Posted on Leave a comment

X या SpaceX ! कौन है एलन मस्क के सबसे करीब? जानें एलन से जुड़ी हर बात

दुनिया का सबसे शक्तिशाली और दोबारा से इस्तेमाल किये जा सकने वाले राकेट फॉल्कन हैवी को बनाने वाले एलन मस्क के बारे में हम आपको आज वो बातें बताएंगे जो आपको जरूर जाननी चाहिए।

बचपन में ही मिला कई देशों का अनुभव

एलन रीव मस्क 28 जून 1971 को साउथ अफ्रीका के प्रीटोरिया में एक कनाडाई- अफ़्रीकी दंपत्ति के यहाँ जन्मे सुप्रसिद्ध अमेरिकी बिज़नस टायकून हैं। एलन की माँ एक मॉडल और डाइटीशियन रही थी जबकि एलन के पिता एक इलेक्ट्रोकैमिकल इंजीनयर, पायलट और सेलर रहे थे। 1980 में इनके माता-पिता का तलाक होने के बाद ये अपने पिता के साथ प्रीटोरिया में रहे थे। स्कूल में एलन के साथ पड़ने वाले बच्चे एलन की अक्सर पिटाई कर दिया करते थे। एक बार तो एलन को हॉस्पिटल भी जाना पड़ा जब इनको सहपाठियों ने सीढ़ियों से नीचे फेंक दिया गया और तब तक मारा गया जब तक ये होश खो बैठे। कंप्यूटिंग में रूचि इनको बचपन से थी। 10 वर्ष की छोटी उम्र में इन्होंने बेसिक लैंग्वेज खुद ही सीखनी शुरू की और 2 वर्षों की मेहनत से एक गेम “ब्लास्टर” बनाया जो की एक मैगजीन PC and Office Technology ने 500 डॉलर में खरीदा।

जून 1989 को अपने जन्मदिन से एक दिन पहले एलन अपनी माँ के पास कनाडा आ गए क्योंकि वो जानते थे कि अमेरिका में सपनों को जीने का सफर कनाडा चले जाने से और आसान हो जायेगा। इसके लिए इन्होंने अफ़्रीकी मिलिट्री की आवश्यक सर्विस छोड़ दी और कनाडा की क्वींस यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया। 2 साल बाद इन्होने यूनिवर्सिटी ऑफ़ पेंसिल्वेनिया में दाखिला लिया। यहाँ इन्होंने इकोनॉमिक्स और फिजिक्स दोनों की पढ़ाई की। इसके बाद इन्होंने कलिफ़ोर्निया की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में एनर्जी फिजिक्स में PH.D. करने के लिए दाखिला लिया लेकिन 2 दिन बाद ही पढ़ाई छोड़ के इंटरनेट बूम को देखकर व्यापार करने का फैसला किया।

इंटरनेट बूम मिलेनियम क्रैश और एलन के स्टार्टअप्स

फरवरी 1995 में अपने भाई किम्भल मस्क के साथ मिलकर एक मार्केटिंग और सिटी सर्च कंपनी Zip2 बनाई जो कि न्यूजपेपर्स के लिए सर्विस देती थे। Zip2 को Compaq ने 1999 में 307 मिलियन डॉलर कैश और 34 मिलियन डॉलर स्टॉक ऑप्शन में ख़रीदा।

मिलेनियम क्रैश के वक्त एक ओर जहां समस्त विश्व की अर्थव्यवस्था चरमरा गयी थी वहीं एलन के पास ऐसे वक्त में मिलियंस डॉलर्स का मुनाफा था।

इसके बाद एलन ने एक इंटरनेट पेमेंट ट्रांसफर सिस्टम X.com की शुरुआत मार्च 1999 में की जो कि बेहद सफल रही। कैलिफ़ोर्निया में X.com के पास ही पीटर थील की Confinity कंपनी का ऑफिस था और वो भी यही काम कर रहे थे। एक साल बाद दोनों की कंपनियों की जगह मिलकर PayPal Service की शुरुआत 2001 में हुई जिसका बाद में नाम PayPal कर दिया गया।

मई 2002 में एलन ने SpaceX की शुरुआत करी, जिसका उद्देश्य मार्स ओएसिस को मंगल गृह पर बनाना है और वहां पर मानव बस्तियों की शुरुआत करने के साथ साथ स्पेस लांच व्हीकल्स और रेवोक्यूशनरी राकेट बनाना है।ऑक्टूबर 2002 में PayPal को Ebay ने 1.5 बिलियन डॉलर स्टॉक ऑप्शन में ख़रीदा जिसमे एलन को 11.7% शेयर के लिए 165 मिलियन डॉलर मिले और उसका निवेश इन्होंने SpaceX में किया।

फ़रवरी 2004 में Tesla की सीरीज ए फंडिंग में एलन ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और जून 2003 में बनी कम्पनी के चेयरमैन बन गए। 2007 में Tesla के CEO और प्रोडक्ट आर्किटेक्ट बनने के बाद 2008 में कम्पनी ने अपनी पहली इलेक्ट्रिक स्पोर्ट्स कार Tesla Roadster लांच की जो कि बेहद सफल रही।

मुश्किलें आती रहीं और कदम बढ़ते रहे

एलन को SpaceX की सफलता रातों रात नहीं मिली। सारी पूंजी और निवेशकों का धन लगाकर जो पहले 3 रॉकेट लांच किये वो विफल रहे। हार न मानने का जज्बा ही था कि इन्होंने चौथी लांचिंग पर सफलता पा ही ली और नासा को SpaceX में 1.6 बिलियन डॉलर का निवेश करने को मना लिया।

दुनिया का सबसे शक्तिशाली रॉकेट फॉल्कन हेवी भी एलन की ही देन है और दुबारा रॉकेट के इस्तेमाल को सफल बनाने की तकनीक भी एलन ने ही खोजी है। जरूरत पड़ने पर Tesla और SpaceX की फैक्ट्री में स्लीपिंग बैग में सो जाना एलन को बेहद पसन्द है क्योंकि काम के वक्त वो सिर्फ काम पर ही ध्यान देना पसन्द करते हैं।

