Posted on

फ्लिपकॉर्ट में 77% हिस्सेदारी के बाद अब 85% की तैयारी में वॉलमार्ट

देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी में 77 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के बाद अब वॉलमार्ट 3 अरब डॉलर का निवेश कर फ्लिपकॉर्ट की 85 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने की तैयारी में है।

 

इस बात की जानकारी दुनिया के सबसे बड़े रिटेलर ने शुक्रवार को अमेरिकी सिक्यॉरिटीज और एक्सचेंज कमिशन को दी। रिटेलर ने ये भी बताया कि वॉलमार्ट के बाकी शेयर भी उसी कीमत पर खरीदे जाएंगे जिस कीमत पर 77 फीसदी शेयर खरीदे गए थे।

वॉलमार्ट ने किस दर पर फ्लिपकॉर्ट के शेयरों को हासिल किया यह जानकारी सार्वजनिक नहीं हुई है। वॉलमार्ट की फाइलिंग इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि फ्लिपकॉर्ट के बड़े निवेशक जापानी इंटरनेट और टैलीकॉम कंपनी सॉफ्टबैंक ने शेयरों को बेचने पर कोई फैसला नहीं किया है। सॉफ्टबैंक के पास फ्लिपकॉर्ट के करीब 22 फीसदी शेयर हैं। इससे पहले मीडिया रिपोर्टस से भी ये बात साने आई थी कि वॉलमार्ट और सॉफ्टबैंक पहले की कीमत पर ही शेयर ट्रांजेक्शन के लिए वक्त निकाल कर बातचीत करने की तैयारी कर रहे थे।

एसईसी फाइलिंग के अनुसार, वॉलमार्ट 2 अरब डॉलर कैश में निवेश कर रहा है और फ्लिपकॉर्ट के मौजूदा शेयर होल्डर्स से 14 अरब डॉलर मूल्य के शेयर खरीद रहा है। वॉलमार्ट ने कहा है कि वह बोर्ड और फाउंडर की सलाह से फ्लिपकॉर्ट ग्रुप ऑफ कंपनीज के सीईओ और प्रिंसिपल एग्जिक्युटिव्ज को अपॉइंट या रिप्लेस कर सकता है। फिलहाल कल्याण कृष्णमूर्ति फ्लिपकॉर्ट के सीईओ हैं और को-फाउंडर बिन्नी बंसल ग्रुप सीईओ हैं। को-फाउंडर और एग्जिक्युटिव चैयरमैन सचिन बसंल ने कंपनी छोड़ने का फैसला किया।

Posted on

अब से आपके वाहन में पड़ेगा नए किस्म का पेट्रोल-डीजल, जानें क्यों है खास

राजधानी और आसपास के इलाकों में वायु प्रदूषण के खतरनाक स्तर तक पहुंचने की चुनौती से निपटने के लिये सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियों ने एक अप्रैल से राजधानी में यूरो-6 मानक के  डीजल एवं पेट्रोल की आपूर्ति शुरू कर देंगी। कंपनियां इसके लिये कोई अतिरिक्त कीमत नहीं वसूलेंगी।

दिल्ली देश का पहला ऐसा शहर होगा जहां यूरो-4  मानक ईंधन का प्रयोग बंद कर सीधे यूरो-6  मानक ईंधन को इस्तेमाल में लाया जायेगा।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में स्थित अन्य शहरों नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम और फरीदाबाद के अलावा मुंबई, चेन्नई,  बेंगलुरू, हैदराबाद और पुणे समेत 13 प्रमुख शहरों में यूरो-6 मानक ईंधन की आपूर्ति अगले साल एक जनवरी से शुरू होगी। देश के बाकी हिस्सों में यह अप्रैल 2020 से शुरू होगा।

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी)  के निदेशक (रिफाइनरी) बी. वी. रामगोपाल ने कहा कि सार्वजनिक तेल विपणन कंपनियां आईओसी, भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड और हिंदुस्तान पेट्रोलियम लिमिटेड  कल से दिल्ली के अपने सभी 391 पेट्रोल पंपों पर यूरो-छह उत्सर्जन मानक वाले ईंधन की आपूर्ति शुरू कर देंगी।

