Posted on

अक्षय कुमार दिखेंगे इस महान राजपूत योद्धा के किरदार में, केसरी के बाद फिरसे निभाएंगे महान युद्धवीर की भूमिका

1897 के बैटल ऑफ़ सारागढ़ी पर आधारित ‘केसरी’ के बाद अक्षय कुमार एक और फ़िल्म में इतिहास का सफ़र कर रहे हैं। चाणक्य धारावाहिक और ‘पिंजर’ जैसी कालजयी फ़िल्म बनाने वाले डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी अब पृथ्वीराज चौहान पर फ़िल्म बना रहे हैं, जिसे यशराज फ़िल्म्स जैसा बड़ा प्रोडक्शन हाउस प्रोड्यूस कर रहा है। इस फ़िल्म में अक्षय पृथ्वीराज चौहान का किरदार ही निभा रहे हैं। फ़िल्म की बाक़ी स्टार कास्ट अभी तय की जा रही है। शूटिंग अगले साल शुरू होने की संभावना है।

अजय देवगन सरदार भगत सिंह बनकर पर्दे पर आ चुके हैं, अब वो मराठा योद्धा तानाजी मालसुरे के अंदाज़ में बड़े पर्दे पर उतरेंगे। इस फ़िल्म का शीर्षक ‘तानाजी- द अनसंग वॉरियर’ है, जिसकी पहली झलक अजय ने ट्विटर के ज़रिए शेयर की थी। तानाजी सत्रहवीं सदी में शिवाजी के जनरल थे।

हड़प्पा संस्कृति पर आधारित फ़िल्म ‘मोहनजो-दाड़ो’ बनाने के बाद निर्देशक आशुतोष गोवारिकर एक बार फिर इतिहास की तरफ़ देख रहे हैं। इस बार उन्होंने पानीपत की तीसरी लड़ाई चुनी है, जिस पर वो ‘पानीपत’ शीर्षक से फ़िल्म बना रहे हैं। फ़िल्म में अर्जुन कपूर, संजय दत्त और कृति सनोन भी मुख्य भूमिकाओं में हैं। अर्जुन सदाशिव राव भाऊ के रोल में हैं, तो कृति उनकी पत्नी पार्वतीबाई का रोल निभा रही हैं। संजय दत्त अफ़गान शासक अहमद शाह अब्दाली के किरदार में हैं।

अंग्रेजों से लोहा लेने वाली झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की बायोपिक ‘मणिकर्णिका- द क्वीन ऑफ़ झांसी’ में कंगना रनौत झांसी की रानी का किरदार निभाने वाली हैं। यह फ़िल्म कृष के निर्देशन में बन रही है, जिन्होंने अक्षय कुमार की फ़िल्म ‘गब्बर इज़ बैक’ से बॉलीवुड में डायरेक्टोरियल पारी शुरू की थी। बंगाली कलाकार जीशु सेनगुप्ता राजा गंगाधर राव के किरदार में हैं, जबकि अतुल कुलकर्णी तात्या टोपे का रोल निभा रहे हैं। इस फ़िल्म से टीवी एक्ट्रेस अंकिता लोखंडे बॉलीवुड डेब्यू कर रही हैं, जो झलकारीबाई के किरदार में हैं।

Posted on

हैदराबाद ने दिल्ली को व चेन्नई ने बैंगलोर को दी शिकस्त। फोटो विश्लेषण

IPL के 35वें मैच में बैंगलोर की टीम ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 127 रन बनाए हैं। चेन्नई को इस मैच को जीतने के लिए 128 रन का लक्ष्य मिला जिसे सीएसके ने 18 ओवर में छह विकेट शेष रहते हासिल कर लिया।

टीम के कप्तान धौनी ने 23 गेंदों पर नाबाद 31 रन की पारी खेलकर टीम को जीत दिला दी।

अंबाती रायडू ने दूसरी पारी में बैंगलोर के खिलाफ 25 गेंदों पर 32 रन की पारी खेली।

सुरेश रैना ने 21 गेंदों पर 25 रन बनाए। वो उमेश यादव की गेंद पर टिम साउथी के हाथों लपके गए।

मैच की दूसरी पारी में चेन्नई के ओपनर बल्लेबाज शेन वॉटसन ने 14 गेंदों पर 11 रन बनाए। वो उमेश यादव की गेंद पर बोल्ड हो गए।