आज के वक्त में टेस्ला कार्स की टेक्नोलॉजी, फॉल्कन रॉकेट की टेक्नोलॉजी और हाइपरलूप की टेक्नोलॉजी और पेटेंट्स एलन के ही पास हैं।

एलन SpaceX, Tesla और Neuralink के CEO हैं। एलन Zip2, OpenAI, PayPal और Neuralink के Co-Founder हैं और X.com, The Boring Company और SpaceX के Founder हैं।

एलन एक बहुआयामी सोच वाले उत्कृष्ट बुद्धि से संपन्न वैज्ञानिक और इंटरप्रेन्योर हैं जिनकी विलक्षण प्रतिभा का लोहा समस्त विश्व मानता है। एलन 21वें सबसे शक्तिशाली व्यक्तित्व के स्वामी और 54वें सबसे धनी व्यक्ति हैं। साथ ही ताजा जानकारी के अनुसार गत वर्ष 2017 में एलन ने x.com को फिर से खरीदा है और जल्द ही एक और पारी खेलना वो जरूर पसंद करेंगे।

Posted on Leave a comment

अब हिंदी दिलाएगी आपको रोजगार, घर बैठे सिखाकर कमा सकते हैं अच्छी रकम

कई लोग जिन्हें अच्छी इंग्लिश नहीं आती है वो अपने आप को कमजोर और पिछड़ा हुआ महसूस करते हैं।

लेकिन अब आपको अपनी कमजोर इंग्लिश के लिए शरमाने और अफसोस करने की जरुरत नहीं है। अगर आपकी हिंदी मजबूत है तो आप हर घंटो 2000 रुपये तक कमा सकते हैं। जी हां, आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे आप ऑन लाइन हिंदी की ट्यूटोरियल क्लासेज देकर हर घंटे 2000 रुपये तक कमा सकते हैं।

Italki

दुनिया की दूसरी भाषाओं को सीखने के लिए यह वेबसाइट एक अच्छा प्लेटफॉर्म है। इस पर आप अपनी पसंद की भाषा को चुन सकते हैं। इसके बाद आपको उस भाषा से जुड़े टीचर्स की प्रोफाइल लिस्ट दिखेगी। आपको इन टीचर्स के लिए शुल्क देना होगा। ये शुल्क आपको घंटे के हिसाब से देना होगा। अगर आप ट्रायल क्लास करना चाहते हैं तो आपको 30 मिनट के हिसाब से भुगतान करना होगा। ऐसे में इस वेबसाइट पर आप पैसे भी कमा सकते हैं। यहां आपको वेबसाइट पर खुद को रजिस्टर करना होगा। इसके अलावा आपको बताना होगा कि आप हर घंटे की क्लास के लिए कितनी फीस लेंगे। इसके लिए आपको अपनी क्वालिफिकेशन बतानी होगा और डेमो देना होगा।

Verbalplanet

आप इस वेबसाइट पर जाकर दुनिया की किसी भी भाषा को सीख सकते हैं। वेबसाइट आपको Skype क्लासेज की सुविधा देता है। आपको हर क्लास के लिए शुल्क देना होता है। यहां भी आपको टीचर्स की प्रोफाइल लिस्ट दिखाई देती है, जिसे आप अपनी पसंद के हिसाब से चुन सकते हैं। हालांकि यहां आपको फ्री ट्रायल क्लासेज मिलती है। ऐसे में किसी भी भाषा को सीखने के बजाए आप यहां पैसे भी कमा सकते हैं। इस वेबसाइट पर आप अपनी प्रोफाइल बनाकर पैसे कमा सकते हैं। वेबसाइट पर पढ़ाने के लिए आपको एप्लीकेशन देना होता जिसके आधार पर वेबसाइट आपके क्लास की क्वालिटी तय करती है। ध्यान रहे, जितनी अच्छी क्वालिटी होगी उतनी ही स्टूडेंट्स आएंगे और आप उतना ही पैसा कमा सकते हैं।

Verbling

ऊपर दिए वेबसाइट्स की तरह आप यहां भी अपनी पसंद की भाषा को वीडियो क्लास के जरिए सीख सकते हैं। इसके अलावा आप इन पर प्रोफाइल बना कर पैसे कमा सकते हैं। इसके लिए आपको खुद को रजिस्टर करना होगा। इस वेबसाइट पर आप 500 रुपये से लेकर 2000 रुपये तक हर घंटे कमा सकते हैं।

Posted on Leave a comment

Bollywood: ये हैं 2018 के Top 10 Opening Weekends, जानिए कहां है ‘धड़क’

‘धड़क’ से बॉलीवुड विश्लेषकों को काफ़ी उम्मीदें थीं और ओपनिंग वीकेंड में फ़िल्म उस पर खरी भी उतरी है। फ़िल्म ने ओपनिंग वीकेंड में ₹33.67 करोड़ का शानदार कलेक्शन किया है। ‘धड़क’ इस कलेक्शन के साथ साल 2018 के ”Top 10 Opening Weekend Collections” की लिस्ट में एंटर हो गयी है। इसके साथ जॉन अब्राहम की फ़िल्म ‘परमाणु द स्टोरी ऑफ़ पोखरण’ लिस्ट से बाहर हो गयी है, जिसने ₹20.78 करोड़ का कलेक्शन ओपनिंग वीकेंड में किया था। ‘धड़क’ की रिलीज़ के बाद इस साल के टॉप 10 ओपनिंग वीकेंड कलेक्शंस की लिस्ट इस प्रकार है-

10. दसवें स्थान पर इस साल की सरप्राइज़ हिट ‘सोनू के टीटू की स्वीटी’ है। इस फ़िल्म को लव रंजन ने डायरेक्ट किया है, जो इससे पहले प्यार का पंचनामा सीरीज़ बनाते रहे हैं। लव की इसी विश्वसनीयता ने सोनू के टीटू की स्वीटी को शानदार ओपनिंग वीकेंड दिया। फ़िल्म ने ₹26.57 करोड़ पहले तीन दिन में जमा किये। ₹100 करोड़ से ज़्यादा जमा करके फ़िल्म सुपरहिट घोषित की गयी।

