Posted on

दिल्ली ने दिखाई दिलेरी, चेन्नई को 34 रन से हरा दिया

IPL के 52वें मैच में दिल्ली के गेंदबाजों ने चेन्नई के बल्लेबाजों की एक नहीं चलने दी और इस मुकाबले को दिल्ली ने 34 रन से जीत लिया। इस मैच को जीतने के बाद दिल्ली के 8 अंक जरूर हो गए हैं लेकिन वो प्लेऑफ की होड़ से पहले ही बाहर हो चुकी है। दिल्ली के ऑलराउंडर हर्षल पटेल को उनके ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया।

इस मैच में चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने टॉस जीता और फील्डिंग करने का निर्णय लिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली ने चेन्नई के खिलाफ 20 ओवर में 5 विकेट पर 162 रन बनाए। चेन्नई को इस मैच को जीतने के लिए 163 रन बनाने थे लेकिन सीएसके 20 ओवर में 6 विकेट पर 128 रन तक ही पहुंच सकी और उसे ये मैच गवांना पड़ा। इस मैच को हारने के बाद चेन्नई के 16 अंक हैं और वो दूसरे नंबर पर है।

रायडू का अर्धशतक टीम के काम नहीं आया

दूसरी पारी में चेन्नई का पहला विकेट शेन वॉटसनके तौर पर गिरा। शेन को अमित मिश्रा ने ट्रेंट बोल्ट के हाथों कैच आउट किया। उन्होंने 23 गेंदों पर 14 रन बनाए। अंबाती रायडू ने 29 गेंदों पर 50 रन की शानदार पारी खेली। रायडू का कैच हर्षल पटेल की गेंद पर ग्लेन मैक्सवेल ने पकड़ा। सुरेश रैना ने 18 गेंदों पर 15 रन बनाए। रैना को लमिचाने ने विजय शंकर के हाथों कैच आउट करा दिया। सैम बिलिंग्स एक रन बनाकर अमित मिश्रा की गेंद पर कैच आउट हुए। बिलिंग्स का कैच अभिषेक शर्मा ने पकड़ा। कप्तान महेंद्र सिंह धौनी भी रन के लिए जूझते नजर आए। उन्होंने 23 गेंदों पर 17 रन बनाए और बोल्ट की गेंद पर श्रेयस अय्यर के हाथों लपके गए। रवींद्र जडेजा ने 18 गेंदों पर 27 रन की नाबाद पारी खेली लेकिन टीम को जीत नहीं दिला पाए। ब्रावो एक रन बनाकर बोल्ट की गेंद पर आउट हुए वहीं दीपक चाहर एक रन बनाकर नाबाद रहे।

दिल्ली की तरफ से ट्रेंट बोल्ट व अमित मिश्रा ने दो जबकि संदीप लमिचाने और हर्षल पटेल ने एक-एक विकेट लिए।

घरेलू मैदान पर लड़खड़ाए दिल्ली के बल्लेबाज

पहली पारी में चेन्नई को पहली सफलता दीपक चाहर ने दिलाई। दीपक ने ओपनर बल्लेबाज पृथ्वी शॉ को शर्दुल ठाकुर के हाथों कैच करवा दिया। पृथ्वी ने 17 गेंदों पर 17 रन बनाए। इस मैच में कप्तान श्रेयस अय्यर जूझते नजर आए। उन्होंने 22 गेंदों पर 19 रन बनाए। अय्यर को लुंगी नजीडी ने क्लीन बोल्ड कर दिया। रिषभ पंत को भी लुंगी ने ब्रावो के हाथों कैच करवा दिया। पंत ने 26 गेंदों पर 38 रन बनाए। रवींद्र जडेजा ने ग्लेन मैक्सवेल को अपनी गेंद पर क्लीन बोल्ड कर पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। मैक्सवेल ने 7 गेंदों का सामना किया और सिर्फ 5 रन ही बना पाए। अभिषेक शर्मा को शर्दुल ठाकुर ने अपना शिकार बनाया और 2 रन पर उनका कैच हरभजन सिंह ने पकड़ा। मैच के आखिर में हर्षल पटेल के 16 गेंदों पर नाबाद 36 रन और विजय शंकर के 28 गेंदों पर नाबाद 36 रन की पारी के दम पर दिल्ली ने 162 रन का स्कोर खड़ा किया।

चेन्नई की तरफ से लुंगी नजीडी ने दो जबकि दीपक चाहर, रवींद्र जडेजा व शर्दुल ठाकुर ने एक-एक विकेट लिए।

