Posted on Leave a comment

जानिए कौन तय करता है ‘मैन ऑफ़ द मैच’

क्रिकेट मैच के दौरान या ख़त्म होते ही हम अंदाज़ा लगा लेते हैं कि किस खिलाड़ी को ‘मैन ऑफ़ द मैच’ मिलेगा. ज़्यादातर ये अंदाज़ा सही भी रहता है. जीतने वाली टीम की ओर से सबसे ज़्यादा रन बनाने या विकेट लेने वाले खिलाड़ी को ही ये पुरस्कार मिलता है. कुछ मामलों में हारने वाले टीम के भी खिलाड़ी को ‘मैन ऑफ़ द मैच’ मिल जाता है. ये तो तुक्के की बात हो गई, क्या आपको पता है कि ‘मैन ऑफ़ द मैच’ देने का फ़ैसला कौन लेता है?

ये जो कमेंटेटर होते हैं, जिनकी बारीक नज़र पर पूरे मैच पर होती है, जो खेल को अपने कमेंट्री से और ज़्यादा रोमांचक बना देते हैं.

ये वो लोग होते हैं जिनके पास खेल की अच्छी जानकारी होती है, इनमे से ज़्यादातर पुराने खिलाड़ी ही होते हैं. ‘मैन ऑफ़ द मैच’ चुनने का काम भी इन्हीं का होता है. सभी अन्य भाषाओं के कमंटेटर एक साथ बैठ कर ये फ़ैसला लेते हैं कि किसे आज के मैच के लिए ये पुरस्कार दिया जाए.

कभी-कभी कमंटेटर के अलावा मैच रेफ़्री और दूसरे वरिष्ठ खिलाड़ी भी ‘मैन ऑफ़ द मैच’ चुनने वाले पैनल का हिस्सा होते हैं.

बड़ी श्रृंख्ला जैसे चैंपियंस ट्रॉफ़ी या वर्ल्ड कप में ‘मैन ऑफ़ द मैच’ को चुनने के लिए अलग से पैनल तैयार किया जाता है.

Posted on Leave a comment

स्काई डाइविंग के लिए इंडिया की ये 5 जगहें हैं बेस्ट

स्काई डाइविंग, सिंपल पैराशूटिंग का मॉर्डन रूप है जिसमें एयरक्रॉफ्ट द्वारा एक तय ऊंचाई से खुली हवा में जंप करना होता है और उसके कुछ समय बाद अपना पैराशूट खोलकर लैंड करना होता है।

इस एडवेंचर में एन्जॉयमेंट के साथ सुरक्षा के लिए आपको कुछ रूल्स भी फॉलो करने पड़ते हैं। जिसके लिए ट्रैनर्स मौजूद होते हैं। जहां कई जगहों पर 1-2 घंटे की ट्रेनिंग दी जाती है वहीं कुछ जगहों पर महज कुछ घंटों की। जिसके बाद आप तैयार होते हैं खुली हवा में आजाद चीड़िया की तरह उड़ने के लिए। तो आज हम इंडिया की ऐसी ही जगहों के बारे में जानेंगे, जहां जाकर आप अपने स्काई डाइविंग के शौक को आसानी से पूरा कर सकते हैं।

इंडिया की ये 5 जगहें हैं स्काई डाइविंग के बेस्ट

मैसूर, कर्नाटक- बेस्ट स्काई डाइविंग डेस्टिनेशन्स की लिस्ट में मैसूर सबसे ज्यादा पॉप्युलर है। बैंगलुरू से कुछ ही घंटे की दूरी पर बसे मैसूर में बहुत सारे स्काई डाइविंग कैंप्स मिलेंगे। यहां आकर स्काई डाइविंग करना बिल्कुल अलग ही तरह का एक्सपीरियंस होता है। टैंडेम से लेकर स्टेटिक और एक्सीलेरेटेड हर तरह के जंप्स के लिए प्रोफेशनल ट्रेनर्स द्वारा आपको 2-3 दिन की ट्रैनिंग दी जाती है। इसके बाद ही आप स्काई डाइविंग का मजा ले सकते हैं। हवा में फ्री होकर उड़ते हुए आसपास के खूबसूरत नजारों को देखने का एहसास अलग ही होता है

