेंद पर क्रिस्चियन ने पोलार्ड को बोल्ड कर दिया।

इसके बाद दिल्ली के गेंदबाज़ों ने दमदार वापसी करते हुए मुंबई की टीम को निर्धारित 20 ओवर में 194 रन पर रोक दिया। मुंबई ने 7 विकेट गंवाए।

Posted on

विराट को मिली पहली जीत, घरेलू मैदान पर पंजाब को 4 विकेट से हराया

आइपीएल 2018 का 8वां मैच रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच खेला गया और इस मैच को आरसीबी ने चार विकेट से जीत लिया। इस मैच में बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पंजाब को पहले बल्लेबाजी करने का न्यौता दिया।

पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब ने निर्धारित 20 ओवर में 155 रन पर ऑल आउट हो गई। बैंगलोर को जीत के लिए 156 रन का लक्ष्य मिला जिसे इस टीम ने एबी के धमाकेदार अर्धशतक के दम पर 19.3 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया। बैंगलोर की इस सीजन में ये पहली जीत थी।

एबी डीविलियर्स की तूफानी पारी

दूसरी पारी में बैंगलोर की शुरुआत काफी खराब रही। टीम के तूफानी ओपनर बल्लेबाज ब्रैंडन मैकुलम बिना कोई रन बनाए अक्षर पटेल का शिकार बन गए। मैकुलम का कैच मुजीब उर रहमान ने पकड़ा। कप्तान विरान ने अपनी लय पकड़ी ही थी कि वो मुजीब उर रहमान की गेंद पर चकमा खाकर क्लीन बोल्ड हो गए। विराट ने 16 गेंदों पर 21 रन बनाए। अश्विन ने डी कॉक को 45 रन पर क्लीन बोल्ड कर दिया। इसके बाद उन्होंने सरफराज खान को करुण नायर के हाथों कैच करवा दिया। सरफराज अपना खाता भी नहीं खोल पाए। एबी ने 40 गेंदों पर दो चौके और चार छक्के की मदद से 57 रन बनाए। उनकी पारी का अंत एंड्रयू टे ने किया। एबी का कैच करुण नायर ने पकड़ा। मंदीप सिंह 22 रन बनाकर रन आउट हो गए। इसके बाद वाशिंगटन सुंदर 9 और क्रिस वोक्स ने नाबाद एक रन पर टीम को जीत दिला दी।

पंजाब की तरफ से अश्विन ने दो, अक्षर पटेल, मुजीब उर रहमान और एंड्रयू टे ने एक-एक विकेट लिए।

लोकेश अर्धशतक से चूके

बैंगलोर को पहली सफलता उमेश यादव ने मयंक अग्रवाल के तौर पर दिलाई। उमेश की गेंद पर मयंक ने अपना कैच विकेट के पीछे डी कॉक को पकड़ा दिया। मयंक ने 15 रन बनाए। उमेश ने टीम के खतरनाक बल्लेबाज एरोन फिंच को बिना खाता खोले ही एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। युवराज सिंह उमेश का तीसरा शिकार बने और सिर्फ 4 रन बनाकर उनकी गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए। अच्छी बल्लेबाजी कर रहे लोकेश राहुल को वाशिंगटन सुंदर ने अपनी गेंद पर सरफराज खान के हाथों कैच आउट करवाया। उन्होंने 30 गेंदों पर 47 रन बनाए। करुण नायर को कलवंत खजरोलिया ने क्लीन बोल्ड कर दिया। नायर ने 29 रन की पारी खेली। मार्कस स्टॉयनिस को वाशिंगटन सुंदर ने 11 रन पर विकेट के पीछे कैच आउट करवाया। अक्षर पटेल 2 रन बनाकर कुलवंत की गेंद पर LBW आउट हुए। एंड्रयू टे को क्रिस वोक्स ने अपनी गेंद पर विराट के हाथों कैच आउट करवाया। उन्होंने सिर्फ 7 रन बनाए। कप्तान अश्विन ने 21 गेंदों पर 33 रन की पारी खेली। चहल की गेंद पर वो स्टंप आउट हो गए। मुजिब उर रहमान बिना खाता खोले क्रिस वोक्स की गेंद पर कैच आउट हो गए। मोहित शर्मा एक रन बनाकर नाबाद रहे।

बैंगलोर की तरफ से उमेश यादव ने सबसे ज्यादा तीन, क्रिस वोक्स, कुलवंत खेजरोलिया और वाशिंगटन सुंदर ने दो-दो जबकि युजवेंद्र चहल ने एक विकेट लिए।

Posted on

IPL 2018: हैदराबाद की लगातार दूसरी जीत, मुंबई की एक और हार

सनराइजर्स हैदराबाद ने गुरुवार को रोमांचक मैच में मुंबई इंडियंस को 1 विकेट से मात देकर आईपीएल सीजन 11 में लगातार दूसरी जीत दर्ज की है. वहीं मुंबई इंडियंस को इस टूर्नामेंट में लगातार दूसरी बार हार का सामना करना पड़ा है.

