Leave a comment

थानेदार के 14 साल के लड़के ने बनाए ये 3 एप, गूगल ने बताया शानदार, कमाई कर दी गरीबों को दान

14 वर्ष का आर्यन राज नौवीं कक्षा का छात्र है। आर्यन मार्च-अप्रैल में स्कूल की छुट्टी के समय तीन एप मोबाइल शॉर्ट कट, कम्प्यूटर शॉर्ट कट और वाट्सएप क्लीनर लाइट तैयार किया। तीनों एप को गूगल प्ले स्टोर पर अपलोड करने के लिए भेज दिया। उसके बाद वह अपनी पढ़ाई में व्यस्त हो गया। उधर, गूगल ने उसके तीनों एप की जांच की। रिसर्च किया। पाया गया कि अच्छे और कारगर एप हैं। गूगल ने तीनों एप को अप्रैल में अपने प्ले स्टोर में अपलोड कर दिया है। एक माह में प्ले स्टोर से आर्यन के एप को दस हजार लोगों ने डाउनलोड किया है।

क्या खासियत है एप की

– मोबाइल और कंप्यूटर शॉर्टकट एप : ये दोनों एप इंटरनेट के माध्यम से किसी तरह के मॉलवेयर और वायरस का प्रवेश रोकता है।

– वाट्सएप क्लीनर लाइट एप : यह वाट्सएप के बैकग्राउंड का रंग बदल देता है। साथ ही फोटो और वीडियो के माध्यम से किसी प्रकार के वायरस का प्रवेश रोकता है।

कंप्यूटर इंजीनियर बनना चाहता है पटना के थानेदार का बेटा

पत्रकार नगर थानाध्यक्ष संजीत सिन्हा का बेटा है आर्यन राज। कक्षा दो से ही वह कंप्यूटर फ्रेंडली हो गया। वह सेंट माइकल दीघा में नौंवी का छात्र है। संजीत सिन्हा कहते हैं कि बेटा इंजीनियर बनना चाहता है। पूर्व में आर्यन ने बिहार पुलिस को लेकर एक एक एप बनाया था, जो सफल नहीं हो सका।

एप बनाने से भी एक बड़ा काम आर्यन ने किया है। उसने पुरस्कार की राशि स्वीकार करने से मना कर दिया। गूगल को बैंक अकाउंट नंबर न देकर यह आग्रह किया है कि इस राशि को उन बच्चों की शिक्षा पर खर्च किया जाए, जो अभाव की वजह से पढ़ाई नहीं पूरी कर पा रहे। पटना के एक थानेदार के बेटे की मेधा और बड़प्पन की खूब चर्चा हो रही।

Posted on Leave a comment

जब पस्‍त हुए चिकित्‍सक, तो काम आए योगगुरु

यह सच मध्‍यप्रदेश के एक छोटे जिले मंदसौर का है। योग ने मंदसौर के 50 से अधिक बुजुर्गों को 70 और 80 की उम्र में फिर से युवा बना दिया है। दशपुर कुंज, रामटेकरी और मेघदूत नगर में प्रतिदिन सुबह योग के लिए 200 से अधिक लोग जुटते हैं। इनमें ऐसे बुजुर्ग भी हैं, जो कुछ समय पहले चलने में मोहताज थे। अब युवाओं की तरह दौड़ लगा रहे हैं। शाजापुर में तो योग से पेरालिसिस तक ठीक होने का उदाहरण सामने आया है।

1- 70 के पारिख कर रहे हैं कमाल

मध्‍यप्रदेश के मंदसौर जिले के रहने वाले दिनेशचंद्र पारिख 70 वर्ष के हैं। पारिख का कहना है कि हम योग के लाभ को शब्‍दों में बयां नहीं कर सकते । वो बताते हैं कि नौ साल पहले हम योग से जुड़े। इसके बाद योग साधना से कुछ लाभ दिखा और मेरी दिलचस्‍पी इसमें गहरी होती गई। धीरे-धीरे योग से शारीरिक और मानसिक लाभ मिला और आस्‍था पैदा होने लगी। उन्‍होंने कहा कि 2008 से मैं नियमित योग कर रहा हूं।

