Posted on

फ्लिपकॉर्ट में 77% हिस्सेदारी के बाद अब 85% की तैयारी में वॉलमार्ट

देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी में 77 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के बाद अब वॉलमार्ट 3 अरब डॉलर का निवेश कर फ्लिपकॉर्ट की 85 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने की तैयारी में है।

 

इस बात की जानकारी दुनिया के सबसे बड़े रिटेलर ने शुक्रवार को अमेरिकी सिक्यॉरिटीज और एक्सचेंज कमिशन को दी। रिटेलर ने ये भी बताया कि वॉलमार्ट के बाकी शेयर भी उसी कीमत पर खरीदे जाएंगे जिस कीमत पर 77 फीसदी शेयर खरीदे गए थे।

वॉलमार्ट ने किस दर पर फ्लिपकॉर्ट के शेयरों को हासिल किया यह जानकारी सार्वजनिक नहीं हुई है। वॉलमार्ट की फाइलिंग इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि फ्लिपकॉर्ट के बड़े निवेशक जापानी इंटरनेट और टैलीकॉम कंपनी सॉफ्टबैंक ने शेयरों को बेचने पर कोई फैसला नहीं किया है। सॉफ्टबैंक के पास फ्लिपकॉर्ट के करीब 22 फीसदी शेयर हैं। इससे पहले मीडिया रिपोर्टस से भी ये बात साने आई थी कि वॉलमार्ट और सॉफ्टबैंक पहले की कीमत पर ही शेयर ट्रांजेक्शन के लिए वक्त निकाल कर बातचीत करने की तैयारी कर रहे थे।

एसईसी फाइलिंग के अनुसार, वॉलमार्ट 2 अरब डॉलर कैश में निवेश कर रहा है और फ्लिपकॉर्ट के मौजूदा शेयर होल्डर्स से 14 अरब डॉलर मूल्य के शेयर खरीद रहा है। वॉलमार्ट ने कहा है कि वह बोर्ड और फाउंडर की सलाह से फ्लिपकॉर्ट ग्रुप ऑफ कंपनीज के सीईओ और प्रिंसिपल एग्जिक्युटिव्ज को अपॉइंट या रिप्लेस कर सकता है। फिलहाल कल्याण कृष्णमूर्ति फ्लिपकॉर्ट के सीईओ हैं और को-फाउंडर बिन्नी बंसल ग्रुप सीईओ हैं। को-फाउंडर और एग्जिक्युटिव चैयरमैन सचिन बसंल ने कंपनी छोड़ने का फैसला किया।

Posted on

स्कूटर पर सामान बेचते थे ये दोनों, आज 1 लाख करोड़ रुपये में बेचे कंपनी के 75 फीसदी शेयर!

अमेरिकी कंपनी वाल्मार्ट ने Flipkart में 75 फीसदी हिस्सेदारी 1500 करोड़ डॉलर यानी एक लाख करोड़ रुपये में खरीदी है.

आइए जानते है फिल्पकार्ट के सफर के बारे में

 देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट (Flipkart) बिक गई है. अमेरिकी कंपनी वालमार्ट ने इसमें 75 फीसदी हिस्सेदारी 1500 करोड़ डॉलर यानी एक लाख करोड़ रुपये में खरीदी है. हालांकि, सचिन बंसल और विनी बंसल ने कंपनी को इस मुकाम तक पहुंचाने में बहुत मेहनत की है. उन्होंने कंपनी को 11 साल पहले महज 10 हजार रुपये में शुरू किया था. आइए जानते हैं कंपनी के इस सफर के बारे में...

देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट (Flipkart) बिक गई है. अमेरिकी कंपनी वालमार्ट ने इसमें 75 फीसदी हिस्सेदारी 1500 करोड़ डॉलर यानी एक लाख करोड़ रुपये में खरीदी है. हालांकि, सचिन बंसल और विनी बंसल ने कंपनी को इस मुकाम तक पहुंचाने में बहुत मेहनत की है. उन्होंने कंपनी को 11 साल पहले महज 10 हजार रुपये में शुरू किया था. आइए जानते हैं कंपनी के इस सफर के बारे में…

 10 हजार में शुरू की थी कंपनी- इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली से पढ़ाने करने वाले सचिन और बिन्नी ने फ्लिपकार्ट की शुरुआत अक्टूबर 2007 में की थी. शुरू में इसका नाम फ्लिपकार्ट ऑनलाइन सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड था. इतना ही नहीं, ये सिर्फ बुक्स सेलिंग का काम करते थे. दोनों इस कंपनी को शुरू करने से पहले अमेजन डॉट कॉम के साथ काम कर चुके थे. सचिन और बिन्नी बताते हैं कि दोनों ने सिर्फ 10 हजार रुपए से अपनी कंपनी को शुरू किया था, जो आज 2000 करोड़ डॉलर यानी 1.32 लाख करोड़ रुपये की कंपनी हो गई है.

10 हजार में शुरू की थी कंपनी- इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली से पढ़ाने करने वाले सचिन और बिन्नी ने फ्लिपकार्ट की शुरुआत अक्टूबर 2007 में की थी. शुरू में इसका नाम फ्लिपकार्ट ऑनलाइन सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड था. इतना ही नहीं, ये सिर्फ बुक्स सेलिंग का काम करते थे. दोनों इस कंपनी को शुरू करने से पहले अमेजन डॉट कॉम के साथ काम कर चुके थे. सचिन और बिन्नी बताते हैं कि दोनों ने सिर्फ 10 हजार रुपए से अपनी कंपनी को शुरू किया था, जो आज 2000 करोड़ डॉलर यानी 1.32 लाख करोड़ रुपये की कंपनी हो गई है.