9. नौवें स्थान पर आलिया भट्ट की ‘राज़ी’ है, जिसने ओपनिंग वीकेंड में ₹32.94 करोड़ जमा किये। मेघना गुलज़ार निर्देशित ‘राज़ी’ इस साल की शानदार फ़िल्मों में शामिल है। हरिंदर सिक्का के नॉवल कॉलिंग सहमत पर बनी फ़िल्म में आलिया ने कश्मीरी लड़की का रोल निभाया, जो जासूसी के लिए पाकिस्तान जाती है।

8. आठवें स्थान पर आ गयी है धड़क, जिसने ₹33.67 करोड़ रिलीज़ के पहले तीन दिनों में जमा किये हैं। शशांक खेतान निर्देशित फ़िल्म को करण जौहर ने प्रोड्यूस किया है। जाह्नवी-ईशान की धड़क ने आलिया भट्ट की राज़ी को ओपनिंग वीकेंड में तो नीचे धकेला ही है, साथ ही ओपनिंग डे कलेक्शंस की लिस्ट में भी फ़िल्म ने आलिया की पहली फ़िल्म स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर को पीछे छोड़ा है। 2012 में आयी स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर ने ₹7.48 करोड़ का कलेक्शन पहले दिन किया था, जबक धड़क ने 8.71 करोड़ ओपनिंग डे पर बटोरे हैं। स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर के करण जौहर निर्माता-निर्देशक थे, वहीं धड़क के वो निर्माता हैं।

7. सातवें स्थान पर आ गयी है ‘वीरे दी वेडिंग’, जिसने ओपनिंग वीकेंड में ₹36.52 करोड़ जमा किये। एक जून को रिलीज़ हुई फ़िल्म को शशांक घोष ने डायरेक्ट किया है। चार दोस्तों की इस कहानी में करीना कपूर, सोनम कपूर, स्वरा भास्कर, शिखा तलसानिया और सुमित व्यास ने मुख्य भूमिकाएं निभायी हैं।

6. ओपनिंग वीकेंड कलेक्शन की लिस्ट में छठे नंबर पर ‘पैडमैन’ है, जिसने ₹40.05 करोड़का कलेक्शन किया था। इस बायोपिक फ़िल्म में अक्षय कुमार ने अरुणाचलम मुरुगनाथम का किरदार निभाया, जबकि राधिका आप्टे उनकी पत्नी के किरदार में थीं। सोनम कपूर ने भी फ़िल्म में एक अहम किरदार प्ले किया था। अक्षय और निर्देशक आर बाल्की का ये पहला एसोसिशन था। ‘पैडमैन’ हिट रही।

5. पांचवें स्थान पर है राजकुमार गुप्ता निर्देशित‘रेड’, जिसने ओपनिंग वीकेंड में ₹41.01 करोड़ जमा किये। इस फ़िल्म में अजय देवगन ने इनकम टैक्स अधिकारी का रोल निभाया। इलियाना डिक्रूज़ ने उनकी पत्नी का किरदार प्ले किया। 100 करोड़ से अधिक कमाकर ये फ़िल्म भी हिट रही।

4. ओपनिंग वीकेंड की लिस्ट में चौथे स्थान पर टाइगर श्रॉफ़ की ‘बाग़ी2’ है, जिसे अहमद ख़ान ने डायरेक्ट किया। इस एक्शन-रोमांटिक फ़िल्म में दिशा पाटनी पहली बार टाइगर के साथ आयीं। एक्शन को लेकर टाइगर की इमेज के चलते फ़िल्म ने ₹73.10 करोड़ का शानदार ओपनिंग वीकेंड किया।

3. तीसरे स्थान पर आ गयी है रेस 3, जिसने ओपनिंग वीकेंड में ₹106.47 करोड़ जमा किया है। रेमो डिसूज़ा निर्देशित फ़िल्म में सलमान के अलावा बॉबी देओल, जैकलीन फ़र्नांडिस, अनिल कपूर, साक़िब सलीम और डेज़ी शाह ने मुख्य किरदार निभाये हैं।

2. लिस्ट में ‘पद्मावत’ दूसरे स्थान पर आ गयी है। संजय लीला भंसाली की इस मैग्नम ओपस ने ₹114 करोड़ का कलेक्शन किया, जिसमें ₹19 करोड़ पेड प्रीव्यूज़ का भी शामिल है। पद्मावत काफ़ी समय तक विवादों में भी रही थी, जिसकी वजह से इसे 2017 से हटाकर 2018 में रिलीज़ किया गया। फ़िल्म में दीपिका पादुकोण ने चित्तौड़ की रानी पद्मावती, शाहिद कपूर ने राजा महारावल रतन सिंह और रणवीर सिंह ने दिल्ली सल्तनत के सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी का किरदार निभाया था। पद्मावत 2018 की पहली ₹300 करोड़ की फ़िल्म भी है। हालांकि बजट अधिक होने की वजह से फ़िल्म बहुत फ़ायदे में नहीं माना गया है।

1. ₹120.06 करोड़ के साथ Top 10 Opening Weekend Collections की लिस्ट में टॉप पर आ गयी है संजू। राजकुमार हिरानी निर्देशित संजय दत्त की इस बायोपिक में रणबीर कपूर, परेश रावल, सोनम कपूर, विक्की कौशल और मनीषा कोईराला ने मुख्य किरदार निभाये।

Posted on Leave a comment

बेहद आसानी से घर पर डोनट बनाएं

कितने लोगों के लिए : 4

सामग्री :

मैदा 1 कप, यीस्ट 1 चम्मच, चीनी 1/3 कप (पिसी हुई आटे में डालने के लिए), नमक 2 चुटकी, बेकिंग पाउडर आधा चम्मच, बटर 1 बड़ा चम्मच, तलने के लिए रिफाइंड ऑयल, आधा कप पिसी चीनी ऊपर से लगाने के लिए

विधि :

-यीस्ट को गुनगुने पानी में भिगा दें।

-मैदे को छान ले उसमे बटर, चीनी, नमक, बेकिंग पाउडर, और यीस्ट मिला के मुलायम आटा गूंध ले।

-फिर उस आटे की एक बड़ी सी मोटी रोटी बेल ले, और उसे डोनट कटर या फिर किसी ग्लास से -गोल काट ले बीच से भी काट के डोनट का शेप बना दे।