इस मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई इंडियंस ने 20 ओवर में 8 विकेट गंवा कर 147 रन बनाए और सनराइजर्स हैदराबाद को जीत के लिए 148 रनों का टारगेट दिया. जवाब में हैदराबाद की टीम ने 19.5 ओवर में लक्ष्य हासिल कर लिया और लगातार दूसरी जीत दर्ज की.

एक समय हैदराबाद को 12 गेंदों में 12 रनों की दरकार थी. 19वां ओवर फेंकने आए मुस्ताफीजुर रहमान ने इस ओवर में सिर्फ एक रन दिया और दो विकेट लेकर हैदराबाद का स्कोर 137/9 कर दिया. साथ ही अपनी टीम मुंबई को मैच में वापस ला दिया.

आखिरी ओवर में मुंबई को एक विकेट और हैदराबाद को 11 रनों की दरकार थी. हुड्डा और बिलि स्टानलेक (नाबाद 2) ने जरूरी रन बनाते हुए मेजबान टीम को दूसरी जीत दिलाई.

आसाना से लक्ष्य का पीछा करने उतरी हैदराबाद को अच्छी शुरुआत मिली. ऋद्धिमान साहा (22) और धवने पहले विकेट के लिए 6.5 ओवरों में 62 रन जोड़े, लेकिन युवा लेग स्पिनर मयंक मार्केंडेय ने चार विकेट लेकर मेजबान टीम की कमर तोड़ दी.

साहा मयंक की फिरकी का शिकार होकर पवेलियन लौटे. कप्तान विलियमसन सिर्फ छह रनों का योगदान दे पाए. विलियमसन 73 के कुल स्कोर पर आउट हुए. धवन को मयंक ने अर्धशतक भी पूरा नहीं करने दिया. 28 गेंदों में तीन चौके मारने वाले धवन का कैच जसप्रीत बुमराह ने 77 के कुल स्कोर पर पकड़ा. मयंक ने मनीष पांडे को भी 11 के निजी स्कोर पर अपना शिकार बनाया.

एक समय मजबूत स्थिति में दिख रही मेजबान टीम लगातार विकेटों के गिरने से संकट में आ गई थी, लेकिन दीपक ने यूसुफ पठान (14) के साथ मिलकर टीम को जीत के करीब ले गए, लेकिन बुमराह ने लगातार दो विकेट लेकर मेजबान टीम को परेशानी में डाल दिया. उन्होंने 18वें ओवर की चौथी गेंद पर पठान और अगली गेंद पर राशिद खान को आउट किया. अगले ओवर में रहमान ने मेजबान टीम की माथे की लकीरों को और गहरा कर दिया.

लेकिन एक छोर पर खड़े दीपक ने टीम को आखिरकार जीत दिला ही दी. उन्होंने अपनी पारी में 23 गेंदों का सामना किया और एक चौका एक छक्का लगाया. यह छक्का उन्होंने आखिरी ओवर की पहली गेंद पर मारा था.

सिर्फ 147 रन ही बना पाई मुंबई

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई इंडियंस ने 20 ओवर में 8 विकेट गंवा कर 147 रन बनाए और सनराइजर्स हैदराबाद को जीत के लिए 148 रनों का टारगेट दिया. केन विलियमसन के टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने के फैसले को उनके गेंदबाजों ने सही साबित किया.

मुंबई इंडियंस की शुरुआत अच्छी नहीं हुई, उसने दूसरे ही ओवर में अपने कप्तान रोहित शर्मा (11) का विकेट गंवा दिया जो फिर से टीम के लिए पारी का आगाज करने में विफल रहे. स्टानलेक के ओवर की अंतिम गेंद पर शाकिब अल हसन ने स्क्वॉयर लेग से डाइव करते हुए उनका कैच लपका.

मुंबई ने छठे ओवर और सिद्धार्थ कौल के पहले ही ओवर में ईशान किशन (11) और सलामी बल्लेबाज एविन लुईस (29 ) के रूप में दो विकेट गंवा दिए. ईशान नौ गेंद खेलने के बाद थर्ड मैन में यूसुफ पठान को कैच देकर चलते बने, जिन्होंने घुटने से स्लाइड करते हुए इसे लपका.

विकेट के लिए सर्वाधिक 38 रन की साझेदारी निभाई. इसके बाद नियमित अंतराल पर अपना विकेट गंवाने के कारण मुंबई की टीम आठ विकेट पर 147 रन तक ही पहुंच सकी.