धाना, मध्यप्रदेश- धाना में इंडिया का पहला स्काई डाइविंग कैंप शुरू हुआ था। यहां आपको स्टेटिक और टैंडेम जंप्स के ऑप्शन्स मिलते हैं। 4000 फीट से जंप करते हुए यहां की खूबसूरती देखना वाकई बहुत अद्भुत होता हैशायद इसलिए ही धाना को इंडिया के बेस्ट स्काई डाइविंग डेस्टिनेशन्स में शामिल किया गया है

एंबी वैली, महाराष्ट्र- अगर आपको एंडवेंचर करना पसंद है तो महाराष्ट्र के एंबी वैली में स्काई डाइविंग जरूर ट्राय करें। 45 मिनट की ये डाइविंग आपको लाइफटाइम याद रहेगी। फिलहाल यहां 10,000 फीट से टैंडेम जंप की सुविधा अवेलेबल है जिसमें बेशक मज़ा तो आता है लेकिन उतना ही डर भी लगता है। तो अगर आप थ्रील के साथ इस एडवेंचर को वाकई एन्जॉय करना चाहते हैं तो फिर वीकेंड में महाराष्ट्र आने का प्लान करें

दीसा, गुजरात- एक्सपीरियंस्ड हो या फिर नौखिसिया, गुजरात का दीसा हर किसी को लाइफटाइम एक्सपीरियंस देने के लिए बेस्ट स्काई डाइविंग डेस्टिनेशन है।हां गुजरात स्पोर्ट्स अथॉरिटी और इंडियन पैराशूटिंग फेडरेशन द्वारा भी स्काई डाइविंग के कैंप्स लगाए जाते हैं

पांडिचेरी- इंडिया के खूबसूरत शहरों में शामिल पांडिचेरी सिर्फ स्कूवा ही नहीं स्काई डाइविंग के लिए भी बेस्ट डेस्टिनेशन है. ट्रैवलिंग के साथ एंडवेंचर पसंद वालों की तो ये सबसे पसंदीदा जगह है। पांडिचेरी में आपको स्टेटिक, टैंडेम और एक्सीलिरेटेड हर तरह के जंप्स के ऑप्शन मिलेंगे। फ्री बर्ड की तरह हवा में उड़ते हुए नैचुरल ब्यूटी को एक्सप्लोर करना है तो पांडिचेरी का ट्रिप रहेगा बेस्ट

Posted on Leave a comment

अफगानिस्तान ने लगाई शर्मनाक रिकॉर्ड्स की झड़ी, तोड़ा 90 साल का रिकॉर्ड

अफगानिस्तान की टीम ने इस मैच की अपनी पहली पारी में 109 रन बनाने के लिए सिर्फ 27.5 ओवर तक बल्लेबाज़ी की। इसी के साथ अफगानिस्तान ने पहला टेस्ट मैच में सबसे कम ओवर बल्लेबाज़ी करने का रिकॉर्ड भी बना दिया। अफगानिस्तान से पहले ये रिकॉर्ड बांग्लादेश के नाम था। बांग्लादेश की टीम ने अपने पहले टेस्ट की दूसरी पारी मेंं 46.3 ओवर बल्लेबाज़ी की थी। बांग्लादेश से पहले ये रिकॉर्ड न्यूज़ीलैंड के नाम था जो अपने पहले टेस्ट की पहली पारी में 47.1 ओवर में ही सिमट गई थी।

भारत ने पहली पारी में 474 रन बनाए थे और इसके जवाब में अफगानिस्तान अपने पहले टेस्ट की पहली पारी में सिर्फ 109 रनों पर सिमट गई। इस लिहाज़ से भारत को 365 रन की बढ़त मिली और फिर टीम इंडिया ने अफगानिस्तान को फॉलोऑन खेलने का न्यौता दिया। पहले टेस्ट मैच में फॉलोऑन खेलते हुए ये किसी भी टीम पर बनाई गई सबसे बड़ी बढ़त रही। इससे पहले 1928 में इंग्लैंड और वेस्टइंडीज़ के बीच खेले गए मैच में इंग्लिश टीम ने कैरिबियाई टीम पर 224 रन की बढ़त बनाई थी। वो टेस्ट मैच लॉर्ड्‍स के मैदान पर खेला गया था और वो वेस्टइंडीज़ का पहला टेस्ट मैच था।

चिन्नास्वामी में अफगानिस्तान की टीम द्वारा बनाया गया 109 रन टेस्ट की एक पारी में सबसे कम रन हैं। इससे पहले 2017 में बेंगलुरु के मैदान पर ऑस्ट्रेलिया की टीम के नाम इस मैदान पर सबसे कम रन बनाने का रिकॉर्ड था। ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम सिर्फ 112 रन बनाकर सिमट गई थी।