उन्होंने कहा कि भले ही कंपनियों ने स्वच्छ ईंधन उत्पादन के लिए भारी निवेश किया है, उपभोक्ताओं के ऊपर अभी कुछ समय तक इसका बोझ नहीं डाला जाएगा। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, आश्वस्त रहिये, खर्च का बोझ उपभोक्ताओं पर डालने की कोई योजना नहीं है।  अभी उपभोक्ताओं से तत्काल लागत वसूलने की कोई योजना नहीं है।

लागत के हिसाब से स्वच्छ ईंधन50  पैसे प्रति लीटर महंगाहोना चाहिये। उन्होंने कहा कि जब पूरे देश में यूरो-6  मानक के ईंधन की आपूर्ति शुरू हो जाएगी तब लागत वसूलने की रूपरेखा तैयार की जाएगी।

रामगोपाल ने कहा कि दिल्ली की 9.6 लाख टन पेट्रोल तथा 12.65 लाख टन डीजल की सालाना खपत देखते हुए उत्तर प्रदेश स्थित मथुरा परिशोधन संयंत्र, हरियाणा की पानीपत रिफाइनरी, मध्य प्रदेश के बिना संयंत्र तथा पंजाब के बठिंडा  संयंत्र ने स्वच्छ ईंधन का उत्पादन शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि इसके लिए अकेले पानीपत संयंत्र पर ही करीब 183  करोड़ रुपये खर्च किये गये।

उन्होंने कहा कि बाकी के संयंत्रों के उन्नयन का काम चल रहा है। वर्ष 2015 में निर्णय लिया गया था कि यूरो6  मानक के अनुकूल ईंधन की आपूर्ति पूरे देश में एक अप्रैल 2020 से शुरू की जायेगी  हालांकि, जहरीली धुंध की समस्या को देखते हुए दिल्ली में इसे पहले ही किया जा रहा है।

गोपाल ने कहा कि स्वच्छ यूरो6  मानक के ईंधन तथा पुराने इंजन के इस्तेमाल से पार्टिकुलेट उत्सर्जन में10 से 20  प्रतिशत की कमी आएगी। इसका पूरा लाभ उठाने के लिए यूरो6 मानक के इंजनों की भी जरूरत होगी।

उन्होंने कहा, यूरो6 मानक के ईंधन की आपूर्ति कल से शुरू हो जाने से वाहन निर्माता कंपनियों को यह भरोसा मिलेगा कि स्वच्छ ईंधन की उपलब्धता कोई समस्या नहीं है।

दिल्ली में सुचारू आपूर्ति के लिए आईओसी मथुरा और पानीपत संयंत्रों से स्वच्छ ईंधन मंगाएगी। एचपीसीएल की बठिंडा स्थित संयुक्त संयंत्र तथा बीपीसीएलबीना  संयंत्र से ईंधन मंगाएगी।

Posted on

सुजुकी Intruder FI भारत में लॉन्च, जानें- कीमत और खूबियां

सुजुकी मोटरसाइकल्स ने भारत में Suzuki Intruder के फ्यूल इंजेक्शन (FI) वेरिएंट को लॉन्च कर दिया है. कंपनी ने इसकी कीमत 1.06 लाख रुपये (एक्स-शोरूम, दिल्ली) रखी है. फ्यूल इंजेक्टेड वेरिएंट कार्ब्युरेटर एडिशन की तुलना में 7,000 रुपये तक ज्यादा महंगी है. कार्ब्युरेटर एडिशन की मौजूदा कीमत 99,995 रुपये है.

इस बाइक में किसी तरह का मैकेनिकल और कॉस्मेटिक बदलाव नहीं किया गया है. ये बाइक मेटालिक ऊर्ट/ मेटालिक मैट ब्लैक नं. 2 और ग्लास स्पार्कल ब्लैक/ मेटालिक मैट टाइटेनियम सिल्वर कलर ऑप्शन में ग्राहकों को उपलब्ध होगी. Suzuki Intrude को पिछले साल नवंबर में लॉन्च किया गया था.

ये कंपनी की हाई एंड बाइक Intruder M1800 से इंस्पायर है जिसमें 1,800cc का इंजन दिया गया है. Suzuki Intruder में 155cc का इंजन है.

डिजाइन की बात करें तो यह Intruder M1800 से मिलती-जुलती है और इसे एक क्रूजर बनाने की पूरी कोशिश की गई है. हालांकि इसका चेसिस Suzuki Gixxer का ही है जिसे कंपनी ने भारत में काफी पहले लॉन्च किया था और यह पॉपुलर भी हुई है. इसमे दिया गया इंजन 14.8 PS का पावर और 14NM का टॉर्क जेनेरेट करता है. ये बाइक 5 स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन के साथ आती है. इसमें 11 लीटर की फ्यूल कैपेसिटी दी गई है.