लुईस ने 17 गेंदों पर तीन चौके और दो छक्के की बदौलत सर्वाधिक 29 रन बनाए और सूर्यकुमार ने 31 गेंदों पर दो चौकों और एक छक्के के सहारे 28 रन की पारी खेली.

हैदराबाद की तरफ से संदीप शर्मा ने 25 रन पर दो विकेट, कौल ने 29 रन पर दो विकेट और स्टानलेक ने 42 रन पर दो विकेट लिए। राशिद खान और शाकिब अल हसन को एक-एक विकेट मिला.

विलियमसन ने टॉस जीतकर मुंबई को दी पहले बैटिंग

सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया है और मुंबई इंडियंस को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया है. मुंबई ने चोटिल ऑलराउंडर खिलाड़ी हार्दिक पंड्या की जगह प्रदीप सांगवान को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया है.

इसके अलावा मिशेल मैक्लेंघन की जगह बेन कटिंग को भी मौका दिया गया है. वहीं हैदराबाद ने भुवनेश्वर कुमार की जगह संदीप शर्मा को प्लेइंग इलेवन में मौका दिया है.

Posted on

IPL 2018: बारिश से प्रभावित मैच में राजस्थान ने दिल्ली को 10 रन से हराया, देखें तस्वीरें

बारिश से प्रभावित मैच में राजस्थान ने दिल्ली डेयरडेविल्स को 10 रन से हराकर आइपीएल टूर्नामेंट में अपनी पहली जीत दर्ज कर ली है। इसके साथ ही दिल्ली को इस टूर्नामेंट में लगातार दूसरी हार का सामना करना पड़ा है।

दिल्ली के ओपनर बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल का विकेट लेने के बाद मैदान में उछलकर अपनी खुशी जाहिर करते हुए राजस्थान रॉयल्स के तेज गेंदबाज बेन लांघिन।

17.5 ओवर के खेल के बाद अचानक से बारिश आ गयी जिसके बाद मैदान को ढक दिया गया और तकरीबन ढाई घंटे तक खेल बाधित रहा। बारिश रुकने के बाद दिल्ली को डकवर्थ लुइस नियम के मुताबिक जीत के लिये 6 ओवर में 71 रनों का लक्ष्य मिला

राजस्थान की शुरुआत अच्छी नहीं रही उसका पहला विकेट मात्र 11 रन के स्कोर पर गिर गया ऐसे में कप्तान अजिंक्य राहाणे ने संजू सैमसन के साथ 62 रन की साझेदारी कर अपनी टीम को मुकाबले में बनाये रखा।

इस मैच से पहले दिल्ली के खिलाड़ियों ने जमकर पसीना बहाया और अपनी तैयारियों को और पुख्ता किया।।

पिछले मैच में अर्धशतक लगाने वाले दिल्ली के कप्तान गंभीर ने जीत का खाता खोलने के लिए रणनीति तैयार की।

वहीं पिछले मुकाबले में जल्दी आउट होने वाले राजस्थान के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने भी पिछले मैच में की गई गलतियों पर मंथन किया।

राजस्थान के बाकी खिलाड़ियों ने भी मैदान पर जमकर पसीना बहाया।

मैच से पहले मौजूदा आइपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ बेन स्टोक्स बेन स्टोक्स ने भी बल्लेबाज़ी का अभ्यास किया।

इस आइपीएल में दोनों टीमों ने एक-एक मुकाबला खेला है और दोनों ही टीमों को उनमें हार का सामना करना पड़ा है।

Posted on

सौरव गांगुली ने बताया लॉर्ड्स में किसे जवाब देने के लिए उतारी थी शर्ट

पूर्व भारतीय टीम के कप्तान सौरव गांगुली ने आत्मकथा ‘ए सेंचुरी इज नॉट एनफ’ में अपने क्रिकेट से जुड़े कई लम्हों को फैंस के सामने लाने का काम किया है। इस किताब को जल्द ही लॉन्च किया जाना है, लेकिन लॉन्च से पहले किताबों के कुछ अंश का जिक्र गांगुली ने फैंस के साथ किया। जर्नलिस्ट बरखा दत्त से बात करते हुए सौरव गांगुली ने साल 2002 में खेले गए नैटवेस्ट सीरीज का जिक्र किया। गांगुली ने कहा. ”फाइनल मैच जीत से टीम काफी उत्साहित थी और जहीर खान के विनिंग शॉट लगाते ही मैं अपने आपको रोक नहीं सका। गांगुली ने बताया कि जीतने के बाद शर्ट उतारकर सेलिब्रेट करना सही नहीं था। उस दौरान जीत का जश्न मनाने के लिए और भी कई तरीके थे”। गांगुली ने कहा, ”जब इंग्लैंड की टीम भारत आई थी तो एंड्र्यू फ्लिंटॉफ ने यह काम किया था। लॉर्ड्स में फाइनल मुकाबला जीतने के बाद मैंने भी कुछ ऐसा ही किया। हालांकि, इस घटना के बाद इस चीज को लेकर काफी पछतावा हुआ और मैं आज तक इस बात का अफसोस कर रहा हूं। रियल लाइफ में मैं इस तरह का इंसान नहीं हूं। खुशी जाहिर करने को और भी तरीके थे, लेकिन क्रिकेट का जुनून मुझ पर इस कदर हावी था कि मैंने फ्लिंटॉफ को उन्हीं के अंदाज में जवाब देना बेहतर समझा”।