-इसी तरह से सारे डोनट तैयार कर ले।

-फिर उसे ढककर चार घंटे के लिए रख दे या फिर जब तक डोनट फूल के दोगने मोटे न हो जाये तब तक उसे रखे।

-एक कड़ाही में तेल गरम करे और डोनट को दोनों तरफ से सुनहरा होने तक तल ले।

फिर ऊपर से पिसी हुई चीनी चारों तरफ से लगा दे।

-आप चाहे तो चाकलेट और क्रीम भी डोनट पर लगा सकते हैं।

Posted on Leave a comment

धड़क ने मचाया तहलका, तोड़ दिया Box Office रिकॉर्ड

शशांक खेतान निर्देशित और करण जौहर निर्मित धड़क इस साल की बहुप्रीतिक्षित फ़िल्मों में शामिल थी, क्योंकि श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी इस फ़िल्म से अपना बॉलीवुड करियर शुरू कर रही थीं। सिने प्रेमियों के साथ इंडस्ट्री वाले भी जाह्नवी की अदाकारी पर्दे पर देखने के लिए बेताब थे।

20 जुलाई को आख़िरकार वो लम्हा आ गया, जब जाह्नवी हिंदी सिनेमा के उस रुपहले पर्दे पर हंसती, खिलखिलाती और रोते हुए दिखीं, जिस पर्दे पर उनकी मॉम ने कई सालों तक राज किया।

जाह्नवी के डेब्यू को लेकर इसी उत्सुकता के बीच फ़िल्म को ‘सैराट’ से तुलना के लिए भी अभिशप्त होना पड़ा, क्योंकि ‘सैराट’ मराठी ही नहीं भारतीय सिनेमा की कल्ट-क्लासिक बन गयी है। मगर, इन तमाम अवरोधों के बावजूद धड़क ने बेहद शानदार ओपनिंग ली है। ट्रेड सूत्रों के अनुसार, ‘धड़क’ ने पहले दिन ₹8.71 करोड़ का बिज़नेस किया है। मेकर्स का दावा है कि न्यू कमर्स को लेकर बनायी गयी फ़िल्मों में यह सबसे बड़ी ओपनिंग है।

‘धड़क’ में शाहिद कपूर के भाई ईशान खट्टर ने जाह्नवी के साथ मुख्य भूमिका निभायी है। हालांकि ईशान की यह दूसरी फ़िल्म है। बड़े पर्दे पर वो ईरानी निर्देशक माजिद मजीदी की हिंदी-इंग्लिश फ़िल्म ‘बियॉन्ड द क्लाउड्स’ से एक्टिंग की पारी शुरू कर चुके हैं। हां, बॉलीवुड में ‘धड़क’ उनकी पहली फ़िल्म कही जाएगी। दोनों ही नवोदित कलाकारों की समीक्षकों ने काफ़ी तारीफ़ की है।

‘धड़क’ को देशभर में 2235 स्क्रींस पर रिलीज़ किया गया है, जबकि ओवरसीज़ में फ़िल्म 556 स्क्रींस पर उतारी गयी है।

  • अगर पिछले कुछ सालों में डेब्यू करने वाले बॉलीवुड किड्स की बात करें तो 2017 में अनिल कपूर के बेटे हर्षवर्धन कपूर ने राकेश ओमप्रकाश मेहरा की फ़िल्म ‘मिर्ज़्या’ से बॉलीवुड करियर शुरू किया, जिसने सिर्फ़ ₹2.20 करोड़ का कलेक्शन पहले दिन किया था। ‘मिर्ज़्या’ 11 करोड़ का लाइफ़ टाइम कलेक्शन करके फ्लॉप रही।
  • 2015 में ‘हीरो’ से सूरज पंचोली और अथिया शेट्टी ने बॉलीवुड में करियर शुरू किया था। सूरज आदित्य पंचोली और ज़रीना वहाब के बेटे हैं तो अथिया सुनील शेट्टी की बेटी हैं। इस फ़िल्म को ₹6.85 करोड़ की ओपनिंग मिली थी, जबकि इसे सलमान ख़ान ने प्रोड्यूस किया था और फ़िल्म के प्रमोशन में उन्होंने अहम भूमिका निभायी थी। ‘हीरो’ ने ₹33.50 करोड़ का लाइफ़ टाइम कलेक्शन किया था।
  • 2014 में जैकी श्रॉफ के बेटे टाइगर श्रॉफ का डेब्यू काफ़ी चर्चित रहा था, जिन्होंने ‘हीरोपंती’ से बॉलीवुड में फ़िल्मी करियर शुूरू किया। साबिर ख़ान निर्देशित ‘हीरोपंती’ ने ₹6.50 करोड़ की ओपनिंग ली थी, जबकि ₹55 करोड़ का लाइफ़ टाइम कलेक्शन करके फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर हिट रही।
  • 2012 में आयी ‘स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर’ से वरुण धवन आलिया भट्ट ने बॉलीवुड में डेब्यू किया था। करण जौहर निर्देशित इस फ़िल्म ने ₹7.48 करोड़ की ओपनिंग ली थी, जबकि ₹70 करोड़ का लाइफ़ टाइम कलेक्शन करके यह फ़िल्म हिट रही थी।

‘धड़क’ ने दूसरे दिन यानि शनिवार को घरेलू बॉक्स ऑफ़िस पर 11 करोड़ 4 लाख रूपये का कलेक्शन किया है । फिल्म को पहले दिन 8 करोड़ 71 लाख रूपये की कमाई हुई थी।

फिल्म ने करीब 27 प्रतिशत की ग्रोथ के साथ दो दिन में 19 करोड़ 75 लाख रूपये का बिज़नेस कर लिया है। । हालांकि ‘धड़क’ को सनडे में ‘संजू’ से कड़ी चुनौती मिलेगी, जिसका चौथा हफ़्ता चल रहा है और फ़िल्म अभी भी दर्शकों को खींच रही है।

Posted on Leave a comment

मानसून के बदलते मौसम में स्वस्थ रहने के लिए खान-पान में क्या करें शामिल

जीवनशैली और नजरिए में थोड़ा सा फर्क लाकर हम अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर बना सकते हैं…

