Posted on

एबी डिविलियर्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास, इनके नाम दर्ज़ है ये विश्व रिकॉर्ड

डिविलियर्स ने द. अफ्रीका के लिए 114 टेस्ट 228 वनडे और 78 टी 20 मैच खेले हैं। 114 टेस्ट मैचों में 8765 रन बनाए हैं जिसमें 22 शतक और 46 अर्धशतक बनाए हैं। वे एक बेहतरीन बल्लेबाज के साथ ही एक शानदार विकेट कीपर भी रह चुके हैं।

एक वीडियो संदेश में कहा कि वे दक्षिण अफ्रीका और दुनियाभर में अपने फैंस के शुक्रगुजार हैं। एबी ने कहा अब समय आ गया है जब दूसरे युवा खिलाड़ियों को मौका दिया जाए। ईमानदारी से कहूं तो मैं अब थक गया हूं। ये एक मुश्किल निर्णय है और मैने ये फैसला काफी सोच समझकर लिया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि  मैं अपने संन्यास का एलान बेहतरीन क्रिकेट खेलते हुए करना चाहता था। हालांकि वे घरेलू क्रिकेट के लिए उपलब्ध रहेंगे।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज़ शतक लगाने का रिकॉर्ड भी ए बी डिविलियर्स के नाम ही है। ये कमाल उन्होंने 18 जनवरी 2015 को वेस्टइंडीज के खिलाफ महज 31 गेंदों में शतक लगाकर किया था। डीविलियर्स ने कोरी एंडरसन के 36 गेंदों में शतक के रिकॉर्ड को ध्वस्त कर ये रिकॉर्ड बनाया था। उन्होंने 16 छक्कों और 9 चौके की मदद से वनडे का यह कीर्तिमान बनाया। उन्होंने इस मैच में कुल 149 रन बनाए थे।

एबी डीविलियर्स के नाम 31 गेंदों में सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड तो है ही इसके अलावा सबसे तेज 150 रनों का रिकॉर्ड भी डीविलियर्स के ही नाम पर है। साल 2015 विश्व कप में डीविलियर्स ने सिडनी के मैदान पर 64 गेंदों में 150 रन ठोककर विश्व रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था। उन्होंने इस दौरान नाबाद 66 गेंदों में 162 रन बनाए थे जिसमें 17 चौके और 8 छक्के शामिल थे।

Posted on

हैदराबाद का बेहतरीन प्रदर्शन जारी, दिल्ली को मिली 9 विकेट से करारी हार

IPL के 42वें मैच में दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और पहले बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली ने निर्धारित 20 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 187 रन का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया। हैदराबाद ने 188  रन के लक्ष्य को एक विकेट के नुकसान पर 18.5 ओवर में हासिल कर लिया इस मैच में सनराइजर्स हैदराबाद की शुरुआत अच्छी नहीं रही उसके सलामी बल्लेबाज शिखर धवन और एलेक्स हेल्स ने पहले विकेट के लिये मात्र 15 रन ही जोड़े थे कि एलेक्स हेल्स 14 रन बनाकर आउट हो गये। इसके बाद दिल्ली के गेंदबाज पूरे मैच में शिखर धवन और कप्तान केन विलियम्सन के आगे बेबस नजर आए।

शिखर धवन और केन विलियम्स ने लगाए अर्धशतक

88  रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी हैदराबाद की टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही उसका पहला विकेट मात्र 15 रन पर गिर गया लेकिन इसके बाद बल्लेबाजी करने आए कप्तान केन विलियम्सन ने शिखर धवन के साथ मिलकर दिल्ली के गेंदबाजों की बखिया उधेड़ दी। शिखर धवन ने जहां अपनी 50 गेंदों की पारी में  92 रन बनाए उन्होंने इस दौरान 9 चौके और  4  छक्के लगाए। तो वहीं कप्तान केन विलियम्सन ने अपनी 53 गेंदों की पारी में  83 रन बनाए इस दौरान उन्होंने 8 चौके और  2  छक्के लगाए। दोनों ही बल्लेबाज अपनी टीम को विजय दिलाकर नाबाद लौटे।

ऋषभ पंत ने लगाया नाबाद शतक

दिल्ली की ओर से पृथ्वी शॉ और जेसन रॉय पारी की शुरुआत के लिये बल्लेबाजी करने पहले विकेट के लिये मात्र 21 रन जोड़ने के बाद दोनों ही बल्लेबाज शाकिब का शिकार बन गये। इसके बाद दिल्ली के स्टार बल्लेबाज ऋषभ पंत ने कप्तान अय्यर के साथ मौर्चा संभाला एक रन लेने के चक्कर में अय्यर भी रन आउट हो गये अब पंत ने हर्षल पटेल के साथ मिलकर दिल्ली की पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने 55 रन की साझेदारी कर दिल्ली को शुरुआती झटकों से उबारा अब पंत खुल चुके थे और अपना अर्धशतक भी पूरा कर चुके थे। इसके बाद पंत ने ग्लेन मैक्सवेल के साथ 31 गेंदों पर 63 रनों की तेज साझेदारी की। जिसमें मैक्सवेल ने मात्र 9 रन का योगदान दिया। पंत ने आज एंकर की भूमिका निभाते हुए नाबाद शतक जमाया। उन्होंने कुल 63 गेंदों का सामना किया और इस दौरान 15 चौके और  7 छक्के लगाकर नाबाद 128 रन बनाए।

Posted on

सनराइज़र्स हैदराबाद ने बैंगलोर को रोमांचक मुकाबले में 5 रन से हराया। फोटो विश्लेषण!