बता दें कि इंग्लैंड की टीम ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में भारत को वनडे सीरीज के फाइनल मुकाबले में हराया था। जिसके बाद जब भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे पर गई थी तो वहां वो जीतने में कामयाब रही। इस मैच में मुश्किल परिस्थितियों से निकलकर भारतीय खिलाड़ियों ने जीत हासिल की थी। लॉर्ड्स में खेले गए फाइनल मैच में इंग्लैंड की टीम ने 50 ओवर में 5 विकेट खोकर 325 रन बनाने में सफल रही थी।

जब मुशर्रफ ने सौरभ गांगुली से कहा था ऐसा करके हमें मुसीबत में मत डालिए

326 रनों का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी रही। कप्तान सौरव गांगुली और सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने पहले विकेट के लिए 106 रनों की पार्टनरशिप की। इसके बाद सहवाग 45 तो गांगुली 60 रन बनाकर आउट हो गए। इन दोनों के अलावा युवराज सिंह और मोहम्मद कैफ ने टीम को जीत की ओर बढ़ाने का काम किया। अंतिम ओवर में भारतीय टीम ने दो विकेट से इस मैच को अपने नाम कर लिया।

Posted on

फील्ड मार्शल जनरल करियप्पा को ‘भारत रत्न’ से नवाजा जाए : सेना प्रमुख बिपिन रावत

थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने आजाद भारत के पहले थलसेना अध्यक्ष फील्ड मार्शल जनरल के.एम. करियप्पा को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से सम्मनित करने की वकालत की है. जनरल रावत ने कहा, ‘फील्ड मार्शल करियप्पा को ‘भारत रत्न’ से सम्मानित करने की अनुशंसा का वक्त आ गया है. यदि दूसरों को यह मिल सकता है तो मुझे कोई वजह नजर नहीं आती कि उन्हें यह क्यों नहीं मिलना चाहिए. हम प्राथमिकता के आधार पर जल्द ही इस मामले को देखेंगे.’ थलसेना प्रमुख ने यह टिप्पणी उस वक्त की जब ‘दि फील्ड मार्शल करियप्पा जनरल थिमैया’ (एफएमसीजीटी) फोरम से जुड़े कर्नल के. सी. सुबैया ने ‘भारत रत्न’ के लिए करियप्पा के नाम की सिफारिश करने का अनुरोध किया. करियप्पा मूल रूप से कर्नाटक के कोडागू जिले के रहने वाले थे.

कोडागू (जिसे पहले कुर्ग कहा जाता था) को ‘योद्धाओं की भूमि’ करार देते हुए रावत ने कहा कि उन्हें फील्ड मार्शल करियप्पा और जनरल के. एस. थिमैया की स्मृति में बनाए गए स्मारकों के अनावरण का अवसर प्राप्त होने पर गर्व है. जनरल रावत ने कहा कि कोडागू के रहने वाले लोग थलसेना में बड़ी संख्या में अधिकारियों और जवानों के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं. उन्होंने उम्मीद जताई कि भविष्य में कई और सेना प्रमुखों का उदय इस महान भूमि से होगा. करियप्पा भारतीय थलसेना के पहले भारतीय कमांडर-इन-चीफ थे और उन्हें 28 अप्रैल, 1986 को फील्ड मार्शल की रैंक दी गई थी.

दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जापानियों के खिलाफ बर्मा के अभियान में अपनी भूमिका के लिए करियप्पा को प्रतिष्ठित ‘ऑर्डर ऑफ ब्रिटिश एम्पायर’ (ओबीई) से सम्मानित किया गया था. साल 1947 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में भी उन्होंने पश्चिमी मोर्चे पर भारतीय बलों की अगुवाई की थी. उन्हें भारतीय थलसेना के सर्वोच्च सम्मान फील्ड मार्शल के पांच सितारा रैंक से नवाजा गया था.

उनके अलावा, फील्ड मार्शल मानकेशॉ को ही अब तक इस सम्मान से नवाजा गया है. साल 1993 में 94 वर्ष की उम्र में जनरल करियप्पा का निधन हो गया था.