स्वास्थ्य विभाग से सेवानिवृत्त पारिख बताते हैं कि घुटने में तकलीफ से सीढि़यां चढ़ना दूभर हो गया था। इस परेशानी से आजिज आकर मैंने एक साल पहले ही सेवानिवत्ति का मन बना लिया था। चिकित्सकों ने घुटने बदलने की सलाह दी। ऐसे में योग गुरु सुरेंद्र जैन के संपर्क में आकर योग शुरू किया। इससे चलना-फिरना आसान हो गया। छह माह में पैर ठीक हो गया।

2- अब सीढ़ियों पर दौड़ते हैं 70 वर्षीय पामेचा

इसी जिले के निवासी 70 वर्षीय पामेचा 10 वर्ष पूर्व योग से जुड़े। उनका योग में अपार विश्‍वास है। पमोचा कहते हैं कि वह दस वर्षों से निरंतर योगाभ्‍यास कर रहे हैं। उनका यह विश्‍वास अनायास नहीं है। योग से जुड़ने से पहले पोचा चलने-फ‍िरने में मोहताज थे। आज वह योगाभ्‍यास से दौड़ सकते हैं, सीढि़यों पर चढ़ सकते हैं। पामेचा कहते हैं कि 2008 में 70 वर्ष की उम्र में योग से जुड़ा, तब घर की सी़ढ़ियां एक पैर से ही चढ़ पाता था, दूसरा पैर काम नहीं करता था। योग शुरू करते ही पैर ठीक हो गया। मंदसौर के भंवरलाल पामेचा योग को जीवन के लिए हवा और भोजन की तरह ही जरूरी मानते हैं।

3- बीमा एजेंट यशपाल शर्मा पेरालिसिस ठीक हो गया

बीमा एजेंट यशपाल शर्मा को वर्ष 2001 में हार्ट अटैक हुआ। उनके दुखों का यहीं अंत नहीं हुआ। कुछ दिनों बाद वह पेरालिसिस से भी ग्रसित हो गए। यशपाल का कहना है कि वह तीन वर्षों तक चिकित्‍सकों से इलाज कराते रहे। इलाज में करीब 10 लाख रुपये भी खर्च हो गए। लेकिन स्थिति में कोई फर्क नहीं पड़ा। हमें कोई आराम नहीं मिला। यशपाल ने कहा कि हारा मन योग की शरण जा पहुंचा। योगाभ्‍यास से धीरे-धीरे आराम मिला। और मैं सालभर में पूरी तरह स्वस्थ हो गया। यशपाल अब योग में डिप्लोमा करने के बाद लोगों को योग सिखाने का काम कर रहे हैं।

4- रीतेश के जीवन में योग से फैला उजियारा

शहडोल निवासी रीतेश मिश्रा के जीवन में योग ने उजियारा फैलाया। रीतेश का कहना है कि छह साल की उम्र में ब्रेन ट्यूमर के ऑपरेशन के बाद आंखों की रोशनी चली गई थी। उन्‍होंने बताया कि मैं लगातार 14 साल तक योग कर रोशनी वापस लाने में कामयाब हुआ हूं। मुझे 80 प्रतिशत चीजें नजर आ जाती हैं। मार्कर से लिखे बड़े अक्षर पढ़ लेता हूं। मोबाइल को भी नजदीक से देखकर चला लेते हैं। रीतेश की तारीफ योग गुर बाबा रामदेव भी करते हैं। रीतेश बताते हैं कि बाबा रामदेव से मेरी पहली मुलाकात रीवा में 2008 में हुई थी। इसके बाद योग के प्रति लगाव पैदा हुआ।