टिम साउथी ने बल्ले से बचाई बैंगलोर की लाज

एक समय पर बैंगलोर ने 89 रन पर ही 8 विकेट गंवा दिए थे। RCB का स्कोर 100 रन के पार होता भी नहीं दिख रहा था। टिम साउथी ने 26 गेंदों पर 36 रन की अहम पारी खेलकर बैंगलोर को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचा दिया।

जडेजा ने तोड़ी बैंगलोर की कमर

जडेजा ने इस मैच में गेंदबाज़ी में अपने चार ओवर पूरे करते हुए तीन विकेट झटके। जडेजा ने विराट कोहली (08) को बोल्ड किया। इसके बाद मनदीप सिंह को (07) को डेविड विली के हाथों कैच आउट करवाया। 53 रन बनाकर खेल रहे पार्थिव पटेल को जडेजा ने कॉट एंड बोल्ड कर आउट किया।

पार्थिव पटेल ने ठोका अर्धशतक

बैंगलोर के लिए मौजूदा आइपीएल का पहला मैच खेल रहे पार्थिव पटेल ने शानदार अर्धशतक जमाते हुए 53 रन बनाए। इस पारी में पटेल के बल्ले से पांच चौके और 2 छक्के निकले।

सस्ते में लौटे दिग्गज

धुरंधर बल्लेबाज़ी से सजी बैंगलोर की टीम का कोई भी दिग्गज बल्लेबाज़ बड़ा स्कोर नहीं बना सका। मैक्कुलम 05 रन, विराट कोहली 08 रन और डिविलियर्स 01 रन बनाकर आउट हो गए।

IPL का 36वां मैच दिल्ली और हैदराबाद के बीच खेला गया। इस मैच में पहले खेलते हुए दिल्ली ने 20 ओवर में 5 विकेट पर 163 रन बनाए। हैदराबाद को जीत के लिए 164 रन का लक्ष्य मिला था जिसे इस टीम ने 19.5 ओवर में 3 विकेट पर हासिल कर लिया और 7 विकेट से मैच जीत लिया।

हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन ने 30 गेंदों पर 32 रन की नाबाद पारी खेली और टीम को जीत दिला दी।

यूसुफ पठान भी 12 गेंदों पर 27 रन बनाकर नाबाद रहे और टीम को जीत दिलाने के बाद ही पवेलियन लौटे।

दूसरी पारी में हैदराबाद के ओपनर बल्लेबाज एलेक्स हेल्स ने 31 गेंदों पर 45 रन बनाए। उन्हें अमित मिश्रा ने क्लीन बोल्ड कर दिया।

शिखर धवन ने भी 30 गेंदों पर 33 रन की पारी खेली। उनका विकेट भी अमित मिश्रा ने ही लिया।

दिल्ली की तरफ से पृथ्वी शॉ का बल्ला फिर गरजा और उन्होंने 36 गेंदों पर 65 रन की तूफानी पारी खेली।

कप्तान श्रेयस अय्यर अपने अर्धशतक से चूक गए लेकिन उन्होंने 44 रन की पारी खेली।

मैक्सवेल को ओपनर के तौर पर आजमाया गया लेकिन वो 2 रन बनाकर रन आउट हो गए।

रिषभ पंत का बल्ला इस मैच में नहीं चला और वो 18 रन बनाकर पवेलियन लौट गए।

विजय शंकर ने दिल्ली के लिए 13 गेंदों पर 23 रन की नाबाद पारी खेली और टीम के स्कोर को 163 तक पहुंचाया।

Posted on

अंडर 19 वर्ल्डकप विजेता बना भारत: टीम के जूनियर ”ब्रैडमैन” का जलवा, बने ‘प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट’

अंडर 19 वर्ल्डकप के फाइनल में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराया. मनजोत कालरा ने बेहतरीन पारी खेलते हुए शतक जड़ा. पृथ्वी शॉ की कप्तान में टीम इंडिया ने टूर्नामेंट के पहले मैच में भी ऑस्ट्रेलिया को ही हराया था. मनजोत को मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया. वहीं टूर्नामेंट में धमाकेदार प्रदर्शन करने वाले शुभमन गिल को ‘प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट’ चुना गया. भारत ने ‘मैन ऑफ द मैच’ सलामी बल्लेबाज मंजोत कालरा की शतकीय पारी की बदौलत शनिवार को यहां बे ओवल मैदान पर आईसीसी अंडर-19 विश्व कप के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को आठ विकेट से हराकर चौथी बार खिताब अपने नाम किया.