बरसात में इनका सेवन जरूरी

तुलसी: तुलसी दल एक उत्कृष्ट रसायन है। यह गर्म और त्रिदोषशामक है। रक्तविकार, ज्वर, वायु, खांसी एवं कृमि निवारक है तथा हृदय के लिए हितकारी है। सफेद तुलसी के सेवन से त्वचा, मांस और हड्डियों के रोग दूर होते हैं। काली तुलसी के सेवन से सफेद दाग दूर होते हैं। तुलसी की जड़ और पत्ते ज्वर में उपयोगी हैं। तुलसी की चाय पीने से ज्वर, आलस्य, सुस्ती तथा वातपित्त विकार दूर होते हैं, भूख बढ़ती है।

शहद: शहद का सेवन हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। कारण, शहद में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं और यह एंटीबायोटिक गुणों से भरपूर होता है। शक्कर की तुलना में शहद में बीस प्रतिशत कम कैलोरी होती है। इसलिए शहद के सेवन से शरीर को भरपूर ऊर्जा और शक्कर की तुलना में कम कैलोरीज मिलती हैं। शहद में अन्य पोषक तत्वों के अलावा शरीर के लिए जरूरी विटामिन्स बी-1, बी-2, बी-5, बी-6 और विटामिन सी पाए जाते हैं। ये विटामिन्स हमारे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं।

हर्बल टी: इसमें सिट्रॉल नामक एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो कई बैक्टीरियल और वायरल संक्रमणों से बचाता है। इससे पेट साफ रहता है और रक्त संचरण में सुधार होता है। इसका सेवन एग्जि़मा और त्वचा संबंधी संक्रमणों से भी बचाता है। आप चाहे तो इसमें अदरक, काली मिर्च और शहद का भी प्रयोग कर सकते हैं।

सूखे मेवे: सूखे मेवे में जिंक और विटामिन ई भरपूर मात्रा में होता है। जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में बहुत सहायता करते हैं। इसलिए अपनी डाइट में हर रोज किसी भी रूप में एक मुट्ठी मेवों को शामिल करें। शरीर भीतर से मजबूत होगा और बदलते मौसम का शरीर पर असर नहीं पड़ेगा।

लहसुन: खाली पेट कच्‍चे लहसुन से ब्‍लड प्रेशर नियंत्रित रहता है एवं भुना हुआ लहसुन खाने से शरीर की आंतरिक सफाई होती है। लहसुन से हमारा वजन भी कंट्रोल में रहता है। यह एक प्राकृतिक एंटी-बायोटिक का काम करता है। लहसुन आपके शरीर की रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ायेगा और टॉक्सिन्स को शरीर से बाहर निकाल फेकेगा।

करेला: करेले में कार्बोहाइड्रेट, फास्फोरस, प्रोटीन, कैल्शियम और विटामिन पाया जाता है। करेला खाने से खून साफ होता है और ये हीमोग्लोबिन बढ़ाने का अच्छा स्त्रोत है। लीवर संबंधी रोगों के लिये करेला बहुत लाभकारी है। श्वांस और दमे के रोगियों को करेले की सादी सब्जी का सेवन करना चाहिये। करेला हमारे पाचन तंत्र को दुरुस्त रखता है।

नीबू: नीबू में ए, बी और सी विटामिनों की भरपूर मात्रा है। इसमें पोटेशियम, लोहा, सोडियम, मैगनेशियम, तांबा, फास्फोरस और क्लोरीन तत्त्व तो हैं ही, प्रोटीन, वसा और कार्बोज भी पर्याप्त मात्रा में हैं। विटामिन सी से भरपूर नीबू शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ ही एंटी आक्सीडेंट का काम भी करता है और कोलेस्ट्राल भी कम करता है।

Posted on Leave a comment

कमाई के रिकॉर्ड में संजू ने बाहुबली को पछाड़ा। सुल्तान का वीकेंड रिकॉर्ड अभी भी कायम।

राजकुमार हिरानी निर्देशित संजू 29 जून को सिनेमाघरों में पहुंची और जैसी कि उम्मीद की जा रही थी, फ़िल्म ने ओपनिंग वीकेंड में 120.06 करोड़ का कलेक्शन किया है, जो इस साल का सबसे बड़ा ओपनिंग वीकंड बन गया है।

Team, Sanju, Actor, Director, Real, Hero, Sanjay, Dutt

Team Sanju

संजू की यह बॉक्स ऑफ़िस उपलब्धि इसलिए भी काबिले-तारीफ़ है, क्योंकि संजू ने यह करिश्मा नॉन हॉलीडे वीकेंड में किया है। ट्रेड जानकारों के मुताबिक़, देशभर में फ़िल्म को लेकर ज़बर्दस्त उत्साह देखा जा रहा है। संजू ने पहले दिन से ही ज़ोरदार कमाई के संकेत दे दिये थे, जब इसने 34.75 करोड़ की ओपनिंग ली। रिलीज़ के दूसरे दिन यानि पहले शनिवार को संजू की कमाई 38.60 करोड़ पर पहुंच गयी और पहले रविवार को फ़िल्म ने जैसे तबाही मचा दी। ओपनिंग वीकेंड के आख़िरी दिन संजू को 46.71 करोड़ का कलेक्शन मिला है। संजू ने सिंगल डे पर सबसे ज़्यादा कमाई का रिकॉर्ड भी बना लिया है। इससे पहले यह रिकॉर्ड 2017 में आयी बाहुबली2 के नाम था, जिसने रिलीज़ के तीसरे दिन रविवार को 46.50 करोड़ जमा किये थे। हालांकि ओपनिंग वीकेंड की कमाई के मामले में संजू बाहुबली2 से पीछे है, जिसके हिंदी वर्ज़न ने 128 करोड़ का कलेक्शन ओपनिंग वीकेंड में किया था। बता दें कि बाहुबली 2 भी नॉन हॉलीडे वीकेंड में रिलीज़ हुई थी।
वहीं, 2016 में आयी सलमान ख़ान की सुल्तान हिंदी सिनेमा की सबसे बड़ा ओपनिंग वीकेंड लेने वाली फ़िल्म है, जिसने 180.36 करोड़ का कलेक्शन किया था। मगर ईद के मौक़े पर रिलीज़ हुई सुल्तान को 5 दिन लंबे हॉलीडे वीकेंड का फायदा मिला था।

