Posted on

मुंबई ने कायम रखी प्लेऑफ की उम्मीदें, किंग्स XI पंजाब को 6 विकेट से हराया

IPL के 34वें मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब की टीम ने 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 174 रन बनाए। मुंबई को जीत के लिए 175 रन बनाने का लक्ष्य मिला था जिसे इस टीम ने 19 ओवर में 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया और 6 विकेट से ये मैच जीत लिया।

मु्ंबई की टीम ने इस जीत के साथ फिलहाल प्लेऑफ के लिए अपनी उम्मीदें कायम रखी है। पंजाब को हराने के बाद मुंबई के कुल 6 अंक हो गए हैं और वो पांचवें नंबर पर पहुंच गया है। हालांकि पंजाब इस मैच को हारने के बाद भी 10 अंक के साथ चौथे नंबर पर कायम है।

सूर्यकुमार की बेहतरीन पारी

मुंबई का पहला विकेट इविन लुईस के तौर पर गिरा। लुईस कुछ खास नहीं कर पाए और 13 गेंदों पर 10 रन बनाकर मुजीब की गेंद पर लोकेश राहुल के हाथों कैच आउट हुए। सूर्यकुमार यादव ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए 42 गेंदों पर 57 रन बनाए। उन्हें स्टॉयनिस ने लोकेश राहुल के हाथों कैच करवा दिया। ईशान किशन अच्छी लय में दिख रहे थे लेकिन मुजीब ने उन्हें 25 रन पर क्लीन बोल्ड कर दिया। हार्दिक पांड्या ने 13 गेंदों पर 23 रन बनाए पर अहम वक्त पर अपना विकेट खो दिया। उन्हें टे ने क्लीन बोल्ड कर दिया। कप्तान रोहित शर्मा ने नाबाद 24 रन और कृणाल पांड्या ने नाबाद 31 रन की पारी के दम पर अपनी टीम को जीत दिला दी।

पंजाब के लिए मुजीब उर रहमान ने दो, एंड्रयू टे और स्टॉयनिस ने एक-एक विकेट लिए।

गेल की अर्धशतकीय पारी

पंजाब की टीम को दोनों ओपनर ने अच्छी शुरुआत दी। लोकेश राहुल ने क्रिस गेल के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 54 रन की साझेेदारी की और उनकी जोड़ी को मयंक ने तोड़ा। मयंक ने लोकेश राहुल को जेपी डुमिनी के हाथों कैच करवा दिया। राहुल ने 20 गेंदों पर 24 रन की पारी खेली। क्रिस गेल ने एक बार फिर से अपनी टीम के लिए उपयोगी पारी खेली और 40 गेंदों पर 50 रन बनाए। बेन कटिंग की गेंद पर उनका कैच सूर्यकुमार यादव ने लपका। युवराज सिंह का बल्ला एक बार फिर से खामोश रहा। उन्होंने 14 गेंदों पर 14 रन बनाए लेकिन रन आउट हो गए। करुण नायर 23 रन बनाकर मैक्लेघन की गेंद पर पांड्या द्वारा लपके गए। अक्षर पटेल 13 रन बनाकर बुमराह की गेंद पर पांड्या के हाथों कैच हुए। मयंक अग्रवाल 11 रन बनाकर हार्दिक पांड्या की गेंद पर कैच आउट हो गए। आखिरी में स्टॉयनिस ने 15 गेंदों पर तेज नाबाद 29 रन की पारी खेली और टीम के स्कोर को 174 तक पहुंचाया।

मुंबई की तरफ से बेन कटिंग, मयंक, हार्दिक पांड्या, जसप्रीत बुमराह और मैक्लेघन ने एक-एक विकेट झटके।

Posted on

रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट हैक, होम पेज पर दिखाई दे रहा चीनी अक्षर