Intruder 150 में Intruder 1,800 की तरह ही ट्राइएंगुलर हेडलैंप दिया गया है और इसमे डुअल सीट सेटअप है जैसा आम तौर पर क्रूजर बाइक्स में देखने को मिलता है. इस बाइक में फ्रंट और रियर दोनों चक्कों में डिस्क ब्रेक लगाया गया है और सिक्योरिटी के लिए इसमें ABS स्टैंडर्ड भी दिया गया है. इसके अलावा इसमे एलईडी टेल लाइट्स दी गई है.

कंपनी ने दावा किया है कि Suzuki Intruder 44 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देगी. कुछ दूसरे फीचर्स की बात करें तो इसमें Dual Exhaust दिए गए हैं और इसमें डिजिटल कंसोल दिया गया है. Suzuki Intruder में 17 इंच के तीन स्पोक एलॉय व्हील दिए गए हैं. फ्रंट में 41mm का टेलिस्कोपिक फोर्क है रियर में 7 स्टेप मोनोशॉक दिया गया है.

Posted on

Sonu Ke Titu Ki Sweety collection: Kartik Aryan’s cheeky comedy mints Rs 73 cr at Box Office

Produced by Krishan Kumar and Bhushan Kumar under the banner of T-Series, ‘Sonu Ke Titu Ki Sweety’ has performed extremely well in the International market as well.

The film also stars Alok Nath, Virendra Saxena and Ishita Raj Sharma in pivotal roles.

‘Sonu Ke Titu Ki Sweety’ marks the fourth collaboration between director Luv Ranjan and actors Kartik Aryan and Nushrat Bharucha after ‘Pyaar Ka Punchnama’, ‘Akaash Vani’ and ‘Pyaar Ka Punchnama 2’.

Looking at the Box Office figures, the film has turned out to be a success and has emerged as the third best opener of this year after ‘Padmaavat’ and ‘PadMan’.

The collection number of the film is surprisingly great as it does not feature any A-rated star. In addition, the film did not even see a festival or a Holiday release.

Anushka Sharma’s home production horror flick ‘Pari’, which released on March 2, has received a lukewarm response as the film has so far earned Rs 19.35 crore at the ticket counter.

‘Padmaavat’ starring Deepika Padukone, Ranveer Singh and Shahid Kapoor, has so far minted Rs 286 crore at the Box Office. On the other hand, Akshay Kumar-Radhika Apte-starrer ‘PadMan’ has pocketed 78 crore.

Ajay Devgn-Ileana D’Cruz-starrer ‘Raid’ is the next big release of the month before Rani Mukerji’s ‘Hichki’. ‘Raid’ releases on March 16 and Hichki hit the screens in the following week.

Kartik Aryan’s ‘Sonu Ke Titu Ki Sweety’ has turned out to be an impressive watch. After stunning the viewers with its collections on the first day, the film has crossed the 70 crore-mark on the thirteenth day.

The film, which is directed by Luv Ranjan made a net collection of Rs 2.58 crore on Wednesday thereby taking its total collections to Rs 73.26 crore.

Trade expert, Taran Adarsh took to Twitter to share the collections, he wrote, “#SonuKeTituKiSweety continues its HEROIC RUN… [Week 2] Fri 5.83 cr, Sat 6.55 cr, Sun 7.02 cr, Mon 2.71 cr, Tue 2.62 cr, Wed 2.59 cr. Total: ₹ 73.26 cr. India biz… SUPER-HIT… #SKTKS.”

Although ‘Sonu Ke Tweety’ has better chances of earning more in the coming week, one can not overlook the fact that Anushka’s ‘Pari’ has also made its way to the theatres. The audience would want to see Anushka in a spooky avatar and hence ‘Sonu…’ will end up having a tough competition at the box office.

Posted on

छलावा न हों कोरिया से आ रहे सकारत्मक बयान: ट्रंप

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम छोड़ने को लेकर बातचीत की इच्छा जाहिर करने पर सतर्क प्रतिक्रिया दी है.

ट्रंप ने कहा कि ‘दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया से आ रहे बयान काफ़ी सकारात्मक हैं’ लेकिन साथ ही कहा कि ये ‘झूठी उम्मीद’ भी हो सकती है.

