Leave a comment

प्राचीनतम चिकित्सा पद्धति है मर्म विज्ञान: ऋषिकुल आयुर्वेदिक कॉलेज

ऋषिकुल आयुर्वेदिक कॉलेज के परिसर निदेशक डॉ. सुनील जोशी ने कहा कि मर्म चिकित्सा वेदों पर आधारित प्राचीन भारतीय चिकित्सा पद्धति है जो आयुर्वेद का ही एक अंग है।

वह सोमवार को नंदीपुरम नोरंगाबाद में आयोजित मर्म विज्ञान एवं मर्म चिकित्सा की कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। पांच दिवसीय कार्यशाला में देश विदेश से आए चिकित्सक और जिज्ञासु भारत की प्राचीनतम चिकित्सा पद्धति की जानकारी और प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे है।

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार संजीवनी विद्या सूर्य चिकित्सा स्वचिकित्सा, पंचमहाभूत चिकित्सा विलुप्त हो गई है। उसी प्रकार वैदिक चिकित्सा की विद्या मर्म चिकित्सा भी विलुप्त के कगार पर है। 107 मर्म बिंदुओं पर आधारित मर्म चिकित्सा दुष्प्रभाव रहित तुरन्त असर दिखाने वाली चिकित्सा पद्धति है जो सुश्रुत संहिता में निहित है। कार्यशाला के समन्वयक कनाडा से आए ज्ञानप्रकाश ने कार्यशाला में शरीर के ऊपरी भाग के मर्म बिंदुओं की जानकारी देते हुए बताया कि तल हृदय, शप्रि मर्म, मणि बंध, कूपर मर्म, अणि, उर्वी, गुल्फ, इन्द्र बस्ती, जानु मर्म को उत्प्रेरित करने से शरीर की व्याधियों का शमन किया जाता है।

मर्म चिकित्सक मयंक जोशी ने स्व मर्म चिकित्सा की जानकारी दी। कहा कि मनुष्य के शरीर में उसकी व्याधियों का निदान समाहित है। 107 मर्म बिंदुओं को उत्प्रेरित कर शरीर में छिपी हुई ऊर्जा को जाग्रत किया जाता है।

Leave a comment

राजस्थान के युवक ने रिमोट से चलाया ट्रैक्टर

राजस्थान के बारां जिले के बम्बौरी कलां गांव के एक किसान के बेटे ने रिमोट से ट्रैक्टर चलाकर सबको हैरत में डाल दिया। रिमोट से ट्रेक्टर चलाने वाले युवक योगेश नागर ने बताया कि उसके पिता को ट्रैक्टर चलाते समय पेट में तकलीफ होती थी।

जिससे वह काम नहीं कर पाते थे। यह दर्द महसूस कर योगेश ने बिना चालक के ट्रैक्टर चलाने की तरकीब ढूंढ निकालने की ठानी तथा एक ऐसा रिमोट तैयार किया जिससे ट्रैक्टर को बिना चालक के चलाया जा सके।

योगेश ने बताया कि इस तकनीक को विकसित करने के लिए कुछ उपकरण स्वयं बनाए तथा कुछ उपकरण बाजार से खरीदे। जिस पर 47 हजार रूपये का खर्चा आया। इस रिमोट की सीमा करीब एक से डेढ़ किलोमीटर है।

युवक के इस आविष्कार से सभी हैरत में हैं तथा इसकी सफलता के बाद कयी किसान उससे यह तकनीक हासिल करना चाहते हैं। योगेश ट्रेक्टर तक ही अपने को सीमित नहीं रखना चाहता बल्कि भारतीय सेना के लिए भी उपकरण बनाना चाहता है।

Leave a comment

चिंता जताते रह गए चीन-पाक, सुखोई पर सवार ब्रह्मोस ने उड़ा दिया टारगेट

 

  • भारत ने दुनिया की सबसे तेज क्रूज मिसाइल ब्रम्होस का फाइटर जेट सुखोई-30 MKI से सफल परिक्षण किया. सुखोई से छोड़ी गई मिसाइल बंगाल की खाड़ी में अपने टारगेट पर हिट हुई.

  • चिंता जताते रह गए चीन-पाक, सुखोई पर सवार ब्रह्मोस ने उड़ा दिया टारगेट
    2 / 7

    यह पहला मौका है जब ब्रम्होस का परिक्षण किसी फाइटर जेट से दिया गया हो. इसके पहले इसे जमीन और लड़ाकू जहाज से दागा जा चुका है.