Posted on

हैदराबाद ने दिल्ली को व चेन्नई ने बैंगलोर को दी शिकस्त। फोटो विश्लेषण

IPL के 35वें मैच में बैंगलोर की टीम ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 127 रन बनाए हैं। चेन्नई को इस मैच को जीतने के लिए 128 रन का लक्ष्य मिला जिसे सीएसके ने 18 ओवर में छह विकेट शेष रहते हासिल कर लिया।

टीम के कप्तान धौनी ने 23 गेंदों पर नाबाद 31 रन की पारी खेलकर टीम को जीत दिला दी।

अंबाती रायडू ने दूसरी पारी में बैंगलोर के खिलाफ 25 गेंदों पर 32 रन की पारी खेली।

सुरेश रैना ने 21 गेंदों पर 25 रन बनाए। वो उमेश यादव की गेंद पर टिम साउथी के हाथों लपके गए।

मैच की दूसरी पारी में चेन्नई के ओपनर बल्लेबाज शेन वॉटसन ने 14 गेंदों पर 11 रन बनाए। वो उमेश यादव की गेंद पर बोल्ड हो गए।

टिम साउथी ने बल्ले से बचाई बैंगलोर की लाज

एक समय पर बैंगलोर ने 89 रन पर ही 8 विकेट गंवा दिए थे। RCB का स्कोर 100 रन के पार होता भी नहीं दिख रहा था। टिम साउथी ने 26 गेंदों पर 36 रन की अहम पारी खेलकर बैंगलोर को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचा दिया।

जडेजा ने तोड़ी बैंगलोर की कमर

जडेजा ने इस मैच में गेंदबाज़ी में अपने चार ओवर पूरे करते हुए तीन विकेट झटके। जडेजा ने विराट कोहली (08) को बोल्ड किया। इसके बाद मनदीप सिंह को (07) को डेविड विली के हाथों कैच आउट करवाया। 53 रन बनाकर खेल रहे पार्थिव पटेल को जडेजा ने कॉट एंड बोल्ड कर आउट किया।

पार्थिव पटेल ने ठोका अर्धशतक

बैंगलोर के लिए मौजूदा आइपीएल का पहला मैच खेल रहे पार्थिव पटेल ने शानदार अर्धशतक जमाते हुए 53 रन बनाए। इस पारी में पटेल के बल्ले से पांच चौके और 2 छक्के निकले।

सस्ते में लौटे दिग्गज

धुरंधर बल्लेबाज़ी से सजी बैंगलोर की टीम का कोई भी दिग्गज बल्लेबाज़ बड़ा स्कोर नहीं बना सका। मैक्कुलम 05 रन, विराट कोहली 08 रन और डिविलियर्स 01 रन बनाकर आउट हो गए।

IPL का 36वां मैच दिल्ली और हैदराबाद के बीच खेला गया। इस मैच में पहले खेलते हुए दिल्ली ने 20 ओवर में 5 विकेट पर 163 रन बनाए। हैदराबाद को जीत के लिए 164 रन का लक्ष्य मिला था जिसे इस टीम ने 19.5 ओवर में 3 विकेट पर हासिल कर लिया और 7 विकेट से मैच जीत लिया।

हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन ने 30 गेंदों पर 32 रन की नाबाद पारी खेली और टीम को जीत दिला दी।

यूसुफ पठान भी 12 गेंदों पर 27 रन बनाकर नाबाद रहे और टीम को जीत दिलाने के बाद ही पवेलियन लौटे।

दूसरी पारी में हैदराबाद के ओपनर बल्लेबाज एलेक्स हेल्स ने 31 गेंदों पर 45 रन बनाए। उन्हें अमित मिश्रा ने क्लीन बोल्ड कर दिया।

शिखर धवन ने भी 30 गेंदों पर 33 रन की पारी खेली। उनका विकेट भी अमित मिश्रा ने ही लिया।

दिल्ली की तरफ से पृथ्वी शॉ का बल्ला फिर गरजा और उन्होंने 36 गेंदों पर 65 रन की तूफानी पारी खेली।

कप्तान श्रेयस अय्यर अपने अर्धशतक से चूक गए लेकिन उन्होंने 44 रन की पारी खेली।

मैक्सवेल को ओपनर के तौर पर आजमाया गया लेकिन वो 2 रन बनाकर रन आउट हो गए।

रिषभ पंत का बल्ला इस मैच में नहीं चला और वो 18 रन बनाकर पवेलियन लौट गए।

विजय शंकर ने दिल्ली के लिए 13 गेंदों पर 23 रन की नाबाद पारी खेली और टीम के स्कोर को 163 तक पहुंचाया।