शुक्रवार को रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट को किसी ने हैक कर लिया है। वेबसाइट के होम पेज पर चीनी अक्षर दिखाई दे रहा है। वेबसाइट को खोलने करने पर मिनिस्ट्री ऑफ डिफेंस (अंग्रेजी में) और हिंदी में रक्षा मंत्रालय लिखा दिख रहा है। इस घटना के बाद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट किया, उचित कदम उठाए जा रहे हैं। वेबसाइट को जल्द ही चालू किया जाएगा। आने वाले समय में हर संभावित कदम उठाए जाएंगे ताकि इस तरह की चीजों को होने से रोका जाए।

अधिकारियों ने बताया कि वेबसाइट पर चीनी अक्षर नजर आये जो इस बात का संकेत है कि चीनी हैकर उसमें शामिल हो सकते हैं। मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ” मामले पर हमारी पैनी नजर है। राष्ट्रीय सूचना केंद्र उसे बहाल करने का प्रयास कर रहा है।यह  केंद्र वेबसाइट का रखरखाव करता है। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि चीनी हैकर इस वेबसाइट को बिगाड़ने में शामिल हो सकते हैं।
 

Nirmala Sitharaman(Twitter)

@nsitharaman

 Action is initiated after the hacking of MoD website ( http://mod.nic.in  ). The website shall be restored shortly. Needless to say, every possible step required to prevent any such eventuality in the future will be taken. @DefenceMinIndia @PIB_India @PIBHindi

बता दें कि खबर लिखे जाने तक साइट नहीं खुल रही है। भारतीय रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट https://mod.gov.in है। शुक्रवार शाम करीब 4.30 बजे रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट हैक होने की खबर सामने आई। चीनी कैरक्टर दिखने से तरह-तरह की आशंकाएं जताई जा रही हैं। हालांकि अभी यह साफ नहीं हो सका है कि इसके लिए कौन जिम्मेदार है।

Posted on

CM केजरीवाल को मानहानि मामले में लगा जोर का झटका

हाईकोर्ट ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर चल रहे मानहानि मामले की सुनवाई पर अंतरिम रोक लगाने से बृहस्पतिवार को इंकार कर दिया। हालांकि दूसरी ओर कोर्ट ने दिल्ली सरकार व शिकायतकर्ता को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। याचिका पर अगली सुनवाई के लिये 11 जुलाई की तारीख तय की है।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने याचिका दायर निचली अदालत में चल रहे मानहानि मामले की सुनवाई पर रोक लगाते हुये उसे खारिज करने की मांग की थी। मानहानि की यह शिकायत पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के राजनीतिक सचिव पवन खेड़ा ने 2012 में दायर की थी।

जस्टिस एके पाठक ने अरविंद केजरीवाल की याचिका पर दिल्ली सरकार व शिकायतकर्ता पवन खेड़ा को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। वहीं दूसरी ओर कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मद्देनजर अंतरिम रोक लगाने से इंकार कर दिया। उस फैसले के मुताबिक सांसद व विधायकों के मामलों की सुनवाई एक साल के भीतर पूरी होनी चाहिये।

याचिका पर जिरह करते हुये वरिष्ठ सुधीर नंदराजोग ने कहा कि मानहानि की यह शिकायत दायर करने का पवन खेड़ा को कोई अधिकार नहीं है क्योंकि उनकी मानहानि नहीं हुई है। इसलिये इस मामले को खारिज किया जाना चाहिये।

पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के पूर्व राजनीतिक सचिव पवन खेड़ा ने शिकायत दायर कर कहा था कि एक टीवी शो के दौरान अरविंद केजरीवाल ने अक्तूबर 2012 में बिजली की बढ़ी दरों पर बोलते हुये ऐसी बातें कही जिससे तत्कालीन मुख्यमंत्री की बदनामी हुई थी।

पटियाला हाउस अदालत ने इस शिकायत पर अरविंद केजरीवाल को 31 जनवरी 2013 को बतौर आरोपी समन जारी किया गया था। इस शिकायत पर अदालत ने 28 अक्तूबर 2013 को आरोप तय किये थे।