रीतेश ने कहा पहले माता-पिता (सीमा मिश्रा व देवानंद मिश्रा) टीवी पर आसन देखकर योग कराते थे। मेरे माता-पिता मुझे लेकर काफी चिंतित थे। खासकर मेरी शिक्षा को लेकर। लेकिन समस्‍याओं के बावजूद रीतेश ने उच्‍च शिक्षा पूरी की। अब वह लोगों को योग सिखा रहे हैं। हाई प्रोफाइल लोगों की योग कक्षा पुलिस लाइन में सुबह साढ़े पांच बजे से शुरू हो जाती है। वेलफेयर फंड से इन्हें कुछ राशि बतौर मेहनताना मिलती है। इनकी योग कक्षा में शामिल रहने वालों में पुलिस अफसर, जज, डॉक्टर, सीए, इंजीनियर्स शामिल हैं।

बता दें कि 21 जून का पूरी दुनिया अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मना रही है। इसके अलावा 150 से अधिक देशों में योग दिवस मनाया जा रहा है। पूरे देश में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए करीब 5000 आयोजन हो रहे हैं।

Posted on Leave a comment

भाजपा का ‘संर्पक फॉर समर्थन’ अभियान शुरू, 50 लोगों से मिलेंगे शाह

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की अगुआई में केंद्र सरकार के चार साल पूरे होने पर भाजपा ने ‘संर्पक फॉर समर्थन’ अभियान शुरू किया है। इसके तहत पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को पूर्व सेना प्रमुख दलबीर सुहाग और संविधान विशेषज्ञ सुभाष कश्यप से उनके घर जाकर मुलाकात की। शाह ने सुहाग को केंद्र की भाजपा-नीत एनडीए सरकार की उपलब्धियों पर एक बुकलेट, एक पेन ड्राइव और इससे जुड़े अन्य साहित्य भी भेंट किये।

भाजपा के इस अभियान को 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी माना जा रहा है। इसके तहत पार्टी के मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री और पंचायत सदस्य समेत करीब 4000 कार्यकर्ता-नेता लोगों से खुद मिलेंगे। केंद्रीय आलाकमान ने पार्टी के हर एक कार्यकर्ता को कम से कम 25 लोगों से संपर्क कर सरकार की योजनाओं के बारे में जानकारी देने के निर्देश दिए हैं। जानकारी के मुताबिक भाजपा के नेता देश के एक लाख प्रमुख व्यक्तियों से व्यक्तिगत संपर्क करेंगे, जिसमें कला जगत, संविधान विशेषज्ञ, सेना के रिटायर्ड अधिकारी, फिल्म और धर्म जगत की प्रमुख हस्तियाँ शामिल होगी।

इस अवसर पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार के इन चार सालों के दौरान विशेषकर दो क्षेत्रों – ग्रामीण जीवन से असुविधाओं को समाप्त कर उन्हें प्रगति की राह पर आगे बढ़ाने और गरीबों के जीवन स्तर को ऊपर उठाने की दिशा में बहुत बड़ा काम हुआ है। साथ ही आने वाले पांचवें साल में केंद्र की भाजपा-नीत एनडीए सरकार का लक्ष्य लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देकर किसानों के जीवन में परिवर्तन लाने और देश के लगभग 50 करोड़ लोगों को पांच लाख रुपये तक का बीमा देकर उन्हें स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं से मुक्त करने का है।

शाह ने विगत चार वर्षो के बारे मे बताया कि दुनिया में देश के गौरव को आजादी के बाद सबसे ऊँची सतह पर प्रतिष्ठित करने का काम प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हुआ है।

Posted on Leave a comment

कुली का कमाल: स्‍टेशन के फ्री वाई फाई की मदद से पास की UPSC की परीक्षा

सपने पूरे करने के लिए हौंसला चाहिए सुविधा नहीं इस सच को सुनाती है इस कुली कीकहानी जो स्‍टेशन के फ्री वाईफाई की मदद से सिविल सेवा परीक्षा में पास हुआ।