  • चिंता जताते रह गए चीन-पाक, सुखोई पर सवार ब्रह्मोस ने उड़ा दिया टारगेट
    3 / 7

    बता दें कि रूस की एनपीओ मशीनोस्ट्रोयेनिया और भारत के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने इस कम दूरी की रैमजेट, सुपरसॉनिक क्रूज मिसाइल तो तैयार किया है.

  • चिंता जताते रह गए चीन-पाक, सुखोई पर सवार ब्रह्मोस ने उड़ा दिया टारगेट
    4 / 7

    इसकी सबसे ख़ास बात तो यह कि आदेश मिलते ही यह मिसाइल अपना रूट बदल सकती है. यही नहीं, रडार सिस्टम भी रफ़्तार के कारण धोखा खा जाते हैं.

  • चिंता जताते रह गए चीन-पाक, सुखोई पर सवार ब्रह्मोस ने उड़ा दिया टारगेट
    5 / 7

    मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस मिसाइल के जरिए 400 किमी की दूरी तक हमला किया जा सकता है. साथ ही यह  न्यूक्लियर वॉर हेड तकनीक से लैस होती है.

  • चिंता जताते रह गए चीन-पाक, सुखोई पर सवार ब्रह्मोस ने उड़ा दिया टारगेट
    6 / 7

    यही वजह है कि न्यूक्लियर वॉर हेड के डर से पाकिस्तान और चीन इस मिसाइल को लेकर पहले ही चिंता जता चुका है.

  • चिंता जताते रह गए चीन-पाक, सुखोई पर सवार ब्रह्मोस ने उड़ा दिया टारगेट
    7 / 7

    इसका नाम भारत की ब्रह्मपुत्र नदी और रूस की मसक्वा के नाम पर रखा गया है. यह अब तक की सुखोई द्वारा दागी गई सबसे भारी मिसाइल है. इसका वजन 2.5 टन बताया जा रहा है.

 

Leave a comment

टोक्यो मोटर शो: गाड़ी जो स्पीड में शेप बदल ले!

जापान में टोक्यो मोटर शो का आयोजन चल रहा है। 45वें एडिशन में कई कॉन्सेप्ट कारें पेश की गई हैं।

जापान की ऑटो पार्ट मेकर टोयोडा गोसेई की ये पेशकश ‘फ्लेश्बी’ केवल एक सीट वाली है। कंपनी का दावा है कि ‘फ्लेश्बी’ ई-रबर की खूबियां लिए हुए है और हाई स्पीड में ड्राइविंग करते वक्त इसकी बॉडी ज़रूरत के मुताबिक़ अपनी शेप बदल सकती है।

तस्वीर में टोयोटा की कॉन्सेप्ट-आई जिसे 25 अक्टूबर को पेश किया गया।

tokyo motor show,tokyo motor show 2017,yamaha motobot,tokyo motor show 2017 pictures,concept cars,concept bikes,weird concept cars,international news

टोक्यो मोटर शो 5 नवंबर तक चलेगा। ऑटोमोबाइल सेक्टर कंपनियां की दुनिया की बड़ी कंपनियों अपने नए प्रोडक्टश इस इवेंट में पेश करती हैं। तस्वीर में सुज़ुकी मोटर्स की ई-सर्वाइवर।

tokyo motor show,tokyo motor show 2017,yamaha motobot,tokyo motor show 2017 pictures,concept cars,concept bikes,weird concept cars,international news

 

यामाहा की ये हाई टेक बाइक ‘मोटरआईडी’ भी टोक्यो मोटर शो का एक ख़ास आकर्षण रहा।

tokyo motor show,tokyo motor show 2017,yamaha motobot,tokyo motor show 2017 pictures,concept cars,concept bikes,weird concept cars,international news

दिखने में बाइक जैसी लगती है लेकिन इसमें ज्यादा पहिए हैं। टोक्यो मोटर शो में यामाहा की एमडब्लूसी-4।

tokyo motor show,tokyo motor show 2017,yamaha motobot,tokyo motor show 2017 pictures,concept cars,concept bikes,weird concept cars,international news

 

टोयोटा मोटर्स ने अपनी इस कॉन्सेप्ट कार को वंडर-कैप्सूल का नाम दिया है।

tokyo motor show,tokyo motor show 2017,yamaha motobot,tokyo motor show 2017 pictures,concept cars,concept bikes,weird concept cars,international news

 

Leave a comment

ब्लैकबेरी ने बदली फ़ोन के इस्तेमाल की हर वजह। पेश है डॉक्टर फोन

Based on the idea of a mood ring, this futuristic cellphone integrates a keypad that changes color according to the emotional state, sensed from messages and phone calls, as the biometric ring transmits the body signals of wearer and sends data to the main device for interpretation. The goal  is to create empathy for one another and strengthen relationships.