साल 2018 के पहले हाफ़ में संजू की रिलीज़ के बाद टॉप 10 ओपनिंग वीकेंड की लिस्ट इस प्रकार है-

10. दसवें स्थान पर जॉन अब्राहम की फ़िल्म ‘परमाणु द स्टोरी ऑफ़ पोखरण’ है, जिसने 20.78 करोड़ का कलेक्शन ओपनिंग वीकेंड में किया। इस फ़िल्म को अभिषेक शर्मा ने निर्देशित किया था। भारत के दूसरे परमाणु परीक्षण की घटना पर आधारित फ़िल्म में जॉन ने सुरक्षा अधिकारी का किरदार निभाया। डायना पेंटी फीमेल लीड रोल में थीं।

9. नौवें स्थान पर इस साल की सरप्राइज़ हिट ‘सोनू के टीटू की स्वीटी’ है। इस फ़िल्म को लव रंजन ने डायरेक्ट किया है, जो इससे पहले प्यार का पंचनामा सीरीज़ बनाते रहे हैं। लव की इसी विश्वसनीयता ने सोनू के टीटू की स्वीटी को शानदार ओपनिंग वीकेंड दिया। फ़िल्म ने 26.57 करोड़ पहले तीन दिन में जमा किये। 100 करोड़ से ज़्यादा जमा करके फ़िल्म सुपरहिट घोषित की गयी।

8. आठवें स्थान पर आलिया भट्ट की ‘राज़ी’ है, जिसने ओपनिंग वीकेंड में 32.94 करोड़ जमा किये। मेघना गुलज़ार निर्देशित ‘राज़ी’ इस साल की शानदार फ़िल्मों में शामिल है। हरिंदर सिक्का के नॉवल कॉलिंग सहमत पर बनी फ़िल्म में आलिया ने कश्मीरी लड़की का रोल निभाया, जो जासूसी के लिए पाकिस्तान जाती है।

7. सातवें स्थान पर आ गयी है ‘वीरे दी वेडिंग’, जिसने ओपनिंग वीकेंड में 36.52 करोड़ जमा किये हैं। इस लिस्ट में आख़िरी एंट्री ‘वीरे दी वेडिंग’ की हुई है, जिसने ओपनिंग वीकेंड में 36.52 करोड़ रुपए का कलेक्शन किया था। एक जून को रिलीज़ हुई फ़िल्म को शशांक घोष ने डायरेक्ट किया है। चार दोस्तों की इस कहानी में करीना कपूर, सोनम कपूर, स्वरा भास्कर, शिखा तलसानिया और सुमित व्यास ने मुख्य भूमिकाएं निभायी हैं।

6. ओपनिंग वीकेंड कलेक्शन की लिस्ट में छठे नंबर पर ‘पैडमैन’ है, जिसने 40.05 करोड़ का कलेक्शन किया था। इस बायोपिक फ़िल्म में अक्षय कुमार ने अरुणाचलम मुरुगनाथम का किरदार निभाया, जबकि राधिका आप्टे उनकी पत्नी के किरदार में थीं। सोनम कपूर ने भी फ़िल्म में एक अहम किरदार प्ले किया था। अक्षय और निर्देशक आर बाल्की का ये पहला एसोसिशन था। ‘पैडमैन’ हिट रही।

5. पांचवें स्थान पर है राजकुमार गुप्ता निर्देशित ‘रेड’, जिसने ओपनिंग वीकेंड में 41.01 करोड़ जमा किये। इस फ़िल्म में अजय देवगन ने इनकम टैक्स अधिकारी का रोल निभाया। इलियाना डिक्रूज़ ने उनकी पत्नी का किरदार प्ले किया। 100 करोड़ से अधिक कमाकर ये फ़िल्म भी हिट रही।

4. ओपनिंग वीकेंड की लिस्ट में चौथे स्थान पर टाइगर श्रॉफ़ की ‘बाग़ी2’ है, जिसे अहमद ख़ान ने डायरेक्ट किया। इस एक्शन-रोमांटिक फ़िल्म में दिशा पाटनी पहली बार टाइगर के साथ आयीं। एक्शन को लेकर टाइगर की इमेज के चलते फ़िल्म ने 73.10 करोड़ का शानदार ओपनिंग वीकेंड किया।

3. तीसरे स्थान पर आ गयी है रेस 3, जिसने ओपनिंग वीकेंड में 106.47 करोड़ जमा किया है। रेमो डिसूज़ा निर्देशित फ़िल्म में सलमान के अलावा बॉबी देओल, जैकलीन फ़र्नांडिस, अनिल कपूर, साक़िब सलीम और डेज़ी शाह ने मुख्य किरदार निभाये हैं।

2. लिस्ट में ‘पद्मावत’ दूसरे स्थान पर आ गयी है। संजय लीला भंसाली की इस मैग्नम ओपस ने 114 करोड़ का कलेक्शन किया, जिसमें 19 करोड़ पेड प्रीव्यूज़ का भी शामिल है। पद्मावत काफ़ी समय तक विवादों में भी रही थी, जिसकी वजह से इसे 2017 से हटाकर 2018 में रिलीज़ किया गया। फ़िल्म में दीपिका पादुकोण ने चित्तौड़ की रानी पद्मावती, शाहिद कपूर ने राजा महारावल रतन सिंह और रणवीर सिंह ने दिल्ली सल्तनत के सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी का किरदार निभाया था। पद्मावत 2018 की पहली 300 करोड़ की फ़िल्म भी है। हालांकि बजट अधिक होने की वजह से फ़िल्म बहुत फ़ायदे में नहीं माना गया है।

1. 120.06 करोड़ के साथ Top 10 Opening Weekend Collections की लिस्ट में टॉप पर आ गयी है संजू। राजकुमार हिरानी निर्देशित संजय दत्त की इस बायोपिक में रणबीर कपूर, परेश रावल, सोनम कपूर, विक्की कौशल और मनीषा कोईराला ने मुख्य किरदार निभाये।

Posted on Leave a comment

दुर्लभ बीमारी का इलाज करवा रहे अभिनेता इरफान खान ने यह भावपूर्ण पत्र और कुछ खूबसूरत तस्वीरें साझा कीं। जरूर देखें!