केरल में एर्नाकुलम स्टेशन पर कुली का काम करने वाले श्रीनाथ के. की कहानी कुछ अनोखी है, जिन्होंने रेलवे स्टेशन पर उपलब्ध मुफ्त वाईफाई सुविधा के सहारे इंटरनेट के जरिये पढ़ाई की और केरल पब्लिक सर्विस कमीशन, केपीएससी की लिखित परीक्षा पास की। सबसे बड़ी बात ये है कि तैयारी के दौरान वह किताबों में नहीं डूबे रहे बल्‍कि अपना काम करते हुए स्मार्ट फोन और ईयरफोन के सहारे पढ़ाई करते रहे। अब अगर श्रीनाथ साक्षात्‍कार में सफल हो जाते हैं तो वह भूमि राजस्व विभाग के तहत विलेज फील्ड असिस्टेंट के पद पर नियुक्‍त्‍त हो जायेंगे।

तीसरे प्रयास में मिली सफलता

श्रीनाथ पिछले पांच वर्ष से कुली के रूप में काम कर रहे हैं और उनका सिविल परीक्षा के इम्‍तिहान में बैठने का ये तीसरा प्रयास था। उनका कहना है कि यह पहला मौका था, जब उन्‍होंने स्टेशन पर उपलब्ध वाईफाई सुविधा का इस्तेमाल किया। उन्‍होंने ये भी बताया कि कुली का काम करने के दौरान वे हमेशा ईयरफोन कान में लगाए रखते थे और इंटरनेट पर अपने संबंधित विषयों पर लेक्चर सुना करते थे। उसे मन ही मन दोहराते भी रहते थे और रात को मौका मिलते ही फिर रिवाइज कर लेते थे। इसी वाईफाई की मदद से उन्‍होंने ऑनलाइन अपना परीक्षा फार्म भरा और देश दुनिया की ताजा जानकारियों से खुद को अपडेट किया साथ ही अपने विषयों की जम कर तैयारी की।

Posted on Leave a comment

UPSC 2017 RESULT: उन होनहारों की कहानी जिन्होंने UPSC में लहराया परचम

Posted on Leave a comment

एक मुलाकात लिटिल ऐप डेवलपर आदित्य चौबे से

खबर है कि महज़ 9 साल की उम्र से एप डेवलप कर रहे आदित्य आज ऑनलाइन ‘आदि” कंपनी के मालिक भी हैं. ये कारनामा है जबलपुर के जॉय सीनियर सेकेंडरी स्कूल में 8वीं में पढ़ने वाले आदित्य चौबे का जो आजकल जावा लैंग्वेज की ऑनलाइन ट्यूशन दे रहे है जिस लैंग्वेज का नाम 2 साल पहले तक सुना भी नहीं था .
एक मुलाकात लिटिल ऐप डेवलपर आदित्य चौबे से

12 साल की उम्र में गूगल प्ले स्टोर में अपने बनाये हुए एप को लेकर चर्चा में आये आदित्य चौबे ने बताया की उनकी यह शुरुआत तब हुई जब एक दिन वो लैपटॉप के नोटपैड पर कुछ काम कर रहे थे जिसमे error आने पर उन्होंने उसे ओपन किया तो जावा लैंग्वेज से पहली बार उनका सामना हुआ था. जिज्ञासु प्रवृति के आदित्य ने उसके बाद से ही लगातार जावा के बारे में पढ़कर कई एप भी बनाये है जिसमे से कुछ खास एप ये है –
1 – कोडरेड बटन एप
2 – लोकेशन लाइट एप
3 – लिसिन ट्यूब एप
4 – चैट बुक एप

आदित्य के पिता धर्मेन्द्र चौबे ऑर्डिनेंस फैक्टरी खमरिया में जूनियर वर्क्स मैनेजर और मां अमिता निजी स्कूल में साइंस टीचर हैं. आदी की बड़ी बहन 12वीं की छात्रा हैं.आदित्य ने अपने पिता की लिए एक स्पेशल कैलकुलेटर एप भी बनाया है जिसमे अनलिमिटेड नंबर्स तक कैलकुलेशन किया जा सकता है . फ़िलहाल आदित्य के 48 एप अभी गूगल प्ले स्टोर व एप्टॉयड पर लोड होने के लिए वेरीफिकेशन मोड पर है जो जल्दी ही प्ले स्टोर पर देखे जा सकते है .