पहली पारी में मिली बड़ी बढ़त के आधार पर भारत ने अफगानिस्तान को फॉलोआन खेलने पर मजबूर कर दिया और दूसरी पारी में मेहमान टीम 38.4 ओवर में सिर्फ 103 रन पर ऑल आउट हो गई। टेस्ट मैच में ये भारत की सबसे बड़ी जीत थी। इससे पहले भारत ने वर्ष 2017 में बांग्लादेश को पारी और 239 रन से हराया था। इस मैच में भारतीय बल्लेबाजों और उसके बाद गेंदबाजों का शानदार प्रदर्शन रहा। शिखर धवन को मैन ऑफ द मैच चुना गया। इस मैच में विराट की जगह रहाणे ने कप्तानी की थी और उनकी अगुआई में भारतीय टीम ने इस एतिहासिल टेस्ट मैच में जीत हासिल की। इस टेस्ट मैच के जरिए टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने वाले अफगानिस्तान को भारत ने एक पारी और 262 रन से हराया। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में भारत ने पहली बार किसी टीम के खिलाफ सिर्फ दो दिनों में ही टेस्ट मैच जीतकर खिताब पर कब्जा किया।

Posted on Leave a comment

वॉटसन ने रचा IPL का नया इतिहास

IPL 2018 के फाईनल मैच में वॉटसन जब अपनी पारी की शुरुआत करने आए तब वो 10 गेंदों के बाद यानी 11वें गेंद पर अपना खाता खोला और इसके बाद ऐसी पारी खेली की टीम को फाइनल में जीत दिला दी। शेन वॉटसन ने इस आइपीएल में अपना दूसरा शतक लगाया। शेन के शतक के दम पर चेन्नई ने तीसरी बार आइपीएल का खिताब अपने नाम किया।

वॉटसन ने रचा इतिहास
चेन्नई के ओपनर बल्लेबाज शेन वॉटसन का खतरनाक रूप हैदराबाद के खिलाफ फाइनल मैच में देखने को मिला। उन्होंने गेंदों 51 पर अपना शतक पूरा किया। वॉटसन ने हैदराबाद के खिलाफ 57 गेंदों पर नाबाद 117 रन की पारी खेली और अपनी टीम को जीत दिलाने में बड़ी भूमिका निभाई। शेन वॉटसन आइपीएल इतिहास के पहले ऐसे बल्लेबाज बन गए जिन्होंने रन चेज करते हुए शतक लगाया। वॉटसन ने अपनी शतकीय पारी के दौरान 11 चौके और 8 छक्के लगाए। उनका स्ट्राइक रेट 205.26 का रहा।

ठोका आइपीएल का दूसरा शतक
शेन वॉटसन इस आइपीएल में दो शतक लगाने वाले एकमात्र खिलाड़ी रहे। इस मैच से पहले उन्होंने लीग मुकाबले में राजस्थान के खिलाफ 106 रन की पारी खेली थी। इसके बाद फाइनल मुकाबले में उन्होंने हैदराबाद के खिलाफ नाबाद 117 रन बनाए।

आइपीएल 2018 में शेन का सफर
शेन वॉटसन की बल्लेबाजी की बात करें तो उन्होंने आइपीएल में खेले 15 मैचों में 39.64 की औसत से 555 रन बनाए। रन बनाने के मामले में आइपीएल में पांचवें नंबर पर रहे। वॉटसन ने 15 मैचों में 2 शतक और 2 अर्धशतक लगाए और उनका स्ट्राइक रेट 154.59 का रहा। वॉटसन ने इस आइपीएल में 44 चौके और 35 छक्के लगाए। हालांकि गेंदबाजी में वो कुछ खास नहीं कर पाए और सिर्फ 6 विकेट ही ले सके।

Posted on Leave a comment

एबी डिविलियर्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास, इनके नाम दर्ज़ है ये विश्व रिकॉर्ड

डिविलियर्स ने द. अफ्रीका के लिए 114 टेस्ट 228 वनडे और 78 टी 20 मैच खेले हैं। 114 टेस्ट मैचों में 8765 रन बनाए हैं जिसमें 22 शतक और 46 अर्धशतक बनाए हैं। वे एक बेहतरीन बल्लेबाज के साथ ही एक शानदार विकेट कीपर भी रह चुके हैं।