ऑस्ट्रेलिया द्वारा दिए गए 217 रनों के लक्ष्य को भारत ने मनजोत कालरा के नाबाद 101 रनों की बदौलत 38.5 ओवरों में आठ विकेट रहते ही हासिल कर लिया. कालरा के अलावा भारत के लिए शुभमन गिल ने 31 और विकेटकीपर हार्विक देसाई ने 47 रन बनाए.

‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुने जाने के बाद शुभमन ने कहा, ‘मैं अपनी टीम पर गर्व करता हूं. हम भाग्यशाली हैं कि हमें राहुल (द्रविड़) सर कोच के रूप में मिले. उन्होंने मुझे सिर्फ खेल पर ध्यान देने की सलाह दी. यह मेरे लिए रोमांचित कर देने वाला समय है. मुझे उम्मीद है कि आईपीएल में भी अच्छा प्रदर्शन करूंगा.’

भारत ने टूर्नामेंट का पहला मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था, जिसमें शुभमन ने 63 रन की बेहतरीन पारी खेली थी. वहीं इसके बाद जिम्बावे के खिलाफ 59 गेंदों का सामना करते हुए 13 चौकों और 1 छक्के की मदद से 90 रन की नाबाद पारी खेली. उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ 86 रन की पारी खेली. शुभमन ने पाकिस्तान के खिलाफ 102 रन की नाबाद पारी खेली.

बता दें कि शुभमन ने इस टूर्नामेंट के 6 मुकाबलों में 372 रन बनाए. इस दौरान उन्होंने 1 शतक और 3 अर्धशतक जड़े. शुभमन टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में दूसरे स्थान पर हैं. उनसे पहले वेस्टइंडीज के खिलाड़ी ए एंथाजे हैं. एंथाजे ने 6 मुकाबलों में 418 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 2 शतक और 2 अर्धशतक जड़े हैं. शुभमन ने 112.38 के एवरेज से रन बनाए. उन्होंने वर्ल्डकप 2018 में 40 चौके और 2 छक्के जड़े हैं.

ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया. ईशान पोरेल ने उसे 32 के कुल स्कोर पर पहला झटका दिया. उन्होंने मैक्स ब्रायंट (14) को अभिषेक शर्मा के हाथों कैच कराया. ऑस्ट्रेलिया को दूसरा झटका भी ईशान ने दिया. उन्होंने दूसरे सलामी बल्लेबाज जैक एडवर्ड्स (28) को पवेलियन भेज दिया. 59 के कुल स्कोर पर कप्तान जेसन संघा (13) को कमलेश नागरकोटी ने पवेलियन भेजा.

यहां ऑस्ट्रेलिया मुश्किल में थी. मेर्लो और उप्पल ने उसे संभाला और चौथे विकेट के लिए 75 रनों की साझेदारी की. उप्पल को अनुकूल रॉय ने अपनी ही गेंद पर कैच आउट कर उनकी पारी का अंत किया. मेर्लो को फिर नाथन मैक्स्वीनी का साथ मिला और दोनों ने टीम को 183 के स्कोर पर पहुंचा दिया. लेकिन शिवा सिंह ने अपनी ही गेंद पर मैक्स्वीनी का कैच पकड़ इस साझेदारी को तोड़ा. यहां से ऑस्ट्रेलिया ने लगातार विकेट खो दिए और जल्दी पवेलियन में लौट गई. मेर्लो 212 के कुल स्कोर पर सातवें विकेट के रूप में पवेलियन लौटे. उन्होंने अपनी पारी में 102 गेंदों का सामना करते हुए छह चौके लगाए.

भारत ने चौथी बार अंडर-19 विश्व कप का खिताब अपने नाम किया है. इससे पहले वो, 2000 में मोहम्मद कैफ की कप्तानी में, 2008 में विराट कोहली की कप्तानी में और 2012 में उन्मुक्त चंद की कप्तानी में विश्व विजेता बन चुका है. वहीं भारत ने लगातार दूसरी बार फाइनल में आस्ट्रेलिया को मात दी. 2012 में भी भारत ने ऑस्ट्रेलिया को मात देते हुए खिताबी जीत हासिल की थी.