Posted on Leave a comment

धौनी की दमदार पारी भी चेन्नई को नहीं दिला पाई जीत, पंजाब ने 4 रन से मैच जीता

आइपीएल 2018 के 12वें मैच में चेन्नई सुपर किंग्स का मुकाबला किंग्स इलेवन पंजाब के साथ था और इसमें धौनी की टीम को 4 रन से हार मिली।

इस मैच में चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब ने 20 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 197 रन बनाए। चेन्नई को जीत के लिए 198 रन का लक्ष्य मिला। टीम के कप्तान धौनी ने 79 रन की नाबाद पारी खेलकर टीम को जीत दिलाने की कोशिश की लेकिन वो सफल नहीं हो पाए। चेन्नई ने 20 ओवर में 5 विकेट पर 193 रन बनाए।

धौनी ने खेली शानदार पारी

चेन्नई का पहला विकेट मोहित शर्मा ने लिया। उन्होंने ओपनर बल्लेबाज शेन वॉटसन को बरिंदर के हाथों कैच करवा दिया। शेन ने 9 गेंदों पर 11 रन बनाए। रैना की जगह टीम में शामिल किए गए मुरली विजय 12 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। एंड्रयू टे की गेंद पर उनका कैच बरिंदर ने पकड़ा। सैम बिलिंग्स 9 रन बनाकर अश्विन की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हुए। अंबाती रायडू सिर्फ एक रन से अपने अर्धशतक से चूक गए। रायडू ने 35 गेंदों पर 49 रन बनाए और रन आउट हो गए। रवींद्र जडेजा 19 रन बनाकर एंड्रयू टे की गेंद पर अश्विन के हाथों कैच आउट हुए। कप्तान धौनी ने 44 गेंदों पर नाबाद 79 रन की पारी खेली पर टीम को जीत नहीं दिला पाए। ब्रावो एक रन बनाकर नाबाद रहे।

पंजाब की तरफ से एंड्रयू टे ने दो जबकि मोहित शर्मा और अश्विन ने एक-एक विकेट लिए।

गेल ने खेली तूफानी पारी

पंजाब का पहला विकेट लोकेश राहुल के तौर पर गिरा। राहुल ने 22 गेंदों पर 37 रन बनाए। उन्होंने पहले विकेट ले लिए गेल के साथ 96 रन की साझेदारी की। राहुल को हरभजन सिंह ने क्लीन बोल्ड कर दिया। क्रिस गेल ने अपने पहले ही मैच में 33 गेंदों पर 63 रन की पारी खेली। उन्हें शेन वॉटसन ने इमरान ताहिर के हाथों कैच आउट करवा दिया। मयंक अग्रवाल 30 रन बनाकर इमरान ताहिर की गेंद पर बोल्ड हो गए जबकि एरोन फिंच इमरान ताहिर की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। वो अपना खाता भी नहीं खोल पाए थे। युवराज सिंह इस मैच में भी नहीं चल पाए। वो 20 रन बनाकर शर्दुल ठाकुर की गेंद पर विकेट के पीछे धौनी के हाथों लपके गए। कप्तान अश्विन ने 14 रन पर अपना विकेट गवां दिया। वो शर्दुल की गेंद पर अपना कैच धौनी को थमा बैठे। करुण नायर 29 रन बनाकर ब्रावो की गेंद पर रवींद्र जडेजा के हाथों लपके गए।