 शुरू के 10 दिन कुछ नहीं बिका- सचिन और बिन्नी ने अपनी कंपनी की शुरुआत बेंगलुरु से की थी. दोनों ने 2-2 लाख रुपए मिलाकर एक अपार्टमेंट में 2 बैडरूम वाला फ्लैट किराए पर लिया और 2 कम्प्यूटर के साथ कंपनी शुरू की. हालांकि, कंपनी शुरू करने के 10 दिन तक कोई सेल नहीं हुई. इसके बाद, आंध्र प्रदेश के एक कस्टमर ने पहला ऑर्डर बुक किया. ये एक किताब थी जिसका नाम 'Leaving Microsoft to Change the World' और राइटर जॉन वुड थे. बीते सालों में फ्लिपकार्ट फर्श से अर्श पर पहुंच चुकी है और बेंगलुरु में कंपनी के कई ऑफिस हैं.

शुरू के 10 दिन कुछ नहीं बिका- सचिन और बिन्नी ने अपनी कंपनी की शुरुआत बेंगलुरु से की थी. दोनों ने 2-2 लाख रुपए मिलाकर एक अपार्टमेंट में 2 बैडरूम वाला फ्लैट किराए पर लिया और 2 कम्प्यूटर के साथ कंपनी शुरू की.

हालांकि, कंपनी शुरू करने के 10 दिन तक कोई सेल नहीं हुई. इसके बाद, आंध्र प्रदेश के एक कस्टमर ने पहला ऑर्डर बुक किया. ये एक किताब थी जिसका नाम ‘Leaving Microsoft to Change the World’ और राइटर जॉन वुड थे. बीते सालों में फ्लिपकार्ट फर्श से अर्श पर पहुंच चुकी है और बेंगलुरु में कंपनी के कई ऑफिस हैं.

 सरनेम एक, लेकिन रिश्ता नहीं-सचिन बंसल और बिन्नी बंसल इन दोनों नाम को सुनकर ऐसा लगता है कि ये भाई होंगे, लेकिन ऐसा नहीं है. दोनों के सरनेम भले ही एक हैं, लेकिन दोनों सिर्फ बिजनेस पार्टनर हैं. इन दोनों में कुछ समानताएं और भी हैं, जैसे दोनों चंडीगढ़ के रहने वाले हैं और दोनों की स्कूलिंग सेंट ऐनी कॉन्वेंट स्कूल, चंडीगढ़ से हुई हैं. इतना ही नहीं, दोनों इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली से साथ पढ़े हैं. सचिन ने साल 2005 में IIT करने के बाद एक कंपनी टेकस्पेन ज्वाइन कर ली थी. जहां सिर्फ कुछ महीने ही काम किया. इसके बाद, उन्होंने अमेजन में सीनियर सॉफ्टवेयर इंजिनियर के तौर पर काम किया. साल 2007 में दोनों ने अपनी कंपनी फ्लिपकार्ट को शुरू किया.

सरनेम एक, लेकिन रिश्ता नहीं-सचिन बंसल और बिन्नी बंसल इन दोनों नाम को सुनकर ऐसा लगता है कि ये भाई होंगे, लेकिन ऐसा नहीं है. दोनों के सरनेम भले ही एक हैं, लेकिन दोनों सिर्फ बिजनेस पार्टनर हैं. इन दोनों में कुछ समानताएं और भी हैं, जैसे दोनों चंडीगढ़ के रहने वाले हैं और दोनों की स्कूलिंग सेंट ऐनी कॉन्वेंट स्कूल, चंडीगढ़ से हुई हैं. इतना ही नहीं, दोनों इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली से साथ पढ़े हैं. सचिन ने साल 2005 में IIT करने के बाद एक कंपनी टेकस्पेन ज्वाइन कर ली थी. जहां सिर्फ कुछ महीने ही काम किया. इसके बाद, उन्होंने अमेजन में सीनियर सॉफ्टवेयर इंजिनियर के तौर पर काम किया. साल 2007 में दोनों ने अपनी कंपनी फ्लिपकार्ट को शुरू किया.

 ई-कॉमर्स साइट फ्लिपकार्ट गैजेट्स के साथ इलेक्ट्रॉनिक, होम अप्लायंस, क्लॉथ, किचिन अप्लायंस, ऑटो एंड स्पोर्ट्स एक्सेसरीज, बुक्स एंड मीडिया, ज्वैलरी के साथ अन्य प्रोडक्ट भी सेल करती है. इस साइट की खास बात ये है कि ज्यादातर प्रोडक्ट्स पर बिग डिस्काउंट मिलता है. वहीं, यूजर्स के पास शॉपिंग के लिए कैश ऑन डिलिवरी, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, नेट बैंकिंग, ई-गिफ्ट बाउचर, कूपन कोड जैसे कई ऑप्शन मौजूद होते हैं.