दक्षिण कोरिया ने जानकारी दी थी कि सोमवार को जब उसके अधिकारी उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन से मिले थे तो ये मुद्दा उठाया गया था.

दक्षिण कोरिया के मुताबिक किम जोंग उन अमरीका से बातचीत के लिए तैयार हैं और हथियारों के परीक्षण पर भी रोक लगा सकते हैं.

अमरीका-उत्तर कोरियाइमेज कॉपीरइटGETTY IMAGES

हालांकि, पूर्व में उत्तर कोरिया से हुई बातचीत में कुछ हासिल नहीं हुआ है. अमरीका और उत्तर कोरिया के कुछ अधिकारियों की राय है कि उत्तर कोरिया इसके जरिए हथियार विकसित करने के कार्यक्रम के लिए वक्त हासिल करने की कोशिश में हो सकता है. ये कड़े प्रतिबंधों से राहत पाने की कोशिश भी हो सकती है.

उत्तर कोरिया की ओर से हाल फिलहाल इस बारे में कोई टिप्पणी समाने नहीं आई है.

दक्षिण कोरिया की ओर से उत्तर कोरिया गए प्रतिनिधिमंडल के नेता चुंग इयू योंग ने ही जानकारी दी थी कि दोनों देशों के नेता अगले महीने एक शिखर सम्मेलन में मिलने के लिए सहमत हुए हैं

एक दशक से ज्यादा वक्त के दौरान ये ऐसी पहली मीटिंग होगी. किम जोंग उन साल 2011 से सत्ता में हैं. उनके उत्तर कोरिया का नेता बनने के बाद से ऐसी कोई मीटिंग नहीं हुई है.

फरवरी में दक्षिण कोरिया में हुए विंटर ओलिंपिक के दौरान दोनों देशों के बीच गर्माहट दिखी. यहां तक कि उत्तर कोरिया के खिलाड़ी ने दक्षिण कोरिया के खिलाड़ियों के साथ एक टीम में खेले.

उत्तर कोरिया, अमेरिका से बातचीत के लिए तैयार है: दक्षिण कोरिया

अमरीका-उत्तर कोरियाइमेज कॉपीरइटGETTY IMAGES

ट्रंप ने क्या कहा

वाशिंगटन में मीडिया से बात करते हुए ट्रंप ने कहा ‘उत्तर कोरिया के मामले में यकीनन हमने एक लंबा रास्ता तय किया है.’

‘दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया से आ रहे बयान सकारात्मक हैं. पूरी दुनिया के लिए ये बड़ी बात होगी.’

ट्रंप ने दक्षिण कोरिया में हुए ओलिंपिक में हिस्सा लेने के लिए उत्तर कोरिया की तारीफ़ भी की.

लेकिन इससे पहले उन्होंने एक चेताने वाला ट्वीट भी किया था जिसमें कहा गया था कि ये एक ‘झूठी उम्मीद’ भी हो सकती है.

इस बीच अमरीका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा कि उत्तर कोरिया के साथ बातचीत चाहे जिस दिशा में जाए, हमारा निश्चय दृढ़ है.

उन्होंने कहा, “सभी विकल्प मौजूद हैं और हमारा रूख उत्तर कोरिया के लिए तब तक नहीं बदलेगा जब तक हम उनका परमाणु कार्यक्रमों को बंद करने की तरफ़ कोई ठोस कदम न देख लें.”

ऐसी उम्मीद है कि उत्तर कोरिया से हुई बातचीत की जानकारी देने के लिए दक्षिण कोरिया की टीम हफ्ते के आखिर में अमरीका जा सकती है.

अमरीका-उत्तर कोरियाइमेज कॉपीरइटREUTERS

उत्तर कोरिया ने क्या कहा?

मंगलवार को दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति दफ्तर से एक बयान जारी किया गया जिसमें बताया गया, “उत्तर कोरिया ने कोरियाई प्रायद्वीप से परमाणु हथियार हटाने की इच्छा जताई है. अगर उत्तर कोरिया पर सैन्य कार्रवाई का खतरा कम हुआ और सरकार बने रहने की गांरटी दी गई तो उत्तर कोरिया का कहना है कि परमाणु हथियारों को बनाए रखने की उसे कोई वजह नज़र नहीं आती.”