एक वीडियो संदेश में कहा कि वे दक्षिण अफ्रीका और दुनियाभर में अपने फैंस के शुक्रगुजार हैं। एबी ने कहा अब समय आ गया है जब दूसरे युवा खिलाड़ियों को मौका दिया जाए। ईमानदारी से कहूं तो मैं अब थक गया हूं। ये एक मुश्किल निर्णय है और मैने ये फैसला काफी सोच समझकर लिया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि  मैं अपने संन्यास का एलान बेहतरीन क्रिकेट खेलते हुए करना चाहता था। हालांकि वे घरेलू क्रिकेट के लिए उपलब्ध रहेंगे।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज़ शतक लगाने का रिकॉर्ड भी ए बी डिविलियर्स के नाम ही है। ये कमाल उन्होंने 18 जनवरी 2015 को वेस्टइंडीज के खिलाफ महज 31 गेंदों में शतक लगाकर किया था। डीविलियर्स ने कोरी एंडरसन के 36 गेंदों में शतक के रिकॉर्ड को ध्वस्त कर ये रिकॉर्ड बनाया था। उन्होंने 16 छक्कों और 9 चौके की मदद से वनडे का यह कीर्तिमान बनाया। उन्होंने इस मैच में कुल 149 रन बनाए थे।

एबी डीविलियर्स के नाम 31 गेंदों में सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड तो है ही इसके अलावा सबसे तेज 150 रनों का रिकॉर्ड भी डीविलियर्स के ही नाम पर है। साल 2015 विश्व कप में डीविलियर्स ने सिडनी के मैदान पर 64 गेंदों में 150 रन ठोककर विश्व रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था। उन्होंने इस दौरान नाबाद 66 गेंदों में 162 रन बनाए थे जिसमें 17 चौके और 8 छक्के शामिल थे।

Posted on Leave a comment

CWG 2018: हिना सिद्धू ने शूटिंग में जीता गोल्ड, अब तक भारत के 20 मेडल हुए

21वें कॉमनवेल्थ खेलों के छठे दिन शूटिंग में अच्छी खबर आई है. 25 मीटर पिस्टल इवेंट में हीना सिद्धू ने भारत को गोल्ड दिलाया है. इसके साथ ही भारत के स्वर्ण पदकों की कुल संख्या 11 हो गई है. हीना ने फाइनल में रिकॉर्ड 38 अंक बटोरे. इससे पहले हीना ने महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल में सिल्वर जीता था.

मौजूदा कॉमनवेल्थ शूटिंग में भारत के खाते में अब तक कुल तीन गोल्ड मेडल आ चुके हैं. हीना से पहले मनु भाकेर और जीतू राय ने निशानेबाजी में गोल्ड जीता था. शूटिंग में भारत ने 3 गोल्ड, 2 सिल्वर और 3 ब्रॉन्ज के साथ कुल 8 मेडल हासिल किए हैं.

भारतीय मुक्केबाज अमित पंघाल ने पुरुषों की 46-49 किलोवर्ग की मुक्केबाजी स्पर्धा के सेमीफाइनल में जगह बना ली है. इसके साथ ही अमित ने ब्रॉन्ज मेडल भी पक्का कर लिया है. हालांकि, उनकी कोशिश भारत को गोल्ड मेडल दिलाने की होगी.

पुरुषों के 50 मीटर राइफल प्रोन इवेंट के फाइनल में भारत के गगन नारंग 142.3 के स्कोर के साथ मेडल की रेस से बाहर हो गए. गगन सातवें स्थान पर रहे, जबकि चैन सिंह 204.8 का स्कोर कर चौथे स्थान पर आए. इस स्पर्धा का स्वर्ण पदक वेल्स के डेविड फेल्प्स को हासिल हुआ. उन्होंने 248.8 अंक बनाए और राष्ट्रमंडल खेलों का रिकॉर्ड भी तोड़ा. स्कॉटलैंड के नील स्टिरटोन (247.7 अंक) को रजत मिला, जबकि इंग्लैंड के केनेथ पार (226.6 अंक) ने कांस्य पदक जीता.