IPL के 39वें मैच में हैदराबाद की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 146 रन पर ऑल आउट हो गई। बैंगलोर को जीत के लिए 147 रन बनाने थे लेकिन ये टीम 20 ओवर में 6 विकेट पर 141 रन ही बना पाई और 5 रन से ये मैच गवां दिया।

दूसरी पारी में बैंगलोर के कप्तान विराट कोहलीने 30 गेंदों पर 39 रन बनाए और कैच आउट हो गए।

ग्रैंडहोम ने 29 गेंदों पर 33 रन की पारी खेलकर अपनी टीम को जीत दिलाने की कोशिश की लेकिन वो सफल नहीं हो पाए।

पार्थिव पटेल ने 13 गेंदों पर 20 रन बनाए और शाकिब की गेंद पर LBW आउट हुए।

एबी डीविलियर्स हैदराबाद के खिलाफ पूरी तरह से फ्लॉप रहे और राशिद खान ने 5 के स्कोर पर उन्हें क्लीन बोल्ड कर दिया।

पहली पारी में बैंगलोर के खिलाफ हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन ने 39 गेंदों पर 56 रन की जबरदस्त पारी खेली।

हैदराबाद के ओपनर बल्लेबाज एलेक्स हेल्स को साउथी ने 5 रन पर क्लीन बोल्ड कर दिया।

शिखर धवन का बल्ला बैंगलोर के खिलाफ खामोश रहा और वो 13 रन पर आउट हो गए।

मनीष पांडे 5 रन बनाकर युजवेंद्र चहल का शिकार बने और कैच आउट हुए।

यूसुफ पठान 12 रन बनाकर मो. सिराज की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए।

बैंगलोर की तरफ से उमेश यादव और टिम साउथी ने 3-3 विकेट लिए।

Posted on

धोनी ने मारा IPL 11 का दूसरा सबसे लंबा छक्‍का, पहले नंबर पर गेल नहीं ये बल्‍लेबाज है

धोनी ने लगाया 108 मी का छक्‍का
आईपीएल 2018 का आधा सफर खत्‍म हो गया। इस दौरान कई रिकॉर्ड बने और टूटे। बल्‍लेबाजों ने भी इस सीजन जमकर रन बनाए। इनके बल्‍ले से एक रिकॉर्ड सबसे लंबे सिक्‍स का भी है। सीएसके के कप्‍तान एमएस धोनी भी सबसे लंबा छक्‍का मारने वालों की फेरहिस्‍त में शामिल हैं। सोमवार को दिल्‍ली के खिलाफ माही ने 108 मीटर लंबा सिक्‍स लगाया। यह मौजूदा सीजन का दूसरा सबसे बड़ा छक्‍का है।

धोनी ने मारा ipl 11 का दूसरा सबसे लंबा छक्‍का,पहले नंबर पर गेल नहीं ये बल्‍लेबाज है

डिविलियर्स हैं सबसे ऊपर
आईपीएल के मौजूदा सीजन में छक्‍कों की बरसात करने वालों में एबी डिविलियर्स का भी नाम है। डिविलियर्स ने 111 मीटर लंबा सिक्‍स लगाया है। सबसे हैरान करने वाली बात ये है कि खड़े-खड़े गेंदबाजों की धुनाई करने वाले क्रिस गेल टॉप 10 में भी शामिल नहीं है। गेल के नाम भले ही सबसे ज्‍यादा 23 छक्‍के दर्ज हों मगर डिस्‍टेंस की बात करें तो गेल ने अभी तक सबसे लंबा 92 मीटर का छक्‍का लगाया है।

माही मार रहा है
इस साल आईपीएल में सिर्फ युवा खिलाड़ियों ही नहीं दिग्‍गजों का बल्‍ला भी जमकर बोल रहा है। शेन वाटसन, क्रिस गेल और एमएस धोनी जैसे बड़े-बड़े नाम हैं जिन्‍हें कई लोगों ने चुका हुआ मान लिया था। मगर इन धुरंधरों ने इस आईपीएल साबित कर दिया कि फॉर्म भले टंपरेरी हो मगर टैलेंट हमेशा वही रहता है। खासतौर से धोनी जो दुनिया के बेस्‍ट फिनिशर माने जाते हैं, वह अंतिम ओवरों में आकर ताबड़तोड़ पारी खेल रहे हैं। माही इस वक्‍त उसी अंदाज में बैटिंग कर रहे, जैसे शुरुआती करियर में किया करते थे।

धोनी ने मारा ipl 11 का दूसरा सबसे लंबा छक्‍का,पहले नंबर पर गेल नहीं ये बल्‍लेबाज है