ई-कॉमर्स साइट फ्लिपकार्ट गैजेट्स के साथ इलेक्ट्रॉनिक, होम अप्लायंस, क्लॉथ, किचिन अप्लायंस, ऑटो एंड स्पोर्ट्स एक्सेसरीज, बुक्स एंड मीडिया, ज्वैलरी के साथ अन्य प्रोडक्ट भी सेल करती है. इस साइट की खास बात ये है कि ज्यादातर प्रोडक्ट्स पर बिग डिस्काउंट मिलता है. वहीं, यूजर्स के पास शॉपिंग के लिए कैश ऑन डिलिवरी, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, नेट बैंकिंग, ई-गिफ्ट बाउचर, कूपन कोड जैसे कई ऑप्शन मौजूद होते हैं.

Posted on

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आज ही के दिन वनडे में दोहरा शतक जड़ सचिन तेंदुलकर ने रच दिया था इतिहास

भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शनिवार को टी-20 सीरीज का फाइनला मुकाबला खेलना है। 24 फरवरी को होने वाले इस मैच को जीतने के लिए दोनों टीमों के कप्तान पूरा जोर लगाएंगे। अगर इतिहास की बात करें तो 24 परवरी भारतीय टीम के लिए लकी साबित रहा है। 8 साल पहले आज ही के दिन भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे में दोहरा शतक जड़ एक नया रिकॉर्ड अपने नाम किया था। साल 2010 में दक्षिण अफ्रीका की टीम भारत दौरे पर तीन वनडे मैच खेलने आई थी। सीरीज का पहले मैच बेहद रोमांचक रहा और भारतीय टीम वो मैच एक रन से जीतने में कामयाब रही। वहीं दूसरे मैच में सचिन तेंदुलकर की नाबाद 200 रनों की बदौलत भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 153 रनों से हरा दिया। ग्‍वालियर में खेले गए इस मुकाबले में भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। भारत की तरफ से वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंदुलकर ओपनिंग करने आए। सहवाग के 9 रन पर आउट होने के बाद सचिन ने दिनेश कार्तिक के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए 150 से ऊपर रनों की साझेदारी की। इस दौरान सचिन बेहतरीन लय में नजर आ रहे थे और हर तरफ शॉट्स खेलने में कामयाब हो रहे थे।

cricket world records, Sachin Tendulkar, Chris Gayle, Virender Sehwag, Rohit Sharma, double hundred, highest individual score in ODIs, highest individual score in T20s, Highest team total in T20s, Fastest T20 Hundred, Chris Gayle 175, Chris Gayle fastest century, Jansatta Sports gallary, jansatta sports news gallary2010 में ग्वालियर कैप्टन रूप सिंह स्टेडियम में साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे में डबल सेंचुरी बनाई थी।

इस मैच में सचिन ने 147 गेंदों में नाबाद 200 रन बनाए और वनडे में दोहरा शतक लगाने वाले पहले क्रिकेटर बने। सचिन ने अपनी पारी के दौरान 25 चौके और 3 छक्के भी लगाए। सचिन की यह पारी आज भी फैंस के जहन में तरोताजा है। इस मैच में सचिन के अलावा कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी 35 गेंदों में 68 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली, इस दौरान उन्होंने 7 चौके और 4 छक्के लगाए।

Posted on

ऑटो एक्सपो 2018: एक नजर, पहले दिन लॉन्च हुए वीइकल्स पर

ऑटो एक्सपो 2018: एक नजर, पहले दिन लॉन्च हुए वीइकल्स पर

आॅटो एक्सपो 2018: एक नजर, पहले दिन लॉन्च हुए वीइकल्स पर

ऑटो एक्सपो 2018 ग्रेटर नोएडा में 7 फरवरी से शुरू हो गया। पहले दिन कई वाहन लॉन्च किए गए। एक नजर में जानें पहले दिन के महत्वपूर्ण लॉन्चेज के बारे में…

मारुति ने दिखाया ऐसी होगी नई मिनी एसयूवी

मारुति ने दिखाया ऐसी होगी नई मिनी एसयूवी

मारुति सुजुकी ने अपनी ‘कॉन्सेप्ट फ्यूचर S’ का वर्ल्ड प्रीमियर किया। बेहद बोल्ड डिजाइन के साथ पेश की गई इस कार के इंटीरियर्स भी काफी फ्यूचरिस्टिक हैं। कंपनी ने कार के डिजाइन पर काफी काम किया है। कंपनी के सीईओ केनिचि अयुकावा ने कहा कि कॉम्पैक्ट स्पोर्ट्स यूटिलिटी वीकल भारतीय कार कस्टमर की नेचुरल चॉइस हैं। कंपनी ने कार को एसयूवी लुक देने की कोशिश की है।

टोयोटा ने उतारी यारिस सिडैन

टोयोटा ने उतारी यारिस सिडैन

टोयोटा ने इंडिया में अपनी नई मिड लेवल सिडैन कार ‘यारिस’ को पेश किया है। इस कार की कीमत का अभी खुलासा नहीं किया गया है लेकिन यह माना जा रहा है कि यह होंडा सिटी और मारुति सुजुकी सियाज के सेगमेंट में आ रही है। यानी इसकी अलग-अलग वैरियंट्स की कीमत 8 से 12 लाख रुपये के बीच में रहेगी। कंपनी का दावा है कि इस कार में 12 ऐसे फीचर्स हैं जो इस सेगमेंट की दूसरी कारों में नहीं हैं। सेफ्टी के लिए इसमें 7 एयरबैग्स दिए हैं। रेगुलर सेफ्टी और कंफर्ट फीचर्स के अलावा इसमें टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम, रूफ माउंटेड रियर एयर वेंट्स, फ्रंट पार्किंग सेंसर्स, इलेक्ट्रिक ड्राइवर सीट, ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन विद पैडल शिफ्ट सिस्टम जैसे ढेरों फीचर्स दिए गए हैं। यह गाड़ी दुनिया के 120 देशों में टोयोटा बेच रही है।