Posted on Leave a comment

CWG 2018: मीराबाई चानू ने भारत को दिलाया पहला गोल्ड मेडल

Posted on Leave a comment

रेंज रोवर इवोक कन्वर्टेबल लॉन्च, कीमत 69.53 लाख रूपए

लैंड रोवर ने रेंज रोवर इवोक कन्वर्टेबल को लॉन्च कर दिया है। यह केवल टॉप वेरिएंट एचएसई डायनामिक में उपलब्ध है। इसकी कीमत 69.53 लाख रूपए (एक्स-शोरूम) हैै। यह स्टैंडर्ड इवोक एचएसई डायनामिक से 9.54 लाख रूपए महंगी है।

Range Rover Evoque Convertible

इवोक कन्वर्टेबल को स्टैंडर्ड इवोक पर तैयार किया गया है। फर्क सिर्फ इतना है कि इसकी छत को खोला और बंद किया जा सकता है, जबकि रेग्यूलर मॉडल की छत को खोला और बंद नहीं किया जा सकता। इवोक कन्वर्टेबल की छत को फोल्ड होने में 18 सेकंड लगते हैं, जबकि वापस उसी स्थिति में आने में 21 सेकंड लग जाते हैं। इसकी छत को 48 किमी प्रति घंटा की स्पीड पर खोला और बंद किया जा सकता है।

Range Rover Evoque Convertible

इवोक कन्वर्टेबल की लंबाई 4370 एमएम, चौड़ाई 1900 एमएम और ऊंचाई 1609 एमएम है। यह रेग्यूलर मॉडल से 10 एमएम ज्यादा लंबी, 220 एमएम कम चौड़ी और 26 एमएम कम ऊंची है। इसकी वाटर वेडिंग क्षमता 500 एमएम है। फोल्डेबल रूफ की वजह से इसका बूट स्पेस 73 लीटर कम हुआ है। इसका बूट स्पेस 251 लीटर है।

Range Rover Evoque Convertible

इवोक कन्वर्टेबल में नेविगेशन सपोर्ट करने वाला 10 इंच टचस्क्रीन इंफोटेंमेंट सिस्टम, 825 वॉट का 16-स्पीकर्स वाला मैरिडयन सराउंड साउंड सिस्टम, 360 डिग्री कैमरा, ऑटोमैटिक क्लाइमेट कंट्रोल, क्रूज़ कंट्रोल, फ्रंट-रियर पार्किंग सेंसर, रेन-सेसिंग वाइपर और 12 तरह से इलेक्ट्रिक एडजस्ट होने वाली फ्रंट सीटें दी गई है। सुरक्षा और ऑफ-रोडिंग को बेहतर बनाने के लिए इस में टरेन रिस्पॉन्स सिस्टम, एबीएस, ईबीडी, ट्रेक्शन कंट्रोल, रोल स्टेबिलिटी कंट्रोल, ट्रेलर स्टेबिलिटी असिस्ट और टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम दिया गया है।

Range Rover Evoque Convertible

इवोक कन्वर्टेबल में 2.0 लीटर का एसआई4 पेट्रोल इंजन लगा है, जो 241 पीएस की पावर और 340 एनएम का टॉर्क देता है। यह इंजन 9-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स से जुड़ा है, जो सभी पहियों पर पावर सप्लाई करता है। इसकी टॉप स्पीड 217 किमी प्रति घंटा है। 0 से 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार पाने में इसे 8.1 सेकंड का समय लगता है।

(Source : CARDEKHO)

Posted on Leave a comment

2.57 लाख रुपये सस्ती हुई यामाहा की YZF R1, इन बाइक्स से होगा मुकाबला

यामाहा की बाइक खरीदने की चाहत रखते हैं तो यह खबर आपके लिए है। पिछले साल दिसम्बर महीने में लॉन्च हुई यामाहा की पावरफुल स्पोर्ट्स बाइक YZF R1 की कीमत में 2.57 लाख रुपये की कटौती हो गई है। पहले इस बाइक की कीमत जहां 20.73 लाख रुपये थी वही अब इसकी एक्स शो-रूम कीमत 18.16 लाख रुपये हो गई है

नई यामाहा R1 में क्विक शिफ्टर लिफ्ट कंट्रोल की सुविधा दी है, इसमें 998cc का 4 सिलिंडर इंजन लगा है जो 200bhp की पावर देता है। यामाहा नई R1 को CBU के रूप में भारत में बेचेगी, और यह बाइक ब्लू और ब्लैक कलर ऑप्शन में उपलब्ध होगी। बेहतरीन पावर और सशक्त लीनियर टोर्क देने वाला YZF-R1 टाइटेनियम कॉन रॉड और फोज्र्ड एल्युउमीनियम पिस्टन से युक्त है। हाल ही में CBU इम्पोर्ट्स में एक्साइज ड्यूटी की वजह से यह कटौती संभव हुआ है, ऐसे में इसका सीधा फायदा ग्राहकों को मिलेगा।