चेन्नई की तरफ से शर्दुल और इमरान ताहिर ने दो-दो जबकि हरभजन सिंह और ब्रावो ने एक-एक विकेट लिए।

Posted on Leave a comment

बैंगलोर को अपने घर में नहीं मिली जीत, राजस्थान रॉयल्स ने 19 रन से हराया

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और राजस्थान रॉयल्स के बीच आइपीएल का 11वां मुकाबला आरसीबी के घरेलू मैदान एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला गया और इस मैच में विराट की टीम को 19 रन से हार का सामना करना पड़ा।

इस मुकाबले में टॉस जीतकर बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली ने पहले गेंदबाज़ी करने का फैसला किया। राजस्थान की टीम ने 20 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर 217 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। राजस्थान की तरफ से संजू सैमसन ने नाबाद 92 रन की तूफानी पारी खेली। बैंगलोर को जीत के लिए 218 रन का लक्ष्य मिला था लेकिन बैंगलोर की टीम 20 ओवर में 6 विकेट पर 198 रन ही बना पाई।

विराट ने लगाया अर्धशतक

बैंगलोर को पहला झटका पारी की शुरुआती में ही लग गया जब ब्रैंडन मैकुलम महज 4 रन के स्कोर पर गौथम की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए। डार्सी शॉर्ट ने डी कॉक को आउट कर बैंगलोर को दूसरा झटका दिया। डी कॉक 26 रन बनाकर जयदेव उनादकट के हाथों कैच आउट हो गए। कप्तान कोहली ने 30 गेंदों पर तेज 57 रन की पारी खेली मगर वो श्रेयस गोपाल की गेंद पर अपना कैच डार्सी शॉर्ट को थमा बैठे। टीम के तूफानी बल्लेबाज एबी को श्रेयस गोपाल ने जयदेव उनादकट के हाथों कैच आउट करवा दिया। उन्होंने 18 गेंदों पर 20 रन बनाए। पवन नेगी तीन रन बनाकर कैच आउट हो गए। वाशिंगटन सुंदर ने 19 गेंदों पर 35 रन की तेज पारी खेली। उन्हें बेन स्टोक्स ने क्लीन बोल्ड कर दिया। मंदीप सिंह ने 25 गेंदों पर नाबाद 47 रन बनाए लेकिन टीम को जीत दिलाने में कामयाब नहीं हो पाए।

राजस्थान के लिए श्रेयस गोपाल ने दो, गौथम, बेन स्टोक्स, डार्सी शॉर्ट और बेन लॉघलिन ने एक-एक विकेट लिए।

संजू ने बनाए 45 गेंदों पर नाबाद 92 रन

क्रिस वोक्स ने राजस्थान के कप्तान अजिंक्य रहाणे को आउट कर दिया। रहाणे 20 गेंदों में 36 रन बनाकर उमेश यादव को कैच थमा बैठ और बैंगलोर को मिली पहली सफलता। इसके अगले ही ओवर में चहल ने डार्सी शॉर्ट (11) को विकेटकीपर डि कॉक के हाथों कैच आउट करवाकर राजस्थान को दूसरा झटका दे दिया। इसके बाद चहल ने खतरनाक होते बेन स्टोक्स को 27 रन पर बोल्ड कर बैंगलोर को तीसरी सफलता दिला दी। जोस बटलर ने 23 रन की पारी खेली। उन्हें क्रिस वोक्स की गेंद पर कोहली ने कैच आउट किया। संजू सैमसन ने 45 गेंद पर नाबाद 92 रन की पारी खेली। वहीं राहुल त्रिपाठी ने नाबाद 14 रन बनाए। बैंगलोर की तरफ से क्रिस वोक्स और युजवेंद्र चहल ने दो-दो विकेट लिए।