‘किआ’ की 16 गाड़ियां

'किआ' की 16 गाड़ियां

ह्यूंदै की सिस्टर कंपनी किआ मोटर कॉरपोरेशन ने अपने 16 मॉडल्स को सामने रखा। 2019 में इनमें से कुछ मॉडल्स इंडियन मार्केट में लॉन्च किए जाएंगे। खासतौर पर इंडियन मार्केट के लिए डिजाइन किया गया SP कॉन्सेप्ट भी शोकेस किया गया।
  

यामाहा की नई बाइक

यामाहा की नई बाइक

प्राइस : 1.25 लाख रुपए

Yamaha ने YZF-R15 वर्जन 3.0 को भारत में लॉन्च किया। लैटेस्ट वर्जन की कीमत 1.25 लाख रुपये (एक्स-शोरूम, दिल्ली) रखी गई है। नई YZF-R15 की सबसे बड़ी खूबी इसका इंजन है। इसमें नया फ्यूल इंजेक्शन के साथ 155.1cc सिंगल-सिलिंडर लिक्विड-कूल्ड फोर-स्ट्रोक SOHC इंजन दिया गया है।

होंडा की नई अमेज, जल्द आएगी इंडिया में

होंडा की नई अमेज, जल्द आएगी इंडिया में

होंडा कार्स इंडिया ने अपनी कॉम्पैक्ट सिडैन नेक्स्ट जेनरेशन होंडा अमेज का वर्ल्ड प्रीमियर किया। यह कार अगले फाइनैंशियल ईयर में लॉन्च होगी। सेकंड जेनरेशन होंडा अमेज का एक्सटीरियर काफी स्टाइलिश है। इसके अलावा कंपनी ने 5वीं जेनरेशन की होंडा सीआर-वी और टेंथ जेनरेशन की होंडा सिविक को भी अन्वेल किया। दोनों ही मॉडल 2018-19 में लॉन्च होंगे। नई सीआरवी की खास बात यह है कि इसमें इस बार 7 सीटों का ऑप्शन मिलेगा और पेट्रोल के अलावा इस बार इसमें डीजल इंजन भी मिलेगा।

मर्सेडीज का इलेक्ट्रिक मॉडल कॉन्सेप्ट

मर्सेडीज का इलेक्ट्रिक मॉडल कॉन्सेप्ट

मर्सेडीज के सुपरलग्जरी ब्रैंड मेबैक की कारों की कीमतें भी 4 से 5 करोड़ रुपये से शुरू होती हैं लेकिन अब कंपनी ने कुछ कम कीमत में मेबैक ब्रैंड की कारें लॉन्च की हैं। बुधवार को एक्सपो में मर्सेडीज ने 2.73 करोड़ रुपये की कीमत में मेबैक एस 650 और 1.94 करोड़ रुपये की कीमत में मेबैक एस 560 को लॉन्च किया। इसके अलावा कंपनी ने ई-क्लास का ऑल टैरेन मॉडल पेश किया। कॉन्सेप्ट EQ के माध्यम से कंपनी ने यह दिखाने की कोशिश की कि इलेक्ट्रिक कारें न सिर्फ स्पोर्ट कारों की तरह तेज हो सकती हैं बल्कि एसयूवी की तरह दमदार भी हो सकती हैं।

आ गई नई एलीट आई20

आ गई नई एलीट आई20

ह्यूंदै की नई एलीट आई20 भी फेस की गई। इसकी खूबी 17.77 सेमी. का टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम और ऑडियो —विडियो नैविगेशन है। कार ड्यूल टोर एक्सटीरियर कलर ऑप्शन के साथ आती है। इसमें 6 एयरबैग्स दिए गए हैं। यह डीजल—पेट्रोल, दोनों वर्जनों में आएगी। कार का लुक स्पॉर्टी है। कार में सिंगल क्लिक के जरिए उसकी हेल्थ मिनिस्ट्री, ड्राइविंग हिस्ट्री पता कर सकते हैं। कंपनी ने इलेक्ट्रिक वीकल ‘इवोनिक’ ने भी अट्रैक्ट किया। कंपनी ने इसे शोकेस किया है। यह दुनिया की पहली कार है, जो कि 3 इलेक्ट्रिकफाइड वर्जन के साथ तैयार की गई है। ये हैं- हाइब्रिड, प्लग—इन हाइब्रिड और ऑल इलेक्ट्रिक।

बीएमडब्ल्यू की 6 सीरीज जीटी कार

बीएमडब्ल्यू की 6 सीरीज जीटी कार

जर्मन कार लग्जरी कार कंपनी ने भी ऑटो एक्सपो में 6 सीरीज जीटी को लॉन्च किया। इस कार की शुरुआती कीमत 58.9 लाख रुपए है। यह एक्स शोरूम कीमत है। यह बीएमडब्ल्यू की पहली कार है जिसमें बीएस6 नॉर्म्स वाला इंजन लगा है। बता दें कि बीएस6 नॉर्म्स इंडिया में 2020 में लागू होने हैं। इस गाड़ी में 2 लीटर का टर्बो पेट्रोल इंजन लगा है जो कि 258 बीएचपी का पावर और 400 न्यूटन मीटर टॉर्क जेनरेट करता है। इसके अलावा बीएमडब्ल्यू की दो बाइक्स भी लॉन्च की गईं। एफ750 जीएस की कीमत 12.2 लाख रुपए और एफ 850 जीएस की कीमत 13.7 लाख रुपए रखी गई।