हालांकि आलोचक उत्तर कोरिया की मंशा पर शक जताते हैं. अतीत में भी उत्तर कोरिया अपनी कही बातों से मुकरा है. 2005 में हथियार घटाने का समझौता उनमें से एक है.

Posted on

AUTOMOBILE कंपनी रिजल्ट्सः जानिए दिग्गज कंपनियों को हुआ कितना मुनाफा?

देश की सबसे बड़ी कार विनिर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया की फरवरी में कुल बिक्री 15 फीसदी बढ़कर 1,49,824 इकाई रही। पिछले साल इसी माह में यह बिक्री 1,30,280 इकाई थी। कंपनी ने एक बयान में बताया कि समीक्षावधि में उसकी घरेलू बिक्री 14.2 फीसदी बढ़कर 1,37,900 वाहन रही। पिछले साल इसी अवधि में यह आंकड़ा 1,20,735 वाहन था। कंपनी का निर्यात इस दौरान 24.9 फीसदी बढ़कर 11,924 वाहन रहा जो इससे पिछले साल समान अवधि में 9,545 इकाई था।
PunjabKesari
बजाज ऑटो 
दोपहिया वाहन बनाने वाली प्रमुख कंपनी बजाज ऑटो की फरवरी माह में कुल बिक्री 31 फीसदी बढ़कर 3,57,883 वाहन रही है। पिछले साल इसी माह में यह आंकड़ा 2,73,513 इकाई था। कंपनी ने एक बयान में बताया कि उसकी कुल घरेलू बिक्री इस दौरान 35 फीसदी बढ़कर 2,14,023 वाहन रही है जो फरवरी 2017 में 1,59,109 वाहन थी। समीक्षावधि में कंपनी की मोटरसाइकिलों की घरेलू बिक्री 23 फीसदी बढ़कर 1,75,489 वाहन रही जो इससे पिछले साल इसी माह में 1,42,287 वाहन थी। कंपनी का कुल निर्यात फरवरी 2018 में 26 फीसदी बढ़कर 1,43,860 वाहन रहा है जो पिछले साल इस दौरान 1,14,404 वाहन था।

PunjabKesari

अशोक लीलैंड
वाणिज्यिक वाहन बनाने वाली हिंदुजा समूह की कंपनी अशोक लीलैंड की कुल बिक्री फरवरी में 29 फीसदी बढ़कर 18,181 वाहन रही है। फरवरी 2017 में कंपनी की बिक्री 14,067 वाहन थी। कंपनी ने एक बयान में कहा कि उसके मध्यम एवं भारी वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री इस दौरान 21 फीसदी बढ़कर 13,726 इकाई रही और हल्के वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 63 फीसदी सुधरकर 4,455 वाहन रही।

PunjabKesari

एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर
ट्रैक्टर बनाने वाली कंपनी एस्कॉर्ट्स ने फरवरी 2018 में कुल 6,462 ट्रैक्टर बेचे जो गत साल के समान माह में बिके 4,247 वाहनों की तुलना में 52.2 फीसदी अधिक है। कंपनी ने कहा घरेलू बाजार में उसने गत माह 6,295 ट्रैक्टर बेचे जो फरवरी 2017 में बिके 4,104 वाहनों से 53.4 प्रतिशत अधिक है। कंपनी के निर्यात में भी तेजी रही और यह 16.8 फीसदी बढ़कर 143 से 167 ट्रैक्टर हो गया।

Posted on

4G कवरेज में अव्वल लेकिन स्पीड में फिसड्डी है भारत

इस समय पूरी दुनिया में 4G इंटरनेट का इस्तेमाल तेजी से बढ़ा है और भारत 4G इंटरनेट कवरेज के लिहाज से दुनिया के टॉप देशों में शुमार हो चुका है। ओपनसिग्नल की एक हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में इस समय 86.3 पर्सेंट 4G इंटरनेट की कवरेज है जो इसे कवरेज के मामले में टॉप देशों में शामिल करता है। लेकिन स्पीड के मामले में भारत 88 देशों में काफी फिसड्डी साबित हो रहा है।

 इस रिपोर्ट में बताया गया है कि 2017 भारत में 4G इंटरनेट की औसत स्पीड 6.07 Mbps रही है। भारत इस मामले में अपने पड़ोसी देशों से भी पिछड़ गया है। जहां पाकिस्तान में 4G की औसत स्पीड 13.56 Mbps है वहीं श्री लंका में यह 13.95 Mbps है। रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि पूरी दुनिया में 4G इंटरनेट की औसत स्पीड भारत से कहीं ज्यादा है। दुनियाभर में अभी 4G इंटरनेट की औसत स्पीड 16.9 Mbps है। हालांकि इसमें यह भी बताया गया है कि दुनिया का कोई भी देश अभी तक 50 Mbps की औसत 4G स्पीड तक नहीं पहुंच सका है।