Posted on Leave a comment

हैदराबाद की लगातार तीसरी जीत, कोलकाता को 5 विकेट से हराया

आइपीएल 2018 के 10वें मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स को सनराइजर्स हैदराबाद ने 5 विकेट से हरा दिया। इस मैच में सनराइजर्स हैदराबाद ने टॉस जीतकर कोलकाता को पहले बल्लेबाजी का न्यौता दिया। कोलकाता ने 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 138 रन बनाए। हैदराबाद को जीत के लिए 139 रन का लक्ष्य मिला था जिसे इस टीम ने 19 ओवर में 5 विकेट खोकर हासिल कर लिया। ये हैदराबाद की लगातार तीसरी जीत थी।

केन विलियमसन का अर्धशतक

साहा अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे लेकिन नरेन की एक गेंद को खेलने की कोशिश में वो अपना कैच दिनेश कार्तिक को थमा बैठे। साहा ने 15 गेंदों पर 24 रन बनाए। शिखर धवन को भी नरेन ने सस्ते में चलता कर दिया और सिर्फ 7 रन के स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर दिया। मनीष पांडे को कुलदीप ने अपना पहला शिकार बनाया और 4 रन पर एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। शाकिब अल हसन को पीयूष चावला ने 27 रन पर क्लीन बोल्ड कर दिया। कप्तान विलियमसन ने 44 गेंदों पर 50 रन बनाए। उन्हें मिचेल जॉनसन ने रसेल के हाथों कैच आउट करवाया। यूसुफ पठान 17 रन जबकि दीपक हुडा 5 रन बनाकर नाबाद रहे।

कोलकाता की तरफ से सुनील नरेन ने दो जबकि मिचेल जॉनसन, पीयूष चावला और कुलदीप यादव ने एक-एक विकेट लिए।

क्रिस लीन ने खेली 49 रन की पारी

कोलकाता की शुरुआत अच्छी नहीं रही और टीम के ओपनर बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा 8 गेंदों पर 3 रन बनाकर आउट हो गए। नितिश राणा को स्टेनलाक ने अपना शिकार बनाया और 18 रन पर उनका कैच मनीष पांडे ने पकड़ा। सुनील नरेन सिर्फ 9 रन बनाकर शाकिब अल हसन का शिकार बने। नरेन का कैच केन विलियमसन ने पकड़ा। शाकिब ने अपनी ही गेंद पर क्रिस लीन का बेहतरीन कैच लपका। लीन ने 34 गेंदों पर शानदार 49 रन बनाए। आंद्रे रसेल 9 रन बनाकर कैच आउट हो गए। कप्तान कार्तिक को भुवनेश्वर ने अपना शिकार बनाया। उन्होंने 27 गेंदों पर 29 रन बनाए और अपा कैच विकेट के पीछे साहा को थमा बैठे। शिवम मावी 7 रन बनाकर सिद्धार्थ कौल का शिकार बने। मिचेल जॉनसन 4 रन बनाकर नाबाद रहे।

हैदराबाद की तरफ से भुवनेश्वर कुमार ने तीन, बिली स्टेनलाक और शाकिब ने दो-दो जबकि सिद्धार्थ कौल ने एक विकेट चटकाया।

Posted on Leave a comment

दिल्ली ने मुंबई को जबकि हैदराबाद ने कोलकाता को हराया, देखिए तस्वीरें

आइपीएल के इस सीजन का दसवां मुकाबला कोलकाता और हैदराबाद के बीच खेला गया और इस मैच में हैदराबाद ने कोलकाता को पांच विकेट से हरा दिया। इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए कोलकाता ने 20 ओवर में 8 विकेट पर 138 रन बनाए। जीत के लिए मिले लक्ष्य को हैदराबाद ने 19 ओवर में पांच विकेट शेष रहते हासिल कर लिया।