टीवीएस मोटर्स का नया कॉन्सेप्ट स्कूटर

टीवीएस मोटर्स का नया कॉन्सेप्ट स्कूटर

TVS मोटर्स ने नया कॉन्सेप्ट स्कूटर शोकेस किया है। यह स्कूटर एक परफॉर्मेंस-ओरिएंटेड इलेक्ट्रिक कॉन्सेप्ट स्कूटर होगा और इसका नाम TVS क्रेऑन रखा गया है। कंपनी की मानें तो क्रेऑन एक इलेक्ट्रिक स्कूटर है, बल्कि पर्यावरण के लिए बिल्कुल नुकसानदायक नहीं है। क्रेऑन को नेक्स्ट जनरेशन का इलेक्ट्रिक स्कूटर बनाया है। स्पीड के मुकाबले में क्रेऑन महज 5.1 सेकंड में 0-60 किमी/घंटा की स्पीड पकड़ लेता है। इसे एक बार फुल चार्ज करने के बाद 80 किमी तक चलाया जा सकता है और सिर्फ 60 मिनट में ही यह फुल चार्ज हो जाता है। कंपनी ने इस स्कूटर को बेहतर डिजाइन और स्पोर्टी स्टाइल में शोकेस किया है जो ऑटो एक्सपो 2018 के पहले दिन का शो स्टॉपर रहा।

कंपनी जल्द ही बाजार में अपना एक इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च करेगी जो TVS क्रेऑन पर आधारित होगा। जैसा TVS के इस स्कूटर का कॉन्सेप्ट मॉडल दिख रहा है, ऐसे में माना जा सकता है कि कंपनी इस ई-स्कूटर का प्रोडक्शन मॉडल भी काफी बेहतर बनाएगी।

ऑटो एक्सपो 2018: Hyundai आई-20 एलीट का फेसलिफ्ट मॉडल लॉन्च

ऑटो एक्सपो 2018: Hyundai आई-20 एलीट का फेसलिफ्ट मॉडल लॉन्च

ह्यूंदै मोटर कंपनी ने बुधवार को ऑटो एक्सपो 2018 के पहले दिन अपनी पॉप्युलर प्रीमियम हैचबैक, आई20 का फेसलिफ्ट मॉडल लॉन्च कर दिया है। इसकी कीमत, फीचर्स आदि की जानकारी:

पेट्रोल वेरियंट की कीमत

पेट्रोल वेरियंट की कीमत

ह्यूंदै ने आई20 के नए पेट्रोल वेरियंट की शुरुआती एक्स शोरूम कीमत 5.35 लाख रुपए और टॉप मॉडल की कीमत 7.91 लाख रुपए रखी है।

डीजल वेरियंट की कीमत

डीजल वेरियंट की कीमत

डीजल वेरियंट की बात करें तो शुरुआती कीमत 6.73 लाख रुपए से है और यह 9.16 लाख रुपए तक जाती है।
  

हेडलैम्प्स को पतला किया गया है

हेडलैम्प्स को पतला किया गया है

आई20 के फेसलिफ्ट मॉडल में ह्यूंदै ने फ्रंट ग्रिल में बदलाव किया है। काले रंग के नए ग्रिल से इसका आकर्षण बढ़ गया है। हेडलैम्प्स को पतला किया गया है जो कि इसके लुक को अट्रैक्टिव बनाते हैं।

इंटीग्रेटेड एलईडी डेटाइम रनिंग लाइट्स

इंटीग्रेटेड एलईडी डेटाइम रनिंग लाइट्स

कंपनी ने इसमें प्रॉजेक्टर हेडलैम्प्स देने के साथ ही इंटीग्रेटेड एलईडी डेटाइम रनिंग लाइट्स और नई डिजाइन वाले फॉग लैम्प्स दिए हैं।

इसके दरवाजों का डिजाइन नया है

इसके दरवाजों का डिजाइन नया है

इसके दरवाजों का डिजाइन नया है और इसके नए अलॉय वील्ज इसे मस्क्युलर लुक देते हैं। रियर लुक की बात करें तो नए आई20 मॉडल में फ्रेश टेल लैम्प क्लस्टर दिया गया है।

ह्यूंदै ने लग्जरी को बढ़ाया है। कार

ह्यूंदै ने लग्जरी को बढ़ाया है। कार

नए मॉडल में ह्यूंदै ने लग्जरी को बढ़ाया है। कार के इंटीरियर में नया टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम है जो कि पहले वाले मॉडल के मुकाबले अधिक बड़ा है। यह सिस्टम ऐंड्रॉयड ऑटो और ऐपल कारप्ले को सपॉर्ट करता है।

इंजन

इंजन

नई Hyundai i20 एलीट में इंजन सेम है। इसमें अब भी 1.2 लीटर पेट्रोल इंजन है जो कि 5 स्पीड मैन्युअल ट्रांसमिशन से लैस है। इसके अलावा 1.4 लीटर डीजल इंजन का भी ऑप्शन है जो कि 6 स्पीड मैन्युअल ट्रांसमिशन सिस्टम से लैस है। सेफ्टी के लिए इसमें 6 एयर बैग्स दिए गए हैं।

नए मॉडल की बुकिंग्स शुरू

नए मॉडल की बुकिंग्स शुरू

इस नए मॉडल की बुकिंग्स शुरू हो चुकी हैं। भारतीय बाजार में इसका मुकाबला मारुति की बलेनो से होगा। बलेनो मारुति की हाई डिमांडिंग कार है। इसके लिए 18 से 19 महीनों का वेटिंग पीरियड चल रहा है।
  

ऑटो एक्सपो: होंडा अमेज का नया मॉडल पेश, मारुति डिजायर से मुकाबला!