दुनियाभर में अभी यह है 4G इंटरनेट का हाल

ओपन सिग्नल की हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, 4G इंटरनेट स्पीड के मामले में इस समय सबसे ऊपर सिंगापुर 44.31 Mbps के साथ टॉप पर है। टॉप 5 देशों में सिंगापुर के बाद नीदरलैंड्स, नॉर्वे, साउथ कोरिया और हंगरी हैं। साथ ही पूरी दुनिया में 30 देश ऐसे हैं जिनमें 80 पर्सेंट से ज्यादा 4G इंटरनेट कवरेज है। हाल में इस लिस्ट में थाईलैंड, बेल्जियम, लाटविया, फिनलैंड, उरुग्वे, डेनमार्क जैसे देश शामिल हुए हैं।

Posted on

BOX OFFICE पर थम ही नहीं पा रही टाईगर की दहाड़, 41 दिन और पीके को पछाड़ा !

सलमान खान स्टारर टाईगर ज़िंदा है बॉक्स ऑफिस पर थमने का नाम ही नहीं ले रही है। फिल्म की रिलीज़ को 41 दिन हो चुके हैं और आखिरकार पीके की कमाई खा चुके हैं।

दरअसल, 40 दिन में ही सलमान इस आंकड़े से केवल 2.5 करोड़ की दूरी पर थे और अब आधिकारिक रूप से सलमान ने पीके के 338 करो़ड को पीछे छोड़ दिया है।

अब सलमान खान का अगला टार्गेट होगा दंगल के 380 करोड़ जिसे छूना फिलहाल तो मुश्किल लग रहा है क्योंकि टाईगर ज़िंदा अब केवल 600 स्क्रीन पर लगी है। अगले शुक्रवार दो बड़ी फिल्में रिलीज़ हो रही हैं।

ऐसे में सलमान का दंगल का रिकॉर्ड तोड़ना मुश्किल ही लग रहा है। लेकिन टाईगर ज़िंदा है के साथ बॉलीवुड को मिल गई है उसकी पांचवीं 300 करोड़ी फिल्म।

tiger-zinda-hai-box-office-update-salman-khan-beats-aamir-khan-s-pk-lifetime-collections

जी हां, अभी तक बॉलीवुड का 300 करोड़ क्लब इसी तरह सूखा पड़ा हुआ है। वहीं दूसरी तरफ, ये तय है कि सलमान खान ने 300 करोड़ क्लब में एंट्री लेने के बाद भी आमिर को मात नहीं दी।

टाईगर ज़िंदा है ने रिलीज़ के 17 दिन बाद जाकर 300 करोड़ क्लब में एंट्री ले पाई। जबकि आमिर की हालिया फिल्मों ने ये काम काफी फटाक से किया है।

जानिए बॉलीवुड के 300 करोड़ क्लब का रिपोर्ट कार्ड

दंगल

दंगल

आमिर खान स्टारर दंगल, इस समय 300 करोड़ क्लब की टॉप फिल्म है। नितेश तिवारी की इस फिल्म ने ग्लोबल बॉक्स ऑफिस में झंडा गाड़ते हुए कुल 2100 करोड़ की कमाई कर डाली है।

13 दिन में 300

दंगल की शुरआत धीमी थी लेकिन फिल्म का वर्ड ऑफ माउथ काफी तगड़ा था। और इसलिए हर दिन फिल्म की कमाई ने शानदार इज़ाफा किया था। फिल्म 23 दिसंबर 2016 को रिलीज़ हुई और 13 दिन में 300 करोड़ कमा चुकी थी।

पीके

पीके

पीके जब से खबरों में आई तब से ही पीके ने धमाका करना शुरू कर दिया था। फिल्म ने ग्लोबल बॉक्स ऑफिस पर 790 करोड़ की कमाई की। और आमिर खान ने साबित किया था कि उनसे बेहतर इस बिज़नेस को कोई नहीं जानता।