Posted on

विजय रूपाणी चुने गए गुजरात के मुख्‍यमंत्री, नितिन पटेल होंगे उप मुख्‍यमंत्री

गुजरात में विजय रूपाणी को राज्‍य का अगला मुख्‍यमंत्री चुन लिया गया है. साथ ही नितिन पटेल को उप मुख्‍यमंत्री चुना गया है. पार्टी विधायकों की बैठक के बाद यह फैसला लिया गया. केंद्रीय पर्यवेक्षक अरुण जेटली और सरोज पांडे की मौजूदगी में यह फैसला हुआ. इससे पहले 5 नेता मुख्‍यमंत्री पद की रेस में थे जिनमें विजय रूपाणी के अलावा नितिन पटेल, पुरुषोत्तम रूपाला, मनसुख मांडविया और वजूभाई वाला शामिल थे. और अंतत: रूपाणी के नाम पर मुहर लग गई. इससे पहले ये कयास लगाए जा रहे थे कि बीजेपी की सीटें कम होने से रूपाणी की कुर्सी जा सकती है. सूत्रों के हवाले से ख़बर है कि सोमवार को नए मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण होगा.

कौन हैं विजय रूपाणी
विजय भाई रूपाणी का जन्म बर्मा में हुआ था. वह 61 साल के हैं. 1960 में बर्मा में राजनीतिक उथल-पुथल के चलते उनका परिवार राजकोट आ गया था.  उन्होंने सौराष्ट्र विश्वविद्यालय से बीए की पढ़ाई की. एबीवीपी और RSS से जुड़े रहे. इमरजेंसी के दौरान वह 11 महीने जेल भी गए. 1996-97 के बीच वह राजकोट शहर के मेयर भी रहे. मुख्यमंत्री बनने से पहले वह गुजरात प्रदेश के बीजेपी अध्यक्ष भी रहे. आनंदीबेन पटेल मुख्यमंत्री थीं तब वह परिवहन और वाटर सप्लाई के मंत्री थे. 7 अगस्त 2016 से वह गुजरात के मुख्यमंत्री हैं. राजकोट पश्चिम से वह चुनाव लड़ते हैं और जीतते आए हैं. जैन समाज से आते हैं, उनके दो बेटे और एक बेटी है.

Posted on

अहमद पटेल के ‘करीबियों’ पर ईडी के छापे, 5500 करोड़ के घोटाले का आरोप

दिल्ली में संदेसारा ग्रुप के ठिकानों पर 5500 करोड़ के घोटाले के आरोप में प्रवर्तन निदेशालय ने छापा मारा है. इस मामले में बड़ी बात ये है कि छापेमारी कुछ ऐसे लोगों के ठिकानों पर भी की गई है जो काम तो अहमद पटेल के यहां करते थे लेकिन उन्हें वेतन संदेसारा ग्रुप की ओर से दिया जाता था, अब प्रवर्तन निदेशालय इसी की जांच कर रहा है.

इस पूरे मामले पर अहमद पटेल ने कहा, ”जिन तीन लोगों के यहां छापे मारे गए (घनश्यान पांडे, संजीव महाजन और लक्ष्मीचंद शर्मा) उनमें संजीव महाजन उनके घर आते हैं.” अहमद पटेल ने इसके अलावा किसी भी प्रतिक्रिया ये इनकार कर दिया.

इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय गगन धवन नाम के शख्स को गिरफ्तार भी कर चुका है. प्रवर्तन निदेशालय पीएमएलए के तहत मामला दर्ज है. बैंक से 5500 करोड़ रूपये का लोन दिलाने और इस पैसे को ठिकाने लगाने में अहमद पटेल की भूमिका की जांच हो रही है. दिल्ली में कुल सात ठिकानों पर छापेमारी चल रही है, सूत्रों के मुताबिक छापेमारी में प्रवर्तन निदेशालय के हाथ बेहद अहम दस्तावेज लगे हैं.

कौन हैं अहमद पटेल?
अहमद पटेल गुजरात से राज्यसभा सदस्य हैं और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव हैं. कांग्रेस पार्टी में अहमद पटेल की अहम भूमिका है. गुजरात के भरूच के रहने वाले हैं. कहा जाता है सोनिया गांधी के हर निर्णय के पीछे अहमद पटेल का ही दिमाग होता है.