आॅटो एक्सपो: होंडा अमेज का नया मॉडल पेश, मारुति डिजायर से मुकाबला!

ऑटो एक्सपो 2018 शुरू हो चुका है। इसमें होंडा कार्स इंडिया ने अपनी लो​कप्रिय कॉम्पैक्ट सिडैन अमेज का सेकेंड जेनरेशन मॉडल अनवील कर दिया है। भारत में इसका मुकाबला मारुति डिजायर और ह्यूंदै एक्सेंट से होगा। इसे अगले कुछ महीनों के भीतर लॉन्च कर दिया जाएगा। आइए, जानते हैं क्या कुछ खास है इस कार में…

नई होंडा अमेज की कीमत

नई होंडा अमेज की कीमत

नई होंडा अमेज की कीमत मौजूदा होंडा अमेज मॉडल जितनी ही रहने की उम्मीद है। यह 5.5 लाख रुपए की शुरुआती कीमत पर लॉन्च की जा सकती है।

सेकेंड जेनरेशन मॉडल नए प्लैटफॉर्म पर तैयार

सेकेंड जेनरेशन मॉडल नए प्लैटफॉर्म पर तैयार

होंडा अमेज का सेकेंड जेनरेशन मॉडल नए प्लैटफॉर्म पर तैयार है जो कि होंडा थाइलैंड ने तैयार किया है। इसके स्टाइल, लुक्स और ड्राइविंग परफॉर्मेंस पर होंडा ने मुख्य रूप से काम किया है।

होंडा सिविक से इंस्पिरेशन ली गई है

होंडा सिविक से इंस्पिरेशन ली गई है

स्टाइलिंग फ्रंट पर देखें तो नई होंडा अमेज बड़ी है। इसमें काफी हद तक होंडा सिविक से इंस्पिरेशन ली गई है। नई Amaze का प्रोफाइल कूपे लुक वाली रूफलाइन से लैस है। कार देखने में भी मौजूदा मॉडल के मुकाबल अधिक लंबी लगती है।

फ्रंट में क्रोम का इस्तेमाल और रियर में क्लासी लुक

फ्रंट में क्रोम का इस्तेमाल और रियर में क्लासी लुक

भारत में कॉम्पैक्ट सिडैन के डिजाइन्स की बात करें तो उस लिहाज से नई अमेज शानदार लगती है। फ्रंट में क्रोम का इस्तेमाल और रियर में क्लासी लुक इसको प्रीमियम फील देता है। भारत में बिकने वाली कॉम्पैक्ट सिडैन कारों के मुकाबले यह एकदम यूनीक और अलग दिखने वाली कार है।
  

होंडा अमेज सेकेंड जेनरेशन मॉडल का इंजन

होंडा अमेज सेकेंड जेनरेशन मॉडल का इंजन

होंडा अमेज के नए मॉडल में 1.2 लीटर i-VTEC यूनिट इंजन है जो कि 87 Bhp-110 Nm का आउटपुट देता है। यह इंजन 5 स्पीड मैन्युअल और सीवीट ऑटोमैटिक गियरबॉक्सेज से लैस है। डीजल इंजन का भी विकल्प दिया जा सकता है। इसमें 1.5 लीटर i-DTEC ऐल्युमिनियम डीजल इंजन होगा जो कि 98.6 Bhp-200 Nm का आउटपुट देगा। इसको भी 6 स्पीड मैन्युअल गियरबॉक्स से लैस किया जाएगगा। डीजल में ऑटोमैटिक का ऑप्शन नहीं होगा। ऑफिशल लॉन्च के बाद ही गाड़ी से जुड़े अन्य डीटेल्स सार्वजनिक होंगे।

होंडा ने इन कारों को भी किया पेश

होंडा ने इन कारों को भी किया पेश

होंडा ने ऑटो एक्सपो में इस बार नई अमेज के अलावा 5वीं जेनरेशन सीआर-वी और 10 जेनरेशन होंडा सिविक को भी पेश किया है। सीआर-वी का डीजल मॉडल पेश हुआ है। होंडा इन दोनों कारों को भी मौजूदा साल में ही लॉन्च करेगी। होंडा सिविक का नया मॉडल स्पॉर्टी है। इसमें स्टाइलस एलईडी हेडलैम्प्स, स्पॉर्टी अलॉय वील्ज, एलईडी टेललैम्प्स हैं। इसका पहला मॉडल 2006 में लॉन्च किया गया था। 2013 में इसको बंद कर दिया गया था। अब फिर से होंडा ने इसका नया मॉडल पेश किया है।
Posted on

SOCIAL FEED: ‘आख़िरकार एक विश्व कप, राहुल द्रविड़ के नाम’

भारतीय टीम के अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप जीतने पर बधाइयों का सिलसिला जारी है.

