Posted on

अमेजन के मालिक दुनिया में सबसे रईस, मुकेश अंबानी 19वें स्थान पर

फोर्ब्स की सालाना अरबपतियों की सूची में इस वर्ष अमेरिकी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन डॉट कॉम के मालिक जेफरी प्रेस्टन बेजॉस ने धमाकेदार प्रदर्शन के साथ बिल गेट्स से दुनिया के सबसे बड़े धनकुबेर का रुतबा छीन लिया है। सूची के मुताबिक 110 अरब डॉलर (करीब 7.15 लाख करोड़ रुपये) मूल्य की संपत्ति के साथ जेफ बेजॉस दुनिया के सबसे बड़े धनकुबेर बन गए हैं। इसके साथ ही जेफ 100 अरब डॉलर से ज्यादा संपत्ति वाले पहले अरबपति भी बन गए हैं।

माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक और सामाजिक कार्यों के लिए भरपूर दान देने वाले बिल गेट्स को वर्षों बाद पहली बार दूसरे स्थान से संतोष करना पड़ा है। फोर्ब्स की नवीनतम सूची में गेट्स की कुल संपत्ति 90 अरब डॉलर आंकी गई है। वहीं, भारत के सबसे बड़े धनकुबेर और रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी 40.1 अरब डॉलर (करीब 2.61 लाख करोड़ रुपये) संपत्ति के साथ सूची में एक पायदान चढ़कर 19वें स्थान पर रहे हैं। पिछले वर्ष वे 20वें स्थान पर थे और उनकी संपत्ति में करीब आठ अरब डॉलर का इजाफा हुआ है।

फोर्ब्स के मुताबिक इस वर्ष इन्वेस्टमेंट गुरु वारेन बफेट (84 अरब डॉलर) तीसरे, बर्नार्ड अर्नाल्ट (72 अरब डॉलर) चौथे और फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग (71 अरब डॉलर) पांचवें स्थान पर रहे। दुनिया के शीर्ष 100 धनकुबेरों की सूची में देश के अन्य दिग्गजों में हिंदुजा परिवार, अजीम प्रेमजी (विप्रो), लक्ष्मी निवास मित्तल (आर्सेलरमित्तल), शिव नाडर (एचसीएल), दिलीप सांघवी (सन फार्मा), उदय कोटक (कोटक महिंद्रा बैंक), राधाकिशन दमानी, सायरस पूनावाला (सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया), सुनील मित्तल और परिवार (भारती एयरटेल) तथा आचार्य बालकृष्ण (पतंजलि) शामिल हैं।

फोर्ब्स की सूची में शीर्ष 10 में कोई महिला नहीं है। अमेरिकी रिटेल चेन वालमार्ट की उत्तराधिकारी एलिस वाल्टन 16वें स्थान के साथ पहली महिला हैं।

Posted on

चक्रवात ओखी का कहर, तेज हवाओं और हाई टाइड्स से मची तबाही

केरल में ओखी तूफान के चलते कोल्लानम के लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया गया। कोच्चि में जगह-जगह पानी भर गया है, जिसकी वजह से पूरा जनजीवन अस्‍त-व्‍यस्‍त हो गया है। चक्रवाती तूफान ‘ओखी’ का कहर जारी है।

केरल से तूफान में फंसे 200 से ज्‍यादा मछुआरों को सुरक्षित निकाला जा चुका है। ऐसा कोई आंकड़ा अभी सामने नहीं आया है कि कितने मछुआरे और समुद्र में तूफान के बीच फंसे हुए हैं। मौसम विभाग का कहना है कि आज केरल के तट से ऊंची-ऊंची लहरें टकराएंगी। इनकी ऊंचाई 3 से 5 मीटर के लगभग हो सकती है। वहीं लक्ष्यद्वीप में सुबह तेज हवाओं और हाई टाइड्स से तबाही मच गई है।

आईएमडी और महासागर सूचना सेवाओं के लिए भारतीय राष्ट्रीय केंद्र (INCOIS) द्वारा जारी एक संयुक्त बुलेटिन के अनुसार, लक्ष्द्वीप पर केंद्रित गंभीर चक्रवात तूफान के अगले 24 घंटों में तेज होने की संभावना है। द्वीपों के कम से कम 10 स्थानों पर अगले 24 घंटों में 4.8-7.4 मीटर से अधिक ऊंची लहरें उठेंगी। साथ ही भारी बारिश भी होगी।

भारतीय नौसेना, वायुसेना और तटरक्षक बल मिलकर इस संकट की घड़ी में लोगों को बचाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। सरकारी अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को नौसेना, आईएएफ, तटरक्षक बल, राज्य सरकार और व्यापारी जहाजों द्वारा 218 मछुआरों को बचाया गया। उन्होंने कहा, बचाव के बारे में जारी एक चेतावनी के बाद जापान के मालवाहक जहाज एम वी एनर्जी ऑर्फ़ियस ने 60 लोगों को बचाया। लेकिन अभी इस बात की कोई पुख्‍ता सूचना नहीं है कि कितने मछुआरे और समुद्र में फंसे हुए हैं। कुछ मछुआरे बुधवार की शाम भी समुद्र में गए थे।

गौरतलब है कि चक्रवात के कारण पड़ोसी देश श्रीलंका में भी सात लोगों की जान गई है, जबकि पांच मछुआरे लापता हैं। केरल और दक्षिण तमिलनाडु के तटीय इलाकों में चक्रवात के कारण भारी बारिश जारी है, जिससे सामान्य जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। इधर दक्षिण रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि कन्याकुमारी और नागरकोइल में कुछ रेल सेवाएं रद्द की गई हैं, जबकि कुछ रेलगाड़ियां विलंब से चल रही हैं।