केन विलियमन ने अर्धशतक लगाकर अपनी टीम की जीत तय कर दी।

दूसरी पारी में साहा ने 15 गेंदों पर 24 रन बनाकर

हैदराबाद को अच्छी शुरुआत देने की कोशिश की।

कोलकाता के खिलाफ धवन सफल नहीं रहे और 7 रन बनाकर आउट हो गए। कोलकाता के लिए ओपनर बल्लेबाज क्रिस लीन ने सबसे ज्यादा 34 गेंदों पर 49 रन बनाए।

कप्तान दिनेश कार्तिक ने 27 गेंदों पर 29 रन की पारी खेली।

रॉबन उथप्पा फिर से फेल रहे और सिर्फ तीन रन बनाकर कैच आउट हो गए। आइपीएल में शिवम मावी का ये पहला मैच था। उन्होंने 7 रन बनाए और अपना विकेट गवां दिया।

आइपीएल सीजन 11 के नौवें मुकाबले में दिल्ली डेयर डेविल्स का सामना मुंबई इंडियंस से हुआ। इस मुकाबले में मुंबई को दिल्ली के हाथों 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। मुंबई ने इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 195 रन बनाए थे। इसके बाद जीत के लिए मिले लक्ष्य को दिल्ली ने तीन विकेट पर हासिल कर लिया।

दिल्ली के ओपनर बल्लेबाज जेसन रॉय ने अपनी टीम के लिए तूफानी पारी खेली। उन्होंने 53 गेंदों पर 91 रन बनाए। जेसन की पारी से दिल्ली को जीत मिली।

दिल्ली के कप्तान गौतम गंभीर कुछ खास नहीं कर पाए और 16 गेंदों पर 15 रन बनाकर आउट हो गए।

रिषभ पंत अपने अर्धशतक से चूक गए लेकिन उन्होंने 25 गेंदों पर 47 रन की अच्छी पारी खेली और टीम की जीत में अच्छी भूमिका निभाई।

श्रेयस अय्यर ने 20 गेंदों पर 27 रन की नाबाद पारी खेली।

मुंबई की ताबड़तोड़ शुरुआत

मुंबई की टीम ने सूर्य कुमार यादव को ओपनिंग के लिए भेजकर दिल्ली की टीम को हैरान कर दिया। सूर्य कुमार यादव ने पहले ही ओवर में दिल्ली के ट्रेंट बोल्ट की खबर लेते हुए 15 रन ठोक दिए।

यादव के साथ-साथ इविन लुइस ने भी मुंबई को तेज़-तर्रार शुरुआत दी। लुइस ने 28 गेंदों पर 48 रन की ताबड़तोड़ पारी खेलकर दिल्ली की दिलेरों की हालत खराब कर दी।

तेवतिया ने दिया दोहरा झटका

मुंबई इंडियंस को पहला झटका दिल्ली के स्पिन गेंदबाज़ राहुल तेवतिया ने दिया। तेवतिया ने इविन लुईस को 48 रन के स्कोर पर जेसन रॉय के हाथों कैच आउट करवाया। इसके अगले ही ओवर में तेवतिया ने सूर्य कुमार यादव को 53 रन पर एलबीडब्लयू आउट कर मुंबई को दूसरा झटका दे दिया।

इशान किशन की तेज़-तर्रार पारी

इशान किशन ने दिल्ली के गेंदबाज़ों पर प्रहार करना जारी रखा। किशन 23 गेंदों में 44 रन की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने 5 चौके और 2 छक्के भी लगाए।

क्रिस्चियन ने दो गेंदों पर झटके दो विकेट

इसके बाद डेन क्रिस्चियन ने दो गेंदों पर दो विकेट झटककर, दिल्ली की मैच में वापसी करा दी। क्रिस्चियन ने पहले इशान किशन को बोल्ड किया और फिर अगली ही गेंद पर क्रिस्चियन ने पोलार्ड को बोल्ड कर दिया।

इसके बाद दिल्ली के गेंदबाज़ों ने दमदार वापसी करते हुए मुंबई की टीम को निर्धारित 20 ओवर में 194 रन पर रोक दिया। मुंबई ने 7 विकेट गंवाए।