सोशल मीडिया पर बधाई संदेशों की बाढ़ आ गई है. ट्विटर पर टॉप-10 में से नौ ट्रेंड भारतीय टीम की जीत से जुड़े हैं.

बहुत सारे लोग इस जीत का श्रेय टीम के प्रदर्शन के साथ साथ कोच राहुल द्रविड़ को भी दे रहे हैं.

जीत के बाद मैदान पर भारतीय टीम ने इस तरह जश्न मनाया.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर सीनियर टीम के कप्तान विराट कोहली, सचिन तेंदुलकर, कई खिलाड़ियों और सिने सितारों ने भी भारतीय टीम को जीत की बधाई दी है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखा,

“हमारे नौजवान क्रिकेटरों की विलक्षण उपलब्धि से बहुत प्रसन्न हूं. अंडर-19 विश्व कप जीतने पर उन्हें बधाई. इस जीत से प्रत्येक भारतीय गर्व महसूस कर रहा है. ”

राष्ट्रपति ने भी विजेता टीम के कप्तान पृथ्वी शॉ और बाकी खिलाड़ियों पर गर्व जताते हुए बधाई दी.

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने एक तस्वीर पोस्ट करते हुए बधाई दी. उन्होंने लिखा, “अंडर-19 के लड़कों की यह क्या शानदार जीत है. इसे मील के पत्थर की तरह लो, अभी बहुत आगे जाना है. इस क्षण का आनंद लो.”

सचिन तेंदुलकर ने एक वीडियो पोस्ट करके टीम को बधाई और शुभकामनाएं दीं.

केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ ने भी ट्वीट करके टीम और कोच को बधाई दी.

वीरेंद्र सहवाग ने लिखा, “ये लड़के इतने सुरक्षित हाथों में हैं. राहुल द्रविड़ के सुरक्षित हाथ. इन नौजवानों और भारतीय क्रिकेट के भविष्य में महान महान योगदान. हमारे पास कुछ शानदार प्रतिभाएं हैं.”

युवराज सिंह, रोहित शर्मा, सुरेश रैना, रवि शास्त्री, आर अश्विन और ज़हीर ख़ान ने भी टीम को बधाई दी है.

सुरेश रैना ने लिखा कि टीम के कोच राहुल द्रविड़ को विशेष मुबारकबाद, जिन्होंने पर्दे के पीछे लगातार कड़ी मेहनत करके इस टीम को अपनी असल क्षमता हासिल करने में मदद की.

क्रिकेट एक्सपर्ट मोहनदास मेनन ने इस जीत को पूरी तरह राहुल द्रविड़ की जीत बताते हुए लिखा, “आख़िरकार एक विश्व कप, राहुल द्रविड़ के नाम. इसका उनसे बड़ा हक़दार कोई नहीं.”

फिल्म अभिनेता सुनील शेट्टी ने लिखा, “अपनी उम्र को अपने स्कोर से पीछे छोड़ दिया! ‘दीवार’ की ओर से प्रशिक्षित इस टीम को शीर्ष पर पहुंचना ही था. क्या शानदार जीत है. अद्भुत राहुल द्रविड़. भारतीय होने पर गर्व है.”

अभिनेता अनिल कपूर ने लिखा, “और हमारे लड़कों ने यह फिर कर दिखाया. आप सबको खेलते देखना शानदार अनुभव था.”

भारत ने विश्व कप के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को आठ विकेट से हराया..

मनजोत कालरा (101) और हार्विक देसाई (47) के बेहतरीन नाबाद पारियों की बदौलत भारत ने ऑस्ट्रेलिया की ओर से मिला 217 रनों का लक्ष्य 38.5 ओवरों में दो विकेट गंवाकर हासिल कर लिया.

भारत ने चौथी बार अंडर-19 वर्ल्ड कप जीता है. इससे पहले भारतीय टीम साल 2000, 2008 और 2012 में ये ख़िताब अपने नाम किया था.

बीसीसीआई ने टीम के लिए पुरस्कार राशि का भी ऐलान किया है. टीम के कोच राहुल द्रविड़ को 50 लाख और टीम के खिलाड़ियों को 30-30 लाख रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा.

सपोर्ट स्टाफ़ के हर सदस्य को 20 लाख रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा.

Posted on

दोस्ती की मिसाल: बोले विनोद कांबली- सचिन के कारण फिर से आया क्रिकेट मैदान पर

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज विनोद कांबली ने कहा कि उन्होंने कोच बनने का फैसला दोस्त और टीम के साथी रहे सचिन तेंदुलकर की सलाह पर किया. तेंदुलकर और कांबली दिग्गज क्रिकेट कोच रमाकांत आचरेकर के शिष्य हैं. अपनी दोस्ती के लिए मशहूर इन दोनों खिलाड़ियों ने भारत का प्रतिनिधित्व किया.

कांबली ने कहा कि क्रिकेट मैदान वह खिलाड़ी नहीं, बल्कि कोच के रूप में वापसी कर रहे हैं, जिसका श्रेय तेंदुलकर को जाता है. उन्होंने कहा,‘जब मैंने क्रिकेट से संन्याय लिया था, तब मैंने कमेंट्री या टीवी पर विशेषज्ञ बनने के बारे में सोचा, लेकिन क्रिकेट के प्रति मेरा प्यार हमेशा बना रहा, इसलिए मैं फिर से मैदान पर आ रहा हूं.’