5 साल बाद किया ये कारनामा
आईपीएल 11 के 30वें मैच में दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के खिलाफ 22 गेंदों में 51 रन की धमाकेदार पारी खेली। इस दौरान माही के बल्‍ले से 5 छक्‍के और 2 चौके निकले। इस सीजन धोनी की यह तीसरी फिफ्टी है। इससे पहले उन्‍होंने आरसीबी के खिलाफ 34 गेंदों में 70 रन और किंग्‍स इलेवन पंजाब के अगेंस्‍ट 44 गेंदों में 79 रन की पारी खेली थी, यह धोनी का आईपीएल करियर का सर्वश्रेष्‍ठ स्‍कोर भी है। इससे पहले धोनी ने 2013 में दो या उससे ज्‍यादा अर्धशतक लगाए थे। इस सीजन धोनी ने अभी तक 8 मैचों में 71.50 की औसत से 286 रन बनाए हैं।

Posted on

विपक्ष के बर्हिगमन के बीच विधानसभा में UP-COCA विधेयक पारित

विपक्ष के व्यापक विरोध और सदन से बर्हिगमन के बीच विधानसभा में उत्तर प्रदेश संगठित अपराध निरोधक विधेयक (यूपीकोका)आज एक बार फिर पारित हो गया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधेयक पेश करते हुए इसे राज्य की कानून व्यवस्था के लिये जरुरी बताया, जबकि विपक्ष का कहना था कि यह विधेयक लोकतंत्र विरोधी है और इसका जमकर दुरुपयोग किया जायेगा। विपक्ष का कहना था कि विधेयक में कई खामियां हैं, इसलिये इसे विधानसभा की प्रवर समिति को सौंप दिया जाये। इससे पहले विधानसभा से गत 21 दिसंबर को विधेयक पारित होने के बाद विधान परिषद भेजा गया था।

परिषद ने विधेयक को प्रवर समिति के हवाले कर दिया था। प्रवर समिति से बिना संशोधन के विधेयक परिषद वापस कर दिया गया था। परिषद में विपक्ष का बहुमत होने के कारण विधेयक पारित नहीं हो सका। इसलिये सरकार ने आज इसे फिर सदन में पेश किया। विपक्ष के व्यापक विरोध के बीच यूपीकोका विधेयक पारित हो गया।

विधेयक के पारित होने के बाद अब इसे मंजूरी के लिये राज्यपाल रामनाईक के पास भेजा जायेगा। अगर जरूरी हुआ तो राज्यपाल विधेयक को राष्ट्रपति के पास भी संदर्भित कर सकते है। सरकार का दावा है कि यूपीकोका से भूमाफिया, खनन माफिया समेत अन्य संगठित अपराधों पर नकेल कसने में मदद मिलेगी। सफेदपोशों को बेनकाब करने वाले इस कानून में 28 ऐसे प्रावधान है जो गिरोहबंद अधिनियम (गैंगस्टर एक्ट) का हिस्सा नही थे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपीकोका के जरिये फिरौती के लिये अपहरण,अवैध खनन, अवैध शराब की बिक्री, बाहुबल के बूते ठेकों को हथियाना, वन क्षेत्र में अतिक्रमण और वन संपत्तियों का दोहन,वन्य जीवों का शिकार और बिक्री, फर्जी दवाओं का कारोबार, सरकारी और निजी जमीनों पर कब्जा, रंगदारी जैसे अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण लग सकेगा। इसके जरिये संगठित अपराध करने वाले लोगों की मदद करने वालों पर भी नकेल कसी जा सकेगी।

योगी ने कहा कि समाज और राष्ट्र की सुरक्षा को खतरा पैदा करने वालों के खिलाफ यह कानून प्रभावी होगा। पांच वर्ष में एक से अधिक मामलों में जिसके खिलाफ आरोपपत्र दाखिल होंगें, उन्हीं पर यह कानून लागू होगा। यूपीकोका लगाने से पहले पुलिस महानिरीक्षक या उपमहानिरीक्षक से अनुमोदन लेना जरुरी होगा। इसमें अदालत में आरोप पत्र दाखिल करने से पहले भी इन्हीं अधिकारियों से अनुमति लेनी होगी।

उन्होंने कहा कि इस कानून का दुरुपयोग रोकने के लिये उच्च न्यायालय के अवकाश प्राप्त न्यायाधीश की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय अपील प्राधिकरण बनाया जायेगा। इसमें प्रमुख सचिव और पुलिस महानिदेशक स्तर का अधिकारी सदस्य होगा। इसके लिये प्रमुख सचिव की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय निगरानी समिति का भी गठन किया जायेगा। ऐसी ही समिति जिलों में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित होगी।  मुख्यमंत्री ने कहा कि इसमें ऐसी व्यवस्था की जा रही है कि इस कानून का कोई दुरुपयोग नहीं कर सकता। हाँ, समाज की व्यवस्था और सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। उन्होंने कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये एक साल में किये गये कार्यों का सिलसिलेवार ब्याैरा दिया।