Designer Daniel Yoon

As Daniel describes the interface:

It is of course touch based and all the user’s connections are shown graphically so you can see who is connected to whom. Each contact has an avatar that is encompassed by two colored rings. The inner colored ring shows the contact’s previous emotional state, and the outer ring represents the contact’s current emotional state. It is important to show the shift in emotions in order to see how an event has affected that contact.

Another important feature that we felt was important was the “Emotional Health Chart”. This chart would monitor the user’s emotional health through an indefinite period of time. One would be able to see how a certain event, or phone call/ message has affected the user. Obviously, if the chart shows someone is always upset, there would be a problem… If permitted, a user would be able to view other user’s charts as well.


Leave a comment

आतंक रोधी अभियानों के लिए चीन ने नयी ‘लेजर गन’ विकसित की

  चीन ने एक नयी लेजर गन विकसित की है जो एक सेकंड के भीतर ही 200 मीटर के लक्ष्य पर निशाना साधने में सक्षम है. इसका इस्तेमाल आतंक रोधी अभियानों के लिए किया जाएगा. मीडिया में आई एक रिपोर्ट में गुरुवार को यह जानकारी दी गई. चीन के हुनान प्रांत में हाल में आतंकवाद रोधी एक अभ्यास के दौरान इस बंदूक का प्रदर्शन किया गया. इस बंदूक में निशाना लगाने के लिए एक हैंडसेट है और एक बैक पैक है जिसमें इसे संचालित करने संबंधी चीजें हैं. चाइना एरोस्पेस साइंस एंड इंडस्ट्री कॉरपोरेशन (सीएएसआईसी) से संबद्ध कंपनी होंगफेंग ने इस गन का प्रदर्शन किया.आतंक रोधी अभियानों के लिए चीन ने नयी 'लेजर गन' विकसित की

यह बंदूक अन्य हथियारों की तुलना में अधिक तेजी से और सही निशाना लगाने में सक्षम है. इस गन का विकास करने वाले इंजीनियरों में शामिल रहे यान आजहे ने ग्लोबल टाइम्स को बताया कि इस बंदूक को चलाने के दौरान यह आवाज नहीं करती और इससे रोशनी नहीं निकलती है. यान ने कहा कि इसको चलाना आसान है क्योंकि यह पीछे की तरफ धक्का भी नहीं मारती और इसका रखरखाव भी महंगा नहीं है.

Leave a comment

अब वक्त 5G का

Great!! 5G Network is coming soon, These 3 Companies will provide 5G in IndiaNews
Recent reports say that the Finland based multinational communications, information technology and consumer electronics company, named Nokia has agreed to work as a whole with the two major telecom companies corporations- Indian global telecommunications services company: Bharti Airtel Limited and state-owned Bharat Sanchar Nigam Limited (BSNL).

Three of this telecom organisations have come up together and approved several MoUs (Memorandum of Understanding) for planning strategies to bring 5G network in the nation. The association of this three companies are first planning to create a model strategic manual to make the maximum population connect with the high-speed 5G wireless mediums. Even though in India, people are using 4G networks, the nation still reports a low-speed circuit wiring of 4G network speed, and thus, Nokia is planning to introduce ultra-fast 5G network.

The recent updates say that speed of internet needs to improve for many technological improvements in the country. To establish the networking of 5G, it will require a proper planning and strategy which these associated companies to resolve in 5G IoT (internet of things) lab in Bangalore. The process will have analysis, display of proof which is evitable before installing the wire line of the network in the nation.

Nokia Head, Sanjay Malik informed Business Standard about their future planning and models. He said we have to work together with Bharti Airtel and BSNL to direct India’s internet connection in a new and better bent. We will commonly act in a single direction. At first, we will develop an appropriate system which will work according to plans. He also added that to contest today’s world technology exercise, the formation of a 5G chain will help the growth in rural areas and also act in new technology introduction in the education department.

The government of India is also concentrating on having the 5G network in India by 2020, and thus, a certain team has been created officially in the chairmanship of Telecom Secretary to have a difficult plan for the base. It is also reported that the Government guaranteed of spending 500 Crore in this new deal.

The 5G networks will provide speed up to 10 GBPS and will lower the abeyance. Apart from Nokia, ZTE also team up with Reliance Jio, Vodafone, and Bharti Airtel and recently declared that they had begun tracks for the next generation network.