बाएं हाथ का यह पूर्व बल्लेबाज मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के बांद्रा कुर्ला परिसर में एक क्रिकेट कोचिंग अकादमी के लॉन्च के मौके पर मौजूद था. इस अकादमी में वह कोचिंग सत्र आयोजित करेंगे. लगातार दो टेस्ट मैच में दोहरा शतक लगाने वाले देश के पहले बल्लेबाज कांबली ने कहा, ‘सचिन को पता है मुझे क्रिकेट से कितना लगाव है, इसलिए उन्होंने मुझ से कहा कि मैं कोचिंग देना शुरू करूं. उन्होंने मुझे जो रास्ता दिखाया मैं उस पर चलने की कोशिश कर रहा हूं.’

उन्होंने कहा कि कोचिंग लेने वाले छात्रों को वह उन मूल्यों के बारे में बताएंगे जो उन्होंने आचरेकर से सिखा है. कांबली ने कहा, ‘आचरेकर सर से मिले मूल्यों को मैं छात्रों के साथ साझा करूंगा.’

Posted on

28 साल बाद सचिन तेंदुलकर ने किया खुलासा, डेब्यू मैच में क्यों रोने लगे थे

टीम इंडिया के पूर्व महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने आज से ठीक 28 साल पहले कराची में पाकिस्तान के खिलाफ अपने इंटरनेशनल करियर का डेब्यू मैच खेला था। 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई अपनी पहली पारी को याद करते हुए तेंदुलकर ने खुलासा किया कि वो क्यों रोने लगे थे। याद हो कि तेंदुलकर ने जब इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया, तब उनकी उम्र महज 16 साल की थी।
मास्टर ब्लास्टर तेंदुलकर ने पहली पारी में 15 रन बनाए थे। 28 साल पहले की याद ताजा करते हुए तेंदुलकर ने एक फेसबुक लाइव किया। इसमें उन्होंने कहा कि जब वो जल्दी आउट हुए तो काफी निराश थे और बाथरूम में जाकर रोने लगे। सचिन तेंदुलकर ने कहा, ‘जब मैं अपनी पहली पारी खेलकर ड्रेसिंग रूम में पहुंचा तो मुझे लगा कि गलत जगह पर गलत समय आ गया। बहुत मुश्किल था। मैं बाथरूम में गया और रोने लगा। फिर वहां जो सीनियर प्लेयर्स मौजूद थे, उन्होंने मुझे समझाया और प्रोत्साहित किया। उन्होंने बताया कि मुझे क्या करना चाहिए। इससे मुझे अगले मैच में विश्वास मिला।’

तेंदुलकर ने इसके साथ ही कहा कि पाकिस्तान जाने से पहले उन्हें मेजबान टीम के गेंदबाजी आक्रमण की कोई जानकारी नहीं थी। उन्हें नहीं पता था कि वहां कैसे मैच खेलना था। उन्होंने कहा,  ‘चयन से पहले मैंने ईरानी ट्राफी में शतक बनाया। इसके बाद टीम इंडिया में मेरा सिलेक्शन हो गया। फिर मैं पाकिस्तान गया। वहां तगड़ा गेंदबाजी आक्रमण, वहां क्या होगा मुझे कुछ नहीं पता था। वहां कुछ ओवर खेला तो पता चला कि अटैक इस तरह का होगा। उस वक्त इमरान खान, वसीम अकरम, वकार यूनिस जैसे तगड़े गेंदबाज थे। उनकी बॉल को फेस करना कठिन काम था।’

भारत रत्न सचिन तेंदुलकर ने कहा, ‘पहली पारी में मुश्किल से 15 रन बनाए थे। इसके बाद मैंने अपने करियर की दूसरी पारी में फिफ्टी लगाई। उस दौरान मुझे पता चला कि मैं यह कर सकता हूं। जब मैं दूसरी पारी खेलने गया, तो तय कर रखा था कि मुझे स्कोर बोर्ड को नहीं देखना है, मैं सिर्फ घड़ी देख रहा था। मैं सिर्फ वहां मैदान पर वक्त बिताना चाहता था। किसी भी कीमत पर मुझे वहां खड़ा रहना था। मुझे विश्वास हुआ कि मैं कर सकता हूं। 59 रन बनाए। यह मेरी जिंदगी का टर्निंग प्वाइंट था। उन लोगों के सामने खेलने के बाद आपको आनंद मिलेगा।’

अपनी याद ताजा करने के बाद सचिन ने युवाओं को ही एक पैगाम दिया है। उन्होंने युवाओं से अपील की है कि वो कभी शॉर्ट कट्स पर विश्वास नहीं करें और हमेशा अपने सपने का पीछा करे। सचिन ने कहा, ‘आज की युवा पीढ़ी के लिए मेरा मैसेज है कि अपने सपने का पीछा करो। मैं जब दस साल का था, तो मैंने टीम इंडिया के लिए खेलने का सपना देखा था। हमेशा से चैलेंज रहेगा, करियर के अंतिम दिन तक चैलेंज था। देश का प्रतिनिधित्व करने से बड़ा कोई सम्मान नहीं। कैप पहना था तो वो बेस्ट फीलिंग थी। जब ट्रॉफी उठाई तो वह दूसरी बार फीलिंग। मुश्किल टारगेट सेट करें अपने लिए। जब वो आप पाएंगे तो पूरा देश आपको चीयर्स करेगी।’