इन बाइक्स से होगा असली मुकाबला

अप्रिलिया RSV 1000R mille:

अप्रिलिया की यह स्पोर्ट्स बाइक ऑस्ट्रिया में रोटैक्स द्वारा बनाई गई है। साल 2004 में इसे लॉन्च किया गया था और तब से अब तक यह बाइक काफी पॉपुलर है। इस बाइक में 998cc का 60 डिग्री वी-ट्विन इंजन लगा है। यह इंजन 10000rpm पर 143.09ps की पावर जनरेट करता है। इस बाइक की टॉप स्पीड 281 किलोमीटर प्रति घंटा है।

होंडा CBR1100 XX ब्लैकबर्ड:

यामाहा R1 का मुकाबला होंडा की CBR1100 XX ब्लैकबर्ड से भी होगा, होंडा की यह बाइक जितनी खूबसूरत है उतनी तेज भी है। इस बाइक में 1137cc लिक्विड कूल्ड इनलाइन फोर सिलेंडर इंजन लगा है। यह इंजन 10,000rpm पर 153hp की पावर जनरेट करता है। बाइक की टॉप स्पीड 310 किलोमीटर प्रति घंटा है।

Posted on Leave a comment

सुजुकी Intruder FI भारत में लॉन्च, जानें- कीमत और खूबियां

सुजुकी मोटरसाइकल्स ने भारत में Suzuki Intruder के फ्यूल इंजेक्शन (FI) वेरिएंट को लॉन्च कर दिया है. कंपनी ने इसकी कीमत 1.06 लाख रुपये (एक्स-शोरूम, दिल्ली) रखी है. फ्यूल इंजेक्टेड वेरिएंट कार्ब्युरेटर एडिशन की तुलना में 7,000 रुपये तक ज्यादा महंगी है. कार्ब्युरेटर एडिशन की मौजूदा कीमत 99,995 रुपये है.

इस बाइक में किसी तरह का मैकेनिकल और कॉस्मेटिक बदलाव नहीं किया गया है. ये बाइक मेटालिक ऊर्ट/ मेटालिक मैट ब्लैक नं. 2 और ग्लास स्पार्कल ब्लैक/ मेटालिक मैट टाइटेनियम सिल्वर कलर ऑप्शन में ग्राहकों को उपलब्ध होगी. Suzuki Intrude को पिछले साल नवंबर में लॉन्च किया गया था.

ये कंपनी की हाई एंड बाइक Intruder M1800 से इंस्पायर है जिसमें 1,800cc का इंजन दिया गया है. Suzuki Intruder में 155cc का इंजन है.

डिजाइन की बात करें तो यह Intruder M1800 से मिलती-जुलती है और इसे एक क्रूजर बनाने की पूरी कोशिश की गई है. हालांकि इसका चेसिस Suzuki Gixxer का ही है जिसे कंपनी ने भारत में काफी पहले लॉन्च किया था और यह पॉपुलर भी हुई है. इसमे दिया गया इंजन 14.8 PS का पावर और 14NM का टॉर्क जेनेरेट करता है. ये बाइक 5 स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन के साथ आती है. इसमें 11 लीटर की फ्यूल कैपेसिटी दी गई है.

Intruder 150 में Intruder 1,800 की तरह ही ट्राइएंगुलर हेडलैंप दिया गया है और इसमे डुअल सीट सेटअप है जैसा आम तौर पर क्रूजर बाइक्स में देखने को मिलता है. इस बाइक में फ्रंट और रियर दोनों चक्कों में डिस्क ब्रेक लगाया गया है और सिक्योरिटी के लिए इसमें ABS स्टैंडर्ड भी दिया गया है. इसके अलावा इसमे एलईडी टेल लाइट्स दी गई है.

कंपनी ने दावा किया है कि Suzuki Intruder 44 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देगी. कुछ दूसरे फीचर्स की बात करें तो इसमें Dual Exhaust दिए गए हैं और इसमें डिजिटल कंसोल दिया गया है. Suzuki Intruder में 17 इंच के तीन स्पोक एलॉय व्हील दिए गए हैं. फ्रंट में 41mm का टेलिस्कोपिक फोर्क है रियर में 7 स्टेप मोनोशॉक दिया गया है.