जिंदगी कई बार ऐसे मोड़ पर ले आती है जब अनिश्चित ही निश्चित जान पड़ता है. मिजाज से योद्धा इरफ़ान की मानसिक अवस्था और अहसास को हम उनकी लिखी इन पंक्तियों में महसूस कर सकते हैं. हम उसे यहां अविकल रूप में प्रस्तुत कर रहे हैं…

कुछ महीने पहले अचानक मुझे पता चला था कि मैं न्यूरोएन्डोक्राइन कैंसर से ग्रस्त हूं, मैंने पहली बार यह शब्द सुना था. खोजने पर मैंने पाया कि मेरे इस बीमारी पर बहुत ज्यादा शोध नहीं हुए हैं, क्योंकि यह एक दुर्लभ शारीरिक अवस्था का नाम है और इस वजह से इसके उपचार की अनिश्चितता ज्यादा है.

अभी तक अपने सफ़र में मैं तेज़-मंद गति से चलता चला जा रहा था. मेरे साथ मेरी योजनायें, आकांक्षाएं, सपने और मंजिलें थीं. मैं इनमें लीन बढ़ा जा रहा था कि अचानक टीसी ने पीठ पर टैप किया, “आप का स्टेशन आ रहा है, प्लीज उतर जाएं.’

मेरी समझ में नहीं आया, “ना ना मेरा स्टेशन अभी नहीं आया है.’

जवाब मिला, ‘अगले किसी भी स्टाप पर आपको उतरना होगा, आपका गन्तव्य आ गया.

अचानक एहसास होता है कि आप किसी ढक्कन (कॉर्क) की तरह अनजान सागर में, अप्रत्याशित लहरों पर बह रहे हैं… लहरों को क़ाबू कर लेने की ग़लतफ़हमी लिए.

इस हड़बोंग, सहम और डर में घबरा कर मैं अपने बेटे से कहता हूं, “आज की इस हालत में मैं केवल इतना ही चाहता हूं… मैं इस मानसिक स्थिति को हड़बड़ाहट, डर, बदहवासी की हालत में नहीं जीना चाहता. मुझे किसी भी सूरत में मेरे पैर चाहिए, जिन पर खड़ा होकर अपनी हालत को तटस्थ हो कर जी पाऊं. मैं खड़ा होना चाहता हूं.”

ऐसी मेरी मंशा थी, मेरा इरादा था…

कुछ हफ़्तों के बाद मैं एक अस्पताल में भर्ती हो गया. बेइंतहा दर्द हो रहा है. यह तो मालूम था कि दर्द होगा, लेकिन ऐसा दर्द… अब दर्द की तीव्रता समझ में आ रही है. कुछ भी काम नहीं कर रहा है. ना कोई सांत्वना, ना कोई दिलासा. पूरी कायनात उस दर्द के पल में सिमट आई थी. दर्द खुदा से भी बड़ा और विशाल महसूस हुआ.

मैं जिस अस्पताल में भर्ती हूं, उसमें बालकनी भी है. बाहर का नज़ारा दिखता है. कोमा वार्ड ठीक मेरे ऊपर है. सड़क की एक तरफ मेरा अस्पताल है और दूसरी तरफ लॉर्ड्स स्टेडियम है… वहां विवियन रिचर्ड्स का मुस्कुराता पोस्टर है. मेरे बचपन के ख्वाबों का मक्का, उसे देखने पर पहली नज़र में मुझे कोई एहसास ही नहीं हुआ. मानो वह दुनिया कभी मेरी थी ही नहीं.

मैं दर्द की गिरफ्त में हूं.

और फिर एक दिन यह अहसास हुआ… जैसे मैं किसी ऐसी चीज का हिस्सा नहीं हूं, जो निश्चित होने का दावा करे. ना अस्पताल और ना स्टेडियम. मेरे अंदर जो शेष था, वह वास्तव में कायनात की असीम शक्ति और बुद्धि का प्रभाव था. मेरे अस्पताल का वहां होना था. मन ने कहा. केवल अनिश्चितता ही निश्चित है.

इस अहसास ने मुझे समर्पण और भरोसे के लिए तैयार किया. अब चाहे जो भी नतीजा हो, यह चाहे जहां ले जाये, आज से आठ महीनों के बाद, या आज से चार महीनों के बाद या फिर दो साल. चिंता दरकिनार हुई और फिर विलीन होने लगी और फिर मेरे दिमाग से जीने-मरने का हिसाब निकल गया.

पहली बार मुझे शब्द ‘आज़ादी‘ का एहसास हुआ, सही अर्थ में! एक उपलब्धि का अहसास.

इस कायनात की करनी में मेरा विश्वास ही पूर्ण सत्य बन गया. उसके बाद लगा कि वह विश्वास मेरी एक एक कोशिका में पैठ गया. वक़्त ही बताएगा कि वह ठहरता है या नहीं. फ़िलहाल मैं यही महसूस कर रहा हूं.

इस सफ़र में सारी दुनिया के लोग… सभी मेरे सेहतमंद होने की दुआ कर रहे हैं, प्रार्थना कर रहे हैं, मैं जिन्हें जानता हूं और जिन्हें नहीं जानता, वे सभी अलग-अलग जगहों और टाइम जोन से मेरे लिए प्रार्थना कर रहे हैं. मुझे लगता है कि उनकी प्रार्थनाएं मिल कर एक हो गयी हैं, एक बड़ी शक्ति. तीव्र जीवन धारा बन कर मेरे स्पाइन से मुझमें प्रवेश कर सिर के ऊपर कपाल से अंकुरित हो रही हैं.

अंकुरित होकर यह कभी कली, कभी पत्ती, कभी टहनी और कभी शाखा बन जाती है. मैं खुश होकर इन्हें देखता हूं. लोगों की सामूहिक प्रार्थना से उपजी हर टहनी, हर पत्ती, हर फूल मुझे एक नई दुनिया दिखाती हैं. अहसास होता है कि ज़रूरी नहीं कि लहरों पर ढक्कन (कॉर्क) का नियंत्रण हो.

जैसे आप क़ुदरत के पालने में झूल रहे हों!