17 दिन में 300

17 दिन में 300

पीके को 300 करोड़ कमाने में केवल 17 दिन लगे थे। हालांकि फिल्म की शुरूआत, हर आमिर खान फिल्म की तरह धीमी थी। लेकिन धीरे धीरे इसने कंट्रोवर्सी के दम पर तेज़ी पकड़ी।

बजरंगी भाईजान

बजरंगी भाईजान

सलमान खान स्टारर बजरंगी भाईजान, कबीर खान का बेस्ट कही जाती है। फिल्म ने सलमान खान का इमोशनल रूप सबके सामने लाया था। और इसी बदौलत फिल्म ने वर्ल्डवाइड 626 करोड़ की कमाई की।

25 दिन में 300

25 दिन में 300

बजरंगी भाईजान ने शुरूआत ताबड़तोड़ की थी लेकिन धीरे धीरे फिल्म ने अपनी गति छोड़ दी थी। फिल्म को 300 करोड़ कमाने में 25 दिन लगे और फिल्म ने कुल 320 करोड़ की कमाई की थी।

सुलतान

सुलतान

सलमान खान का सुलतान अवतार किसी ने पहले नहीं देखा था। और इसलिए उन्हें ऐसे देख सब चौंक गए। फिल्म ने वर्ल्डवाइड 589 करोड़ की कमाई की।

पूरे 35 दिन

पूरे 35 दिन

सुलतान को 300 करोड़ की कमाई तक पहुंचने के लिए पूरे 35 दिन लगे। दिलचस्प ये है कि फिल्म 300 करोड़ कमाई कर के वहीं रूक भी गई।

टाईगर नहीं तोड़ पाया रिकॉर्ड

टाईगर नहीं तोड़ पाया रिकॉर्ड

अब ये तो तय है कि टाईगर ज़िंदा है आमिर खान से पीछे ही है। लेकिन ये तय है कि सलमान खान पीके का रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं। अब देखना है कि दंगल उनके हाथ आती है या नहीं।

अपना रिकॉर्ड तोड़ेंगे सलमान

अपना रिकॉर्ड तोड़ेंगे सलमान

सलमान खान अपनी दोनों फिल्मों का रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं औऱ टाईगर ज़िंदा है, सबसे तेज़ 300 करोड़ कमाने वाली सलमान की पहली फिल्म है।

Posted on

Box Office Collection Day 12: वर्ल्ड बॉक्स ऑफिस पर ‘टाइगर की दहाड़’, कमाए 400 करोड़

सलमान खान और कैटरीना कैफ स्टारर फिल्म ‘टाइगर जिंदा है’ की कुल कमाई 400 करोड़ से ज्यादा हो चुकी है। जहां तक बात भारतीय बॉक्स ऑफिस की है तो इसने मंगलवार तक 272 करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई कर ली है। ट्रेड एनालिस्ट गिरीश जौहर ने अपने ट्विटर हैंडल से आंकड़े जारी करते हुए बताया कि फिल्म ने 10 दिनों के भीतर 400 करोड़ की कमाई कर ली है। गिरीश ने यह आंकड़ा फिल्म द्वारा भारत में अन्य देशों में की गई कमाई को जोड़ कर बताया है। बता दें कि फिल्म ने विदेशों में अब तक कुल 100 करोड़ का कलेक्शन कर लिया है।

भारत के भीतर इसने महज 2 दिन में 50 करोड़ का आंकड़ा छू लिया था और तीसरे दिन यह 100 करोड़ क्लब में शामिल हो गई थी। चौथे दिन तक फिल्म का बिजनेस 150 करोड़ हो गया था और पहला हफ्ता पूरा होते-होते इसने 200 करोड़ क्लब में एंट्री ले ली थी। 10वें दिन तक फिल्म का कुल कलेक्शन 250 करोड़ रुपए हो गया था। फिल्म भारतीय बॉक्स ऑफिस पर 300 करोड़ का आंकड़ा छूने से बस थोड़ा ही दूर है और अब माना यह जा रहा है कि दूसरे हफ्ते का अंत होने से पहले सलमान की यह फिल्म 300 करोड़ क्लब में एंट्री ले लेगी।

इसी के साथ सलमान खान की यह तीसरी ऐसी फिल्म बन जाएगी जो कि 300 करोड़ क्लब में शामिल होगी। बता दें कि इससे पहले सलमान खान की फिल्म बजरंगी भाईजान और सुल्तान 300 करोड़ क्लब में एंट्री ले चुकी हैं।