इरफान ने इस पत्र के साथ कुछ तस्वीरें भी साझा की हैं:

(1)

(2)

(3)

Posted on Leave a comment

अक्षय कुमार दिखेंगे इस महान राजपूत योद्धा के किरदार में, केसरी के बाद फिरसे निभाएंगे महान युद्धवीर की भूमिका

1897 के बैटल ऑफ़ सारागढ़ी पर आधारित ‘केसरी’ के बाद अक्षय कुमार एक और फ़िल्म में इतिहास का सफ़र कर रहे हैं। चाणक्य धारावाहिक और ‘पिंजर’ जैसी कालजयी फ़िल्म बनाने वाले डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी अब पृथ्वीराज चौहान पर फ़िल्म बना रहे हैं, जिसे यशराज फ़िल्म्स जैसा बड़ा प्रोडक्शन हाउस प्रोड्यूस कर रहा है। इस फ़िल्म में अक्षय पृथ्वीराज चौहान का किरदार ही निभा रहे हैं। फ़िल्म की बाक़ी स्टार कास्ट अभी तय की जा रही है। शूटिंग अगले साल शुरू होने की संभावना है।

अजय देवगन सरदार भगत सिंह बनकर पर्दे पर आ चुके हैं, अब वो मराठा योद्धा तानाजी मालसुरे के अंदाज़ में बड़े पर्दे पर उतरेंगे। इस फ़िल्म का शीर्षक ‘तानाजी- द अनसंग वॉरियर’ है, जिसकी पहली झलक अजय ने ट्विटर के ज़रिए शेयर की थी। तानाजी सत्रहवीं सदी में शिवाजी के जनरल थे।

हड़प्पा संस्कृति पर आधारित फ़िल्म ‘मोहनजो-दाड़ो’ बनाने के बाद निर्देशक आशुतोष गोवारिकर एक बार फिर इतिहास की तरफ़ देख रहे हैं। इस बार उन्होंने पानीपत की तीसरी लड़ाई चुनी है, जिस पर वो ‘पानीपत’ शीर्षक से फ़िल्म बना रहे हैं। फ़िल्म में अर्जुन कपूर, संजय दत्त और कृति सनोन भी मुख्य भूमिकाओं में हैं। अर्जुन सदाशिव राव भाऊ के रोल में हैं, तो कृति उनकी पत्नी पार्वतीबाई का रोल निभा रही हैं। संजय दत्त अफ़गान शासक अहमद शाह अब्दाली के किरदार में हैं।

अंग्रेजों से लोहा लेने वाली झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की बायोपिक ‘मणिकर्णिका- द क्वीन ऑफ़ झांसी’ में कंगना रनौत झांसी की रानी का किरदार निभाने वाली हैं। यह फ़िल्म कृष के निर्देशन में बन रही है, जिन्होंने अक्षय कुमार की फ़िल्म ‘गब्बर इज़ बैक’ से बॉलीवुड में डायरेक्टोरियल पारी शुरू की थी। बंगाली कलाकार जीशु सेनगुप्ता राजा गंगाधर राव के किरदार में हैं, जबकि अतुल कुलकर्णी तात्या टोपे का रोल निभा रहे हैं। इस फ़िल्म से टीवी एक्ट्रेस अंकिता लोखंडे बॉलीवुड डेब्यू कर रही हैं, जो झलकारीबाई के किरदार में हैं।

Posted on Leave a comment

Box Office: ‘परमाणु’ ने एक हफ़्ते में कमाये इतने करोड़

अभिषेक शर्मा के निर्देशन में बनी परमाणु द स्टोरी और पोखरण ने इस गुरूवार यानि अपनी रिलीज़ के सातवें दिन तीन करोड़ 24 लाख रूपये का कलेक्शन किया। फिल्म को अब तक 35 करोड़ 41 लाख रूपये की कमाई हो चुकी है, जिसकी उम्मीद पहले ही लगाई गई थी। फिल्म ने चार करोड़ 82 लाख से ओपनिंग ली थी। पहले वीकेंड में परमाणु द स्टोरी ऑफ पोखरण 20 करोड़ 78 लाख रूपये जोड़ पाई थी। इस फिल्म को माउथ पब्लिसिटी के जरिये काफ़ी फ़ायदा हुआ है । दर्शकों में भारत के परमाणु इतिहास को जानने के लिए लोगों में काफी उत्सुकता बढ़ी है। ये फिल्म देश भर में 1935 और विदेश में 270 स्क्रीन्स में रिलीज़ हुई है। जहां तक जॉन अब्राहम की बात है तो इस फिल्म के जरिये 2016 में आई रॉकी हैंडसम के पहले वीकेंड कलेक्शन 16 करोड़ 12 लाख रूपये और उसी साल आई फ़ोर्स 2 के 20 करोड़ पांच लाख रूपये के कलेक्शन को पीछे छोड़ दिया।

फिल्म परमाणु- द स्टोरी ऑफ पोखरण भारत की उस ऐतिहासिक घटना पर आधारित है, जिसके चलते देश परमाणु शक्ति संपन्न देशों की कतार में मजबूती से आ खड़ा हुआ था। कहानी भारत के दूसरे परमाणु परीक्षण यानि पोखरण 2 से जुड़ी है। भारत ने 1998 में 11 से 13 मई के बीच राजस्थान के पोखरण टेस्ट रेंज में ऑपरेशन शक्ति के नाम से दूसरा परमाणु परीक्षण किया था, जिसमें पांच परमाणु बम का टेस्ट एक्सप्लोजन किया गया। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम (पूर्व राष्ट्रपति) इस प्रोजेक्ट के हेड थे और तब के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने परीक्षण के मसौदे पर साइन किया था। पोखरण में ही भारत ने 1974 में पहला परमाणु परीक्षण भी किया था। परमाणु अपनी रिलीज़ से पहले विवादों में भी रही है। इस फिल्म में जॉन के साथ डायना पेंटी और बमन ईरानी ने भी अहम् रोल किया है।

इस बीच आलिया भट्ट फिल्म राज़ी ने तीसरे हफ़्ते 18 करोड़ 21 लाख रूपये का कलेक्शन किया है और अब फिल्म का नेट इंडिया कलेक्शन 109 करोड़ 84 लाख रूपये हो गया है।